महिलाओं में चरमसुख

महिलाओं में चरमसुख

Female orgasm in hindi

mahilao mein oragasm ya charam sukh ki jankari in hindi

सेक्स (Sex) को सफल वैवाहिक जीवन का आधार माना जाता है और इसके साथ साथ थकान, तनाव और कई अन्य रोगों से भी शरीर को मुक्त रखता है।

इसी तरह सेक्स या हस्तमैथुन (Masturbation) के दौरान चरमसुख या ऑर्गेज्म (Orgasm) का अनुभव करना पुरुष एवं महिला दोनों के लिए ही ज़रूरी माना जाता है क्योंकि चरमसुख यौन संतुष्टि (Sexual satisfaction) और सुखद सेक्स का अहसास दिलाता है।

क्या है ऑर्गेज्म

What is orgasm in hindi

charam sukh kya hai in hindi

चरम सुख (Orgasm) वो स्थिति होती है जब सेक्स करते वक़्त या हस्तमैथुन के समय उत्तेजना अपने चरम (Peak) पर पहुँच जाती है।

ऑर्गेज्म या चरमसुख सेक्स का आखिरी चरण होता है और इसका अनुभव कर लेने पर ही महिलाओं को यौन क्रिया से सही मायनों में आनंद एवं संतुष्टि प्राप्त हो पाता है।

क्या है फीमेल ऑर्गेज्म

What is female orgasm in hindi

mahilao mein charam sukh kya hota hai in hindi

फीमेल ऑर्गेज्म या महिला चरमसुख वह है, जब सेक्स या हस्तमैथुन की प्रक्रिया के दौरान उत्तेजना (excitement) बढ़ने का अहसास होने लगता है और एक ऐसी स्थिति आती है जब यौन क्रिया से सबसे अधिक आनंद पहुँचता है।

इसी ‘ऑर्गेज्मिक मूमेंट’ (Orgasmic moment) में यौन अंगों में कॉन्ट्रैक्शन (Sex organs contraction) होने से महिलाएं चरमसुख का अनुभव करती हैं।

चरमसुख या क्लाइमेक्स (climax) पर पहुँचने के बाद महिलाओं में भी काफी हद तक पुरुषों के समान ही वीर्य स्खलित (Ejaculation) होता है।

चरम सुख के दौरान क्या होता है

What happens during an orgasm in hindi

mahilao mein orgasm ke doran kya hota hai in hindi

सेक्स या हस्तमैथुन के दौरान जब महिला ऑर्गेज्म का अनुभव करने लगती है तो उनके दिल की धड़कन (Heart beat) तेज हो जाती हैं।

सम्भोग के समय चरमसुख का अनुभव होने के साथ ही महिलाओं के जननांगों की माँसपेशियों (Genital muscles) में संकुचन (Contraction) होता है और योनि (Vagina) से चिपचिपा तरल पदार्थ बाहर निकलता है और इसी के साथ यौन उत्तेजना कम हो जाती है।

ऑर्गेज्म के समय जब महिलाओं की योनी से तरल पदार्थ निकलता है, उस समय यौन उत्तेजना चरम पर होती है।

यदि कोई स्त्री ज्यादा समय तक उत्तेजना को महसूस करती है तो वह चरम सुख का आनंद कई बार ले सकती है।

अधिक चरम सुख कैसे पाएं

How to have more orgasms in hindi

mahilao ko charam sukh pane ke liye kya kare in hindi

सभी महिलाएं यौन क्रिया के समय चरम सुख का अनुभव नहीं कर पाती हैं।

एक स्टडी में भी पाया गया है कि लगभग 11 से 41 प्रतिशत महिलायें ही सेक्स के दौरान चरम सुख का आनन्द ले पाती हैं।

लेकिन कुछ तरीकों से चरम सुख का आनंद प्राप्त किया जा सकता है:

  1. महिलाओं को अपने साथी के साथ सेक्सुअल इंटरकोर्स (Sexual intercourse) के समय ऑर्गेज्म की प्राप्ति के लिए थोड़ी देर तक फोरप्ले (Foreplay) करना चाहिए ।

  2. चरमसुख को अनुभव करने के लिए खानपान पर ख़ास ध्यान देना चाहिए और इसलिए महिलाओं को सेक्स की इच्छा बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ खाने चाहिए।

  3. महिलाएं अपनी योनी (Vagina) को उत्तेजित करके चरमसुख का अनुभव कर सकती हैं। महिला के प्राइवेट पार्ट्स को सहलाने या छूने से उनका शरीर रिएक्ट (react) करता है।

  4. सेक्स के दौरान कमरे का वातावरण रोमांटिक, कूल और खुशनुमा बनाये। मसाज, रोमांटिक बातें करने से भी ऑर्गेज्म तक पहुँचा जा सकता है।

  5. कई बार महिलाएं प्रेग्नेंट होने के डर से ऑर्गेज्म से वंचित रहती हैं। इसके बजाय प्रेग्नेंसी (pregnancy) से बचने के तरीके अपनाएं।

  6. ऑर्गेज्म का अनुभव करने के लिए सेक्स करते समय जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए।

  7. 35 वर्ष से अधिक उम्र होने पर महिलाओं को लुब्रिकेशन (lubrication) के लिए बेहतर क्वालिटी (quality) का लुब्रिकेशन (lubrication) यूज करें।

महिलाओं में चरमसुख के प्रकार

Types of orgasms in females in hindi

mahilao mein oragasm kitne parakar ka hota hai in hindi

महिलाओं में मुख्य रूप से पांच तरीके के चरमसुख देखने को मिलते हैं जिनसे जुड़े अनुभव सभी के लिए अलग अलग होते हैं:

  1. क्लाईटोरल ओर्गाज्म (Clitoral orgasm)

    इस चरमसुख का अनुभव शरीर की सतह पर ही होता है, उदाहरण के लिए, त्वचा।

  2. वेजाइनल ओर्गाज्म (Vaginal orgasm)

    इस चरमसुख का अनुभव शरीर के अंदरूनी हिस्सों में होता है जिसके चलते वेजाइना में सेंसेशन (sensation) होते हैं।

  3. एनल ओर्गाज्म (Anal orgasm)

    चरमसुख के दौरान पेशाब करने की इच्छा हो सकती है, परन्तु सकुंचन (contraction) यौन अंगों में नहीं होता है बल्कि एनल स्फिन्क्टर (anal sphincter) में होता है।

  4. कॉम्बो ओर्गाज्म (Combo orgasm)

    जब जी-स्पॉट (G-spot) एवं क्लाईटोरिस (clitoris) एक साथ उत्तेजित होते हैं तब महिलाओं को एक अलग तरीके का अनुभव होता है।

  5. एरोगेनस ओर्गाज्म (Erogenous orgasm)

    कान, गर्दन, कोहनी एवं घुटनों के द्वारा भी अच्छे यौन आनंद की प्राप्ति की जा सकती है।

महिलाओं के लिए ऑर्गेज्म पाने के तरीके

Ways to obtain orgasms in women in hindi

kin tariko se mahilao ko charam sukh prapt karaye in hindi

  1. यौन इच्छा को समझे

    ऑर्गेज्म के लिए सेक्स के बारे में अपनी इच्छाओं और भावनाओं को समझना भी जरूरी होता है।

    यौन संबंधों के लिए क्या सही और हेल्दी (healthy) है इस पर अपने साथी से बात करनी चाहिए।

    सेक्स से होने वाले रोग, परिवार नियोजन के तरीकों जैसे गर्भनिरोधक गोलियाँ और महिला कंडोम आदि के बारे में जानना, साथ ही गर्भधारण के लिए यौन संबंध और सुख के लिए किये जाने वाले सेक्स को समझना चाहिए।

  2. खुद की इच्छा को समझने के लिए खुद को स्पर्श करें

    स्वयं को कैसा स्पर्श अच्छा लगता है यह जानने के लिए खुद को स्पर्श करना चाहिए।

    यह संभोग के समय आन्नद पाने के लिए बहुत जरूरी है।

    जब महिलाएं पहली बार सेक्स करती हैं और चरम सुख का अनुभव करना चाहती हैं तो यह पता होना जरूरी होता है कि कहाँ-कहाँ छूने से उन्हें अच्छा लगता है।

चरम सुख न प्राप्त होने के कारण

Causes of not being able to have orgasm in hindi

mahilao mein charam sukh prapt na hone ke karan in hindi

महिलाओं को ऑर्गेज्म की प्राप्ति न होने के पीछे कई शारीरिक, मानसिक और मनोवैज्ञानिक कारण (Psychological factor) जिम्मेदार होते हैं।

  1. मधुमेह (Diabetes) के लिए किसी प्रकार की दावा लेने वाली स्त्रियों में आम तौर से यौन क्रिया के दौरान चरम सुख का अनुभव करने की संभावना कम हो जाती है।

  2. जो महिला डिप्रेशन की दवा (Anti-Depressants) ले रही होती हैं तो उन महिलाओं को चरमसुख तक पहुँचने में परेशानी का सामना करना पड़ता है।

  3. अगर कोई भी महिला काफी लम्बे वक़्त तक तनावग्रस्त रहती है तो उसे सम्भोग क्रिया से चरम सुख मिलने की संभावना कम हो जाती है।

  4. यदि किसी महिला को मानसिक रोग (Mental problem) हो तो उसे ओर्गाज्म की प्राप्ति नहीं होती है।

  5. महिला का सेक्स करने का मन न होने पर भी जबरदस्ती सेक्स करने की कोशिश करती है तो उसे ऑर्गेज्म का अनुभव नहीं हो सकता है

  6. यदि महिला शर्म की वजह से अपने साथी को यह नहीं बता पाती है कि उसे सेक्स करने का तरीका ठीक नहीं लग रहा है और उसे सेक्स में मजा नहीं आ रहा है तो इसके चलते भी उसे चरमसुख की प्राप्ति नहीं होती है।

  7. उम्र बढ़ने के साथ सेक्स करने की इच्छा कम होने लगती है जिसके कारण महिलाएं चरमोत्कर्ष तक नहीं पहुँच पाती।

  8. स्त्रीओं में यौन संबंधित बिमारियों (Sexual problems) की वजह से भी सेक्स के दौरान चरम सुख प्राप्त नहीं हो पाता है। अगर महिला को अपनी ऐसी किसी बीमारी के बारे में मालूम चल जाये तो उसे चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए।

  9. जब महिला को रात में सही तरीके से नींद नहीं आती है और सुबह कच्ची नींद में उठती है तो उसे ऑर्गेज्म का अनुभव करने में समस्या हो सकती है।

  10. धूम्रपान (Smoking) और एल्कोहल (Alcohol) का सेवन महिलाओं में चरमसुख को प्रभावित करता है।

  11. रजोनिवृत्ति (Menopause), सेक्स से डर (Fear of sex), पहले का कोई खराब यौन अनुभव, आपसी रिश्तों का अच्छा न होना भी चरम सुख पाने में बाधक हो सकते हैं।

महिलाओं में चरमसुख का अनुभव को प्राप्त करना थोडा मुश्किल होता है परन्तु यौन क्रिया(Sex) का पूरा आनंद मिलना एक अच्छे यौन जीवन के लिए बहुत ज़रूरी है।

इसके लिए महिलाओं को खुद की इच्छाओं को समझना चाहिए और अपने साथी से इस बारे में बात भी करनी चाहिए ताकि इस अनुभव को पूरे तरीके से प्राप्त कर सके।

साथ ही, यदि ओर्गाज्म का आनंद लेने में ज्यादा परेशानी होती है तो डॉक्टर से अवश्य परामर्श लेना चाहिए और अपनी जीवनशैली पर ध्यान देना चाहिए।

सारांश

Summary in hindi

saransh in hindi

यौन प्रक्रिया का अंतिम चरण चरमसुख की प्राप्ति या ओर्गाज्म होता है जिसका अनुभव करने में पुरुषों की तुलना में महिलाओं को अधिक समय लगता है।

लेकिन चरमसुख प्राप्त करना एक स्वस्थ सेक्स लाइफ के लिए महत्वपूर्ण है इसलिए महिलाओं को अपने ओर्गाज्म के बारे में जानकारी होना ज़रूरी है।

zealthy contact

कॉल

zealthy whatsapp contact

व्हाट्सप्प

book appointment

अपॉइंटमेंट बुक करें