संवेदनशील त्वचा क्या है

What is sensitive skin in hindi

sensitive skin kaisi hoti hai jane


एक नज़र

  • संवेदनशील त्वचा पर खुजली, मुहांसे और रैशेज़ जल्दी होते हैं।
  • सेंसिटिव स्किन होने का कारण अनुवांशिकता भी हो सकता है।
  • संवेदनशील त्वचा से बचने के लिए त्वचा को मॉइस्चराइज़ करना है आवश्यक।
triangle

Introduction

sensitive_skin_indian_woman

त्वचा के कई प्रकार होते हैं। किसी की त्वचा ड्राई होती है तो किसी त्वचा ऑयली होती है और किसी की त्वचा चमकदार होती है। लेकिन, इन सबसे अलग होती है संवेदनशील त्वचा। जिन महिलाओं की त्वचा संवेदनशील होती है, उनका जीवन एक तरह से संघर्ष भरा होता है। संवेदनशील त्वचा होने पर स्किन टाइप के अनुसार स्किन केयर प्रोडक्ट का खरीदना आसान नहीं होता है। ऐसी त्वचा पर खुजली, रैशेज़, लालिमा और मुहांसे बहुत जल्दी होते हैं या यूं कहें इस तरह की स्किन पर ये सब होना आम है।

संवेदनशील त्वचा पर समस्याएं बहुत जल्दी होती हैं और कई बार कुछ प्रोडक्ट के इस्तेमाल से रिएक्शन का भी सामना करना पड़ता है। संवेदनशील त्वचा सौंदर्य प्रसाधन और प्रसाधन के लगातार और लंबे समय तक उपयोग के लिए कम सहिष्णु है। [1] ऐसे में इस स्किन टाइप को विस्तार से समझना बहुत आवश्यक है। आइए इस लेख के माध्यम से जानते हैं कि संवेदनशील त्वचा (sensitive skin kaisi hoti hai) क्या होती है, संवेदनशील त्वचा के लक्षण क्या होते हैं और इसके कारण क्या होते हैं।

loading image

इस लेख़ में

 

संवेदनशील त्वचा क्या होती है?

What is sensitive skin in hindi

sensitive skin kaisi hoti hai jane

loading image

संवेदनशील त्वचा तब होती है जब त्वचा पर अत्यधिक सूखापन, लालिमा, त्वचा की परत का निकलना, जलन और स्किन को छूने से ही सेंसेशन (sensation) महसूस हो।अगर आपकी त्वचा पर कुछ चीज़ों के संपर्क में आने से रिएक्शन होता है, जैसे कि कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स, हवा में जहरीले विषाक्त पदार्थ या किसी फैब्रिक से, तो संभावना है कि आपकी त्वचा संवेदनशील हो सकती है। सेंसिटिव स्किन होना किसी तरह की बीमारी का लक्षण नहीं है, बल्कि कई बीमारियों का कारण बन सकती है।

संवेदनशील त्वचा वालों को रोजेसिया (Rosacea), एक्जिमा (Eczema), सोरायसिस (Psoriasis), मुंहासे (Acne) या ऐलर्जी (Allergy) हो सकती है। संवेदनशील त्वचा शरीर के किसी भी हिस्से को प्रभावित कर सकती है, लेकिन इसका सबसे ज़्यादा असर चेहरे पर दिखता है क्योंकि चेहरे की त्वचा प्राकृतिक रूप से भी बहुत ज़्यादा सेंसिटिव होती है।

और पढ़ें:10 बेहतरीन एक्जिमा ट्रीटमेंट क्रीम
 

संवेदनशील त्वचा के लक्षण

Symptoms of sensitive skin in hindi

sensitive skin kise kahate hain jane

loading image

कॉस्मेटोलॉजी के क्षेत्र में संवेदनशील त्वचा एक यूनिवर्सल टर्म है। इसके अलावा, संवेदनशील त्वचा सौंदर्य प्रसाधनों का विकास और मांग बढ़ रही है। हालांकि, संवेदनशील त्वचा का पता लगाने के लिए कोई उपयुक्त तरीका नहीं है। [2] संवेदनशील त्वचा बहुत आम है और कभी-कभी हम इस तथ्य को अनदेखा कर देते हैं कि हम इससे पीड़ित हो सकते हैं। ऐसे में नीचे दिए गए लक्षणों के माध्यम से पहचानने की कोशिश करें।

आइए जानते हैं सेंसिटिव स्किन के लक्षणों के बारे में:

  1. मौसम के बदलाव का त्वचा पर तुरंत असर दिखाई देना।
  2. फेस वॉश करने के बाद चेहरे पर स्ट्रेच जैसा महसूस करना या जलन होना।
  3. स्किन पर एक्ने होना या लाल हो जाना।
  4. सर्दियों में अधिक हाइड्रेशन (hydration) की आवश्यकता होना।
  5. त्वचा में जलन होना या खुजली की परेशानी होना।
  6. समय से पहले रिंकल्स होना।
  7. फ्लाइट में उड़ान के दौरान स्किन का ड्राई होना
  8. गर्मियों में स्किन का ऑयली होना।
  9. सिंथेटिक कपड़े पहनने के बाद खुजली महसूस करना।
और पढ़ें:14 घरेलू उपाय जो तैलीय त्वचा से दिलाएंगे छुटकारा
 

संवेदनशील त्वचा होने के कारण

Causes of sensitive skin in hindi

sensitive skin kaisa hota hai jane

loading image

अगर आप त्वचा के सूखे, लाल और / या खुजली वाले पैच को नोटिस करना शुरू कर रहे हैं, तो नीचे दिए गए संभावित कारणों में से कोई भी कारण हो सकता है।

जानते हैं किन कारणों से स्किन सेंसिटिव हो जाती है :-

  1. संवेदनशील त्वचा के कारण है अनुवांशिकता (Genetic reasons)
    अगर आपके परिवार में आपकी मां या आपके पिता के तरफ किसी की भी स्किन सेंसिटिव स्किन है और आपको अपने में भी ऐसे लक्षण दिख रहे हैं तो ये जेनेटिक भी हो सकता है।
    कुछ ऐलर्जिक रिएक्शन का कारण भी परिवार से जुड़ा होता है।
  2. संवेदनशील त्वचा का कारण है खान-पान (Food habits)
    अक्सर देखा जाता है कि खान-पान का प्रभाव स्किन पर पड़ता है।
    कई ऐसे खाद्य-पदार्थ होते हैं जिनके सेवन से कई लोगों के स्किन पर रिएक्शन हो जाता है और आपकी स्किन को सेंसिटिव बना देता है। अधिकतर कॉफी (Coffee) और कई गर्म पेय-पदार्थ और स्पाइसी चीज़ें या मसाला भी आपकी स्किन में होने वाले रिएक्शन का कारण बनते हैं।
  3. संवेदनशील त्वचा का कारण है हार्मोन में बदलाव (Hormonal changes)
    पुबर्टी (Puberty), मेंस्ट्रुएशन (Menstruation), प्रेगनेंसी (Pregnancy) और मीनोपॉज़ (Menopause) के कारण हार्मोनल परिवर्तन त्वचा की जलन के प्रतिरोध को प्रभावित कर सकते हैं। इस कारण सेंसिटिव स्किन की समस्या उत्पन्न हो सकती है।
  4. संवेदनशील त्वचा का कारण है तनाव (Stress)
    लंबे समय तक तनाव और नींद की कमी दोनों संवेदनशील त्वचा के ज्ञात ट्रिगर (trigger) हैं।
    तनाव के कारण नैचुरल ऐंटी-ऑक्सीडेंट्स (Natural Anti-oxidants) खत्म हो जाते हैं, जो त्वचा की बढ़ती उम्र को रोकने का काम करते हैं। इसके अलावा शरीर में कोर्टिसोल (Cortisol) नामक हार्मोन भी तेजी से बढ़ने लगता है, जिससे चेहरे पर दाने हो जाते हैं और त्वचा संवेदनशील हो जाती है।
  5. संवेदनशील त्वचा का कारण है कपड़ों के कारण (Clothing)
    पॉलिएस्टर (Polyster), नायलॉन (Nylon) और स्पैन्डेक्स (Spandex) जैसे डेनिम (Denim) और सिंथेटिक फाइबर में इस्तेमाल किए जाने वाले रंग स्किन पर जलन की समस्या पैदा कर सकते हैं।
  6. संवेदनशील त्वचा का कारण है यूवी किरण (UV rays)
    बहुत अधिक गर्मी स्किन सेल्स को नुकसान पहुँचाती है और अक्सर इस कारण स्किन पर रैशेज़ हो सकती हैं या फिर स्किन से जुड़ी बीमारियाँ हो सकती हैं। विशेष रूप से, लंबे समय तक सूरज के संपर्क में रहने से त्वचा सूख सकती है और जलन हो सकती है।
  7. संवेदनशील त्वचा का कारण है मॉश्चराइज़र का इस्तेमाल न करना (Avoiding moisturiser)
    मॉश्चराइज़र से स्किन को ड्राई होने और जलन से बचाया जा सकता है। लेकिन, कई लोग अक्सर नहाने के बाद मॉइस्चराइजर लगाना भूल जाते हैं या उन्हें इसकी आदत ही नहीं होती है। इस कारण स्किन अपनी नमी खो देती है और ड्राई हो जाती है। ऐसी स्किन पर जलन की समस्या बहुत जल्दी उत्पन्न हो जाती है।
  8. संवेदनशील त्वचा का कारण है ज़रूरत से ज्यादा स्क्रब करना (Excessive scrubbing)
    कई लोगों में स्किन को कठोर तरीके से स्क्रब करने की आदत होती है, जो बिल्कुल सही नहीं है क्योंकि ऐसा करने से धूल मिट्टी के साथ-साथ उसका नेचुरल ऑयल (natural oil) भी निकल जाता है। जिस कारण स्किन रूखी हो जाती है और आगे चलकर इसपर रैशेज होने लगते हैं।
  9. संवेदनशील त्वचा का कारण है गलत क्लीन्ज़र का इस्तेमाल (Selecting wrong cleanser)
    कुछ क्लीन्ज़र का एल्कलाइन पीएच (Alkaline pH) होता है, जो आपकी त्वचा को नुकसान पंहुचा सकता है। ऐसे क्लीन्ज़र, स्किन से नेचुरल ऑयल को छीन लेते हैं, जिससे स्किन सुख जाती है और इसपर जलन होने लगती है।
  10. संवेदनशील त्वचा का कारण है फ्रेग्नेंस रहित उत्पाद का इस्तेमाल ( Using fragrance based products)
    बहुत हार्ड फ्रेगरेंस वाले प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से भी स्किन सेंसिटिव हो सकती है। दरअसल, कई प्रोडक्ट्स केमिकल युक्त होते हैं और इसके इस्तेमाल से स्किन पर जलन की समस्या हो सकती है।
loading image
 

संवेदनशील त्वचा का इलाज

Treatment of sensitive skin in hindi

sensitive skin kise kahate hain jane

loading image

संवेदनशील त्वचा के उपचार में आमतौर पर किसी भी संवेदनशील त्वचा के कारण को ढूंढना और उसे जड़ से खत्म करना शामिल है। इसके साथ ही लक्षणों के इलाज के लिए संवेदनशील त्वचा के लिए घरेलू उपचार या नुस्खे की भी मदद ली जा सकती है। हालांकि, अगर अगर बार-बार आपको त्वचा पर खुजली, रैशेज़ या एक्जिमा की समस्या होती है तो ऐसी स्थिति में प्रेस्क्राइब की गई दवाओं का रूख करना चाहिए।

संवेदनशील त्वचा के कारण और साथ में लक्षणों के आधार पर, डॉक्टर निम्नलिखित दवाएं लिख सकते हैं :-

  • स्टेरॉयड क्रीम (Steroid cream) - ओवर-द-काउंटर (ओटीसी) दवाओं के साथ-साथ और प्रेस्क्राइब की गई स्टेरॉयड क्रीम, जैसे कि हाइड्रोकार्टिसोन(hydrocortisone), सूजन और खुजली को दूर करने में मदद कर सकता है। हालांकि, इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि चेहरे पर आप इस क्रीम का इस्तेमाल न करें।
  • एनाल्जेसिक क्रीम (Analgesic cream) - त्वचा को सुन कर देने वाली क्रीम, खुजली को कम करने में मदद कर सकती हैं, जिससे व्यक्ति को प्रभावित क्षेत्र पर जलन और खरोंच होने की संभावना कम हो सकती है।
  • एंटीहिस्टामाइन (Antihistamine) - ओरल एंटीहिस्टामाइन लेना, जैसे कि डिपेनहाइड्रामाइन (बेनाड्रील), कुछ एलर्जी रिएक्शन साथ मदद कर सकता है।
  • सुरक्षात्मक सनस्क्रीन (Protective sunscreen) - एसपीएफ-30 के साथ ब्रॉड-स्पेक्ट्रम सनस्क्रीन का इस्तेमाल संवेदनशील त्वचा को सूरज की अल्ट्रावायलेट किरणों से बचाता है।

आमतौर पर, संवेदनशील त्वचा होना, गंभीर त्वचा की स्थिति का संकेत नहीं है। कुछ लोग किसी प्रोडक्ट के प्रति अधिक संवेदनशील होते हैं, जो त्वचा के संपर्क में आते हैं। कई मामलों में, केमिकल और फ्रेगरेंस युक्त स्किन केयर प्रोडक्ट के इस्तेमाल से बचना लक्षणों को कम करने और उन्हें दूर रखने में मदद कर सकता है। अगर स्थित बहुत गंभीर नहीं है तो संवेदनशील त्वचा के लिए घरेलू नुस्खे या घरेलू फेस पैक बहुत कारगर साबित हो सकते हैं और साथ ही संवेदनशील त्वचा का ख्याल रखने के लिए आपको उचित आहार पर भी ध्यान देना चाहिए। हालांकि, जब स्थिति बहुत गंभीर हो जाए तो आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए।

और पढ़ें:आँखों के नीचे डार्क सर्कल
 

निष्कर्ष

Conclusion in hindi

sensitive skin kise kahate hain jane

हमेशा सेंसिटिव स्किन के लिए बनाये गए प्रोडक्ट्स का ही इस्तेमाल करें। ऐसे प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से चेहरे पर जलन व खुजली नहीं होती। इसके अलावा प्रोडक्ट्स पर जो अनुदेश दिए जाते हैं उनका पालन ज़रूर करें । इसके साथ ही अपनी दिनचर्या में बदलाव करें, सही खान-पान पर ध्यान दें।

loading image

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

references

संदर्भ की सूचीछिपाएँ

1 .

Inamadar AC, Palit A.”Sensitive skin: an overview”. Indian J Dermatol Venereol Leprol.PMID: 23254724

2 .

Ham H, An SM, et al.”Itching sensation and neuronal sensitivity of the skin”. Skin Res Technol. PMID: 26250122

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 18 Sep 2020

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

फेशियल हेयर लाइट करने के सरल तरीके

फेशियल हेयर लाइट करने के सरल तरीके

एक्जिमा के कारण, लक्षण, प्रकार और उपचार

एक्जिमा के कारण, लक्षण, प्रकार और उपचार

संवेदनशील त्वचा के लिए स्कीन केयर प्रोडक्ट्स

संवेदनशील त्वचा के लिए स्कीन केयर प्रोडक्ट्स

नाक पर काले धब्बे से छुटकारा पाने के तरीके

नाक पर काले धब्बे से छुटकारा पाने के तरीके

ब्लैकहेड्स के लिए सबसे अच्छा स्क्रब

ब्लैकहेड्स के लिए सबसे अच्छा स्क्रब
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad