19हफ़्ते प्रेग्नेंट

आपका बच्चाटमाटरके आकार का है

मुझे अपनी डिलीवरी की तारीख का पता नहीं है

अपनी डिलीवरी डेट पता करें

या

गाइड और नियमित सुझाव प्राप्त करने के लिए अपनी डिलीवरी की तारीख सेव करें

अपनी डिलीवरी की तारीख सेव करें

अपनी डिलीवरी की तारीख सेव करेंcalender

Week 19th of your pregnancy | Zealthy

आपकी गर्भावस्था का उन्नीसवां सप्ताह

Week 19 of your pregnancy in hindi

Aapki garbhavastha ka unniswan saptah in hindi

गर्भावस्था के 19वें हफ्ते में आप किस तिमाही (your trimester) में हैं : आप गर्भावस्था की दूसरी तिमाही (second trimester) में हैं।

गर्भावस्था के उन्नीसवें हफ्ते में आप कितने महीने की गर्भवती हैं : आप गर्भावस्था के पांचवें महीने में हैं।

कितने हफ्ते बचे हैं : 21 हफ्ते (147 दिन) बचे हैं।

गर्भावस्था के उन्नीसवें हफ्ते में बच्चा कितना बड़ा हुआ है:

  • इस समय आपका शिशु अब टमाटर (tomato) के आकार का है।
  • आपके शिशु की लम्बाई लगभग 6 इंच (15.3 cm) है।
  • गर्भावस्था के उन्नीसवें हफ्ते में शिशु का वज़न लगभग दो सौ चालीस ग्राम (240 gm) होता है।

गर्भावस्था के जिस सफ़र की आपकी शुरुआत कुछ हफ्ते पहले हुई थी वो अब उन्नीसवें हफ्ते में पहुंच चुकी है।

इस समय आपका पांचवां महीना चलता रहता है और माना जाता है कि उन्नीसवें हफ्ते के दौरान गर्भवती स्त्री गर्भावस्था के मध्य में होती है।

अगर आपने अब तक अपने बच्चे की हरकतों को महसूस नहीं किया है तो ये वो सप्ताह है जब प्रेग्नेंट महिला बच्चे की हरकतों का अनुभव कर सकती हैं।

इस हफ्ते तक आते-आते महिला अपनी प्रेगनेंसी को समझने लगती है और उसके अनुरूप अपने आप को ढाल लेती हैं।

इस समय आपके बच्चे का विकास तेज़ी से होगा और उसकी मांसपेशियाँ मज़बूत होगी।

आइए इस लेख की मदद से समझते हैं कि माँ उसके गर्भ में पल रहे बच्चे में प्रेगनेंसी के उन्नीसवें हफ्ते क्या-क्या बदलाव होते हैं।

इस समय आपको क्या करना चाहिए:

  • प्रीनेटल विटामिन लेते रहें।
  • आयरन और विटामिन युक्त खाद्य-पदार्थ का सेवन करें।
  • अपने आप को हाइड्रेटेड रखने के लिए भरपूर मात्रा में पानी पिएं।
  • गलत मुद्राओं में बैठने से बचें क्योंकि वे पीठ में दर्द पैदा कर सकते हैं।
  • दांत से जुड़ी समस्याओं से बचने के लिए ओरल हाइजिन का ख़्याल रखें।
  • आपके शरीर को पर्याप्त आराम की आवश्यकता होती है इसलिए जितना हो सके उतना आराम करें।

गर्भावस्था के उन्नीसवें हफ्ते में आपका शरीर

Your body at week 19 of pregnancy in hindi

Garbhavastha ke unnisvein hafte mein aapka sharir in hindi

loading image

उन्नीसवें हफ्ते से गर्भवती महिला को पैर में ऐंठन (leg cramps) की समस्या हो सकती है, वो भी ख़ासकर रात के समय।

ऐसा बढ़ती गर्भाशय द्वारा रक्त वाहिकाओं (blood vessels) के प्रेशर के कारण होता है।

बढ़ते हुए गर्भाशय के कारण पीठ के निचले हिस्से पर दबाव पड़ने से इस समय माँ बनने वाली महिला को पीठ के दर्द से भी परेशान हो सकती हैं।

हालांकि इस समस्या से बचने के लिए डॉक्टर करवट लेकर सोने की सलाह देते हैं।

उन्नीसवें हफ्ते की गर्भावस्था के दौरान पेट में बदलाव (19 weeks pregnant belly)

वैसे तो इस हफ्ते में प्रवेश करने के साथ ही या इसके पहले से गर्भवती महिला का पेट बाहर की ओर निकल जाता है और उनका बेबी बंप (baby bump) पूर्ण रूप से दिखने लगता है।

हालांकि जो महिलाएं पहली बार माँ बनती हैं उनका पेट अभी उन महिलाओं की तुलना में थोड़ा कम दिखता है जिनकी दूसरी प्रेगनेंसी होती है।

उन्नीसवें हफ्ते की गर्भावस्था के लक्षण (19 Weeks pregnant symptoms)

इस सप्ताह के दौरान आपको गर्भावस्था के सामान्य लक्षण दिखाई दे सकते हैं, जो इस प्रकार हैं:

  • थकान (fatigue)
  • बार-बार यूरिन पास करने की इच्छा होना (frequent urination)
  • वज़न बढ़ना (weight gain)
  • स्तनों के आकर में वृद्धि होना (enlarged breasts)
  • आपके पेट के नीचे डार्क लाइन (dark line down your abdomen)
  • सोने में परेशानी होना (trouble sleeping)
  • सिरदर्द (headaches)
  • चक्कर आना (dizziness)

इन लक्षणों के साथ, आप इस सप्ताह के दौरान कई शारीरिक परिवर्तनों का भी अनुभव कर सकती हैं।

गर्भावस्था के उन्नीसवें हफ्ते में शारीरिक और भावनात्मक परिवर्तन (19 weeks pregnant physical and emotional changes)

शारीरिक बदलाव के रूप में उन्नीसवें हफ्ते में महिलाओं के स्तनों के आकार बहुत वृद्धि हो जाती है क्योंकि स्तन अब स्तनपान के लिए तैयार हो जाता है।

वहीं गर्भाशय के आकार में लगातार हो रही वृद्धि के कारण पेट की त्वचा पर खिंचाव होता है और वहां पर स्ट्रेच मार्क्स हो सकते हैं।

इस समय गर्भवती महिला के नाभि से लेकर पेट के मध्य भाग्य तक एक लंबी रेखा बन जाती है जिसे लेनिया नायग्रा (linea nigra) कहा जाता है।

एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन हार्मोन में उतार-चढ़ाव के कारण गर्भवती महिला के मूड में बदलाव हो सकता है और अचानक किसी बात को लेकर आपको बहुत गुस्सा आ सकता है।

गर्भावस्था के उन्नीसवें हफ्ते में आपका बच्चा

Your baby at week 19 of pregnancy in hindi

Garbhavastha ke unnisvein hafte mein aapka baccha in hindi

loading image

आपके बच्चे के 19 सप्ताह के भ्रूण के विकास के दौरान बहुत सारी रोमांचक चीजें चल रही हैं।

अब आपके बच्चे के सिर पर पहले बाल दिखाई देने लगते हैं, और उसके सेंसेज़ (senses) भी विकसित होने लगे हैं- जैसे स्पर्श (tactile), स्वाद (gustatory), घ्राण (olfactory), दृश्य (visual) और सुनने की शक्ति (auditory) तेज़ी से विकसित हो रहे हैं।

अगर आपके गर्भ में पल रहा बच्चा एक लड़की है, तो उसके गर्भाशय (uterus) का निर्माण अब हो गया होता है और उसके अंडाशय (ovaries) में लगभग 6 मिलियन अंडे मौजूद होते हैं।

गर्भावस्था के उन्नीसवें हफ्ते के दौरान भ्रूण का विकास (Growth of the baby at 19 week pregnancy)

इस सप्ताह में, बच्चे के शरीर के अंगों का विकास इस प्रकार से हो रहा है:

  • चेहरा अब अच्छे से दिखने लगा है।
  • सिर, भौं और पलकों के बाल बढ़ रहे हैं।
  • बच्चे की प्रजनन प्रणाली (reproductive system) भी तेज़ी से विकसित हो रही है।
  • शिशु के हाथ और पैर उसके शरीर के अनुपात में बढ़ने लगते हैं।
  • बेबी अब मीठे और कड़वे के बीच अंतर महसूस कर सकता है क्योंकि उसके टेस्ट बड (taste buds) भी विकसित हो गए हैं।
  • त्वचा को सुरक्षा प्रदान करने के लिए उसपर एक चिकनी परत रहती है, जिसे वर्निक्स (vernix) कहा जाता है।
  • इसके अलावा इस हफ्ते से आपका बच्चा अब बाहर की आवाज़ भी सुन सकता है और उसपर रियेक्ट भी कर सकता है।

उन्नीसवें हफ्ते की गर्भावस्था में शिशु की स्थिति (Baby position at 19 weeks pregnant)

इस सप्ताह में बच्चे के सिर उसकी छाती की ओर रहता है और उसका पैर गर्भाशय के बीच में रहता है।

गर्भावस्था के उन्नीसवें हफ्ते में माँ बननी वाली महिला के लिए आहार, स्वास्थ्य टिप्स और दिनचर्या

Diet, fitness tips and lifestyle for moms at 19 week of pregnancy in hindi

Garbhavastha ke unnisvein hafte mein maa banne wali mahila ke liye diet, fitness or dincharya in hindi

loading image

एक स्वस्थ गर्भावस्था के लिए, माँ के आहार को संतुलित और पौष्टिक बनाने की आवश्यकता होती है।

इसमें प्रोटीन (protein), कार्बोहाइड्रेट (carbohydrate) और वसा (fats) का सही संतुलन शामिल होता है, और सब्जियों, और फलों जैसे विभिन्न प्रकार के खाद्य-पदार्थों को अपने भोजन में शामिल करना होता है।

खान-पान के साथ-साथ गर्भवती स्त्री को इस समय शरीर को भी सक्रीय बनाये रखने की आवश्यकता होती है ताकि प्रेगनेंसी सफलतापूर्वक अपनी मंज़िल तक पहुंच सके।

प्रेगनेंसी के उन्नीसवें हफ्ते में आपको क्या खाना चाहिए (What you should eat at 19 week of pregnancy)

  • साबुत अनाज से बने खाद्य पदार्थ, जैसे साबुत रोटी (wholemeal bread), जंगली चावल (wild rice), साबुत अनाज पास्ता (whole grain pasta), बीन्स और मसूर जैसी दालें और फल, और सब्ज़ियाँ फाइबर से भरपूर होते हैं।

प्रेगनेंसी के दौरान कब्ज़ होने का ख़तरा बना रहता है और ऐसे में फाइबर युक्त चीज़ों का सेवन उस जोखिम को कम करने में मदद करता है।

  • प्रेगनेंसी के समय कैल्शियम का नियमित रूप से सेवन करना महत्वपूर्ण होता है।

डेयरी खाद्य पदार्थ, जैसे कि पनीर, दूध, और दही कैल्शियम से भरपूर होते हैं और 500-1000 मिलीग्राम तक कैल्शियम अपने डाइट में शामिल करने की कोशिश करें या फिर सप्लीमेंट के रूप में लें।

हालांकि सप्लीमेंट लेने से पहले अपने चिकित्सक से विचार अवश्य कर लें।

  • गर्भावस्था के दौरान, माँ के शरीर में रक्त की मात्रा लगभग 50 प्रतिशत बढ़ जाती है - अतिरिक्त रक्त के लिए उसे अधिक हीमोग्लोबिन (hemoglobin) बनाने के लिए अधिक आयरन की आवश्यकता होती है।

ऐसे में आयरन युक्त खाद्य-पदार्थ जैसे हरी पत्तेदार सब्ज़ियाँ, ड्राई फ्रूट्स (dry fruits) जैसे एप्रीकॉट (apricot) का भी सेवन ज़रूर करना चाहिए।

30-60 mg तक दैनिक रूप से माँ बनने वाली महिला को आयरन का डोज़ लेना चाहिए या तो आहार या फिर सप्लीमेंट के रूप में।

हालांकि सप्लीमेंट लेने से पहले अपने चिकित्सक से विचार अवश्य कर लें।

  • वहीं फोलिक एसिड खाना भी आपको बरकरार रखना चाहिए क्योंकि यह न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट को रोकने में मदद करता है, जिसमें स्पाइना बिफिडा शामिल है।

इसके साथी ही यह समय से पहले प्रसव के जोखिम को कम करता है।

ऐसे में आपको 400- 600 माइक्रोग्राम रोज़ाना फोलिक एसिड का डोज़ लेना चाहिए।

हालांकि सप्लीमेंट लेने से पहले अपने चिकित्सक से विचार अवश्य कर लें।

गर्भावस्था के उन्नीसवें हफ्ते में आपको क्या नहीं खाना चाहिए (What you should not eat or avoid at 19 week of pregnancy)

  • इस समय माँ बनने वाली महिला को केक, बिस्कुट, कुकीज़, चिप्स और कैंडी का सेवन बिल्कुल कम करना चाहिए क्योंकि इसमें चीनी और फैट की मात्रा अधिक होती है और पोषक तत्व की कमी होती है।

ऐसे में प्रेगनेंसी के दौरान अधिक वज़न से बचने के भी इनके सेवन से दूर रहना चाहिए।

  • इसके साथ ही प्रेग्नेंट लेडीज़ को इस वक़्त शराब का भी सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे होने वाले बच्चे में फीटल अल्कोहल सिंड्रोम (fetal alcohol syndrome) होने का ख़तरा बना रहता है।
  • यदि एक गर्भवती माँ अपनी गर्भावस्था के दौरान बहुत अधिक कैफीन का सेवन करती है, तो जन्म के समय बच्चे में कम वज़न का जोखिम होता है।

यह आगे चलकर स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है। इससे गर्भपात का ख़तरा भी अधिक होता है।

गर्भावस्था के उन्नीसवें हफ्ते में कौन सा व्यायाम करना सबसे अच्छा होता है (Which exercise is best at 19 week of pregnancy)

  • प्रेगनेंसी के दौरान तैरना, पानी में चलना और एक्वा एरोबिक्स (aqua aerobics) करना स्वास्थ्य के लाभकारी होता है।
  • प्रेग्नेंट महिला के लिए योग करना भी फ़ायदेमंद होता है हालाँकि दूसरी तिमाही से पेट के बल लेटने या पीठ के बल करने वाले आसनों से बचना चाहिए।
  • प्रसव के दौरान स्क्वाट (squat) करने से श्रोणि (pelvis) को खोलने में मदद मिल सकती है, इसलिए गर्भावस्था के दौरान अभ्यास करना एक अच्छा विचार हो सकता है।

गर्भावस्था के उन्नीसवें हफ्ते में किन लक्षणों को देखते हुए डॉक्टर से जल्द-से-जल्द मिलना चाहिए

Which symptoms raises an alarm to visit doctor at 19 week of pregnancy in hindi

Garbhavastha ke unnisvein hafte mein kin lakshano ko dekhte hue doctor se jald se jald milna chahiye in hindi

loading image

यदि आपको निम्नलिखित में से कोई भी लक्षण दिखाई देते हैं, तो तुरंत डॉक्टर को कॉल करें :

  • बुख़ार (100.4 डिग्री या अधिक) होना
  • ऐंठन के अलावा पेल्विक में दर्द होना
  • पेशाब कम होना या बहुत गहरे रंग का होना
  • बहुत ज़्यादा उल्टी होना
  • चक्कर आना

गर्भावस्था के उन्नीसवें हफ्ते में डॉक्टर से क्या उम्मीद करें

What to expect from your doctor in the nineteenth week of pregnancy in hindi

Garbhavastha ke unnisvein hafte mein doctor se kya umeed karein in hindi

loading image

प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती स्त्री की डॉक्टर से तीसरी मुलाकात 18-21 हफ्ते के बीच होती है।

जिस दौरान आपकी डॉक्टर आपके ब्लड प्रेशर और वज़न की जाँच करेंगी।

इसके साथ ही आपको अब क्या करना चाहिए और खाने में क्या-क्या बदलाव करने चाहिए इसकी सलाह दे सकती हैं।

डॉक्टर प्रोटीन और शुगर के लेवल का पता लगाने के लिए यूरिन टेस्ट की सिफारिश कर सकती हैं।

उन्नीसवें हफ्ते की गर्भावस्था के दौरान अल्ट्रासाउंड या किसी अन्य परीक्षण की आवश्यकता है

Whether ultrasound or any other tests required during the nineteenth week of pregnancy in hindi

unni svein hafte ki garbhavastha ke dauran kya ultrasound ya any kisi parikshan ki avashyakta hai in hindi

loading image

गर्भावस्था के उन्नीसवें हफ्ते में अल्ट्रासाउंड व अन्य परीक्षण :

  • अल्ट्रासाउंड (Ultrasound)

प्रेगनेंसी के 18 से 20 वें हफ्ते के बीच आपको आपको रेगुलर (regular sonogram) सोनोग्राम या लेवल II सोनोग्राम (level II sonogram) की पेशकश की जा सकती है।

लेवल II सोनोग्राम एक तरह का अल्ट्रासाउंड होता है, जो बच्चे के विकास के एक विशेष भाग को देखता है।

इसकी मदद से बच्चे के दिल की जाँच की जाती है और साथ ही ये भी देखा जाता है कि बच्चे के सभी अंगों का विकास सही तरीके से हो रहा है या नहीं या फिर किसी तरह की समस्या है।

  • टेस्ट (Ultrasound)

पहली तिमाही के दौरान किए गए रक्त परीक्षण की तरह मल्टीप्ल सीरम स्क्रीनिंग टेस्ट (Multiple Serum Screening test) सहित कई रक्त परीक्षण (blood test) इस समय निर्धारित किये जाते हैं।

इन परीक्षणों को 'मल्टीप्ल मार्कर' (multiple marker) या 'क्वाड स्क्रीन' टेस्ट (quad screen test) के रूप में जाना जाता है।

ये रक्त में चार पदार्थों के स्तर अर्थात् एएफपी (alpha-feto protein), एस्ट्रिओल (estridiol), इनहिबिन (inhibin) और ह्यूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन (human chorionic gonadotropin) को निर्धारित करने के लिए और कुछ जोखिमों का पता लगाने के लिए किया जाता है।

ये जोखिम इस प्रकार हैं :

  • डाउन सिंड्रोम (Down syndrome)
  • ट्राइसॉमी 18 (Trisomy 18)
  • भ्रूण में न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट (NTD) जैसे कि स्पाइना बिफिडा
  • भ्रूण की एब्डोमिनल वाल में डिफेक्ट (Defect in the abdominal wall of the fetus)

जबकि यह स्क्रीनिंग टेस्ट 100% सटीक नहीं होता है और ऐसे में एम्नियोसेन्टेसिस टेस्ट (amniocentesis test) की जा सकती है।

यदि आपकी गर्भावस्था उच्च जोखिम वाली है, तो आपकी डॉक्टर 15 से 20 सप्ताह के बीच एमनियोसेंटेसिस (amniocentesis) कराने की सलाह दे सकती हैं।

एमनियोसेंटेसिस के दौरान अल्ट्रासाउंड का उपयोग कर डॉक्टर आपके गर्भ में एक पतली सुई की मदद से एमनियोटिक द्रव (amniotic fluid) का एक नमूना (sample) एकत्र करेंगे।

वे बाद में डाउन सिंड्रोम (down syndrome) जैसे आनुवंशिक विकारों (genetic disorder) का पता लगाने के लिए इस द्रव का परीक्षण करेंगे।

यह 35 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं के लिए रेकमेंड किया जाता है क्योंकि उस उम्र में क्रोमोसोमल असामान्यता (chromosomal abnormalities) की संभावना बहुत बढ़ जाती है।

गर्भावस्था के उन्नीसवें हफ्ते में संभोग

Sex in the nineteenth week of pregnancy in hindi

Garbhavastha ke unnisvein hafte mein sex in hindi

loading image

19 सप्ताह की गर्भावस्था में सेक्स पूरी तरह से सुरक्षित है।

गर्भवती महिलाओं के लिए अपने दूसरे तिमाही के दौरान सेक्स की इच्छा में वृद्धि का अनुभव करना भी सामान्य होता है।

गर्भावस्था के उन्नीसवें हफ्ते में पिता के लिए टिप्स

Tips for father during nineteenth week of pregnancy in hindi

Garbhavastha ke unnisvein hafte mein pita ke liye tips in hindi

loading image

प्रेगनेंसी के इस स्टेज में पुरुषों को अपने साथी का समर्थन करना चाहिए।

आइए आपको बताते हैं कि जल्द होने वाले पिता क्या-क्या कर सकते हैं :

  • ज़िम्मेदारियों को साझा करके घर के कामों में मदद करें।
  • घर में एक सुखद वातावरण बनाएं।
  • प्रसव के बारे में अधिक जानने के लिए गर्भावस्था की किताबें पढ़ें।
  • डॉक्टर से मिलने दोनों साथ जाएं।
  • अपने साथी को खुश रखने की पूरी कोशिश करें।
zealthy contact

कॉल

zealthy whatsapp contact

व्हाट्सप्प

book appointment

अपॉइंटमेंट बुक करें