भारतमेंआईयूआई का खर्च

मुझे उपचार की सही लागत जाननी है

पारदर्शिता व उचित आकलन के साथ हम आपको आपके उपचार का सही ख़र्च बताते हैं

i need to get the right cost for my treatment

भारत में आईयूआई ट्रीटमेंट की लागत कितनी है? What is the cost of IUI treatment in India in hindi Bharat mein IUI technique se infertility ka ilaj karne mein hone wala kharch kitna hai?

मूल्य दर

Rs5000-Rs15000

भारत में IUI से बांझपन उपचार के एक चक्र की शुरुआती लागत अनुमानित रूप से करीब 3,000 (तीन हजार) रुपये से होती है। आईयूआई उपचार के एक चक्र का ख़र्च 5, 000 से 10,000 रूपए तक होता है जिसमें आईयूआई प्रक्रिया से पहले होने वाले अल्ट्रासाउंड, दवाईयाँ, इंजेक्शन आदि भी शामिल हैं। लेकिन आईयूआई उपचार करवाने वाली महिलाओं को यह ध्यान रखना चाहिए कि आईयूआई उपचार का खर्च शहर, क्लिनिक, डॉक्टर, चिकित्सीय इतिहास और अन्य किसी प्रकार कि जटिलताओं के अनुसार कम या ज्यादा हो सकता है।

कॉलबैक का अनुरोध करें और पाएँ मूल्य का उचित आकलन

उपचार के खर्च के बारे में अधिक जानें

भारत में आईयूआई ट्रीटमेंट की पहली साईकिल की प्रक्रिया में कौन-कौन से खर्च शामिल होते हैं? Hide

What type of expenses are covered in one cycle of IUI cost in India in hindi

bharat me IUI cost me pehli cycle mein kon kaun se kharch shamil hote hai?

आईयूआई से बांझपन उपचार शुल्क में क्या शामिल होगा और क्या नहीं यह क्लिनिक, डॉक्टर और उनसे संबंधित एक्सपर्ट्स पर निर्भर करता है लेकिन कुछ आम चीज़ें जो IUI उपचार की लागत को निर्धारित करती हैं इस प्रकार हैं :

  • आईयूआई के एक चक्र के दौरान किये जाने वाले अल्ट्रासाउंड परीक्षण
  • IUI के एक चक्र के दौरान किये जाने वाली सभी प्रकार की खून से संबंधित जांच
  • आईयूआई उपचार के दौरान प्रयोगशाला में की जाने वाली प्रक्रियाएँ जैसे - वीर्य में से स्वस्थ शुक्राणुओं को निकालना आदि
  • IUI ट्रीटमेंट के दौरान, गर्भाधान (insemination) की प्रक्रिया, जिसमें तैयार किया गया वीर्य गर्भाशय में डाला जाता है
  • आईयूआई के पहले चक्र के दौरान डॉक्टर से परामर्श एवं अन्य चिकित्सीय सहायता

भारत में आईयूआई ट्रीटमेंट की पहली साईकिल की प्रक्रिया में कौन-कौन से खर्च शामिल नहीं होते हैं? Show

What type of expenses are not covered in the first cycle of IUI treatment cost in India in hindi

Bharat me IUI ki pehli cycle mein shamil na kiye jaane wale

आईयूआई ट्रीटमेंट की पहली साईकिल की प्रक्रिया में निम्न खर्च शामिल नहीं होते हैं :

  • आईयूआई उपचार शुरू करने से पहले किये जाने वाले चिकित्सीय परीक्षणों का शुल्क
  • आईयूआई उपचार की प्रक्रिया में शामिल तकनीकों के अलावा किसी तकनीक का उपयोग करने में होने वाला खर्च जैसे एंडोमेट्रियल स्ट्रेचिंग (endometrial stretching) आदि
  • आईयूआई ट्रीटमेंट के दौरान डोनर शुक्राणु का उपयोग करने में आने वाली लागत जैसे भंडारण, काउंसलिंग (conselling), आदि
  • आईयूआई प्रक्रिया के एक चक्र के दौरान ली जाने वाली दवाईयाँ एवं इंजेक्शन
  • शैल्य क्रिया (operating procedures) में लगने वाला खर्च जैसे डॉक्टर, एनेस्थिसिया (anesthesia), ऑपरेशन थिएटर (operation theater), आदि
  • IUI उपचार के बाद गर्भावस्था या गर्भधारण होने पर किसी प्रकार के परामर्श का शुल्क

भारत में आईयूआई ट्रीटमेंट की लागत किन कारकों पर निर्भर करती है ? Show

What are the factors on which iui cost depends upon in India in hindi

Bharat me iui upchar ka kharch kin karako par nirbhar karta hai

आईयूआई उपचार का खर्च फॉलिकल विकास को ट्रैक करने के लिए आवश्यक नैदानिक ​​निगरानी और परीक्षण (clinical monitoring and testing) की मात्रा पर निर्भर करता है, जैसे ओव्यूलेशन इंडक्शन (ovulation induction), ओव्यूलेशन पर नज़र रखना (tracking of ovulation), अल्ट्रासाउंड स्कैन (ultrasound scans), विभिन्न प्रकार के परामर्श और दवाएं।

आईयूआई उपचार का पूरा खर्च निम्न कारकों पर निर्भर करता है :

प्राकृतिक चरण और आईयूआई की लागत

प्राकृतिक चक्र के माध्यम से आईयूआई प्रक्रिया में दवाओं का उपयोग नहीं किया जाता है। प्राकृतिक चक्र में केवल स्पर्म वॉश की आवश्यकता होती है और जिसके बाद स्पर्म को फैलोपियन ट्यूब (fallopian tube) के पास गर्भाशय में डाला जाता है। इस तरह की तकनीक की लागत में डॉक्टर के परामर्श, अल्ट्रासाउंड स्कैन और गर्भाधान प्रक्रिया की लागत शामिल होती है। भारत में इसका औसतन खर्च 8000 से लेकर 15,000 रूपए तक हो सकता है जिसमें क्लिनिक, डॉक्टर और परीक्षणों के आधार पर बदलाव आ सकता है।

क्लोमिद/मेडिकेशन चरण और आईयूआई की लागत

आईयूआई प्रक्रिया इस चरण में दवाओं के जरिये महिला के गर्भाशय को उत्तेजित किया जाता है ताकि अधिक अंडो का उत्पादन हो सके। इस चरण में गर्भावस्था की संभावना बढ़ाने के लिए प्रजनन विशेषज्ञ मौखिक दवाएं (oral fertility drugs) देते हैं जैसे -क्लोमीड। इस तकनीक का उपयोग करने पर एक औसतन आईयूआई चक्र की लागत 2,000 रूपए तक बढ़ जाती है।

गोनैडोट्रोपिंस इंजेक्शन चरण और आईयूआई की लागत

गोनैडोट्रोपिंस के साथ आईयूआई उपचार उन महिलाओं के लिए सुझाया जाता है जिनमें अनियमित रूप से ओव्यूलेशन होता है या जिनमें बिलकुल भी ओव्यूलेशन नहीं होता है। आईयूआई के पहले चरण में इंजेक्शन से अंडाशय को स्वस्थ अंडे उत्पन्न करने के लिए उत्तेजित किया जाता है।

कुछ डॉक्टर अंडे की उत्तेजना के लिए और प्रजनन क्षमता के स्तर को बढ़ावा देने के लिए एचसीजी - ह्यूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन (HCG -Human Chorinoic Gonadotropin) इंजेक्शन लेने की भी सलाह देते हैं। इसलिए यदि महिला को ऐसे इंजेक्शनों की आवश्यकता पड़ती है, तो संभव है कि iui उपचार के एक चक्र की कुल लागत 20,000 से 40,000 हो। हालांकि या लागत लिए जाने वाले इंजेक्शन के संख्या पर भी निर्भर करती है।

डिंबोत्सर्जन की जांच की तकनीक और आईयूआई की लागत

आईयूआई उपचार प्रक्रिया में डिंबोत्सर्जन की जांच (ovulation monitoring) एक महत्वपूर्ण चरण होता है जिसके लिए डॉक्टर द्वारा कई तरह की तकनीकों का प्रयोग कर सकते हैं। इसके अनुसार आईयूआई में होने वाला खर्च कम या बढ़ सकता है। मुख्य रूप से डिंबोत्सर्जन की जांच के लिए तीन प्रक्रियाएँ की जाती हैं :

  • ओव्यूलेशन किट (Ovulation kit)

इसे ओव्यूलेशन प्रेडिक्टर किट (OPK) के रूप में भी जाना जाता है। इसके माध्यम से मूत्र में एलएच हॉर्मोन (LH hormone) में वृद्धि का पता लगाया जाता है और यह बताता है कि महिला में ओवुलेशन कब हो सकता है। इस किट का मूल्य कंपनी और प्रकार पर निर्भर करता है जो 200 से 2000 रूपए तक हो सकता है।

  • योनी का अल्ट्रासाउंड (Vaginal ultrasound)

इस परीक्षण के माध्यम से महिला के प्रजनन अंगों जैसे गर्भाशय, अंडाशय आदि की स्वास्थ्य जांच की जाती है जिसमें पेल्विक (pelvic) हिस्से की जांच भी शामिल होती है। इस जांच का शुल्क डॉक्टर एवं क्लिनिक पर निर्भर करता है जहाँ यह परीक्षण करवाया जाता है। वेजाइनल अल्ट्रासाउंड का मूल्य औसतन 800 से 2000 रूपए तक हो सकता है।

  • रक्त जांच (Blood work)

इस जाँच में महिला के रक्त के माध्यम से उसके ओवुलेशन इंडक्शन प्रक्रिया की जांच की जाती है जिसका शुल्क डॉक्टर एवं क्लिनिक पर निर्भर करता है जहाँ यह परीक्षण करवाया जाता है।

यह भी ध्यान रखना चाहिए कि आईयूआई की लागत में इन सभी तकनीकों के प्राथमिक खर्च के साथ साथ कितनी बार यह परीक्षण करवाए जायेंगे, इसका भी असर पड़ता है।

वीर्य को एकत्रित एवं प्रोसेसिंग करने की तकनीक और आईयूआई की लागत

आईयूआई तकनीक से बांझपन के उपचार के लिए पुरुष के वीर्य को इकट्ठा किया जाता है और कई अन्य प्रक्रियाओं के प्रयोग से स्वस्थ शुक्राणुओं की पहचान करके, महिला के शरीर में डाला जाता है। इन तकनीकों की लागत आईयूआई प्रक्रिया को प्रभावित करती है।

ये तकनीक कुछ इस प्रकार है : -

  • स्पर्म थाविंग (Sperm thawing)

इस प्रक्रिया में पुरुष के वीर्य में से स्वस्थ शुक्राणुओं को निकाला जाता है और चिकित्सीय तकनीक के माध्यम से महिला के शरीर में डालने के लिए तैयार किया जाता है। इस प्रक्रिया में होने वाला खर्च भी आईयूआई चक्र की लागत को प्रभावित करता है।

  • शुक्राणु निष्कर्षण (Sperm extraction)

शुक्राणु निष्कर्षण या स्पर्म रिकवरी (sperm recovery) के लिए उपयोग की जाने वाली उन्नत प्रक्रिया (advanced techniques) जैसे टेसा (TESA), मेसा (MESA), पेसा(PESA), टेसे (TESE) आदि में होने वाले खर्च भी आईयूआई चक्र की लागत को प्रभावित करता है।

एक चक्र के दौरान किये जाने वाले गर्भधान की संख्या और आईयूआई की लागत

कई बार आईयूआई उपचार के चक्र के समय किसी महिला को एक से अधिक बार गर्भाधान (insemination) की आवश्यकता पड़ती है जिसके कारण उसे डॉक्टर से परामर्श, अनुशंसित परीक्षण (recommended tests), शैल्य क्रियाएं (जिसमें ऑपरेशन थिएटर, एनेस्थिसिया, दवाईयाँ शामिल हैं) आदि एक से अधिक बार करवानी पड़ती है जिसकी वजह से आईयूआई में होने वाला खर्च बढ़ जाता है।

गर्भावस्था की पुष्टि करने वाले परिक्षण और आईयूआई की लागत

आईयूआई उपचार के माध्यम से किसी महिला को गर्भवती करने की प्रक्रिया के बाद उसके गर्भधारण की पुष्टिकरण करने के लिए कई तरह के परीक्षण उपलब्ध हैं जो डॉक्टर, क्लिनिक और महिला की अवस्था पर निर्भर करते हैं। इन परीक्षणों की अपनी लागत के चलते आईयूआई की औसतन लागत बढ़ती या घटती है।

इन सब कारकों के अलावा क्लिनिक एवं हॉस्पिटल का प्रकार, गर्भधारण के लिए आईयूआई चक्रों की संख्या, युगल यानी भावी माता-पिता की स्वास्थ्य अवस्था एवं चिकित्सीय इतिहास भी iui उपचार की पूरी लागत को प्रभावित करता है।

भारत में आईयूआई ट्रीटमेंट की लागत में इंट्राकर्विकल इन्सेमिनेशन (ICI) का ख़र्च कितना है? Show

How much Intracervical Insemination (ICI) cost during iui treatment in India in hindi

bharat me Intracervical Insemination (ICI) ki laagat iui upchar ki laagat se

यह एक असिस्टेड रिप्रोडक्टिव तकनीक (Assisted Reproductive Technique - ART) है जिसका उपयोग बांझपन के उपचार के लिए किया जाता है। इसमें पुरुष से वीर्य प्राप्त कर, प्रयोगशाला में चिकित्सीय तकनीक से उनमें से स्वस्थ शुक्राणु निकले जाते हैं जिनको महिला के सर्विक्स (cervix) में इंजेक्ट कर दिया जाता है। भारत में इंट्राकर्विकल इन्सेमिनेशन (ICI) प्रक्रिया का खर्च औसतन 4000 से 39000 रूपए तक है।

और पढ़ें


Zealthy क्यों चुनें ?

informed decision making
service guarantee
financial assistance and best price
zealthy care
right

सही निर्णय में सहायक

  • tickपाएँ उपचार की पूरी जानकरी व उनके खर्च का उचित आकलन
  • tickअन्य पेशेंट के अनुभव और रिव्यू से पाएँ मदद
  • tickउचित डॉक्टर के चुनाव के लिए पाएँ मेडिकल एक्सपर्ट से स्वतंत्र सलाह
  • tickपाएँ प्रसिद्ध विशेषज्ञ डॉक्टर से अपने सवालों के जवाब

सर्विस की गारंटी

  • tickहमारे सभी डॉक्टर अनुभवी और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशिक्षित हैं
  • tickहमारे सेंटर्स आधुनिक तकनीक व उपकरणों से लैस हैं
  • tickहमारे सभी उपचार अंतरराष्ट्रीय मानकों पर आधारित हैं
  • tickउपचार की दूसरी या तीसरी राय के लिए पाएँ एक्सपर्ट पैनल से सहायता

वित्तीय सहायता और उचित लागत

  • tickहम सभी उपचारों के लिए एक समान और उचित मूल्य के लिए प्रतिबद्ध हैं
  • tickउपचार की सस्ती दरों की गारंटी
  • tick0% इंटरेस्ट के साथ इंसटैंट मेडिकल लोन
  • tickसभी हेल्थ इंश्योरेंस के लिए सहायता

zealthy care

  • tickचिकित्सा के दौरान 24*7 समर्पित व्यक्तिगत समन्वयक सहायता
  • tickअनुभवी नुट्रीशनिस्ट और प्रशिक्षकों द्वारा आहार, व्यायाम, स्तनपान आदि के लिए कोचिंग
  • tickएक्टिव और इंगेजिंग महिला कम्यूनिटी से जुड़ें
  • tickपाएँ फ्री पोस्ट सर्जरी फॉलो-अप

आर्टिफिशियल इनसेमिनेशन या आईयूआई या कृत्रिम गर्भधारण क्या होता है What is Artificial Insemination or IUI in hindi Kritrim garbh dharan ki paribhasha ya IUI kya hai

कृत्रिम गर्भधारण यानि आर्टिफ़िशियल इन्सेमिनेशन को इंट्रायूटेरिन इनसेमिनेशन (Intrauterine insemination - IUI) भी कहते हैं। आईयूआई उपचार बांझपन के लिए सबसे आम, प्रभावी और सस्ते उपचारों में से एक है।

इंट्रायूटेरिन इनसेमिनेशन एक आर्टिफिशियल रिप्रोडक्टिव ट्रीटमेंट (Artificial reproductive treatment - ART) है, जिसमें ओव्यूलेशन के दौरान शुक्राणुओं को एक महिला के गर्भाशय (uterus) या फैलोपियन ट्यूब (fallopian tube) में इंजेक्ट किया जाता है। आईयूआई उपचार आईवीएफ की तुलना में कम जटिल और सस्ता भी होता है।

आईयूआई को आमतौर पर इच्छित पिता के शुक्राणु (father’s sperm) या दाता शुक्राणु (donor sperm) का उपयोग करके किया जाता है। फर्टिलाइज़ेशन को प्रोत्साहित करने के लिए, शुक्राणुओं को महिला के गर्भाशय के अंदर अंडे के करीब डाला जाता है ताकि वे अंडे को निषेचित (fertilize) कर सकें और सामान्य रूप से गर्भधारण हो सके। यह प्रक्रिया दर्द रहित है और इसमें केवल कुछ मिनट लगते हैं।


भारतमेंआईयूआई के डॉक्टर्स

आईयूआई उपचार की प्रक्रिया आसान है और सफलता दर की भी संभावना बनी रहती है लेकिन उपचार के लिए एक सही और अनुभवी डॉक्टर का चयन करना बहुत महत्वपूर्ण है। आईयूआई उपचार के लिए डॉक्टर का चयन करते वक़्त कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। जैसे - डॉक्टर के बारे में ऑनलाइन रिसर्च करे, डॉक्टर की योग्यता पर विचार करें और ध्यान दें कि वो फर्टिलिटी स्पेशलिस्ट हो, डॉक्टर की उपचार से जुड़ी सफलता दर की जानकरी लें, नवीनतम तकनीकों पर प्रशिक्षण के बारे में पता करें, मरीज़ के प्रति डॉक्टर का व्यवहार जरूर देखें।


भारतमेंआईयूआई का हॉस्पिटल

बेहतर उपचार के लिए बेहतर क्लीनिक का चयन करना बेहद आवश्यक है। आईयूआई क्लीनिक का चयन करते समय निम्नलिखित बातों का रखें ख्याल:

  • आईयूआई क्लीनिक में उपचार के लिए सभी तरह के इक्विपमेंट उपलब्ध हो
  • आईयूआई अस्पताल या सेंटर में उचित गुणवत्ता, उचित मान्यता और योग्यता प्राप्त वाले डॉक्टर हों
  • आईयूआई क्लीनिक में स्टाफ का मरीज़ों के प्रति व्यवहार अच्छा हो
  • आईयूआई सेंटर में डॉक्टर पूरे सपोर्ट के साथ दंपत्ति की मदद करने लिए उत्साहित हों
  • आईयूआई क्लीनिक में इलाज के बाद डाइट, जीवनशैली और दिनचर्या को लेकर जानकारी मिल सके

भारतमेंआईयूआई से जुड़े प्रश्न

आईयूआई क्या है और इसकी प्रक्रिया कैसे की जाती है ?Show

आईयूआई क्या है और इसकी प्रक्रिया कैसे की जाती है ?

आईयूआई क्या है और इसकी प्रक्रिया कैसे की जाती है ?

आईयूआई - इंट्रायूटेरियन इन्सेमिनेशन, गर्भधारण के लिए की जाने वाली एक प्रक्रिया है जिसमें एक पतली और फ़्लेक्सिबल कैथेटर ट्यूब की मदद से स्पर्म को गर्भाशय के अंदर फर्टिलाइज़ेशन के लिए डाला जाता है। इस प्रक्रिया में एक से दो मिनट का समय लगता है।

आईयूआई से कितनी देर पहले और कहाँ स्पर्म को इक्कठा किया जाता है ?Show

आईयूआई से कितनी देर पहले और कहाँ स्पर्म को इक्कठा किया जाता है ?

आईयूआई से कितनी देर पहले और कहाँ स्पर्म को इक्कठा किया जाता है ?

इजैक्यूलेशन के द्वारा स्पर्म को एक स्टेराइल कलेक्शन कप में इक्कठा किया जाता है। अगर आप स्पर्म को घर पर इक्कठा कर रहें हैं तो प्रक्रिया से एक घंटे पहले आपको सैंपल क्लीनिक में जमा कराने होंगे। घर के अलावा आप क्लीनिक के 'कलेक्शन रूम' का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। सीमेन सैंपल इक्कठा करने और स्पर्म को गर्भाशय में डालने की प्रक्रिया के बीच "स्पर्म वॉश" की प्रक्रिया होती है। स्पर्म वॉश की प्रक्रिया में 30 मिनट से लेकर आधे घंटे तक का समय लगता है। आमतौर पर स्पर्म वॉश की प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही आईयूआई की प्रक्रिया शुरु की जाती है।


zealthy contact

कॉल

zealthy whatsapp contact

व्हाट्सप्प

book appointment

अपॉइंटमेंट बुक करें