choose right hospital with zealthy

भारतमेंबेस्ट नॉर्मल डिलीवरीहॉस्पिटल

भारत में बेस्ट नॉर्मल डिलीवरी हॉस्पिटल की लिस्ट से चुनें सभी सुविधाओं व आधुनिक उपकरणों से लैस अस्पताल। पाएं नॉर्मल डिलीवरी हॉस्पिटल से जुड़ी जानकारी।

हमारे हॉस्पिटल

नॉर्मल डिलीवरीसे जुडें सवाल

चिकित्सा विशेषज्ञ सेमुफ्त परामर्श*

zealthy-logo

Dr Nikitaऔर टीम

Zealthy एक्सपर्ट

नॉर्मल डिलीवरी स्पेशलिस्ट

अभी उपलब्ध है

1200+मरीजों का अनुभव

vote92% वोट्स

अभी संपर्क करें

* यह चिकित्सकीय परामर्श नहीं है

Alambagh, lucknow

500
0मुफ्तपहला कंसल्टेशन

Stanley Road, allahabad

500
0मुफ्तपहला कंसल्टेशन

mansarovar, jaipur

500
0मुफ्तपहला कंसल्टेशन

gurgaon

500
0मुफ्तपहला कंसल्टेशन

baner, pune

500
0मुफ्तपहला कंसल्टेशन

narayan peth, pune

500
0मुफ्तपहला कंसल्टेशन

hussain nagar, gorakhpur

500
0मुफ्तपहला कंसल्टेशन

marudhar nagar, bikaner

500
0मुफ्तपहला कंसल्टेशन

mayfield Garden, jaipur

500
0मुफ्तपहला कंसल्टेशन

malad west, mumbai

500
0मुफ्तपहला कंसल्टेशन

नॉर्मल डिलीवरी उपचार के हॉस्पिटल की अधिक जानकारी

भारत में नॉर्मल डिलीवरी ऑपरेशन के लिए सबसे सर्वश्रेष्ठ अस्पताल कौन से हैं?

Which are the best hospitals for normal delivery in India? in hindi

Normal prasav ke liye sabse achhe aspatal kaun se hote hain

नॉर्मल डिलीवरी के लिए सर्वश्रेष्ठ अस्पताल का चयन करना मुश्किल है। नॉर्मल डिलीवरी के लिए अस्पताल का चयन करते वक़्त अस्पताल की सुविधाओं पर जरूर ध्यान दें। सबसे अच्छे नॉर्मल डिलीवरी हॉस्पिटल में लेबर रूम, नर्स-सेवा, पीडियट्रीशियन, एनआईसीयू, इमर्जेंसी-ओटी, और एनेसथेलोजिस्ट (anesthesiologist) मौजूद होते हैं।

भारत में नॉर्मल डिलीवरी के लिए सबसे सर्वश्रेष्ठ अस्पताल का चयन करते वक़्त क्या रखें ध्यान ?

What to keep in mind while choosing the best hospitals for normal delivery in India? in hindi

Normal prasav ke liye sabse achhe aspatal ka chayan karne

नॉर्मल डिलीवरी अस्पताल में कई तरह की सुविधाओं का मौजूद होना बेहद जरूरी है ताकि आपकी और आपके नवजात शिशु की सही देखभाल हो सके। ऐसे में आप डिलीवरी के लिए प्रसूति हॉस्पिटल की जानकारी इक्कठी करें।

नॉर्मल डिलीवरी के लिए अस्पताल का चुनाव करें तो हॉस्पिटल से जुड़ी निम्न बातों पर जरूर ध्यान दें :

1. सामान्य प्रसव के लिए लेबर रूम (Labor room)

अस्पताल में लेबर रूम सबसे बहुमुखी कमरों में से एक होता है। इसे डिलीवरी रूम और रिकवरी रूम (LDR) भी कहा जाता है। यह कमरा लगभग हर जनाना अस्पताल में मौजूद होता है। लेबर डिलीवरी रूम में नॉर्मल डिलीवरी के वक़्त जरूरत पड़ने वाली सभी चीज़ें मौजूद होती हैं। किसी भी जनाना अस्पताल में लेबर रूम का मौजूद होना बेहद जरूरी है विशेष तौर पर नॉर्मल डिलीवरी के लिए।

2. सामान्य प्रसव के लिए मेडिकल स्टाफ की गुणवत्ता (Medical Staff)

एक अस्पताल वास्तव में अच्छा तभी हो सकता है, जब अस्पताल में अच्छे मेडिकल स्टाफ मौजूद हों। जब आप अस्पताल का दौरा करते हैं, तो मेडिकल स्टाफ से बात करें। उनके साथ आपकी सहभागिता आपके आत्मविश्वास और आराम के स्तर को मापने में मदद करेगी।

नर्स या मेडिकल स्टाफ का व्यवहार इसलिए मायने रखता है क्योंकि प्रसव के दौरान उनकी सहायता की आवश्यकता पड़ती है और साथ ही बच्चे के जन्म के बाद भी आपकी और आपके बच्चे की देखभाल की ज़िम्मेदारी उनकी होती है। ऐसे में बेस्ट मैटरनिटी हॉस्पिटल तलाश करते वक़्त अस्पताल में मेडिकल स्टाफ की गुणवत्ता पर जरूर ध्यान दें।

3. सामान्य प्रसव के लिए एनआईसीयू की उपलब्धता (NICU)

अगर आपका बच्चा प्रीमैच्यौर या जन्म के बाद अस्वस्थ होता है, तो उसे विशेष चिकित्सा देखभाल की आवश्यकता हो सकती है। ऐसी स्थिति को संभालने के लिए, आपकी पसंद के अस्पताल या नर्सिंग होम में एक नवजात गहन देखभाल इकाई (NICU - Neonatal intensive care unit) होनी चाहिए।

एनआईसीयू में बहुत छोटे या बीमार बच्चों की देखभाल के लिए विशेष रूप से प्रशिक्षित कर्मचारियों के साथ इनक्यूबेटर (incubators), फीडिंग ट्यूब (feeding tubes), फोटो थेरेपी लाइट (phototherapy lights), श्वसन मॉनिटर (respiratory monitors) और कार्डियक मॉनिटर (cardiac monitors) जैसे विशेष चिकित्सा उपकरण होने चाहिए।

4. सामान्य प्रसव के लिए शिशु रोग विशेषज्ञ की उपलब्धता (Child specialist doctor)

बच्चे के जन्म के बाद, बच्चे की स्थिति और स्वास्थ्य की जांच करने के लिए अस्पताल में शिशु रोग विशेषज्ञ का होना बहुत ज़रूरी होता है। शिशु रोग विशेषज्ञ ही शिशु के जन्म के 24 घंटे के अंदर अस्पताल में हेपेटाइटिस बी के टीके का पहला इंजेक्शन भी देते हैं। इसके साथ ही डिस्चार्ज के समय माता-पिता को बच्चे की देखभाल के लिए उपायों के बारे में बताते हैं और साथ ही आगे चलकर बच्चे को लगने वाले टीके (vaccination) की भी जानकारी देते हैं।

भारत में नॉर्मल डिलीवरी के लिए सर्वश्रेष्ठ अस्पताल का चयन किन कारकों के आधार पर करें?

Basis on what factors you should choose the best hospital for normal delivery in India?in hindi

India mei normal delivery ke liye sabse achhe hospital ka ch

गर्भवती स्त्री और उसके साथी को डिलीवरी से कुछ महीने पहले से अच्छे अस्पताल का चयन करना शुरू कर देना चाहिए। अगर आप सामान्य प्रसव के लिए अच्छा अस्पताल ढूंढने में लगी हैं तो कुछ कारकों के आधार पर आप अपने शहर में नॉर्मल डिलीवरी के लिए एक अच्छे हॉस्पिटल का चुनाव कर सकती हैं।

भारत में सामान्य डिलीवरी हॉस्पिटल चुनने से पहले रखें निम्न बातों का ध्यान :

1. कुशल महिला/स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर (Skilled lady doctor)

नार्मल डिलीवरी अस्पताल चुनते वक़्त यह जरूर ध्यान दें कि अस्पताल में मौजूद महिला रोग विशेषज्ञ कितनी कुशल है। ऐसे में आप ऑनलाइन डॉक्टर के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने का प्रयास कर सकते हैं या आप अस्पताल का दौरा कर सकते हैं और मेडिकल स्टाफ, शिशु रोग विशेषज्ञ और नर्सों से पूछताछ कर सकते हैं। इसके अलावा गायनी डॉक्टर का चयन करते समय, उनका रोगी के प्रति रवैया, रोगी की प्रतिक्रिया और सहजता पर भी ध्यान दें।

2. घर से अस्पताल की दूरी (Proximity)

अगर अस्पताल आपके घर से नज़दीक हो तो यह हमेशा आपके लिए सुविधाजनक और फ़ायदेमंद होगा। अगर अस्पताल आपके घर के करीब होगा तो आप लेबर पेन शुरू होने के शुरुआती क्षण में अस्पताल जल्दी और आसानी से पहुंच सकती हैं। ऐसे में अस्पताल का चयन करते समय इस बात का ख्याल रखना बहुत आवश्यक है।

3. विज़िटर के आने का समय (Visitor's arrival time)

प्रसूति हॉस्पिटल की जानकारी प्राप्त करते समय या सबसे अच्छे अस्पताल का चयन करते समय एक और ध्यान देने योग्य बात है हॉस्पिटल में विज़िटर के आने का समय। इस बात पर आपको ध्यान देने की आवश्यकता है कि क्या अस्पताल मरीज़ों से मिलने आने वाले विज़िटर को लेकर बहुत स्ट्रिक्ट रूल का पालन करता है या फिर फ्लेक्सिबल टाइमिंग प्रदान करता है। सख्त नियम के कारण इलाज के दौरान आपको परेशानी हो सकती है।

4. अस्पताल में साफ-सफाई (Hospital cleanliness)

चाहे आपकी डिलीवरी नॉर्मल होने वाली हो या फिर सी-सेक्शन डिलीवरी, किसी भी स्थिति में अस्पताल की स्वच्छता और सफाई आपके और आपके बच्चे के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। अस्पताल का चयन करते समय, देखें कि वार्ड का कमरा कितना बड़ा है, बिस्तर आदि किस हालत में हैं, हवा और प्रकाश कमरे में ठीक से पहुंचते हैं या नहीं? यह निश्चित है कि आपको डिलीवरी के समय गोपनीयता की आवश्यकता होगी। यदि आप डिलीवरी के लिए गोपनीयता और व्यक्तिगत स्थान चाहते हैं, तो अपने डॉक्टर या नर्सिंग स्टाफ से पहले से बात करें।

और पढ़ें

भारतमेंबेस्ट स्त्री रोग विशेषज्ञ (गायनेकोलॉजिस्ट)

भारत में सर्वश्रेष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ की लिस्ट से चुनें नार्मल डिलीवरी के लिए अनुभवी व नज़दीकी बेस्ट डॉक्टर। पाएं नॉर्मल डिलीवरी डॉक्टर से जुड़ी पूरी जानकारी।

चिकित्सा विशेषज्ञ से निःशुल्क परामर्श

zealthy-logo

Dr Priyankaऔर टीम

नॉर्मल डिलीवरी स्पेशलिस्ट

अभी उपलब्ध है

1000+मरीजों का अनुभव

अभी संपर्क करें

गाइनेकोलोजिस्ट gynecologist

loading image

Dr. Arati Gujrathi

MBBS, DGO

10साल का अनुभव

फ़ीस:

Rs

1000

civil lines, allahabad

आईवीएफ विशेषज्ञgynecologist

allopath

एलोपैथिक

loading image

Dr. Aritra Pradhan

MBBS, MS

19साल का अनुभव

फ़ीस:

Rs

500

govind marg, jaipur

बांझपन विशेषज्ञgynecologist

allopath

एलोपैथिक

loading image

Dr. Gauri Agarwal

MBBS, DNB

14साल का अनुभव

फ़ीस:

Rs

500

geetanjali enclave, delhi

बांझपन विशेषज्ञgynecologist

loading image

Dr. Kapil Lall

MBBS, DGO, MD, FICMCH

16साल का अनुभव

फ़ीस:

Rs

600

railway road, gurgaon

भारतमेंनॉर्मल डिलीवरीका खर्च

जानें, भारत में नॉर्मल डिलीवरी के खर्च की पूरी जानकारी। नार्मल डिलीवरी की लागत का करें आकलन और पाएं उपचार का उचित मूल्य।

नॉर्मल डिलीवरी उपचार का

भारत में खर्च

निम्नतम लागत

10,000

उच्चतम लागत

70,000

भारतमेंनॉर्मल डिलीवरीसे जुड़े सवाल

भारत में क्या है सामान्य प्रसव की लागत, सामान्य प्रसव के लिए सबसे अच्छे डॉक्टर और हॉस्पिटल कौन से हैं? जानें वेजाइनल नॉर्मल डिलीवरी से जुड़े सवाल व जवाब

पूछें बेस्ट फर्टिलिटी विशेषज्ञ सेमुफ्त सवाल

qa-iconडॉक्टर से पूछें

प्रेग्नेंसी डिलीवरी क्या है और डिलीवरी की विभिन्न तकनीकें क्या हैं ?

माँ के गर्भ में पल रहे शिशु के जन्म की प्रक्रिया को प्रेग्नेंसी डिलीवरी कहते हैं। डिलीवरी की विभिन्न तकनीकों में वेजाइनल या नॉर्मल डिलीवरी (normal or vaginal delivery), सिजेरियन डिलीवरी (caesarean delivery), वैक्युम एक्सट्रैकशन (vaccum extraction) और फोरसेप्स डिलीवरी (forceps delivery) शामिल हैं। चिकित्सक, माँ और बच्चे की सेहत और स्थिति को ध्यान में रखते हुए डिलीवरी की तकनीक चुनते हैं।

किन परिस्थितियों में नॉर्मल डिलीवरी की जाती है ?

  • जब बच्चे का वज़न 2 किलो से कम हो।
  • जब माँ डायबिटीज़ जैसी किसी स्वास्थ्य समस्या से ग्रस्त ना हो।
  • जब डॉक्टर बच्चे के प्राकृतिक जन्म के लिए सकारात्मक जवाब दें।
  • जब माँ डिलीवरी में किसी मेडिकल प्रक्रिया का हस्तक्षेप नहीं चाहती हो।

किन परिस्थितियों में माँ के लिए सी-सेक्शन द्वारा प्रसव अधिक बेहतर होता है ?

  • प्लेसेंटा प्रॉब्लेम्स के साथ गर्भवती माँ को प्रसव पीड़ा होने लगे।
  • जब बच्चे की गर्भाशय में पोजीशन नॉर्मल ना हो।
  • यदि माँ वेजाइनल डिलीवरी नहीं चाहती हो।
  • यदि माँ जुड़वाँ या तीन बच्चों से गर्भवती हो।
  • मां उच्च रक्तचाप या मधुमेह जैसी बीमारियों से पीड़ित हो।
  • यदि एमनियोटिक द्रव (amniotic fluid) कम हो।
  • यदि मां 12 घंटे से अधिक समय से प्रसव पीड़ा में है और बच्चे की धड़कन कम हो रही हो तो इमरजेंसी सी-सेक्शन डिलीवरी की जा सकती है।

Zealthy क्यों चुनें ?

कॉल

व्हाट्सप्प

अपॉइंटमेंट बुक करें