ब्रेकअप क्यों होता है

Reasons of breakup in hindi

breakup ke baad khush kaise rahe jane


एक नज़र

  • ग़लतियों को दोहराना पार्टनर को चिड़चिड़ा बना सकता है, जिससे संबंधों में दरार आ सकती है।
  • किसी भी रिलेशनशिप में अपने साथी की रिस्पेक्ट करना बहुत ज़रूरी है।
  • कई बार संबंध टूटने के बाद गलती का एहसास होता है।
triangle

Introduction

ब्रेकअप__क्या__कब_और_क्यों

रिश्ते बहुत ही नाज़ुक होते हैं, जिन्हें बनाए रखने के लिए बहुत-सी बातों का ध्यान रखना पड़ता है। हर एक रिश्ते को निभाने के लिए एक दूसरे को समझने की और एक दूसरे के साथ प्यार से रहने की ज़रूरत होती है। जब दो लोग रिलेशनशिप में होते हैं, तो वे आपस में एक-दूसरे से इस तरह जुड़ जाते हैं कि उनके लिए अलग होना मुश्किल हो जाता है। एक अध्ययन के अनुसार ये पता चला है कि जिस रिश्ते में संतुष्टि अधिक होती है, वहां ब्रेकअप होने की संभावना कम होती है। [1]

लेकिन, फिर भी एक दूसरे की कई आदतों के कारण उनके बीच झगड़े होने लगते हैं, जिसके कारण उनके संबंध में दूरियाँ आने लगती है और धीरे-धीरे रिश्ता टूटने (breakup kyu hota hai) की नौबत आ जाती है, जिसे आजकल 'ब्रेकअप' के नाम से जाना जाता है। रिलेशनशिप में रहने वाला हर इंसान एक बार जरुर सोचता है कि ब्रेकअप क्यूँ होता है (breakup kyu hota hai) और जब रिश्ता बोझ लगने लगे तो कब और कैसे रिश्ता तोड़ना सही होता है। आइए इन सवालों के जबाव जानते हैं।

loading image

इस लेख़ में

 

रिश्ते क्यों टूट जाते हैं?

Reasons for breakup in hindi

ब्रेकअप क्यों होता है जानें

loading image

किसी भी रिश्ते को निभाने के लिए शायद कोई कारण ना होता हो लेकिन रिश्ते टूटने के पीछे हमेशा कोई न कोई कारण ज़रूर होता है। ऐसे में आइए, रिश्ते टूटने के कारण को समझने की कोशिश करते हैं।

ब्रेकअप होने के कारण : -

  • एक दूसरे को ना समझना
  • दोनों में मतभेद होना
  • किसी तीसरे को और महत्व देना
  • अपने रिश्ते को वक्त ना देना
  • एक दूसरे के साथ खुश ना होना
  • प्यार और विश्वास की कमी
  • थोड़ा भी कंप्रोमाइज (compromise) या एडजस्टमेंट (adjustment) न करना
loading image
 

रिश्ता टूटने की कगार पर होने के लक्षण

Signs and symptoms that your relationship is going through a rough patch in hindi

breakup kyu hota hai jane

loading image

रिश्ता टूट सकता है, इसके कई लक्षण सामने आने लगते हैं, लेकिन पार्टनर इन्हें नज़रअंदाज़ कर देते हैं जिससे ब्रेकअप हो जाता है। आइए, विस्तार से जानते हैं कि ब्रेकअप होने के लक्षण क्या-क्या होते हैं।

निम्नलिखित लक्षणों से जानें कि रिश्ता टूटने के कगार पर है : -

  1. बार-बार ताने मारना
    बहस होने या किसी गलती पर पार्टनर को ताने मारने से झगड़े बढ़ जाते हैं, जिससे रिलेशनशिप कमजोर होने लगती है। अगर आपके साथी से किसी तरह की गलती हो जाती है, तो उसे उसका एहसास अवश्य कराए लेकिन उसे बार-बार एक ही बात के लिए ताने ना मारे।
  2. गुज़रे हुए कल की बातें करना
    अपने साथी को उसके गुज़रे हुए कल या पास्ट (past) में उसके द्वारा की गयी किसी गलती के लिए बार-बार शर्मिंदा महसूस करवाना रिलेशनशिप के लिए बहुत नकारात्मक व्यवहार है।
    बार-बार पूर्व में की गई ग़लतियों को दोहराना पार्टनर को चिड़चिड़ा बना सकता है जिससे संबंधों में दरार आ सकती है।
  3. कम बातचीत
    सभी बातों पर शांत दिमाग से खुल कर बात न करने से या कम बात करने से पार्टनर्स में दूरियाँ आने लगती हैं। रोज़ाना एक दूसरे से बातचीत ना करना, अपने साथी की पूरी बात ना सुनना या अनसुना करना आपसी सम्बन्ध में दूरियाँ लाता है।
  4. अपने पुराने साथी के बारे में बात करना
    अपने आज के रिश्तों में पहले रहे पार्टनर्स या साथी के बारे में बात करना सही नहीं होता। बार-बार अपने गुज़रे हुए कल के पलों को याद करने से आपके साथी या पति को इरिटेशन हो सकती है, जिस वजह से रिलेशनशिप में ग़लतफ़हमी आने लगती हैं।
और पढ़ें:अकेलापन कैसे दूर करें
 

ब्रेकअप करने का सही समय

Right time to break up in hindi

breakup ke baad khush kaise rahe janein

loading image

किसी भी रिश्ते को निभाना आसान नहीं है, हर रिश्ते में उतार-चढ़ाव आते हैं। अगर रिश्तों में सिर्फ ग़लतफ़हमी बढती जा रही हैं, तो इसी में भलाई है कि ब्रेकअप कर लिया जाए। यह समझना कि किसी रिश्ते को कब खत्म करना है बहुत सारी परेशानियों से बचा सकता है।

इन स्थितियों से जानें ब्रेकअप करने का सही समय : -

  1. प्यार से ज्यादा सिर्फ लड़ाई होना
    जब साथियों में असहमति और झगड़े अधिक होने लगे और खत्म होने का नाम ही न लें और आत्मा को दुख पहुँचने लगे तो ऐसे रिश्ते को आगे नहीं लेकर जाना चाहिए।
  2. पार्टनर लगातार विश्वास तोड़े
    यदि साथी एक दूसरे का विश्वास तोड़ने लगें और एक दूसरे को दुःख पहुँचाने लगें तो खुद पर दोष लेने से बेहतर है, रिश्ते को खत्म करना। धोखा खाने पर भी अपने साथी पर हर स्थिति में विश्वास करना प्यार में स्वाभाविक हो सकता है लेकिन जब ये आदत बन जाए, तो यह आपके रिश्ते के लिए एक नकारात्मक संकेत है। यहाँ देखें कैसे पता करें कि आपका पार्टनर आपको धोखा दे रहा है!
  3. रिश्ते की हर अच्छी बात खत्म हो चुकी हो
    एक अच्छे और मजबूत संबंध में अच्छी समझ और सोच का मिलना बहुत जरूरी है। रिश्ते की नींव अच्छाई पर ही टिकी होती है, जिसका अर्थ है एक दूसरे को सहारा और प्यार देना, एक दूसरे का सम्मान करना, वफ़ादार (loyal) रहना और एक दूसरे को भरोसा दिलाना कि कुछ भी हो वह एक दूसरे के साथ रहेंगे। हालांकि, अगर ऐसा कुछ न हो तो ऐसे रिश्ते को खत्म कर देना चाहिए और आगे बढ़ना चाहिए।
  4. केवल पास्ट के बारे में सोचा जाए
    जब आप अपने पिछले दिनों को याद करके ही खुशी ज़ाहिर कर पाएँ तो समझ लेना चाहिए कि आपके रिश्ते में आकर्षण और प्यार कम होने लगा है। इसके साथ ही अगर समझ आने के बाद भी इस स्थिति में कोई बदलाव नही आ पा रहा है, तो इसका मतलब ये है कि ऐसे रिश्ते को आगे ले जाने का कोई मतलब नहीं है।
  5. रिलेशन में केवल आप के द्वारा तालमेल बिठाने की कोशिश हो
    अगर अपने रिश्ते में सिर्फ आप ही ख़ुशी बनाएँ रखने की कोशिश कर रहे हो, स्थिति को संभालने के लिए समझौता या बात करने को तैयार रहते हो, लेकिन दूसरा पार्टनर बदले में ऐसा कुछ ना कर रहा हो तो इसका मतलब है कि यह एक वन साइडेड रिलेशनशिप (one sided relationship) बन गया है और इसको आगे ले जाना सही नही रहेगा।
  6. रिश्ते में घुटन महसूस होना
    अगर आपका रिश्ता आपको एक बोझ लगने लगे, आप उसमें बिल्कुल भी सामान्य महसूस नहीं कर रहे हैं और पार्टनर के साथ होते हुए भी ख़ुशी का अनुभव ना हो तो यह संकेत है कि रिलेशनशिप को आगे ले जाने से कोई फ़ायदा नहीं होगा।
  7. एक दूसरे का अनादर करना
    किसी भी रिलेशनशिप में अपने साथी की रिस्पेक्ट (respect) करना बहुत ज़रूरी है। एक दूसरे के साथ किये जाने वाले व्यवहार से व्यक्ति के चरित्र और भावनाओं का पता चलता है।
    लेकिन जब साथी एक दूसरे का जाने अनजाने में अनादर करने लगें तो यह समझना लेना आवश्यक है कि रिश्ते में सम्मान कम होने लगा है और रिश्ते को खत्म कर देना ही सही है।
  8. पार्टनर धोखा दे रहा हो लेकिन कोई पछतावा ना हो रहा हो
    अगर आपका साथी आपको काफी बहुत समय से धोखा दे रहा है और इसका उसे थोड़ा भी पछतावा न हो। ऐसे में समझ लेना चाहिए कि उसे आपकी कोई कदर नहीं है। ऐसे में इस रिश्ते से बाहर निकलना ही बेहतर है।
loading image
 

ब्रेकअप के साइड-एफेक्ट्स

Side effects of break up in hindi

rishte tootne ki wajah kaise

loading image

एक अध्ययन में 18- से 35 वर्ष के अविवाहित लोगों को शामिल किया गया था, जिन्होंने लगभग 20 महीने में एक या इससे अधिक ब्रेकअप का सामना किया था। इस अध्ययन के मुताबिक ब्रेकअप के लोगों में मनोवैज्ञानिक संकट में वृद्धि हुई थी और जीवन की संतुष्टि में गिरावट देखने को मिली थी। [2] इस प्रकार से कहा जा सकता है कि ब्रेकअप के कारण इंसान मानसिक रूप से प्रभावित हो जाता है। अलग होना किसी के लिए भी आसान नहीं होता है।

जब किसी का प्यार का रिश्ता खत्म होता है तो उससे जुड़ी भावनाओं और तनाव का हर किसी के शरीर पर अलग-अलग तरह नकारात्मक प्रभाव देखने को मिलते हैं। कई बार रिलेशनशिप में होने वाली ग़लतियाँ भी आपको ब्रेकअप के बाद अफसोस करने पर मजबूर कर सकती हैं। ऐसे में ब्रेकअप के दर्द से बाहर निकलना मुश्किल हो जाता है और इसके दुष्प्रभाव भी दिखने लगते हैं।

ब्रेकअप के साइड-एफेक्ट्स : -

और पढ़ें:अच्छी नींद और मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के लिए आहार
 

पैचअप से पहले रखें इन बातों का ध्यान

Things to keep in mind before patch up in hindi

breakup ke baad khush kaise rahe jane

loading image

कई बार संबंध टूटने के बाद एहसास होता है कि शायद गलती हो गई और अपने रिश्ते को एक मौका और दिया जा सकता था। यह भावना तब भी आती है, जब आपका साथी वापस आ जाता है और माफ़ी मांग लेता है। ऐसे में क्या सही है क्या गलत यह समझना मुश्किल हो जाता है। अगर आप भी ऐसे ही किसी भावना के दौर से गुज़र रहे हैं और पुराने पार्टनर के पास वापस जाने के बारे में विचार कर रहे हैं तो नीचे दी गई बातों का अवश्य ध्यान रखें।

पैचअप से पहले ध्यान रखें : -

  • अपने टूटे रिश्ते को जोड़ने से पहले उससे जुड़े हर अच्छे और बुरे अनुभव को याद कर लेना चाहिए, जिनकी वजह से ब्रेकअप हुआ था (rishte tootne ki wajah)। ईमानदारी के साथ यह सोचना ज़रूरी है कि आपकी भावनाएं सच्ची हैं या फिर सिर्फ कुछ कमजोर पलों की देन हैं। अगर आपकी भावना सच्चे मन से ना आ रही हो तो आगे नही बढ़ना चाहिए।
  • अपने उन अवसाद के पलों को याद कर लेना चाहिए, जिनका सामना ब्रेकअप के बाद आपने अकेले किया था। अगर ऐसा फिर से होता है तो क्या आप उसका सामना कर पाएंगी, इसका उत्तर सोच के ही आगे बढ़ने का निर्णय लेना चाहिए।
  • जब कोई भी संबंध या रिश्ता टूटता है, तो सबसे पहले विश्वास खत्म होता है। इसलिए ऐसा कोई भी फैसला सोच-समझकर ही लेना चाहिए।
  • प्यार के किसी भी रिश्ते में हर चीज़ बहुत अच्छी लगती हैं लेकिन, किसी भी कारण से यही संबंध अगर टूट जाता है, तो आत्मविश्वास भी आहत होता ही है। इसलिए ऐसे विचार मन में कभी ना लाएँ कि आपको कोई और अच्छा साथी नहीं मिल सकता।
  • पुराने साथी के साथ अपने रिश्ते को एक मौका देने से पहले यह ज़रूर विचार कर लें कि पहली बार में ही आपका संबंध टूटा ही क्यों था! अपने लिए अच्छा जीवन चुनना हर एक का हक है और इसलिए एक ऐसा साथी होना ज़रूरी है जो आपका सम्मान करे।
  • टूटे रिश्ते को जोड़ने से पहले एक बार इस बात की पुष्टि कर लें, कि वह सिंगल ही है और आप के मन में उस के लिए सच में दिलचस्पी है।
  • अगर आप अपने पुराने रिश्ते को एक बार फिर से शुरू करने की चाह रख रहे हैं तो सब से पहले उन ग़लतियों को स्वीकार करें, जो पहले आपसे जाने अनजाने हुई थी और उनकी ज़िम्मेदारी भी अपने ऊपर लें।
  • अगर आपका साथी आपसे किसी भी तरह का दुर्व्यवहार करता था, शारीरिक, भावनात्मक या मानसिक, तो उस के साथ एक बार फिर अपने रिश्ते को कायम करने की कोशिश ना करें।


और पढ़ें:अच्छी नींद के लिए घरेलू उपाय
 

निष्कर्ष

Conclusion in hindi

ब्रेकअप क्यों होता है जानें

जब हम किसी इंसान के काफ़ी करीब होते हैं, तब हम उस इंसान से ज़्यादा अपेक्षा करने लगते हैं। इसी कारण कई बार कुछ परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है, जो समय के साथ खुद ही खत्म भी हो जाती हैं। लेकिन, अगर ऐसा किसी रिश्ते में नहीं हो रहा है तो यह मानसिक रूप से नुकसान पहुँचाने के साथ-साथ आपको शारीरिक रूप से कमजोर कर सकता है और आपके अंदर जीने की इच्छा खत्म कर सकता है जिससे आपका भविष्य पूरी तरीके से पलट सकता है।

अपनी जिंदगी में ऐसे संबंध को इतना आगे लेकर जाना की पीछे देखने का अवसर ना मिले से बेहतर है कि सही दिशा में कदम उठाए जाएँ और ऐसे रिश्ते में पछतावा झेलने से बेहतर है इसे खत्म करके आगे बढ़ जाना।

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

references

संदर्भ की सूचीछिपाएँ

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 10 Sep 2020

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

तनाव के कारण, लक्षण, प्रकार, बचाव और उपचार

तनाव के कारण, लक्षण, प्रकार, बचाव और उपचार

10 भारतीय मशहूर हस्तियां जो हुए थे एंग्जायटी या अवसाद के शिकार

10 भारतीय मशहूर हस्तियां जो हुए थे एंग्जायटी या अवसाद के शिकार

बेचैनी के कारण रात को नींद ना आए तो क्या करें

बेचैनी के कारण रात को नींद ना आए तो क्या करें

जानें पैरों की थकान दूर करने के उपाय

जानें पैरों की थकान दूर करने के उपाय

अचानक घबराहट होना - कारण, लक्षण और उपचार

अचानक घबराहट होना  -  कारण, लक्षण और उपचार
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad