पाएँ मुफ्त कंसल्टेशन

उपचार चुनें

चुनें

*हम निश्चित ही अगले 24 घंटे में आपसे संपर्क करेंगे

India में आईयूआई (IUI) उपचार से गर्भधारण

India में आईयूआई (IUI) गर्भधारण से जुड़ी जानकारी। यहाँ जानें, आईयूआई उपचार से जुड़े फायदे, जोखिम, सावधानियां, डाइट टिप्स, योग व व्यायाम टिप्स आदि।

प्रक्रिया का प्रकार : गर्भधारण के लिए फर्टिलिटी उपचार

फुल फॉर्म : In Vitro Fertilization (IVF)

सफलता दर : 30% - 50%

सर्जरी : मामूली सर्जिकल प्रक्रिया (आधे दिन का समय)

मेडिकल लोन : Zealthy द्वारा 0% इंटरेस्ट ईएमआई लोन

उपचार के अन्य विकल्प : IVF

services
services

India में आईयूआई के बारे में अधिक जानें


आईयूआई (iui) उपचार या आर्टिफिशियल इनसेमिनेशन या कृत्रिम गर्भाधान क्या होता है?

What is Artificial Insemination or IUI in hindi

Kritrim garbh dharan ki paribhasha ya IUI kya hai

कृत्रिम गर्भाधान यानि इंट्रायूटेरिन इनसेमिनेशन (Intrauterine insemination - IUI) को आर्टिफ़िशियल इन्सेमिनेशन भी कहते हैं। आईयूआई उपचार बांझपन के लिए सबसे आम, प्रभावी और सस्ते उपचारों में से एक है।

इंट्रायूटेरिन इनसेमिनेशन एक आर्टिफिशियल रिप्रोडक्टिव ट्रीटमेंट (Artificial reproductive treatment - ART) है, जिसमें ओव्यूलेशन के दौरान शुक्राणुओं को एक महिला के गर्भाशय (uterus) या फैलोपियन ट्यूब (fallopian tube) में इंजेक्ट किया जाता है। आईयूआई उपचार आईवीएफ की तुलना में कम जटिल और सस्ता भी होता है।

आईयूआई को आमतौर पर इच्छित पिता के शुक्राणु (father's sperm) या दाता शुक्राणु (donor sperm) का उपयोग करके किया जाता है। फर्टिलाइज़ेशन को प्रोत्साहित करने के लिए, शुक्राणुओं को महिला के गर्भाशय के अंदर अंडे के करीब डाला जाता है ताकि वे अंडे को निषेचित (fertilize) कर सकें और सामान्य रूप से गर्भधारण हो सके। यह प्रक्रिया दर्द रहित है और इसमें केवल कुछ मिनट लगते हैं।

आईयूआई (iui) उपचार की जरूरत किन परिस्थितियों में पड़ती है ?

In what condition there is a need of IUI treatment in hindi

IUI treatment ki avashyakta kab padti hai in hindi

आमतौर पर मेल इंफर्टिलिटी के लिए आईयूआई उपचार किया जाता है। मगर, पुरुष बांझपन या महिला बांझपन दोनों ही परिस्थितियों में आईयूआई उपचार की जरूरत पड़ सकती है।

आईयूआई से गर्भधारण की आवश्यकता के कारण निम्न हैं :

  • अस्पष्टीकृत बांझपन (Unexplained Infertility)

अनएक्सप्लेंड इंफर्टिलिटी यानि सामान्य कारणों के मूल्यांकन के बावजूद बांझपन का कोई कारण नहीं पाया गया हो। ऐसे में इंफर्टिलिटी की समस्या हो सकती हैं, जिस स्थिति में कपल आईयूआई उपचार का विकल्प चुन सकते हैं।

  • एंडोमेट्रियोसिस (Endometriosis)

एंडोमेट्रियोसिस एक मेडिकल कंडीशन है जब यूटेरस की लाइनिंग जिसे एंडोमेट्रियम कहा जाता है, असामान्य तरीके से दूसरे अंगों की तरफ बढ़ने लगती है जैसे फैलोपियन ट्यूबों (fallopian tubes), ओवरी और पेलविस। एंडोमेट्रियोसिस के कारण गर्भधारण में बाधा आती है, ऐसी परिस्थिति में बांझपन के उपचार के लिए आईयूआई की तकनीक का सहारा लेना मददगार हो सकता है।

  • ग्रीवा कारक बांझपन (Cervical factor infertility)

ओव्यूलेशन के समय के आस-पास, गर्भाशय ग्रीवा द्वारा प्रोड्यूस होने वाला म्यूकस (mucus), आपकी योनि से फैलोपियन ट्यूब तक के यात्रा के लिए, शुक्राणु को एक आदर्श वातावरण प्रदान करता है। लेकिन, अगर आपका सर्वाइकल म्यूकस बहुत मोटा है, तो यह शुक्राणु की यात्रा को बाधित कर सकता है। गर्भाशय ग्रीवा (cervical mucus) खुद भी शुक्राणु को अंडे तक पहुंचने से रोक सकती है। ऐसे में आईयूआई आपके गर्भाशय ग्रीवा को दरकिनार कर, शुक्राणु को सीधे आपके गर्भाशय में डाल देता है और मौजूद अंडे से फर्टिलाइज होने में सहायता करता है।

  • डिम्बग्रंथि कारक बांझपन (Ovulatory factor infertility)

आईयूआई उन महिलाओं के लिए भी किया जा सकता है, जिनमें ओवुलेशन की समस्या के कारण बांझपन होता है। ओव्यूलेशन की अनुपस्थिति या अंडे का उत्पादन कम होना, पीसीओएस (PCOS), अनियमित मासिक धर्म चक्र (irregular menstrual cycles) सहित जैसी समस्या के कारण इंफर्टिलिटी की समस्या हो सकती है। ऐसे में बांझपन के उपचार के लिए आईयूआई का विकल्प मददगार हो सकता है।

  • पुरुष बांझपन (Mild male factor Infertility)

सीमेन एनालिसिस (semen analysis) के दौरान आपके साथी में शुक्राणु एकाग्रता (sperm concentration) औसत से कम दिख सकता है, स्पर्म की गतिशीलता में कमी दिख सकती है या फिर स्पर्म के आकार में असमानताएँ भी दिख सकती हैं। ऐसे में आईयूआई इनमें से कुछ समस्याओं को दूर कर सकता है, क्योंकि आईयूआई उपचार में स्पर्म वॉश (sperm wash) के दौरान, उच्च गुणवत्ता (highly motile) वाले स्पर्म को निम्न गुणवत्ता वाले स्पर्म से अलग कर किया जाता है।

  • पुरुष में स्पर्म की अनुपस्थिति - एजूस्पर्मिया (Absence of sperm in male - azoospermia)

स्पर्म की अनुपस्थिति के कारण भी पुरुष बांझपन की समस्या हो सकती है, इस स्थिति को एजूस्पर्मिया (Absence of sperm in male - azoospermia) कहते हैं। इस स्थिति में महिलाओं को गर्भवती होने के लिए डोनर स्पर्म (donor sperm) की आवश्यकता होती है। ऐसे में आईयूआई उपचार का विकल्प चुनना आपकी मदद कर सकता है। आईयूआई के द्वारा डोनर स्पर्म या फ़्रोजेन स्पर्म की मदद से पुरुष बांझपन का उपचार किया जा सकता है।

  • वीर्य एलर्जी (Semen allergy)

कुछ महिलाओं को अपने साथी के सीमेन (semen) में मौजूद प्रोटीन से एलर्जी हो सकती है। इस स्थिति में जब सीमेन स्किन के कांटेक्ट में आता है तब एलर्जी के कारण योनि में लालिमा, जलन और सूजन हो सकती हैं। अगर आपकी त्वचा प्रोटीन से संवेदनशील है तो भी आईयूआई प्रभावी हो सकता है, क्योंकि स्पर्म को गर्भाशय में डालने से पहले सीमेन में से कई प्रोटीन हटा दिए जाते हैं।

आईयूआई (iui) उपचार की सिफारिश कब नहीं की जाती है

When Intrauterine treatment is not recommended in hindi

IUI ki sifarish kab nahi ki jati in hindi

अगर एक महिला या पुरुष को निम्नलिखित में से कोई भी समस्या है, तो उस स्थिति में आईयूआई कराने की सलाह नहीं दी जाती है।

निम्न परिस्थितियों में आईयूआई नहीं होता है कारगर :

  • जिन महिलाओं के फॉलोपियन ट्यूब ब्लॉक हों
  • गंभीर एंडोमेट्रियोसिस हो
  • पहले पेल्विक इन्फेक्शन हुआ हो
  • अगर ओवेरियन रिज़र्व में कमी (diminished ovarian reserve -high FSH) हो या फिर ओवेरियन फेलियर (ovarian failure- menopause)हो
  • महिला की उम्र 40 से अधिक हो - अधिक उम्र की महिलाओं के लिए आईवीएफ के साथ अधिक आक्रामक (aggressive) उपचार या डोनर एग आईवीएफ की सिफारिश की जाती है
  • गंभीर पुरुष कारक बांझपन - अगर शुक्राणुओं की संख्या, गतिशीलता में कमी होती है या फिर आकार काफी असामान्य हैं, तो इंट्रायूटेरिन इंसेमिनाशन के काम करने की संभावना न के बराबर होती है। उदाहरण के लिए: यदि गर्भाधान के समय (प्रोसेसिंग के बाद) कुल मोटाइल शुक्राणु की संख्या (total motile sperm count) 10 मिलियन से कम है, तो प्रेगनेंसी की संभावना काफी कम हो जाती है। ऐसी स्थिति में इनविट्रो फर्टिलाइज़ेशन के साथ आईसीएसआई (ICSI) करना ही सबसे अच्छा ट्रीटमेंट ऑप्शन होता है।

और पढ़ें

India में आईयूआई (iui) उपचार का खर्च

India में आईयूआई (iui) उपचार के खर्च की पूरी जानकारी व प्रभावित करने वाले कारक। IUI ट्रीटमेंट की लागत का करें आकलन और पाएं उपचार का उचित मूल्य।

आईयूआई उपचार का India में खर्च

निम्नतम लागत

उच्चतम लागत

5,00040,000

India में बेस्ट आईयूआई (iui) उपचार फर्टिलिटी स्पेशलिस्ट डॉक्टर

India में बेस्ट आईयूआई (iui) फर्टिलिटी स्पेशलिस्ट डॉक्टर की लिस्ट से सुविधा अनुसार चुनें अनुभवी व नज़दीकी डॉक्टर और पाएं पहली अपॉइंटमेंट बिलकुल मुफ्त।

services
services

India में बेस्ट IUI उपचार फर्टिलिटी सेंटर

India में बेस्ट IUI उपचार फर्टिलिटी सेंटर की लिस्ट से चुनें सभी सुविधाओं व उपचार की आधुनिक तकनीक से लैस अस्पताल। पाएं IUI हॉस्पिटल की पूरी जानकारी।

India में आईयूआई (IUI) उपचार व गर्भधारण से जुड़े सवाल

क्या टेस्ट ट्यूब बेबी प्रक्रिया दर्दनाक है? आईवीएफ उपचार में क्या होता है? आईवीएफ ट्रीटमेंट से गर्भधारण व आईवीएफ गर्भावस्था की पूरी प्रक्रिया से जुड़े सवाल व जवाब

ask-expert_banner

आईयूआई क्या है और इसकी प्रक्रिया कैसे की जाती है ?

आईयूआई - इंट्रायूटेरियन इन्सेमिनेशन, गर्भधारण के लिए की जाने वाली एक प्रक्रिया है जिसमें एक पतली और फ़्लेक्सिबल कैथेटर ट्यूब की मदद से स्पर्म को गर्भाशय के अंदर फर्टिलाइज़ेशन के लिए डाला जाता है। इस प्रक्रिया में एक से दो मिनट का समय लगता है।

आईयूआई से कितनी देर पहले और कहाँ स्पर्म को इक्कठा किया जाता है ?

इजैक्यूलेशन के द्वारा स्पर्म को एक स्टेराइल कलेक्शन कप में इक्कठा किया जाता है। अगर आप स्पर्म को घर पर इक्कठा कर रहें हैं तो प्रक्रिया से एक घंटे पहले आपको सैंपल क्लीनिक में जमा कराने होंगे। घर के अलावा आप क्लीनिक के कलेक्शन रूम का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। सीमेन सैंपल इक्कठा करने और स्पर्म को गर्भाशय में डालने की प्रक्रिया के बीच स्पर्म वॉश की प्रक्रिया होती है। स्पर्म वॉश की प्रक्रिया में 30 मिनट से लेकर आधे घंटे तक का समय लगता है। आमतौर पर स्पर्म वॉश की प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही आईयूआई की प्रक्रिया शुरु की जाती है।

क्या आईयूआई उपचार से गर्भधारण संभव है ?

जी हाँ, आईयूआई तकनीक बांझपन का उपचार है और इससे गर्भधारण संभव है।

काश! नहीं, प्रयास करें!

अधूरे सपने को पूरा करने के लिए हमपर विश्वास करें!

प्राथमिक अपॉइंटमेंट के साथ बेस्ट फर्टिलिटी उपचार

प्राथमिक अपॉइंटमेंट के साथ बेस्ट फर्टिलिटी उपचार

बेस्ट फर्टिलिटी उपचार के लिए, हमसे जुड़े 15,000+ फर्टिलिटी विशेषज्ञ के साथ पाएं प्राथमिक अपॉइंटमेंट।

24/7 व्यक्तिगत और बेहतर केयर सपोर्ट

24/7 व्यक्तिगत और बेहतर केयर सपोर्ट

उपचार के दौरान 24/7 उपलब्ध रहने वाली हमारी केयर टीम के द्वारा हर फर्टिलिटी केस को अच्छी तरह समझा और निर्देशित किया जाता है

वित्तीय सहायता और सस्ती दरों पर उपचार

वित्तीय सहायता और सस्ती दरों पर उपचार

पूरी पारदर्शिता के साथ लागत-प्रभावी उपचार देने का आश्वासन और जरुरत पड़ने पर 0% इंटरेस्ट दर पर लोन दिया जाता है

services
services

आर्टिकल्स

डोनर इन्सेमिनेशन और स्पर्म डोनर की मदद से गर्भधारण की प्रक्र

डोनर इंसेमिनेशन यानी वीर्यरोपण से गर्भधारण के लिए स्पर्म का सही चुनाव और और वीर्यरोपण की सही प्रक्रिया का होना ज़रूरी है। आमतौर पर आईयूआई के ज़रिए वीर्यरोपण सबसे ज़्यादा सफल रहता है, तो आप यदि इसे करा...और पढ़ें

Dr Rita Bakshi

24 Mar, 2019

आईयूआई उपचार के दौरान निगरानी के 3 मुख्य प्रकार क्या हैं?

Dr Ruchi Malhotra , gynecologist,obstetricia

आईयूआई प्रक्रिया के लिए खुद को कैसे तैयार करें?

Dr Sweta Agarwal , gynecologist,obstetrician

आईयूआई के बाद गर्भावस्था और गर्भावस्था के लक्षण

Dr Ashish Kale , gynecologist

आईयूआई ट्रीटमेंट की सफलता दर किन कारकों पर निर्भर करती है?

Dr Rita Bakshi , obstetrician

गर्भावस्था के दौरान गर्भ में बेबी गर्ल होने के लक्षण : तथ्य और भ्रांतियां

Dr Sipra Bagchi , gynecologist

आईयूआई प्रक्रिया के बाद गर्भधारण के लिए क्या करें और क्या न करें

Dr Somya Sinha , gynecologist,obstetrician

आईयूआई प्रक्रिया के लिए खुद को कैसे तैयार करें?

Dr Rushabh Mehta , gynecologist,obstetrician

आईयूआई उपचार की प्रक्रिया दर्दनाक है ?

Dr Somya Sinha , gynecologist,obstetrician

आईयूआई के बाद भ्रूण प्रत्यारोपण के लक्षण

Dr Rushabh Mehta , gynecologist,obstetrician