योनि की देखभाल

योनि की समस्या और योनि केयर टिप्स

Vaginal care tips in hindi

yoni ki dekhbhal in hindi aur yoni care tips in hindi, योनि की देखभाल, yoni care in hindi

महिलाएं पूरे परिवार का ध्यान रखती हैं मगर जब अपने स्वास्थ्य की बात आती है तो वे लंबे समय तक इसे नज़रअंदाज़ करती रहती हैं।

इस पर भी जब बात योनि समस्या की हो तो वे इसे सहती रहती हैं और योनि की समस्या का इलाज पता करने की कोशिश भी नहीं करती।

जबकि हर महिला का यह समझना बेहद जरुरी है योनि की देखभाल उतनी ही जरूरी है जितनी की शरीर के अन्य हिस्सों की देखभाल!

योनि की समस्या जैसे - योनि में जलन, योनि में खुजली या योनि में दर्द जैसी समस्याओं का सामना कई महिलाओं को विभिन्न कारणों से करना पड़ता है।

ऐसी स्थिति में बिना डॉक्टर की सलाह लिए योनि में खुजली की मेडिसीन या योनि में इन्फेक्शन की दवा या योनि में जलन का दवा लेने से बचें।

सबसे जरुरी बात यह है कि चाहे वो योनि में जलन की समस्या हो या योनि में खुजली की समस्या, अगर आप योनि की साफ़-साफ़ पर अच्छे से ध्यान देंगे तो, आपको इनमें से किसी समस्या के होने की संभावना कम हो जाएगी।

इसलिए आज हम इस लेख में आपकी अपनी भाषा हिंदी में योनि की केयर टिप्स (yoni care tips in hindi) बताने जा रहें हैं।

कॉलबैक का अनुरोध करें और पाएँ मूल्य का उचित आकलन

इस लेख़ में/\

  1. योनि क्या है?
  2. योनि समस्या के लक्षण क्या हैं?
  3. योनि की परेशानी से जुड़े सामान्य कारण
  4. योनि समस्या का उपचार क्या है?
  5. योनि केयर टिप्स
 

1.योनि क्या है?

What is vagina in hindi

Yoni kya hai in hindi

वेजाइना जिसे हिन्दी में योनि (vagina meaning in hindi) कहते हैं, वास्तव में लैटिन भाषा का शब्द है, जिसका मूल अर्थ है छल्लों जैसी आकृति।

योनि महिला के प्राइवेट पार्ट का एक महत्वपूर्ण अंग माना जाता है। इसकी बनावट विभिन्न टिश्यू (tissues), फाइबर (fiber), मांसपेशियों (muscles) और नसों (nerves) से बनी एक ट्यूब के आकार की होती है। यह गर्भाशय ग्रीवा (cervix) के जरिये गर्भाशय (uterus) से जुड़ी होती है।

सेक्स प्रक्रिया में पुरुष का लिंग महिला की योनि में प्रवेश करने से ही, वीर्य (sperm) गर्भाशय में में प्रवेश करता है और महिला के अंडाणु (egg) से मिलकर शिशु जन्म की प्रक्रिया को आरंभ करता है। इसके अलावा शिशु का जन्म भी योनि के माध्यम से ही होता है।

और पढ़ें:अजवाइन, प्याज़ एवं लहसुन बढ़ाते है यौनइच्छा

मुझे सही डॉक्टर के चुनाव में मदद चाहिए

हमारे मेडिकल एक्सपर्ट आपको अनुभवी व नज़दीकी डॉक्टर से अपॉइंटमेंट बुक कराने में मदद करेंगे

i need guidance in choosing the best doctor
 

2.योनि समस्या के लक्षण क्या हैं?

What are the symptoms of vaginal problem in hindi

yoni ki samysa ke lakshan or yoni samasya ke lakshan

योनि समस्या हर महिला में अलग-अलग हो सकती है और योनि की समस्या के लक्षण भी हर महिला में अलग-अलग हो सकते हैं। ये समस्याएं कभी-कभार, योनि की देखभाल ठीक से न होने के कारण होती है तो कभी किसी बीमारी के कारण।

योनि समस्या के लक्षण निम्न हो सकते हैं : -

  • योनि में खुजली या जलन
  • योनि के आस-पास की जगह का लाल होना
  • योनी से बदबूदार या असामान्य स्त्राव होना
  • सेक्स करते समय या बाद में योनि में दर्द
  • पेशाब करते समय जलन होना

और पढ़ें:उम्र बढ़ने पर योनि के सूखने का आपकी सेक्स लाइफ पर क्या प्रभाव पड़ता है

 

3.योनि की परेशानी से जुड़े सामान्य कारण

Common causes for vaginal related problems in hindi

yoni ki pareshaniyuin ke karan in hindi

योनि के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए यह जरूरी है कि योनि में होने वाली परेशानियों के बारे में आपको जानकारी हो।

कई बार योनि की समस्या के कारण, योनि की देखभाल से जुड़े होते हैं तो वहीं कुछ योनि समस्या के लक्षण किसी गंभीर बीमारी की और भी इशारा कर रहे होते हैं।

योनि समस्या के कारण निम्न हो सकते हैं :-

1. योनि से बदबू आना (Smelly Vagina)

कई बार महिलाओं को अपनी योनि से अजीब सी बदबू आने लगती है। ऐसा आमतौर पर योनि में किसी प्रकार के इन्फेक्शन (vaginal infection in hindi) या महिला के ओव्यूलेशन (ovulation) का समय नज़दीक होने के कारण हो सकता है।

इसके अलावा योनि में अधिक पसीने के कारण या अगर आप टेंपून (tampoon) निकालना भूल गईं हैं, तब भी बदबू आने लगती है।

कई बार कुछ खाने-पीने की चीजें जैसे मछ्ली, लहसुन आदि चीजों के सेवन से भी योनि में बदबू आने लगती है।

2. सेक्स के बाद योनि में ऐंठन (Vaginismus)

इस परेशानी को वेजिनिसमस (vaginismus) कहा जाता है। यह परेशानी अक्सर महिला में इमोशनल (emotional) परिवर्तन आने पर हो सकती है। इसके लिए समय पर उचित दवा और व्यायाम ही उपाय है।

3. प्राइवेट पार्ट्स में मस्से (Genital warts)

जब महिलाओं के प्राइवेट पार्ट्स में मस्से हो जाते हैं तब भी योनि समस्या हो सकती है।

4. योनि में ट्राईकोमोकोनिसिस इन्फेक्शन (Trichomoniasis Infection)

यह योनि में होने वाला वह इन्फेक्शन है जो यौन संचारित रोगों के कारण होता है।

यह प्रोटोज़ोआ ट्रिचोमोनास योनिटाइटिस वागिनालिस (trichomonas vaginalis) के कारण होता है।

इस रोग से प्रभावित व्यक्ति से सेक्स संबंध स्थापित करने के कारण, इस रोग का फैलाव होता है।

5. योनि में बैक्टीरियल इन्फेक्शन (Bacterial Vaginal Infection)

योनि में बैक्टीरिया के अधिक होने के कारण जो इन्फेक्शन होता है उसे (bacterial vaginosis) कहा जाता है। इसे दवाइयों से ठीक किया जा सकता है।

6. हरपीस (Herpes)

यह भी एक यौन संचारित रोग (Sexually Transmitted Disease) है जिसके कारण योनि में छोटे-छोटे छाले और अल्सर हो जाते हैं, यूँ कहें तो योनि समस्या होती है।

7. गोनोरिया (Gonorrhoea)

यह भी एक प्रकार का बैक्टीरियल इन्फेक्शन है जिसके कारण योनि से स्त्राव और खुजली की परेशानी हो सकती है। इससे बांझपन की समस्या भी हो सकती है।

8. योनि का कैंसर (Vaginal cancer)

यह एक अत्यंत कष्टकारी और दुर्लभ परेशानी है। इसके कारण योनि से असामान्य रक्त्स्त्राव की परेशानी हो सकती है।

9. योनि का बाहर निकल आना (Vaginal prolapse)

कई बार योनि का एक हिस्सा शरीर से बाहर भी निकल सकता है। ऐसा आमतौर पर कूल्हे और आसपास की मांसपेशियाँ (pelvic muscles) के कमजोर होने के कारण मलाशय, गर्भाशय और मूत्राशय का भार योनि पर पड़ने लगता है। यह अपने आप में बड़ी योनि समस्या है।

10. योनि की दीवार का पतला होना (Vaginal atrophy)

इस परेशानी को वैजाइनल एट्रोफी (vaginal atrophy) कहते हैं। इसमें योनि में सूखापन आने लगता है।

ऐसा वैसे तो रजोनिव्रती (menopause) के बाद होता है लेकिन एस्ट्रोजन हार्मोन (estrogen hormone) की कमी के कारण यह योनि की समस्या किसी भी उम्र में हो सकती है।

11. बैक्टीरियल इन्फेक्शन (Bacterial infection)

योनि में स्वस्थ बैक्टीरिया का होना सामान्य बात है। लेकिन जब इनकी संख्या में अनावश्यक वृद्धि हो जाती है तब यह योनि की समस्या का कारण बन जाते हैं।

12. यीस्ट इन्फेक्शन (Yeast infection)

आमतौर पर योनि में कैंडीडा एल्बिकैन्स (candida albicans) फंगस के कारण होने वाला इन्फेक्शन यीस्ट इन्फेक्शन कहलाता है।

सामान्य रूप से यह फंगस शरीर के पाचन तंत्र और मुंह में पाया जाता है। लेकिन जब इनकी संख्या में अनावश्यक वृद्धि हो जाती है यानि इनका संतुलन बिगड़ जाता है तब यह योनि को नुकसान पहुंचा सकता है।

ऐसा प्रायः तब भी होता है जब कुछ एंटीबायोटिक दवाइयों का सेवन लंबे समय तक किया जाता है। तब योनि के अच्छे बैक्टीरिया की संख्या कम हो जाती है और योनि में यीस्ट फंगस बढ़ जाता है।

13. यौन संचारित रोग (Sexually transmitted Diseases)

यौन संचारित रोग से प्रभावित व्यक्ति से यौन संबंध स्थापित करने से योनि की समस्या होती है।

14. एस्ट्रोजेन हारमोन (Estrogen hormone)

शरीर में एस्ट्रोजेन हारमोन के निर्माण का कम हो जाने से भी योनि से जुड़ी कई तरह की परेशानी होती है।

15. कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स (Cosmetic products)

योनि को खुशबूदार साबुन से धोना या परफ्यूम का अधिक इस्तेमाल करने से भी योनि में बदबू, योनि में इन्फेक्शन या योनि में खुजली की समस्या हो सकती है।

और पढ़ें:ऐसे पता लगाएं कि आपका ब्वॉयफ्रैंड वर्जिन है या नहीं

मैं कन्फ्युज हूँ, मुझे मदद चाहिए

हमारे मेडिकल एक्सपर्ट उपचार की योजना तैयार करने में आपकी सहायता करेंगे

i’m confused, i need help
 

4.योनि समस्या का उपचार क्या है?

Treatment options for vaginal problems in hindi

yoni care tips in hindi

योनि की समस्या का इलाज, योनि समस्या की प्रकृति पर निर्भर करता है। आइये देखते हैं किस तरह की योनि समस्या के लिए कौन-सा उपचार किया जाता है।

योनि समस्या का उपचार निम्न हो सकता है : -

  • बैक्टीरियल इन्फेक्शन (Bacterial Infection)

योनि में होने वाले बैक्टीरियल इन्फेक्शन के लिए उचित गोलियां या क्रीम दी जाती हैं।

  • यीस्ट इन्फेक्शन (Yeast infection)

योनि में होने वाले यीस्ट इन्फेक्शन का उपचार करने के लिए एंटी-फंगल क्रीम दी जाती है।

  • वेजाइनल एट्रोफी (Vaginal Atrophy)

वेजाइनल एट्रोफी के लिए हार्मोनल क्रीम दी जा सकती है।

  • साबुन या खुशबूदार चीज़ का प्रयोग (Use of flavoured soap or body wash)

यदि किसी साबुन या खुशबूदार चीज़ के प्रयोग से योनि में खुजली हो रही है तब उसे बंद करके उसके स्थान पर दूसरा विकल्प देखा जाता है।

  • यौन संचारित रोग और योनि कैंसर व अन्य (STD, Vaginal cancer and others)

यौन संचारित रोग, योनि कैंसर व अन्य रोगों का इलाज के लिए डॉक्टर आपकी स्थिति के अनुसार करते हैं।

और पढ़ें:ओरल सेक्स दे सकता है कई बिमारियों को न्योता

 

5.योनि केयर टिप्स

Vaginal Care tips in hindi

Yoni care tips in hindi

योनि की खुजली और सामान्य योनि जलन की समस्या को योनि की देखभाल करके दूर किया जा सकता है। अगर आप नियमित रूप से अपनी योनि की साफ़-सफाई करती हैं तो योनि में खुजली, जलन और बदबू जैसी समस्याओं से दूर रह सकती हैं।

योनि केयर टिप्स निम्न हैं :

  • प्रतिदिन नहायें

भले ही यह सुनने में सामान्य लगता हो, मगर यह बहुत जरुरी कि आप प्रतिदिन स्नान करें। स्नान के दौरान सादे पानी या हलके गुनगुने पानी से अपनी योनि की सफाई करें। इससे योनि साफ़ रहती है और योनि से बदबू भी नहीं आती। ध्यान कि पानी ज्यादा गर्म न हो, इससे आपकी योनि को नुकसान हो सकता है।

  • रोज़ाना अपनी पैंटी बदलें

हर रोज़ अपनी पैंटी बदलें। हर महिला की वेजाइना से सर्विकल म्यूकस का रिसाव होता है। अगर आप हर रोज़ अपनी पैंटी नहीं बदलती हैं तो पसीने और सर्विकल म्यूकस के कारण योनि से बदबू आ सकती है और योनि में खुजली भी हो सकती है। इसके अलावा ध्यान रखें कि आप सूती पैंटी ही पहनें।

  • खुशबूदार साबुन का प्रयोग न करें

योनि की सफाई के लिए खुशबूदार साबुन या बॉडी वॉश का प्रयोग नहीं करना चाहिए। अगर आपको लगता है कि इनके इस्तेमाल से आपकी योनि से खुशबू आएगी तो आप गलत है। ऐसा करना योनि की समस्याओं को बढ़ा सकता है।

  • सेक्स के बाद पेशाब और योनि की सफाई ज़रुर करें

अगर आपकी सेक्स लाइफ सक्रीय है तो हमेशा सेक्स के बाद पेशाब करें और अपनी योनि की सफाई करें। इससे योनि में मौजूद बैक्टीरिया दूर हो जायेंगे। ऐसा करने से जहाँ आप यौन संक्रमित बीमारियों से दूर रहेंगी वहीं आपकी योनि में जलन या बदबू की भी समस्या नहीं होगी।

  • समय-समय पर प्युबिक बाल निकालें

वेजाइना के आस-पास के प्युबिक बालों के कारण योनि से बदबू या योनि में जलन हो सकती है। इसलिए कुछ दिनों के अंतराल पर प्युबिक बालों को ज़रुर साफ़ करें। इससे आप सामान्य योनि की समस्या से दूर रहेंगी।

  • योनि को गीला न छोड़ें

अपनी योनि को कभी गीला न छोड़ें। नहाने के बाद किसी साफ तौलिये से योनि को थप-थपा के साफ़ करें। पेशाब करने के बाद टॉयलेट पेपर से हल्के हाथों से योनि को सुखा लें।

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: 28 Mar 2020

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

विशेषज्ञ सलाहASK AN EXPERT

कॉल

व्हाट्सप्प

अपॉइंटमेंट बुक करें