भारतमेंसिजेरियन सेक्शनका खर्च

मुझे उपचार की सही लागत जाननी है

पारदर्शिता व उचित आकलन के साथ हम आपको आपके उपचार का सही ख़र्च बताते हैं

i need to get the right cost for my treatment

भारत में सिजेरियन डिलीवरी ऑपरेशन का खर्च कितना है ? What is the average cost of cesarean delivery operation in Lucknow in hindi Lucknow mei cesarean prasav ki ausat lagat kitni hai in hindi

मूल्य दर

Rs50000-Rs100000

सीजेरियन प्रसव तब किया जाता है जब सामान्य योनि प्रसव से मां या बच्चे को चिकित्सा जोखिम होता है या फिर गर्भवती महिला नार्मल डिलीवरी के दर्द को सहने में असमर्थ होती है। भारत में सिजेरियन डिलीवरी ऑपरेशन की औसत लागत 50 हज़ार से 1 लाख रूपए तक आ सकती है। आपको बता दें कि सिजेरियन डिलीवरी की लागत, ऑपरेशन डिलीवरी के लिए चुने गए क्लिनिक और अस्पताल के प्रकार पर बहुत हद तक निर्भर करती है।

हालांकि, सिजेरियन डिलीवरी का खर्च अस्पताल में रहने की अवधि, एनेस्थीसिया और अन्य प्रक्रिया के ऊपर लगने वाले शुल्क के कारण भी प्रभावित हो सकती है। सिजेरियन डिलीवरी की पूरी लागत में कमरे का किराया, सर्जन का खर्च, लेबर रूम की फीस , ओ-टी (operation theatre) का खर्च, और एनेस्थीसिया शुल्क, बाल रोग शुल्क और शिशु देखभाल शुल्क भी शामिल होते हैं। इस खर्च के अलावा दवाएं, उपभोग्य, प्रक्रियाएं और परीक्षण के शुल्क अतिरिक्त हैं।

कॉलबैक का अनुरोध करें और पाएँ मूल्य का उचित आकलन

उपचार के खर्च के बारे में अधिक जानें

भारत के सरकारी अस्पताल में सिजेरियन डिलीवरी ऑपरेशन का खर्च कितना है? Hide

What is the cost of C-section operation delivery in government hospitals in hindi

Sarkari aspatal mein cesarean delivery ki laagat in hindi

सरकारी अस्पताल में सिजेरियन डिलीवरी की लागत बिल्कुल मुफ्त होती है। हालांकि, अगर आप सरकारी अस्पताल में मौजूद प्राइवेट वार्ड में रहते हैं तो इसके लिए आपको अपनी ओर से पैसे खर्च करने होंगे। इसके अलावा अस्पताल की किसी अन्य सेवा के लिए आपको अलग से पैसे खर्च करने होंगे। ग्रामीण क्षेत्रों के सरकारी अस्पताल में सिजेरियन डिलीवरी की औसत चिकित्सा व्यय (medical expenditure) न्यूनतम है और शहरी क्षेत्र में थोड़ी अधिक है। सरकारी अस्पताल में सिजेरियन ऑपरेशन की लागत निजी अस्पतालों की तुलना में दस गुना कम है। एक अनुमान के मुताबिक सरकारी अस्पताल में सिजेरियन डिलीवरी के लिए आपको 5,000 से 12,000 तक खर्च करना पड़ सकता है।

भारत के प्राइवेट अस्पताल में सिजेरियन डिलीवरी ऑपरेशन का खर्च कितना है? Show

What is the cost of C-section operation delivery in private hospital in lucknow in hindi

Lucknow ke private aspatal mein cesarean delivery ki laagat in hindi

भारत के एक प्राइवेट अस्पताल में सिजेरियन डिलीवरी की लागत 50,000 से लेकर 1,25,000 तक हो सकती है। हालांकि, सी-सेक्शन डिलीवरी के लिए अस्पताल का चयन, अस्पताल की जगह के चुनाव से भी सिजेरियन डिलीवरी ऑपरेशन की लागत पर प्रभाव पड़ सकता है। इसके साथ ही अगर आप सामान्य कमरा लेते हैं तो उसकी लागत कम होगी लेकिन अगर आप डीलक्स रूम लेते हैं तो उस हिसाब से आपको अधिक पैसे देने होंगे।

भारत में सिजेरियन प्रसव की प्रक्रिया से बच्चे के जन्म की लागत (2 दिनों के लिए) एक कमरे में :

कमरे की श्रेणीदो दिनों के लिए सिजेरियन प्रसव की लागत
न्यूनतम लागतअधिकतम लागत
सामान्य (Shared Room)60,00080,000
प्राइवेट (Private Room)75,0001,00,000
डिलक्स (Deluxe room)1,10,0001,30,000

भारत के सरकारी अस्पताल में जुड़वा बच्चों की सिजेरियन डिलीवरी ऑपरेशन का खर्च कितना है? Show

What is the cost for cesarean delivery of twins in a government hospital in Lucknow in hindi

Lucknow ke sarkari aspatal mein judwaa bachon ki operation delivery ka k

देशभर के सरकारी अस्पतालों में सिजेरियन डिलीवरी हो या फिर नार्मल डिलीवरी हो, चाहे माँ के गर्भ में एक या एक से अधिक बच्चा हो, ये पूरी तरह से मुफ्त है। हालांकि, अगर आप सरकारी अस्पताल में मौजूद निजी वार्ड में स्टे करते हैं या अस्पताल की कोई अतिरिक्त सेवा लेते हैं तो इसके लिए आपको अपनी ओर से खर्च वहन करना होगा। मगर, जुड़वाँ बच्चे को अधिक देखभाल की ज़रूरत होती है, जिसके कारण सरकारी अस्पताल में सीजर डिलीवरी ऑपरेशन का खर्च अधिक आ सकता है।

भारत के प्राइवेट अस्पताल में जुड़वा बच्चों की सिजेरियन डिलीवरी का खर्च Show

Cost for cesarean delivery of twins in a private hospital in Lucknow in hindi

Lucknow ke niji aspatal mein judwaa bachon ki cesarean delivery ka kharch in hindi

भारत में जुड़वां बच्चों के लिए डिलीवरी सीजर ऑपरेशन की लागत (सिंगल रूम) एकल बच्चे के मुकाबले पांच गुना अधिक होती है। भारत में जुड़वाँ बच्चों के लिए डिलीवरी ऑपरेशन की कुल लागत 1,00,000 रूपए - १,५०,००० रूपए (अन्य ख़र्चों को छोड़कर) तक आ सकती है। जन्म के बाद जुड़वाँ बच्चों को भी अधिक गहन देखभाल की आवश्यकता होती है और उन्हें सिंगल बेबी की तुलना में अधिक दिनों तक न्यूनेटल केयर यूनिट में रखा जाता है क्योंकि मल्टीप्ल प्रेगनेंसी में समय से पहले बच्चे के जन्म की संभावना अधिक होती है और जन्म के समय बच्चों का वज़न कम होने के कारण भी उन्हें अधिक देखभाल की आवश्यकता होती है। जिस कारण जुड़वा बच्चों के केस में सिजेरियन डिलीवरी का खर्च बढ़ सकता है।

और पढ़ें


Zealthy क्यों चुनें ?

informed decision making
service guarantee
financial assistance and best price
zealthy care
right

सही निर्णय में सहायक

  • tickपाएँ उपचार की पूरी जानकरी व उनके खर्च का उचित आकलन
  • tickअन्य पेशेंट के अनुभव और रिव्यू से पाएँ मदद
  • tickउचित डॉक्टर के चुनाव के लिए पाएँ मेडिकल एक्सपर्ट से स्वतंत्र सलाह
  • tickपाएँ प्रसिद्ध विशेषज्ञ डॉक्टर से अपने सवालों के जवाब

सर्विस की गारंटी

  • tickहमारे सभी डॉक्टर अनुभवी और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशिक्षित हैं
  • tickहमारे सेंटर्स आधुनिक तकनीक व उपकरणों से लैस हैं
  • tickहमारे सभी उपचार अंतरराष्ट्रीय मानकों पर आधारित हैं
  • tickउपचार की दूसरी या तीसरी राय के लिए पाएँ एक्सपर्ट पैनल से सहायता

वित्तीय सहायता और उचित लागत

  • tickहम सभी उपचारों के लिए एक समान और उचित मूल्य के लिए प्रतिबद्ध हैं
  • tickउपचार की सस्ती दरों की गारंटी
  • tick0% इंटरेस्ट के साथ इंसटैंट मेडिकल लोन
  • tickसभी हेल्थ इंश्योरेंस के लिए सहायता

zealthy care

  • tickचिकित्सा के दौरान 24*7 समर्पित व्यक्तिगत समन्वयक सहायता
  • tickअनुभवी नुट्रीशनिस्ट और प्रशिक्षकों द्वारा आहार, व्यायाम, स्तनपान आदि के लिए कोचिंग
  • tickएक्टिव और इंगेजिंग महिला कम्यूनिटी से जुड़ें
  • tickपाएँ फ्री पोस्ट सर्जरी फॉलो-अप

क्या है सिजेरियन डिलीवरी ? What is caesarean delivery in hindi Kya hai caesarean delivery in hindi

सी-सेक्शन, डिलीवरी की एक प्रक्रिया है जिसमें बच्चे की डिलीवरी सर्जरी द्वारा की जाती है। जब योनि प्रसव किसी कारण से सुरक्षित नहीं होती है, तो डॉक्टर प्रसव की इस पद्धति की सिफ़ारिश करते हैं। गर्भावस्था के 39वें हफ्ते से पहले सिजेरियन प्रसव को आमतौर पर टाला जाता है ताकि बच्चे को गर्भ में विकसित होने का पूरा समय मिल सके। हालांकि कभी-कभी जटिलताएं (complications) पैदा होने पर 39वें हफ्ते से पहले भी सिजेरियन डिलीवरी की जाती है।


भारतमेंसिजेरियन सेक्शनके डॉक्टर्स

प्रेगनेंसी के दौरान अनुभवी सीजर डिलीवरी डॉक्टर का चुनाव करना बेहद ज़रूरी है। अगर आप नॉर्मल डिलीवरी के लिए खुद को तैयार कर रहीं हैं, तो भी हो सकता है कि आपको किसी विकट परिस्थिति के कारणवश सी-सेक्शन डिलीवरी करवानी पड़ें। ऐसे में नॉर्मल डिलीवरी के लिए डॉक्टर चुनने से अधिक सावधानी ऑपरेशन से डिलीवरी के लिए डॉक्टर चुनने में बरतनी पड़ती है। ध्यान दें, आप जिस प्रेगनेंसी स्पेशलिस्ट को चुन रहीं हैं वो नॉर्मल डिलीवरी के साथ-साथ सीजर डिलीवरी ऑपरेशन के विशेषज्ञ डॉक्टर भी हों। ऐसे में वह (गर्भावस्था स्पेशलिस्ट) इमर्जेंसी की स्थिति में भी आपकी बेहतर मदद कर पाएंगे।


भारतमेंसिजेरियन सेक्शनका हॉस्पिटल

ऑपरेशन से डिलीवरी के लिए अस्पताल चुनते वक़्त कई बातों पर ध्यान देना आवश्यक है। सीजर डिलीवरी के हॉस्पिटल के चयन के वक़्त ध्यान दें कि सिजेरियन डिलीवरी अस्पताल आपके नज़दीक हो व सारे तकनीक व उपकरणों से लैस हो। इसके साथ-साथ यह भी ख़्याल रखें कि जिस प्रेगनेंसी स्पेशलिस्ट से आप अपना उपचार करा रहीं हैं वे आपके द्वारा चुने गए अस्पताल में उपलब्ध हों।


भारतमेंसिजेरियन सेक्शनसे जुड़े प्रश्न

सी-सेक्शन क्या है?Show

सी-सेक्शन क्या है?

सी-सेक्शन क्या है?

सीजेरियन डिलीवरी (Caesarean delivery), सी-सेक्शन के नाम से भी जानी जाती है। यह एक डिलीवरी की तकनीक है जिसके तहत सर्जरी व मेडिकल प्रक्रिया के द्वारा शिशु का जन्म होता है।

सी-सेक्शन कब किया जाता है?Show

सी-सेक्शन कब किया जाता है?

सी-सेक्शन कब किया जाता है?

सिजेरियन डिलीवरी कई कारणों से की जाती है :

  • यदि महिला की पहली डिलीवरी सी-सेक्शन द्वारा की गयी हो
  • यदि बच्चा ब्रीच की स्थिति में हो
  • अगर बच्चा बहुत बड़ा हो
  • अगर माँ प्रसव में किसी मेडिकल प्रक्रिया का हस्तक्षेप नहीं चाहती हो
  • अगर माँ को को हृदय रोग, मधुमेह, उच्च रक्तचाप या किडनी की बीमारी हो
  • यदि एमनियोटिक द्रव (amniotic fluid) कम हो
  • यदि मां 12 घंटे से अधिक समय से प्रसव पीड़ा में है और बच्चे की धड़कन कम हो रही हो
  • यदि माँ जुड़वाँ या तीन बच्चों से गर्भवती हो
  • यदि प्लेसेंटा प्रॉब्लेम्स के साथ गर्भवती माँ को प्रसव पीड़ा होने लगे

इन सभी स्थितियों में नॉर्मल डिलीवरी, माँ और बच्चे दोनों के लिए खतरनाक हो सकती है।



zealthy contact

कॉल

zealthy whatsapp contact

व्हाट्सप्प

book appointment

अपॉइंटमेंट बुक करें