स्किन एलर्जी - लक्षण, प्रकार और ट्रीटमेंट

Skin allergy - symptoms, types and treatment in hindi

Skin ki allergy se kaise bache in hindi


Introduction

skin_allergy_in_hindi

उत्तेजक पदार्थों या एलर्जी पैदा करने वाले पदार्थों (irritants) के प्रति एलर्जिक रिएक्शन (allergic reaction) ही स्किन एलर्जी होती है।

जब एलर्जी पैदा करने वाले पदार्थ (substance) आपकी स्किन के कांटेक्ट में आते हैं, तो आपका इम्यून सिस्टम (immune system) इससे लड़ने के लिए एंटीबॉडी (anti-body) का उत्पादन करता है। [1]

सामान्य तौर पर, एंटीबॉडिज़ की सक्रियता, शरीर को नुकसान पंहुचाने वाले तत्वों के खिलाफ होती है। शरीर में मौजूद एंटीबॉडिज़ कीटाणु से लड़कर आपके शरीर को बीमारी से बचाते हैं।

लेकिन कुछ कारणों से, कई बार हानि रहित पदार्थों के कारण भी आपके शरीर के एंटीबॉडिज़ सक्रीय हो जाते हैं। इस स्थिति को एलर्जिक रिएक्शन (allergic reaction) कहते हैं।

जब आपका शरीर एलेर्जिंस (allergins) जैसे - पोल्लेंस (pollens), डस्ट (dust), कुछ खाद्य पदार्थ (जो सामान्य अवस्था में हानिकारक नहीं होते) के कॉन्टेक्ट में आता है तो आपके शरीर में lgE नामक एंटीबॉडिज़ (lgE) [2] और हिस्टामाइन (histamine) सक्रीय हो जाते हैं। इस कारण आपको एलर्जिक रिएक्शन या एलर्जी के लक्षण (symptoms of allergy) दिखाई दे सकते हैं।

एलर्जी के सामान्य लक्षणों में, स्किन पर रैशेज या दाने, नाक और आँख से पानी बहना, साँस लेने में तकलीफ़, स्किन का लाल हो जाना, बदन दर्द और हल्का बुख़ार शामिल है।

एलर्जिक रिएक्शन में सबसे सामान्य एलर्जी, स्किन पर रैशेज होना होता है। स्किन एलर्जी कई प्रकार की होती है और ये साबुन, गहने, मॉश्चराइजर यहां तक की कपड़े के संपर्क में आने से भी हो सकती है।

स्किन एलर्जी पूरे शरीर पर भी हो सकती है या फिर शरीर के कुछ हिस्सों को प्रभावित कर सकती है।

loading image

इस लेख़ में

 

स्किन एलर्जी के लक्षण क्या हैं?

What are the symptoms of skin allergy? in hindi

Skin allergy ke lakshan in hindi

loading image

स्किन एलर्जी से स्किन बहुत ज़्यादा प्रभावित होती है। स्किन में एलर्जी के कारण त्वचा पर न सिर्फ दाग-धब्बे या दाने होते हैं बल्कि कभी-कभी स्किन लाल भी हो जाती है।

लेकिन कई बार लोग यह समझ नहीं पाते कि असल में स्किन एलर्जी के कारण स्किन पर क्या प्रभाव पड़ता है।

इसलिए त्वचा पर एलर्जी से जुड़े लक्षणों के बारे में जानना महत्वपूर्ण हो जाता है। आइये जानते हैं कि स्किन एलर्जी से स्किन पर किस तरह का असर पड़ता है।

स्किन एलर्जी के लक्षण निम्न हैं : [3]

  1. त्वचा का रंग बदलना, जैसे - लाल धब्बे पड़ना
  2. खुजली होना
  3. फुंसी जैसे - दाने हो जाना
  4. स्किन पर रैशेज़ (rashes) या क्रैक (crack) पड़ना
  5. स्किन पर जलन होना
  6. त्वचा में खिंचाव पैदा होना
  7. छाले पड़ना

यहाँ यह बात ध्यान देने वाली है कि एलर्जी के अलावा भी स्किन पर दाने या रैशेज निकल सकते हैं जैसे - चिकेन पॉक्स या मीजल्स (measels) में।

अगर आपको स्किन रैश के साथ तेज़ बुख़ार या बदन दर्द है तो जल्द से जल्द अपने डॉक्टर से संपर्क करके अपना इलाज करवाएं।

कई बार एलर्जी का गंभीर अटैक में आपको ऐनाफाईलैक्टिक शॉक (anaphylactic shock) भी लग सकता है। आइये जानते हैं कि ऐनाफाईलैक्टिक शॉक के क्या लक्षण हो सकते हैं।

स्किन एलर्जी में ऐनाफाईलैक्टिक शॉक (anaphylactic shock) के लक्षण निम्न हैं : - [4]

कभी-कभी एलर्जिक रिएक्शन गंभीर रूप भी ले सकते हैं और ऐसे में आपको ऐनाफाईलैक्टिक शॉक (anaphylactic shock) लग सकता है।

ऐनाफाईलैक्टिक शॉक (anaphylactic shock) गंभीर एलर्जिक रिएक्शन है और इसे लक्षणों से आसानी से पहचाना जा सकता है।

अगर आपको एलर्जी के दौरान नीचे लिखे हुए कोई भी लक्षण लगे तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें :

  1. स्किन रिएक्शन जैसे - हीव्स (hives), चेहरे का अचानक से लाल हो जाना (flushed skin) या स्किन का पीला पड़ जाना (skin paleness)
  2. एकदम से तेज़ गर्मी लगना या पसीने छूटना (suddenly feeling warm)
  3. गले में गाँठ का महसूस होना या निगलने में अत्यधिक तकलीफ़ होना (difficulty swallowing or feeling of lump in throat)
  4. उल्टी जैसा लगना या जी घबराना, उल्टी या डायरिया होना (nausea, vomiting ya diarrhea)
  5. पल्स का अचानक घट या बढ़ जाना
  6. व्हेज्ज़िंग (wheezing) सांस लेने में तकलीफ़ होना
  7. बहुत तेज़ छिकें आना या नाक बहना
  8. लिप्स या जीभ का अचानक सूज जाना
  9. हाथों, पैरों में अचानक झनझनाहट महसूस होना

अगर आपको ऐसे लक्षण महसूस होते हैं तो आप जल्द से जल्द डॉक्टर से सलाह ज़रूर लें। समय पर स्किन एलर्जी ट्रीटमेंट लेने से अनाफ्य्लाक्टिक रिएक्शन (anaphylactic reaction) या अनाफ्य्लाक्टिक शॉक (anaphylactic shock) से बचा जा सकता हैं।

और पढ़ें:10 बेहतरीन एक्जिमा ट्रीटमेंट क्रीम
 

स्किन एलर्जी के टाइप्स या स्किन एलर्जी के प्रकार क्या हैं?

What are the types of skin allergy? in hindi

twacha mein allergy ke prakar in hindi

loading image

स्किन एलर्जी कई तरह की होती है और रैशेज के प्रकार के अनुसार स्किन एलर्जी को कई भागों में बांटा गया है।

स्किन एलर्जी टाइप्स की जानकारी, आपको स्किन एलर्जी से बचने के उपाय के तौर पर मदद करने के साथ-साथ स्किन एलर्जी ट्रीटमेंट में भी मदद करेगी। आइये जानते हैं स्किन एलर्जी टाइप्स क्या हैं।

स्किन एलर्जी टाइप्स (skin allergy types) या स्किन एलर्जी के प्रकार निम्न हैं :

  • एटॉपिक डर्मेटाइटिस या एक्जिमा (Atopic Dermatitis or Eczema)

टॉपिक डर्मेटाइटिस या एग्जिमा (atopic dermatitis or eczema) एक तरह की स्किन एलर्जी है जिसमें स्किन पर लाल और खुजली वाले चकत्ते हो सकते हैं। [5]

एटॉपिक डर्मेटाइटिस में स्किन की ऊपरी परत, प्राकृतिक रूप से नमी को रोकने में असफल रहती है जिस कारण स्किन रैशेज (skin rashes) हो जाते हैं।

यह ज्यादातर बचपन से जुड़ा डिसऑर्डर (disorder) है पर यह किसी भी उम्र में हो सकता है। एटोपिक डर्मेटाइटिस में कोहनी और घुटनों के पीछे लाल खुजली वाले रैशेज़ उभर आते हैं। कभी-कभी गंभीर होने पर ये रैशेज़ शरीर के अन्य हिस्सों और चेहरे को भी प्रभावित करते हैं।

एटॉपिक डर्मेटाइटिस लंबे समय तक रहने वाला यानि एक क्रोनिक डिजीज है। चिकित्सा जगत में अभी इसका कोई इलाज उपलब्ध नहीं है। हालांकि, सेल्फ केयर और दवाओं से खुजली से आराम मिल सकता है और नए अटैक से भी बचा जा सकता है।

केयर के लिए आप सॉफ्ट साबुन का इस्तेमाल, स्किन को नियमित मॉश्चराइजेशन, डॉक्टर द्वारा लिखी क्रीम और ऑइंटमेंट (ointment) खुजली वाली जगह पर उपयोग कर सकती हैं।

कभी-कभी एटॉपिक डर्मेटाइटिस होने पर हे फीवर (hay fever) या दमा (अस्थमा) होनी की भी संभावना रहती है। इसलिए इस दौरान नियमित स्किन डॉक्टर से संपर्क करें और बेहद सावधानी बरतें।

  • सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस (Seborrheic Dermatitis) [6]

इस प्रकार की त्वचा की एलर्जी के परिणामस्वरूप लाल, पपड़ीदार और खुजली वाले घाव होते हैं। ऐसे घाव ज्यादातर स्कैल्प, माथे, भौंह (eye brow), गाल और बाहरी कान को प्रभावित करते हैं।

सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस होने पर आपके बालों में डैंड्रफ हो जाता है और स्किन लाल और खुजलीदार हो जाती है।

अगर आपके सिर या चेहरे पर बहुत खुजली हो रही है जिससे आपके दिनचर्या में बाधा आ रही है या खुजली के कारण आप रात को आराम से नहीं सो पा रहीं हैं तो आपको तुरंत डॉक्टर से एलर्जी लिए सलाह लेनी चाहिए।

  • कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस (Contact Dermatitis) [7]

किसी नई चीज़ या केमिकल युक्त चीज़ों के संपर्क में आने से हुई स्किन एलर्जी को कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस कहा जाता है। जैसे, घड़ी के कारण कलाई या नयी अंगूठी पहनने के कारण उंगली प्रभावित हो सकती है।

कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस दो तरह का हो सकता है :

  • इर्रिटेंट कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस (Irritant contact dermatitis)

इर्रिटेंट कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस तब होता है जब इर्रिटेंट स्किन को टच करते हैं। इस तरह के एलर्जिक रिएक्शन में त्वचा का वही भाग प्रभावित होता है जो इर्रिटेंट से डायरेक्ट कांटेक्ट में आता है।

  • एलर्जिक कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस (Allergic contact dermatitis)

जबकि एलर्जिक कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस में स्किन रैशेज़ शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकते हैं। इस तरह के रैशेज़ लाल, फोड़ें जैसे (blisters) और अत्यधिक खुजली वाले होते हैं।

एलर्जिक कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस के लक्षण इर्रिटेंट के कॉन्टैक्ट में आने के 12 से 24 घंटे के बीच में आने शुरु होते हैं। इस तरह की स्किन एलर्जी को ठीक होने में 20-28 दिनों का समय लग सकता है।

  • सोरायसिस (Psoriasis) [8]

सोरायसिस, जीवन भर चलने वाला इम्यून डिसऑर्डर (autoimmune condition) है, जो त्वचा पर चकत्ते और अन्य लक्षणों को विकसित करता है।

सोरायसिस शरीर के त्वचा के किसी भी हिस्से पर हो सकता है। हालांकि ये अक्सर घुटनों, कोहनी या स्कैल्प पर दाने के रूप में होता है, जिससे खुजली, दर्द और बालों मे रूसी की भी शिकायत हो सकती है।

सोरायसिस में स्किन की कोशिकाएं अत्यधिक मात्रा में बढ़ जाती हैं जो रैशेज़ या स्केलिंग जैसे लक्षण पैदा कर देती हैं।

सोरायसिस के लक्षणों में लाल, उभरी व सूजन वाली त्वचा, रूखी स्किन जिसमें दरारें हो या हल्का रक्त बह रहा हो, सामान्य है। यहाँ यह बात ध्यान देने वाली है कि सोरायसिस छूने से नहीं फैलता है।

  • हाइव्स (Hives) [9]

हाइव्स उभरे हुए, खुजलीदार लाल रंग के धब्बे या घाव होते हैं। कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस इसे ट्रिगर कर सकती है, लेकिन कीड़े के काटने, दवाओं और खाद्य पदार्थों के कारण हुई एलर्जी से भी हाइव्स हो सकता है।

एलर्जी रिएक्शन (allergic reaction) से स्किन पर तुरंत हाइव्स हो जाता है और फिर घंटों या एक दिन में ठीक भी हो जाता है।

और पढ़ें:14 घरेलू उपाय जो तैलीय त्वचा से दिलाएंगे छुटकारा
 

स्किन एलर्जी होने के कारण क्या हैं?

What are the causes of skin allergy? in hindi

Skin allergy hone ke karan in hindi

loading image

स्किन एलर्जी से कई लोग किसी न किसी तरह प्रभावित होते हैं, लेकिन इस ओर ध्यान नहीं दिया गया तो इससे गंभीर बीमारी तक हो सकती है।

ऐसे में सबसे पहले ये समझने की ज़रूरत है कि आखिर स्किन एलर्जी होती किन वजहों से होती है ताकि आप स्किन एलर्जी के कारण को ध्यान में रखते हुए इससे बचाव कर सकें।

त्वचा की एलर्जी के सबसे आम कारणों में शामिल हैं: [10]

  1. मौसम में बदलाव
  2. वायु प्रदूषण
  3. टैटू का त्वचा पर बुरा प्रभाव
  4. ऐसा खाना खाना, जो आपके शरीर को सूट न करें
  5. आस-पास सफाई न होना
  6. किसी तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट जैसे - हेयर कलर इस्तेमाल करना
  7. किसी दवा के साइड-इफ़ेक्ट होने के कारण
  8. ड्राई स्किन के कारण स्किन एलर्जी
  9. पालतू जानवरों के कारण स्किन एलर्जी
  10. धूप की वजह से स्किन एलर्जी का होना
  11. फ्रेगरेंस के कारण स्किन एलर्जी
loading image
 

स्किन एलर्जी होने पर किस तरह की सावधानियां बरतनी चाहिए?

What are the precautions for skin allergy? in hindi

skin allergy ka ilaj in hindi, face skin allergy treatment in hindi

loading image

अगर आपको स्किन पर एलर्जी हो जाती है तो उस दौरान कुछ चीज़ों को लेकर आपको सतर्क रहना चाहिए। आइये जानते हैं स्किन एलर्जी से बचने के लिए आपको किस तरह की सावधानियां बरतनी चाहिए।

स्किन एलर्जी के दौरान सावधानियां :

  1. किसी एंटीबैक्टीरियल (anti-bacterial) साबुन का इस्तेमाल करें
  2. स्किन एलर्जी होने पर त्वचा में खुजली बार-बार न करें
  3. ज्यादा से ज्यादा खुली हवा में रहें
  4. अगर आपको किसी फूड से एलर्जी है, तो उससे दूर रहें
  5. एलर्जी से बचने के लिए जरूरी है कि आप धूम्रपान से बचें
  6. बिना चिकित्सक की सलाह के स्किन एलर्जी की दवा का इस्तेमाल न करें
  7. तेज़ धूप में निकलने से बचें
  8. अपनी साफ़-सफाई का पूरा ध्यान रखें
  9. अगर आपकी स्किन सेंसिटिव है तो आर्टिफिशियल ज्वेलरी पहनने से बचें
  10. पालतू जानवरों से दूर रहें
  11. किसी तरह के फ्रेगरेंस से एलर्जी है तो इससे बचें

त्वचा में एलर्जी किसी को भी हो सकती है। ज्यादातर एलर्जी का मुख्य कारण जीवनशैली और दिनचर्या होती है। इसके साथ ही प्रदूषण जैसे कारक भी एलर्जी का कारण बनते हैं।

ऐसे में अपनी लाइफस्टाइल (lifestyle) में कुछ बदलाव करके, अपनी त्वचा का ध्यान रखकर और त्वचा की एलर्जी को रोकने में मददगार खाद्य पदार्थ का सेवन करके इस समस्या से निजात पा सकते हैं।

इसके अलावा स्किन रोग विशेषज्ञ से मिल कर सही स्किन एलर्जी ट्रीटमेंट लेना भी अत्यधिक आवश्यक है। याद रखें समय पर उपचार करने से स्किन एलर्जी का इलाज संभव है।

और पढ़ें:आँखों के नीचे डार्क सर्कल
 

निष्कर्ष

Conclusionin hindi

Nishkarsh

कई बार कुछ त्वचा से जुड़ी समस्याएं बीमारी तो नहीं होती पर परेशान बीमारियों से भी ज्यादा कर देती हैं, ऐसी ही समस्याओं में से एक स्किन एलर्जी! इसलिए समय रहते इनके कारणों और लक्षणों को समझकर इससे बचने की कोशिश करनी चाहिए।

स्किन एलर्जी से बचने के लिए अपनी दिनचर्या में बदलाव लाएं - साफ रहें, जिस चीज़ से एलर्जी है उससे दूर रहें और पौष्टिक आहार लें। स्किन एलर्जी टाइप्स कई हैं, ऐसे में स्किन एलर्जी होने पर इसके इलाज के लिए स्किन एलर्जी के प्रकार का निदान बेहद जरुरी है। इसके लिए जल्द से जल्द डॉक्टर की सलाह लें।

loading image

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

अक्सर पूछे गए प्रश्न

सभी प्रश्न बंद करें

स्किन एलर्जी क्या होती है?

जब त्वचा में किसी भी चीज़ के संपर्क में आने के बाद एलर्जी हो व किसी तरह का रिएक्शन हो जाए तो उसे स्किन एलर्जी कहा जाता है।

तेज़ धूप, धूल-मिट्टी, सर्फ, साबुन या आर्टिफीशियल ज्वेलरी के कॉन्टैक्ट में आने से स्किन पर रैशेज़, खुजली या इर्रिटेशन होने लगती है।

त्वचा एलर्जी का मुख्य कारण क्या है?

त्वचा की एलर्जी कपड़े, पालतू जानवर, केमिकल, साबुन और या सौंदर्य प्रसाधन जैसे पदार्थों को छूने से हो सकती है।

फूड एलर्जी भी स्किन एलर्जी का कारण बन सकती है। निकल एलर्जी (nickel allergy - जब किसी हानिरहित चीज को छूने से एलर्जी हो जाए) भी स्किन एलर्जी के प्रकारों में काफी आम है।

मुझे कैसे पता चलेगा कि मुझे स्किन एलर्जी हुई है?

अगर त्वचा के रंग में बदलाव दिखे, तेज़ खुजली हो, स्किन पर जलन हो या छाले पड़ने लगे तो ये स्किन एलर्जी के संकेत हो सकते हैं।

क्या स्किन एलर्जी खतरनाक है?

आमतौर पर स्किन एलर्जी से किसी तरह का ख़तरा नहीं होता है लेकिन कुछ दुर्लभ मामलों में एलर्जी का रिएक्शन गंभीर रूप ले सकता है जिससे ऐनाफाइलेटिक शॉक लग सकता है।

स्किन एलर्जी क्या हेरिडिटरी/ अनुवांशिक होती है?

एलर्जी को विकसित करने की प्रवृत्ति अक्सर हेरिडिटरी यानि अनुवांशिक होती है, जिसका अर्थ है कि यह माता-पिता से बच्चों में जीन के माध्यम से पास हो सकता है।

लेकिन, इसका मतलब ये नहीं है कि आपके सभी बच्चों में निश्चित रूप से ये समस्या होगी।

जब फूड एलर्जी होती है तो क्या होता है?

जब एलर्जी कुछ खाने से या किसी खाद्य-पदार्थ से होती है तो इससे आवाज़ प्रभावित हो सकती है या फिर चेहरे पर रैशेज़ हो सकते हैं।

इतना ही नहीं फूड एलर्जी होने पर खाने में या कुछ निगलने में आपको परेशानी हो सकती है। आंखों, चेहरे और होठों में सूजन की समस्या हो सकती है।

एलर्जिक रिएक्शन कब तक रहता है?

एलर्जिक रिएक्शन कब तक रह सकता है यह आपको किस चीज़ से एलर्जी हुई है और आपकी स्किन कितनी सेंसिटिव या कोमल है, इस बात पर निर्भर करता है।

हालांकि, शुरुआत में लक्षण हल्के होते हैं और समय के साथ गंभीर होते जाते हैं। इसलिए ये कब तक रह सकता है इसका सटीक अनुमान नहीं लगाया जा सकता है।

आमतौर, देखा जाता है कि एक से दो दिन में एलर्जी ठीक हो जाती है।

क्या एलर्जी फैल सकती है?

एलर्जी, इम्म्यून सिस्टम के प्रति एक रिएक्शन है और किसी चीज़ या खाद्य-पदार्थ के कॉन्टैक्ट में आने से होती है। आपको किसी व्यक्ति के संपर्क में आने से एलर्जी नहीं होती है क्योंकि एलर्जी संक्रामक नहीं होती है।

क्या एटॉपिक डर्माटाइटिस स्किन एलर्जी का रूप होता है?

एटॉपिक डर्माटाइटिस (atopic dermatitis) स्किन एलर्जी का एक प्रकार होता है, जो छोटे बच्चों में होता है। इस स्किन इन्फेक्शन के होने पर स्किन पर खुजली होती है और घाव हो जाते हैं।

माना जाता है कि दस में दो बच्चे इस स्किन इन्फेक्शन से प्रभावित होते हैं। हालांकि, वयस्कों में भी एटॉपिक डर्माटाइटिस होना कॉमन है।

क्या हल्दी स्किन एलर्जी के लिए फायदेमंद होती है?

एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-बैक्टीरियल गुणों से भरपूर हल्दी स्किन एलर्जी के लिए बहुत फ़ायदेमंद होती है। इतना ही नहीं हल्दी में मौजूद करक्यूमिन (curcumin) स्किन एलर्जी के तमाम लक्षणों का इलाज करने के लिए मददगार साबित हो सकता है।

त्वचा की एलर्जी के लिए कौन सी दवा सबसे अच्छा काम करती है?

आपके डॉक्टर त्वचा की एलर्जी के उपचार के लिए एंटीथिस्टेमाइंस (antihistamines) या हाइड्रोकॉर्टिसोन (hydrocortisone) युक्त टोपिकल क्रीम प्रेस्क्राइब कर सकते हैं।

इसके अलावा खुजली से राहत के लिए पिमेक्रोलिमस (pimecrolimus) या टैक्रोलीमस (tacrolimus) लेने की भी सलाह दे सकते हैं।

त्वचा की एलर्जी के लिए कौन सा साबुन का चयन करना चाहिए?

ओटमील युक्त साबुन जैसे एवेनो (aveeno) या यहां तक ​​कि ओलिव ऑयल युक्त साबुन स्किन एलर्जी वाले लोगों के लिए अच्छे होते हैं।

सेटाफिल साबुन एक और अच्छा विकल्प है। आपको इस बात का ख़्याल रखना चाहिए कि केमिकल युक्त साबुन न इस्तेमाल करें और डॉक्टर की सलाह एक बार ज़रूर लें।

references

संदर्भ की सूचीछिपाएँ

1 .

NCBI. "Allergic contact dermatitis: Overview". Cologne, Germany: Institute for Quality and Efficiency in Health Care (IQWiG); 2006.

2 .

Stephen J Galli, and Mindy Tsai. "IgE and mast cells in allergic disease". Nat Med. 2012 May 4; 18(5): 693–704. Published online 2012 May 4, PMID: 22561833.

3 .

NCBI. "Allergic contact dermatitis: Overview". Cologne, Germany: Institute for Quality and Efficiency in Health Care (IQWiG); 2006.

4 .

WebMD. "Allergies and Anaphylaxis". WebMD, 18 June 2018.

5 .

Sandeep Kapur, Wade Watson, et al. "Atopic dermatitis". Allergy Asthma Clin Immunol. 2018; 14(Suppl 2): 52. Published online 2018 Sep 12, PMID: 30275844.

6 .

Thomas Berk, and Noah Scheinfeld. "Seborrheic Dermatitis". 2010 Jun; 35(6): 348–352, PMID: 20592880.

7 .

Graham Litchman; Pragya A et al. “Contact Dermatitis”. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2020 Jan, PMID: 29083649.

8 .

Paola Di Meglio, Federica Villanova et al. "Psoriasis".Cold Spring Harb Perspect Med. 2014 Aug; 4(8): a015354, PMID: 25085957.

9 .

Melek Aslan Kayiran and Necmettin Akdeniz. "Diagnosis and treatment of urticaria in primary care". North Clin Istanb. 2019; 6(1): 93–99, Published online 2019 Feb 14, PMID: 31180381.

10 .

WebMD. "Common Causes of Skin Allergies". WebMD, 05 September 2019.

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 12 May 2020

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

फेशियल हेयर लाइट करने के सरल तरीके

फेशियल हेयर लाइट करने के सरल तरीके

एक्जिमा के कारण, लक्षण, प्रकार और उपचार

एक्जिमा के कारण, लक्षण, प्रकार और उपचार

संवेदनशील त्वचा के लिए स्कीन केयर प्रोडक्ट्स

संवेदनशील त्वचा के लिए स्कीन केयर प्रोडक्ट्स

नाक पर काले धब्बे से छुटकारा पाने के तरीके

नाक पर काले धब्बे से छुटकारा पाने के तरीके

ब्लैकहेड्स के लिए सबसे अच्छा स्क्रब

ब्लैकहेड्स के लिए सबसे अच्छा स्क्रब
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad