15हफ़्ते प्रेग्नेंट

आपका बच्चासेबके आकार का है

मुझे अपनी डिलीवरी की तारीख का पता नहीं है

अपनी डिलीवरी डेट पता करें

या

गाइड और नियमित सुझाव प्राप्त करने के लिए अपनी डिलीवरी की तारीख सेव करें

अपनी डिलीवरी की तारीख सेव करें

अपनी डिलीवरी की तारीख सेव करेंcalender

Week 15 of your pregnancy | Zealthy

आपकी गर्भावस्था का पन्द्रहवां सप्ताह

Week 15 of your pregnancy in hindi

Aapki garbhavastha ka pandrawah hafta in hindi

गर्भावस्था के पन्द्रहवें हफ्ते में आप किस तिमाही (your trimester) में हैं : आप गर्भावस्था की दूसरी तिमाही (second trimester) में हैं।

गर्भावस्था के पंद्रहवें हफ्ते में आप कितने महीने की गर्भवती हैं: आप गर्भावस्था के चौथे महीने में हैं।

कितने हफ्ते बचे हैं : 25 हफ्ते (175 दिन) बचे हैं।

गर्भावस्था के पंद्रहवें हफ्ते में बच्चा कितना बड़ा हुआ है :

  • इस समय आपका शिशु अब सेब (apple) के आकार का है।
  • आपके शिशु की लम्बाई लगभग 4.5 इंच (11 cm) है।
  • गर्भावस्था के पंद्रहवें हफ्ते में शिशु का वज़न लगभग सत्तर ग्राम (70 gm) होता है।

समय तेज़ी से आगे बढ़ रहा है और इसी के साथ आप अपनी गर्भावस्था के पन्द्रहवें हफ्ते में प्रवेश कर गई हैं।

गर्भावस्था में तीन तिमाही होती है और माना जाता है कि पहली और तीसरी तिमाही की तुलना में दूसरी तिमाही महिलाओं के लिए राहत भरी होती है।

दरअसल दूसरी तिमाही में प्रवेश करने के साथ ही मॉर्निंग सिकनेस, थकान, मतली या उल्टी की समस्याओं से गर्भवती स्त्री को लगभग राहत मिल जाती है और इस दौरान आप ट्रैवल भी कर सकती हैं।

वहीं कुछ हफ्ते पहले, जहां आपका बच्चा सेब के बीज के आकार का था और उसके अंग बनने शुरू हुए थे, अब वही बच्चा अब एक पूरे सेब का आकार का हो गया है।

बच्चे के लगातार और तेज़ी से हो रहे विकास के कारण अब आपके वज़न में लगातार वृद्धि होती जाएगी और पेट भी बाहर की ओर निकलना शुरू हो जाएगा।

आइए जानते हैं कि इस हफ्ते आपके और आपके बच्चे में किस-किस तरह के बदलाव देखने को मिलते हैं।

इस समय आपको क्या करना चाहिए:

  • प्रीनेटल विटामिन लेते रहें।
  • एक दिन में लगभग आठ से 12 गिलास पानी पीना जारी रखें।
  • पोषक तत्वों सर समृद्ध आहार लें।
  • नियमित अंतराल पर थोड़ा-थोड़ा खाते रहें।
  • ठीक से आराम करें और अपने दाहिने तरफ करवट लेकर सोने की कोशिश करें।
  • खुद को सक्रिय और स्वस्थ रखने के लिए हल्के वर्कआउट करें।

गर्भावस्था के पन्द्रहवें हफ्ते में आपका शरीर

Your body at week 15 of pregnancy in hindi

Garbhavastha ke pandrah vein hafte mein aapka sharir in hindi

loading image

आपका बच्चा प्रत्येक बीतते दिन के साथ लगातार बढ़ता जा रहा है और ऐसे में ये स्वाभाविक है कि आपके शरीर में बदलाव होंगे।

पन्द्रहवें हफ्ते में प्रवेश करने के साथ ही आपके वज़न में दो से ढाई किलो की बढ़ोतरी हो जाएगी और अब हफ्ते आपका वज़न बढ़ता जायेगा।

अब आपका पेट भी बाहर की ओर निकलना शुरू हो गया है और स्तनों के आकार भी बढ़ रहे हैं।

इस हफ्ते में कदम रखने के साथ ही पिछले कई हफ़्तों से गर्भवस्था सके शुरुआती लक्षणों से आपको मुक्ति मिल जाती है लेकिन पन्द्रहवें हफ्ते के लक्षण भी आपको परेशान कर सकते हैं।

वहीं लिगामेंट्स में खिंचाव के कारण आपको पेट के एक तरफ या दोनों दर्द हो सकता है।

दूसरी तिमाही के दौरान यूरिन पास करने की इच्छा अब कम हो जाती है क्योंकि गर्भाशय ऊपर की ओर बढ़ने लगता है, जिससे मूत्राशय पर दबाव से राहत मिल जाती है।

पन्द्रहवें हफ्ते की गर्भावस्था के दौरान पेट में बदलाव (15 weeks pregnant belly)

गर्भावस्था के पहले 12 हफ्तों के दौरान, आपका बढ़ता हुआ गर्भाशय अभी भी आपके श्रोणि (pelvis) के अंदर था।

लेकिन अब, आपका गर्भाशय श्रोणि के अंदर फिट होने के लिए बहुत बड़ा हो गया है, और इसलिए यह ऊपर की तरफ बढ़ने लगता है।

इसीलिए 15 सप्ताह की गर्भवती होने पर, आपको शायद एहसास होगा कि पहले की तुलना में अब आपका पेट बहुत अधिक बाहर की ओर निकला हुआ दिख रहा है और आप पूरी से गर्भवती लगने लगी हैं।

पन्द्रहवें हफ्ते की गर्भावस्था के लक्षण (15 Weeks pregnant symptoms)

अब जब आप दूसरी तिमाही में हैं, तो आपके लक्षण पहली तिमाही की तुलना में कम तीव्र हो सकते हैं।

इसका मतलब यह नहीं है कि आप लक्षण-मुक्त हैं।

अपने दूसरे तिमाही के दौरान, आप निम्नलिखित लक्षणों का अनुभव कर सकती हैं:

  • शरीर में दर्द (body aches)
  • निरंतर वज़न बढ़ना (continued weight gain)
  • सीने में जलन या अपच (heartburn and indigestion)
  • हाथ और पैर में झुनझुनी (कार्पल टनल सिंड्रोम - tingling in the hands and feet (carpal tunnel syndrome)
  • निपल्स के आस-पास की त्वचा का काला पड़ना (dark skin around the nipples)

गर्भावस्था के पन्द्रहवें हफ्ते में शारीरिक और भावनात्मक परिवर्तन (Physical and emotional changes at 15 weeks of pregnancy)

शारीरिक बदलाव के तौर पर पन्द्रहवें हफ्ते में स्तनों के आकार में वृद्धि होती है, और एरोला (aerola) का रंग गहरा हो जाता है।

रक्त के प्रवाह में वृद्धि के कारण स्तन क्षेत्र के आस-पास की नीली नसें भी दिखने लगती हैं।

वहीं हार्मोनल स्तर में परिवर्तन आपके बालों को भरा हुआ, मोटा, और चमकदार बनाता है।

भावनात्मक रूप से आपको इस समय प्रेगनेंसी हार्मोन के उतार-चढ़ाव के कारण आपकी यादाश्त प्रभावित हो सकती है।

इसके अलावा आपकी सेक्स करनी की इच्छा और बेचैनी बढ़ सकती है और साथ ही मूड में भी बदलाव दिख सकते हैं।

गर्भावस्था के पन्द्रहवें हफ्ते में आपका बच्चा

Your baby at week 15 of Pregnancy in hindi

Garbhavastha ke pandrah vein hafte mein aapka baccha in hindi

loading image

पिछले हफ्ते की तुलना में इस हफ्ते आपके शिशु का वज़न लगभग दोगुना हो गया है और अब आगे भी वो इसी रफ़्तार से बढ़ता जाएगा।

इस हफ्ते से बच्चा गर्भाशय (uterus) में अधिक सक्रीय हो जाता है, हालांकि जो महिलाएं दूसरी बार माँ बनने वाली होती हैं वो अपने शिशु की हलचल का अनुभव कर सकती हैं।

वहीं पहली बार जो महिला माँ बनती हैं उन्हें अपने बच्चे का पहली बार अनुभव 20 वें हफ्ते में होता है।

अभी हाथों के मुकाबले में बच्चे के पैर अभी भी लम्बे होते हैं और हाथ और पैरों के नाखून (nails) भी बढ़ रहे होते हैं।

गर्भावस्था के पन्द्रहवें हफ्ते के दौरान भ्रूण का विकास (Growth of baby at 15 week pregnancy)

पिछले कई हफ़्तों की तरह इस हफ्ते भी बच्चे का विकास जारी है और इस हफ्ते आपके नन्हें-मुन्ने ने मुँह बनाना शुरू कर दिया है और अँगूठे को मुँह में लेना भी शुरू कर दिया है।

  • भ्रूण पहली बार प्रकाश और ध्वनि का अनुभव करना शुरू कर रहा है।
  • बच्चा अब अपने हाथों और पैरों का उपयोग करना शुरू कर देता है।
  • स्वाद ग्रंथियां (taste glands) भी बनने लगी हैं।
  • भौहें और सिर के बाल बढ़ रहें हैं।
  • कंकाल प्रणाली विकसित हो रही है।
  • मांसपेशियों का विकास जारी है।

पन्द्रहवें हफ्ते की गर्भवती अवस्था में शिशु की स्थिति (Baby position at 15 weeks pregnant)

पन्द्रहवें हफ्ते में भी आपके शिशु का सिर ऊपर की ओर रहता है और उसके हाथ और पैर अभी थोड़े मुड़े हुए ही होते हैं।

गर्भावस्था के पन्द्रहवें हफ्ते में माँ बननी वाली महिला के लिए आहार, स्वास्थ्य और दिनचर्या

Diet, fitness tips and lifestyle for moms at 15 week of pregnancy in hindi

Garbhavastha ke pandrah vein hafte mein maa banne wali mahila ke liye diet, fitness or dincharya in hindi

loading image

गर्भावस्था के किसी भी चरण के दौरान संतुलित, पौष्टिक आहार का पालन करना महत्वपूर्ण है।

हालांकि पन्द्रहवें हफ्ते से गर्भवती स्त्री का वज़न हर हफ्ते लगभग आधा किलो बढ़ने लगता है।

ऐसे में माँ बनने वाली महिला को अधिक मात्रा में स्वस्थ खाद्य पदार्थ का सेवन करना चाहिए।

इसके साथ ही प्रेगनेंसी के दौरान प्रेग्नेंट लेडीज़ को सक्रिय रहने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए और व्यायाम और योग को अपनी जीवनशैली हिस्सा बनाना चाहिए।

प्रेगनेंसी के पन्द्रहवें हफ्ते में आपको क्या खाना चाहिए (What you should eat at 15 week of pregnancy)

गर्भावस्था के दौरान आप जो भी अतिरिक्त कैलोरी का सेवन करते हैं वह पौष्टिक होना चाहिए, जैसे कि लीन मीट, कम वसा वाली डेयरी (low-fat dairy), फल (fruits), सब्ज़ियाँ (vegetables) और साबुत अनाज(whole grains)।

ये खाद्य पदार्थ आपको प्रोटीन, कैल्शियम, फोलिक एसिड और अन्य विटामिन जैसे अतिरिक्त पोषक तत्व प्रदान करेंगे।

प्रेग्नेंट स्त्री को दूसरी तिमाही से खासतौर पर कैल्शियम और आयरन से समृद्ध चीज़ों का सेवन शुरू कर देना चाहिए।

आयरन से भरपूर हरी और पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें और साथ ही आलू, ब्रॉकली, एप्रीकॉट, किशमिश, स्ट्रॉबेरी और रास्पबेरी खाना चाहिए।

इस समय आपको 30-60 मिलीग्राम / रोज़ाना आयरन युक्त आहार या सप्लीमेंट लेना चाहिए और दूसरी तिमाही से लेकर डिलीवरी तक कैल्शियम ५00-1000 मिलीग्राम लेते रहना चाहिए।

हालांकि सप्लीमेंट का सेवन करने से पहले आपको अपनी डॉक्टर से एक बार बात करनी चाहिए।

अगर आप चाहे तो फोलिक एसिड युक्त खाद्य-पदार्थ का सेवन पहली तिमाही के बाद भी जारी रख सकती हैं और नियमित रूप से 400-600 माइक्रोग्राम तक फोलेट युक्त डाइट ले सकती हैं।

हालांकि सप्लीमेंट के डोज़ को लेकर डॉक्टर से आपको राय लेने की आवश्यकता होगी।

गर्भावस्था के पन्द्रहवें हफ्ते में आपको क्या नहीं खाना चाहिए (What you should not eat or avoid at 15 week of pregnancy)

  • कैफीन और शराब के सेवन से बचें क्योंकि यह बच्चे के विकास को प्रभावित कर सकता है।
  • बिना पके, मसालेदार, गहरे तले और वसायुक्त भोजन से बचें।

गर्भावस्था के पन्द्रहवें हफ्ते में कौन सा व्यायाम सबसे अच्छा है (Which exercise is best at 15 week of pregnancy)

पिछले कई हफ़्तों की ही तरह आप हल्के व्यायाम ही नियमित रूप से करते रहें और साथ ही टहलना और जॉगिंग करना भी अच्छा विकल्प हो सकता है।

व्यायाम के दौरान भरी चीज़ो को उठाने से बचें और वैसे व्यायाम न करें जिसमें सांस रोकने की आवश्यकता होती है।

इसके अलावा ध्यान करना भी फायदेमंद होता है क्योंकि इससे मन को शांति मिलती है बेचैनी की समस्या कम होती है।

गर्भावस्था के पन्द्रहवें हफ्ते में किन लक्षणों को देखते हुए डॉक्टर से जल्द-से-जल्द मिलना चाहिए?

Which symptoms raises an alarm to visit doctor at 15 week of pregnancy? in hindi

Garbhavastha ke pandrah vein hafte mein kin lakshano ko dekhte hue doctor se jald se jald milna chahiye in hindi

loading image

अपने चिकित्सक से संपर्क करें यदि आपको दूसरी तिमाही में निम्न लक्षणों में से आपको किसी का भी अनुभव होता है :

  • असामान्य या गंभीर ऐंठन या पेट में दर्द
  • सांस लेने में कठिनाई या सांस की तकलीफ़ जो बदतर हो रही हो
  • समय से पहले प्रसव के संकेत
  • योनि से रक्तस्राव होना

गर्भावस्था के पन्द्रहवें हफ्ते में डॉक्टर से क्या उम्मीद करें?

What to expect from your doctor in the fifteenth week of pregnancy in hindi

Garbhavastha ke pandrah vein hafte mein doctor se kya umeed karein in hindi

loading image

प्रेगनेंसी के दौरान आपकी डॉक्टर से दूसरी विज़िट 14-17 हफ्ते के बीच एक बार होनी चाहिए।

इस समय आपकी डॉक्टर आपके बच्चे के हार्ट रेट (heart rate) की जांच करने के लिए आपके गर्भाशय के ऊपर, एक डॉपलर (doppler) का इस्तेमाल करेंगी।

जिससे आपको अपने बच्चे के दिल की धड़कन सुन सकती हैं। साथ ही आपके खान-पान को लेकर डॉक्टर आपको कुछ सलाह दे सकती हैं।

वहीं डॉक्टर योनि(vagina), गर्भाशय (uterus), अंडाशय (ovaries) और गर्भाशय ग्रीवा (cervix) की जांच कर सकती हैं।

पन्द्रहवें हफ्ते की गर्भावस्था के दौरान क्या अल्ट्रासाउंड या किसी अन्य परीक्षण की आवश्यकता है

Whether ultrasound or any other tests required during the fifteenth week of pregnancy? in hindi

Pandrah Vein hafte ki garbhavastha ke dauran kya ultrasound ya any kisi parikshan ki avashyakta hai in hindi

loading image

गर्भावस्था के पन्द्रहवें हफ्ते में अल्ट्रासाउंड व अन्य परीक्षण :

  • अल्ट्रासाउंड (Ultrasound)

इस सप्ताह आपको एमनियोसेंटेसिस (amniocentesis) कराने के लिए अल्ट्रासाउंड की आवश्यकता होगी।

  • टेस्ट (Test)

पहली तिमाही के दौरान किए गए रक्त परीक्षण की तरह मल्टीप्ल सीरम स्क्रीनिंग टेस्ट (MSS) सहित कई रक्त परीक्षण इस समय निर्धारित किये जाते हैं।

इन परीक्षणों को 'मल्टीप्ल मार्कर' या 'क्वाड स्क्रीन' टेस्ट के रूप में जाना जाता है।

ये रक्त में चार पदार्थों के स्तर अर्थात् एएफपी (alpha-feto protein), एस्ट्रिओल estridiol), इनहिबिन (inhibin)और ह्यूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन (human chorionic gonadotropin) को निर्धारित करने के लिए और अन्य जोखिम का पता लगाने के लिए किया जाता है।

अन्य जोखिम इस प्रकार हैं :

  • डाउन सिंड्रोम (Down syndrome)
  • ट्राइसॉमी 18 (Trisomy 18)
  • भ्रूण में न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट (NTD) जैसे कि स्पाइना बिफिडा
  • भ्रूण की एब्डोमिनल वाल में डिफेक्ट (Defect in the abdominal wall of the fetus)

जबकि यह स्क्रीनिंग टेस्ट 100% सटीक नहीं होता है और ऐसे में एम्नियोसेन्टेसिस टेस्ट (amniocentesis test) की जा सकती है।

आपकी डॉक्टर 15 से 20 सप्ताह के बीच एमनियोसेंटेसिस (amniocentesis) कराने की सलाह दे सकती हैं।

एमनियोसेंटेसिस के दौरान अल्ट्रासाउंड का उपयोग कर डॉक्टर आपके गर्भ में एक पतली सुई की मदद से एमनियोटिक द्रव (amniotic fluid) का एक नमूना (sample) एकत्र करेंगे।

वे बाद में डाउन सिंड्रोम (down syndrome) जैसे आनुवंशिक विकारों (genetic disorder) का पता लगाने के लिए इस द्रव का परीक्षण करेंगे।

यह 35 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं के लिए रेकमेंड किया जाता है क्योंकि उस उम्र में क्रोमोसोमल असामान्यता (chromosomal abnormalities) की संभावना बहुत बढ़ जाती है।

गर्भावस्था के पन्द्रहवें हफ्ते में संभोग

Sex in the fifteenth week of pregnancy in hindi

Garbhavastha ke pandrahaven hafte mein sex in hindi

loading image

आपके गर्भावस्था के शुरुआती लक्षणों के चले जाने के बाद आपकी सेक्स ड्राइव में वृद्धि होना बहुत आम है।

ऐसे में अगर आपको अभी कोई परेशानी नहीं है तो आप गर्भावस्था में संभोग कर हैं।

गर्भावस्था के पन्द्रहवें हफ्ते में पिता के लिए टिप्स

Tips for father during fifteenth week of pregnancy in hindi

Garbhavastha ke pandrah vein hafte mein pita ke liye tips in hindi

loading image

गर्भावस्था के इस चरण के दौरान आपका साथी आपकी मदद करने के लिए नीचे बताए जा रहे टिप्स फॉलो कर सकते हैं :

  • डॉक्टर से मिलने आपके साथ जा सकते हैं।
  • दैनिक घरेलू कामों में आपकी मदद करें।
  • अपने साथ नियमित रूप से टहलने के लिए जाएं।
  • अपने नवजात शिशु के स्वागत के लिए योजना बनाना शुरू करें।
zealthy contact

कॉल

zealthy whatsapp contact

व्हाट्सप्प

book appointment

अपॉइंटमेंट बुक करें