महिलाओं में चरमसुख

Female Orgasm in hindi

mahilao mein oragasm ya charam sukh ki jankari in hindi, ऑर्गेज्म पाने के उपाय,चरम सुख पाने के तरीके, चरम सुख की प्राप्ति, महिलाओं को ऑर्गेज्म कैसे प्राप्त करें,चरम सुख कैसे प्राप्त करें


Introduction

महिलाओं_में_चरमसुख__mahilao_me_charamsukh_in_hindi

सेक्स (sex) को सफल वैवाहिक जीवन का आधार माना जाता है और इसके साथ साथ थकान, तनाव और कई अन्य रोगों से भी शरीर को मुक्त रखता है।

सेक्स के दौरान महसूस होने वाले चरम सुख को ऑर्गेज्म (orgasm) कहते है। ऑर्गेज्म वैवाहिक जीवन को सफल बनाने में अहम भूमिका निभाता है।

इसी तरह सेक्स या हस्तमैथुन (masturbation) के दौरान चरमसुख या ऑर्गेज्म (orgasm) का अनुभव करना पुरुष एवं महिला दोनों के लिए ही ज़रूरी माना जाता है क्योंकि चरमसुख यौन संतुष्टि (sexual satisfaction) और सुखद सेक्स का अहसास दिलाता है।

तो चलिए हम ऑर्गेज्म के बारे बात करते हैं कि ऑर्गेज्म वास्तव में क्या होता और इसे पाने के उपाय क्या होते हैं।

loading image

इस लेख़ में

 

ऑर्गेज्म (चरम सुख) क्या है?

What is orgasm in hindi

charam sukh kya hai in hindi, charam sukh ki prapti kaise kare, चरम सुख की प्राप्ति, what is charam sukh, चरम सुख क्या होता है

चरम सुख (orgasm) वो स्थिति होती है जब सेक्स करते वक़्त या हस्तमैथुन के समय उत्तेजना अपने चरम (peak) पर पहुँच जाती है।

ऑर्गेज्म या चरमसुख सेक्स का आखिरी चरण होता है और इसका अनुभव कर लेने पर ही महिलाओं को यौन क्रिया से सही मायनों में आनंद एवं संतुष्टि प्राप्त हो पाता है।

सिर्फ महिलायें ही नहीं पुरुष भी सेक्स के दौरान ऑर्गेज्म का अनुभव करते हैं।

ऑर्गेज्म एक शारीरिक रिफ्लेक्स है, जो यौन उत्तेजना के माध्यम से लाया जाता है। उत्तेजना सामान्य रूप सबसे अधिक क्लाइटोरिस जो योनि का भाग है उसमे उत्पन्न होती है, क्लाइटोरिस योनि में सबसे संवेदनशील अंग है।

सेक्स के दौरान शरीर द्वारा जारी हार्मोन और अन्य रसायनों के कारण ऑर्गेज्म से कई संभावित स्वास्थ्य लाभ होते हैं।

सेक्स के दौरान, एंडोर्फिन (endorphin) नामक केमिकल आपके रक्तप्रवाह में जारी किए जाते हैं और ये रसायन आपको खुशी,निस्तब्ध, गर्म या नींद का एहसास करा सकते हैं।

ऑर्गेज्म के दौरान महिलायें योनि के में चरम सुख का अनुभव करती हैं और उनके योनि और मूत्रमार्ग में स्थित ग्रंथियो से कुछ लिक्विड जैसे पदार्थ का इजाकुलेशन होता है।

अलग-अलग लोग विभिन्न यौन क्रियाओं से उत्तेजित होते हैं। कुछ महिलाओं को योनि संभोग के लिए और चरम सुख प्राप्त करने के अतिरिक्त उत्तेजना की आवश्यकता हो सकती है।

loading image
 

फीमेल ऑर्गेज्म क्या है?

What is female orgasm in hindi

mahilao mein charam sukh kya hota hai in hindi, चरम सुख

पुरुष-प्रधान संस्कृति महिला के ऑर्गेज्म को गलत समझा जाता है और कई गलत मिथक बनाये जाते हैं। परन्तु फीमेल ऑर्गेज्म एक नेचुरल प्रक्रिया है जो पुरुषों के साथ साथ स्त्रियों मे भी होना स्वाभाविक बात है।

फीमेल ऑर्गेज्म या महिला चरमसुख वह है, जब सेक्स या हस्तमैथुन की प्रक्रिया के दौरान उत्तेजना (excitement) बढ़ने का अहसास होने लगता है और एक ऐसी स्थिति आती है जब यौन क्रिया से सबसे अधिक आनंद पहुँचता है।

इसी ‘ऑर्गेज्मिक मूमेंट’ (orgasmic moment) में यौन अंगों में कॉन्ट्रैक्शन (sex organs contraction) होने से महिलाएं चरमसुख का अनुभव करती हैं।

चरमसुख या क्लाइमेक्स (climax) पर पहुँचने के बाद महिलाओं में भी काफी हद तक पुरुषों के समान ही वीर्य स्खलित (ejaculation) होता है।

और पढ़ें:अजवाइन, प्याज़ एवं लहसुन बढ़ाते है यौन इच्छा
 

चरम सुख के दौरान क्या होता है?

What causes a female orgasm in hindi

mahilao mein orgasm ke doran kya hota hai in hindi, चरम सुख की प्राप्ति, चरम सुख कैसे प्राप्त करे

पुरूष और महिला दोनों के लिए उत्तेजित होने के लिए ये प्रक्रिया मस्तिष्क से शुरू होती है।

सेक्स दौरान के आपका शरीर भी आपको अच्छा महसूस कराने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा होता है, आपका मस्तिष्क शरीर में ऑक्सीटोसिन और डोपामाइनट्रस्ट हॉर्मोन को रिलीज़ करता है जो निकटता, सहानुभूति और खुशी की भावनाओं में योगदान देता है।

महिलाओं मे चरम सुख का आनंद लेना उत्तेजित होना पुरुषों की तुलना में उतना आसान नहीं होता है, इसलिए थोड़ा ज्यादा प्रयास करने की आवश्यकता होती है।

महिला को उत्तेजित होने के लिए क्लिटोरिस और वैजाइनल स्टिमुलेशन की ज़रूरत होती है। सेक्स या हस्तमैथुन के दौरान जब महिला ऑर्गेज्म का अनुभव करने लगती है तो उनके दिल की धड़कन (heart beat) तेज हो जाती है।

सम्भोग के समय चरमसुख का अनुभव होने के साथ ही महिलाओं के जननांगों की माँसपेशियों (genital muscles) में संकुचन (contraction) होता है और योनि (vagina) से चिपचिपा तरल पदार्थ बाहर निकलता है और इसी के साथ यौन उत्तेजना कम हो जाती है।

ऑर्गेज्म के समय जब महिलाओं की योनी से तरल पदार्थ निकलता है, उस समय यौन उत्तेजना चरम पर होती है।

यदि कोई स्त्री ज्यादा समय तक उत्तेजना को महसूस करती है तो वह चरम सुख का आनंद कई बार ले सकती हैं।

loading image
 

अधिक चरम सुख कैसे पाएं?

How to reach orgasms in hindi

mahilao ko charam sukh pane ke liye kya kare in hindi, ऑर्गेज्म कैसे प्राप्त करें,चरम सुख कैसे प्राप्त करें, चरम सुख की प्राप्ति

सभी महिलाएं यौन क्रिया के समय चरम सुख का अनुभव नहीं कर पाती हैं।

एक स्टडी में भी पाया गया है कि लगभग 11 से 41 प्रतिशत महिलायें ही सेक्स के दौरान चरम सुख का आनंद ले पाती हैं।

लेकिन कुछ तरीकों से चरम सुख का आनंद प्राप्त किया जा सकता है : -

  1. महिलाओं को अपने साथी के साथ सेक्सुअल इंटरकोर्स (sexual intercourse) के समय ऑर्गेज्म की प्राप्ति के लिए थोड़ी देर तक फोरप्ले (foreplay) करना चाहिए।
  2. हॉर्मोन्स एंड बिहेवियर जर्नल में एक अध्ययन से पता चलता है कि "लव ड्रग" ऑक्सीटोसिन में वृद्धि से जोड़ों को अधिक गहन सेक्स करने में मदद मिली है।
  3. हालांकि गले मिलना, चुंबन इन शारीरिक गतिविधियों से सेक्स से पहले एक दूसरे के साथ अधिक बॉन्डिंग टाइम बिताए और अपने फोरप्ले सेशन का विस्तार करें।
  4. इन विविध गतिविधियों से महिलाएं अपने पार्टनर के साथ बॉन्डिंग निर्माण करके ऑर्गेज्म का चरमसुख प्राप्त कर सकती है।
  5. चरमसुख को अनुभव करने के लिए खान-पान पर ख़ास ध्यान देना चाहिए और इसलिए महिलाओं को सेक्स की इच्छा बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ खाने चाहिए।
  6. इसमें अवाकाडो, शिमला मिर्च, शेलफिश, चॉकलेट जैसे पदार्थ शामिल है।
  7. महिलाएं अपनी योनि (vagina) को उत्तेजित करके चरमसुख का अनुभव कर सकती हैं। महिला के प्राइवेट पार्ट्स को सहलाने या छूने से उनका शरीर रिएक्ट (react) करता है।
  8. महिलाओं में क्लाइटोरिस जो योनि के आंतरिक होंठ माने जाते है के सेहलाके उत्तेजित करना, कुछ महत्वपूर्ण खुशी जगा सकता है। इस वजह से सेक्स के पोजीशन पर ध्यान केंद्रित करें जो महिलाओं को सीधे उत्तेजित करे।
  9. सेक्स के दौरान कमरे का वातावरण रोमांटिक, कूल और खुशनुमा बनाये। मसाज, रोमांटिक बातें करने से भी ऑर्गेज्म तक पहुँचा जा सकता है।
  10. कई बार महिलाएं प्रेग्नेंट होने के डर से ऑर्गेज्म से वंचित रहती हैं। इसके बजाय प्रेग्नेंसी (pregnancy) से बचने के तरीके अपनाएं। जैसे की गर्भनिरोधक गोलियां, कंडोम, इंट्रा यूटेरियन डिवाइस का इस्तेमाल करे।
  11. ऑर्गेज्म का अनुभव करने के लिए सेक्स करते समय जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए। अगर जल्दबाजी करेंगे तो महिलोंमे ऑर्गेज्म तक पहुंचना संभव नहीं होता।
  12. 35 वर्ष से अधिक उम्र होने पर महिलाओं को लुब्रिकेशन (lubrication) के लिए बेहतर क्वालिटी (quality) का लुब्रिकेशन (lubrication) यूज करें। जैसे वैजिनल वाटर बेस्ड लुब्रीकेंट जो बाजार में सरलता से उपलब्ध होते हैं। जो सेक्स के दौरान एक उत्तेजक का काम करते हैं।
और पढ़ें:ओरल सेक्स दे सकता है कई बिमारियों को न्योता
 

महिलाओं में चरमसुख के प्रकार

Types of female orgasm in hindi

mahilao mein oragasm kitne parakar ka hota hai in hindi, charam sukh ke prakar, चरम सुख कैसे लाये, चरम सुख की प्राप्ति

महिलाओं में मुख्य रूप से पांच तरीके के चरमसुख देखने को मिलते हैं जिनसे जुड़े अनुभव सभी के लिए अलग अलग होते हैं:

  • क्लाईटोरल ओर्गाज्म (Clitoral orgasm)

क्लिटोरल ऑर्गेज्म सबसे प्रसिद्ध है। क्लाइटोरिस में रक्त वाहिनियोंका बंडल होता है। क्लाइटोरिस योनी के सामने स्थित होता है।

क्लाइटोरिस पुरुष के पेनिस की तरह होता है महिलायें जब ज्यादा एक्ससिटेड हो जाती है तब यह सूज जाएगा, बड़ा हो जाएगा और अधिक संवेदनशील हो जाएगा।

इस चरमसुख का अनुभव शरीर की सतह पर ही होता है, उदाहरण के लिए, त्वचा।

  • वेजाइनल ओर्गाज्म (Vaginal orgasm)

योनि-उत्तेजित सेक्स केवल योनि को जानबूझकर उत्तेजित करके निर्माण होता है। इस चरमसुख का अनुभव शरीर के अंदरूनी हिस्सों में होता है जिसके चलते वेजाइना में सेंसेशन (sensation) होते हैं।

एक अध्ययन में यह साबित हुआ है की, लगभग 5 में से 1 महिलाओं में क्लिटोरल उत्तेजना के बिना योनि उत्तेजना से ऑर्गेज्म हुआ।

  • एनल ओर्गाज्म (Anal orgasm)

योनि में रक्त सप्लाई करने वाली नर्व एनल तक जाती है। इस वजह से अगर आप एनल रीजन पे उत्तेजना देते हो तो क्लाइटोरिस भी उत्तेजित होता है और आपको ऑर्गेज्म का चरमसुख प्राप्त होता है।

एनल ओर्गाज्म से चरमसुख के दौरान पेशाब करने की इच्छा हो सकती है, परन्तु सकुंचन (contraction) यौन अंगों में नहीं होता है बल्कि एनल स्फिन्क्टर (anal sphincter) में होता है।

  • कॉम्बो ओर्गाज्म (Combo orgasm)

कॉम्बो संभोग सुख प्राप्त करने के लिए, एक ही समय में क्लिटोरल और योनि में उत्तेजना निर्माण करना जरुरी है। यह महिलाओं में ओर्गाज्म को प्राप्त करने का सबसे सामान्य तरीका भी है।

जब जी-स्पॉट (g-spot) स्कैन ग्रंथियां/ एवं क्लाईटोरिस (clitoris) एक साथ उत्तेजित होते हैं तब महिलाओं को एक अलग तरीके का अनुभव होता है।

  • एरोगेनस ओर्गाज्म (Erogenous orgasm)

महिलाओं मे कान, निपल्स, गर्दन, कोहनी, घुटनों को चूमा और सहला ने द्वारा भी अच्छे यौन आनंद की प्राप्ति की जा सकती है।

शरीर के सेंसिटिव रीजन और अंग जैसे कान, निपल्स, गर्दन, कोहनी, ओंठ घुटनों को एरोगेनस झोन कहा जाता है।

loading image
 

महिलाओं के लिए ऑर्गेज्म पाने के तरीके

How can female reach orgasm in hindi

kin tariko se mahilao ko charam sukh prapt karaye in hindi, महिलाओं में ऑर्गेज्म, महिला ऑर्गेज्म

यहां महिला को मूड में लाने और ऑर्गेज्म पाने के लिए कुछ सुझाव दिए गए हैं : -

  • यौन इच्छा को समझे

ऑर्गेज्म के लिए सेक्स के बारे में अपनी इच्छाओं और भावनाओं को समझना भी जरूरी होता है।

यौन संबंधों के लिए क्या सही और हेल्दी है इस पर अपने साथी से बात करनी चाहिए।

सेक्स से होने वाले रोग, परिवार नियोजन के तरीकों जैसे गर्भनिरोधक गोलियाँ और महिला कंडोम आदि के बारे में जानना, साथ ही गर्भधारण के लिए यौन संबंध और सुख के लिए किये जाने वाले सेक्स को समझना चाहिए।

  • खुद की इच्छा को समझने के लिए खुद को स्पर्श करें

स्वयं को कैसा स्पर्श अच्छा लगता है यह जानने के लिए खुद को स्पर्श करना चाहिए।

यह संभोग के समय ऑर्गेज्म पाने के लिए बहुत जरूरी है।

जब महिलाएं पहली बार सेक्स करती हैं और चरम सुख का अनुभव करना चाहती हैं तो यह पता होना जरूरी होता है कि कहाँ-कहाँ छूने से उन्हें अच्छा लगता है।

अपने इरोजेनस ज़ोन को खोजने का सबसे अच्छा तरीका यह है की एक पंख या किसी अन्य हल्के बाहरी वस्तु का स्पर्श अपने शरीर के विविध अंगों को करे और ध्यान दें कि आपको सबसे अधिक खुशी कहां महसूस होती है।

  • फोरप्ले पर अधिक समय बिताएं

महिलाओं को उत्तेजित होने और ऑर्गेज्म के लिए उत्सुक बनने के लिए शारीरिक और भावनात्मक उत्तेजना की बहुत आवश्यकता होती है।

वास्तव में, फोरप्ले सेक्स होने से घंटों पहले शुरू हो सकता है। फोरप्ले हर मिनट को महिलाओं को संभोग के लिए तैयार करता है।

  • मानसिक रूप से उत्तेजित करें

कुछ महिलाओं के लिए, मानसिक उत्तेजना शारीरिक उत्तेजना के समान ही महत्वपूर्ण है।

कई महिलाओं के लिए, निकटता और भावनात्मक अंतरंगता बेहतर सेक्स का अनुभव और ऑर्गेज्म का सुख पाने का कारण बन सकती है।

महिलाोंको बात करना पसंद होता है अगर आप सेक्स करते समय बात करे तो उन्हें खुलने और इंटिमेट होने में मदद होती है।

  • महिला के अनुकूल यौन स्थितियों का प्रयास करें

महिलाओं मे ऑर्गेज्म सुख पाने के लिए सबसे अच्छी सेक्स पोजीशन वह है जिसमें क्लाइटोरिस को अधिकतम उत्तेजना प्रदान होती है।

ऑर्गेज्म प्राप्त करने में वीमेन ऑन टॉप पोजीशन सबसे अधिक उत्तेजना प्रदान करती है।

loading image
 

चरम सुख न प्राप्त होने के कारण

Why sometimes women can not reach climax in hindi

mahilao mein charam sukh prapt na hone ke karan in hindi

महिलाओं को ऑर्गेज्म या चरम सुख की प्राप्ति न होने के पीछे कई शारीरिक, मानसिक और मनोवैज्ञानिक कारण (psychological factor) जिम्मेदार होते हैं।

चरम सुख न प्राप्त होने के कारण निम्न हो सकते हैं : -

  1. मधुमेह (diabetes) के लिए किसी प्रकार की दावा लेने वाली स्त्रियों में आम तौर से यौन क्रिया के दौरान चरम सुख का अनुभव करने की संभावना कम हो जाती है।
  2. जो महिला डिप्रेशन की दवा (anti-depressants) ले रही होती हैं तो उन महिलाओं को चरमसुख तक पहुँचने में परेशानी का सामना करना पड़ता है।
  3. अगर कोई भी महिला काफी लम्बे वक़्त तक तनाव ग्रस्त रहती है तो उसे सम्भोग क्रिया से चरम सुख मिलने की संभावना कम हो जाती है।
  4. यदि किसी महिला को मानसिक रोग (mental problem) हो तो उसे ओर्गाज्म की प्राप्ति नहीं होती है।
  5. महिला का सेक्स करने का मन न होने पर भी ज़बरदस्ती सेक्स करने की कोशिश करती है तो उसे ऑर्गेज्म का अनुभव नहीं हो सकता है।
  6. यदि महिला शर्म की वजह से अपने साथी को यह नहीं बता पाती है कि उसे सेक्स करने का तरीका ठीक नहीं लग रहा है और उसे सेक्स में मजा नहीं आ रहा है तो इसके चलते भी उसे चरमसुख की प्राप्ति नहीं होती है।
  7. उम्र बढ़ने के साथ सेक्स करने की इच्छा कम होने लगती है जिसके कारण महिलाएं चरमोत्कर्ष तक नहीं पहुँच पाती।
  8. स्त्रियों में यौन संबंधित बिमारियों की वजह से भी सेक्स के दौरान चरम सुख प्राप्त नहीं हो पाता है। अगर महिला को अपनी ऐसी किसी बीमारी के बारे में मालूम चल जाये तो उसे चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए।
  9. जब महिला को रात में सही तरीके से नींद नहीं आती है और सुबह कच्ची नींद में उठती है तो उसे ऑर्गेज्म का अनुभव करने में समस्या हो सकती है।
  10. धूम्रपान (smoking) और एल्कोहल (alcohol) का सेवन महिलाओं में चरमसुख को प्रभावित करता है। इस वजह से ऑर्गेज्म पाने में कठिनाई आती है।
  11. रजोनिवृत्ति (menopause), सेक्स से डर, पहले का कोई खराब यौन अनुभव, आपसी रिश्तों का अच्छा न होना भी चरम सुख पाने में बाधक हो सकते हैं।
  12. सेक्स करते समय योनि में लुब्रिकेशन लिक्विड का अच्छे से स्त्राव न होने से लगभग एक चौथाई महिलाओं को ऑर्गेज्म तक पहुंचने में कठिनाई होती है।

इससे छुटकारा पाने के लिए महिलायें आर्टिफीसियल लुब्रीकेंट का इस्तेमाल कर सकती है।

जो योनि को ड्राई नहीं होने देता और ऑर्गेज्म प्राप्त करने में मदद करता है।

अगर महिलायें सेक्स से पहले पेशाब करना भूल जाये तो वह सेक्स करने में अपना पूरा ध्यान नहीं दे पाती और लगातार पेशाब करने का दबाव महसूस करती है।

इस वजह से सेक्स के पहले पेशाब करना और अपना ब्लैडर खाली करना जरुरी है। महिलाओं में चरमसुख का अनुभव को प्राप्त करना थोड़ा मुश्किल होता है परन्तु यौन क्रिया (sex) का पूरा आनंद मिलना एक अच्छे यौन जीवन के लिए बहुत ज़रूरी है।

इसके लिए महिलाओं को खुद की इच्छाओं को समझना चाहिए और अपने साथी से इस बारे में बात भी करनी चाहिए ताकि इस अनुभव को पूरे तरीके से प्राप्त कर सके।

साथ ही, यदि ओर्गाज्म का आनंद लेने में ज्यादा परेशानी होती है तो डॉक्टर से अवश्य परामर्श लेना चाहिए और अपनी जीवनशैली पर ध्यान देना चाहिए

और पढ़ें:कंडोम मिथक: अधिक सुरक्षा के लिए मेल और फ़ीमेल कंडोम एक-साथ इस्तेमाल करने चाहिए
 

निष्कर्ष

Conclusionin hindi

चरम सुख की प्राप्ति, चरम सुख

यौन प्रक्रिया का अंतिम चरण चरमसुख की प्राप्ति या ओर्गाज्म होता है जिसका अनुभव करने में पुरुषों की तुलना में महिलाओं को अधिक समय लगता है।

लेकिन चरमसुख प्राप्त करना एक स्वस्थ सेक्स लाइफ के लिए महत्वपूर्ण है इसलिए महिलाओं को अपने ओर्गाज्म के बारे में जानकारी होना ज़रूरी है।

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 22 Apr 2020

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

कंडोम मिथक: कंडोम का प्रयोग असुविधाजनक और कठिन होता है

कंडोम मिथक: कंडोम का प्रयोग असुविधाजनक और कठिन होता है

महिलाओं के लिए चरम सुख के फायदे

महिलाओं के लिए चरम सुख के फायदे

कंडोम मिथक: अधिक सुरक्षा के लिए मेल और फ़ीमेल कंडोम एक-साथ इस्तेमाल करने चाहिए

कंडोम मिथक: अधिक सुरक्षा के लिए मेल और फ़ीमेल कंडोम एक-साथ इस्तेमाल करने चाहिए

क्या हर महिला का हाइमन अलग-अलग दिखता है

क्या हर महिला का हाइमन अलग-अलग दिखता है

सामान्य योनि स्राव और असामान्य योनि स्राव में क्या अंतर है

सामान्य योनि स्राव और असामान्य योनि स्राव में क्या अंतर है
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad