निप्पल की समस्याएँ

निप्पल की समस्याएँ

Nipple Problems in hindi

breast nipple se judi samasya in hindi

निप्पल शरीर का एक ऐसा हिस्सा है जिसके बारे में बहुत कम बात किया जाता है, पर निप्पल का स्वस्थ होना आपके स्वास्थ्य के लिए भी काफी जरूरी है।

स्त्री और पुरुष दोनों के शरीर का अभिन्न अंग। पर स्त्री शरीर में इसकी महत्ता अधिक होती है।

स्तन के केंद्र में निप्पल स्थित होता है जो की एरोला से घिरा होता है। इसे हिंदी में चुचुक या चुसनी के नाम से भी जाना जाता है।

निप्पल द्वारा बच्चों को पोषण मिलता है। इसलिए शरीर के इस अंग की अनदेखी नहीं करना चाहिए।

निप्पल की समस्या के लक्षण

Symptoms of Nipple problems in hindi

nipple se judi samsayo ke lakshan in hindi

  1. निप्पल से रिसाव (Nipple Discharge)

    अगर आप गर्भावस्था या स्तनपान कराने के दौर में नहीं हैं, और आपके निप्पल से रिसाव हो रहा है तो ये चिंता का विषय है।

    निप्पल से गाढ़े हरे रंग का, दूधिया, सफ़ेद पस, या खुनी रिसाव के लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। ये स्तन कैंसर का लक्षण भी हो सकता है।

  2. निप्पल में खुजली (Itching in nipple)

    अगर आपके निप्पल में लगातार खुजली की समस्या है तो ये भी निप्पल की समस्या की ओऱ इशारा करते हैं।

  3. निप्पल में क्रैक और खून निकलना (Nipple cracking and bleeding)

    कई बार कपडे की रगड़ से भी निप्पल में क्रैक और खून निकलने जैसी समस्या देखने को मिलती है।

    यह समस्या एथलिट (Athletes) में ज्यादा देखने को मिलती है। जब भी ऐसी समस्या देखने को मिले डॉक्टर्स से संपर्क करें।

  4. निप्पल में सूजन (Nipple Swollen)

    अगर आपके निप्पल में सूजन और दर्द है तो ये भी निप्पल की अस्वस्थता दर्शाता है।

    इनकी अनदेखी नहीं करनी चाहिए, और जल्द से जल्द डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

  5. निप्पल के इर्द-गिर्द परिवर्तन (Changes around nipple area)

    निप्पल के इर्द गिर्द त्वचा का सख्त और मोटा होना। त्वचा में पपड़ी जमना।

    निप्पल में एक्जिमा के लक्षण को दिखाता है। ये एक्ज़िमा फैले नहीं इसलिए तुरंत डॉक्टर की सलाह लेकर उसे फैलने से रोकने के उपाय करना चाहिए।

निप्पल से जुडी बीमारियां

Nipple related diseases in hindi

mahilao mein breast nipple se judi bimari in hindi

  1. जॉगर्स निप्पल (Jogger's nipple)

    आमतौर पर एथलिटों (Athletes) को इस समस्या का सामना करना पड़ता है।

    दरअसल जब आप शारीरिक गतिविधि कर रहे होते हैं तो आपका निप्पल भी इरेक्ट हो जाता है। कपड़ो की रगड़ खाकर ये जख्मी हो जाता है, जिससे खून बहने लगता है।

    इसे जॉगर्स निप्पल कहते हैं।

  2. निप्पल में पैगेट की बीमारी (Paget’s disease in nipple)

    निप्पल में पैगेट की बीमारी दरअसल, स्तन कैंसर का ही एक दुर्लभ रूप है।

    इस बीमारी में कैंसर की कोशिकाएं (cells) निप्पल के अंदर या उसके चारो तरफ फैलती हैं।

    निप्पल के त्वचा की बायोप्सी कर इस तरह के कैंसर का पता लगाया जा सकता है।

  3. निप्पल में संक्रमण (Infection in nipple)

    निप्पल के आस पास त्वचा का मोटा हो जाना, पपड़ी जमना,निप्पल से रिसाव होना निप्पल में संक्रमण की बीमारी को दर्शाता है।

डॉक्टर निप्पल समस्या की पहचान कैसे करते है

How does doctor diagnose nipple related problems in hindi

doctor kaise janch karke nipple se judi bimari ka pata lagate hain in hindi

सबसे पहले तो डॉक्टर आपसे निप्पल समस्या के लक्षणों के बारे में पूछेंगे। और आपसे आपके स्वास्थ्य संबधित अन्य जानकारियाँ लेंगे।

और इसके अलावा डॉक्टर निम्न परीक्षणों द्वारा समस्या का पता लगा सकते हैं:

  1. डक्टोग्राफी (Ductography)

    अगर आपको निप्पल रिसाव की समस्या है तो, निप्पल्स में तरल पदार्थ लाने वाली कितनी नलिकाएं (Ducts) शामिल हैं।

    इस बात का पता लगाने के लिए डॉक्टर्स एक परिक्षण करते हैं जिसे डक्टोग्राफी कहा जाता है।

    डक्टोग्राफी के दौरान, डॉक्टर आपके स्तनों में मौजूद नलिकाओं में डाई इंजेक्ट (Dye inject) करते हैं और फिर नलिकाओं के कार्य की निगरानी के लिए एक्स-रे (X-ray) लेते हैं।

  2. मैमोग्राम या ब्रेस्ट अल्ट्रासाउंड (Mammogram or Breast ultrasound)

    ये इमेजिंग (Imaging) परीक्षण हैं जो स्तन में किसी भी गांठ का पता लगाते हैं।

  3. त्वचा की बायोप्सी (skin biopsy)

    अगर आपके डॉक्टर को लगता है कि आपको निप्पल में पैगेट की बीमारी हो सकती है, जो एक दुर्लभ स्तन कैंसर है, तो वे त्वचा की बायोप्सी जांच करा सकते हैं।

    इसमें जांच के लिए आपके स्तन से त्वचा का एक छोटा टुकड़ा निकाला जायेगा , जिसकी बायोप्सी जांच होगी।

  4. प्रोलैक्टिन परीक्षण (Prolactin test)

    यह ब्लड टेस्ट, दूध प्रोडक्शन बढ़ाने वाली हार्मोन की जांच के लिए है।

  5. थायराइड हार्मोन परीक्षण (Thyroid test)

    कई बार निप्पल ली समस्या थाइरोइड की समस्या से भी जुडी होती है।

    डॉक्टरों की माने तो अगर आपको हाइपरथाइरोइड या अंडरएक्टिव थाइरोइड है तो आपको निप्पल से जुडी समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है।

    इसलिए कई मामलों में डॉक्टर थाइरोइड टेस्ट की भी सलाह देते हैं। इसके लिए आपके खून की जांच की जाती है।

  6. सिटी या एम्. आर. आई जांच (CT or MRI scan)

    अगर इनमे से कोई परिक्षण सफल नहीं होता तब आखिर में डॉक्टर स्तन का सिटी या एम्.आर. आई जांच के लिए कहते हैं।

    ये भी केवल इमेजिंग प्रक्रिया (Imaging procedure) है जो स्तन में गांठ, कैंसर या किसी संरचनात्मक विकृति के बारे में ज्यादा जानकारी प्राप्त करने के लिए किया जाता है।

निप्पल समस्या का इलाज़

Treatment of Nipple problems in hindi

breast nipple se judi bimari kka ilaj in hindi

  1. गर्म सेंक (Warm compress)

    अगर निप्पल में दर्द और सूजन है तो गर्म सेंक से इसमें आराम मिलता है।

  2. एंटीबायोटिक कोर्स (Antibiotics course)

    अगर निप्पल में इन्फेक्शन (infection) है तो आपको डॉक्टर एंटीबायोटिक का कोर्स की सलाह दे सकते हैं।

  3. पेट्रोलियम जेली और एंटीसेप्टिक क्रीम (Petroleum jelly and antiseptic cream)

    जॉगर्स निप्पल, पेट्रोलियम जेली या एंटीसेप्टिक क्रीम से ही ठीक हो सकता है, साथ ही डॉक्टर 2-3 दिन के आराम की सलाह दे सकते हैं।

  4. मस्टेक्टॉमी (Mastectomy)

    निप्पल में पैगेट की बिमारी के इलाज़ के लिए मस्टेक्टॉमी का उपयोग किया जा सकता है। यह एक सर्जरी है जिसके जरिये प्रभावित स्तन को हटाया जाता है।

  5. मिल्क डक्ट हटाना -( Milk duct removal)

    इंट्राडक्टल पेपॉलीमा (Intraductal Papilloma) के इलाज़ के लिए प्रभावित मिल्क डक्ट को हटाया जाता है।

सारांश

Summary in hindi

saransh in hindi

अधिकतर निप्पल की समस्या गंभीर नहीं होती और आसानी से इलाज हो जाता है। पर किसी भी प्रकार का जोखिम लेना सही नहीं है।

इसलिए जब भी निप्पल में किसी प्रकार का परिवर्तन दिखे तो हमें तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। निप्पल में पैगेट की बीमारी गंभीर बीमारी है, पर इसका इलाज़ भी संभव है।

जितनी जल्दी रोग का पता चल जाता है उसका निदान उतना ही आसान हो जाता है। इसलिए किसी भी लक्षण की अनदेखी करना सही नहीं है।

zealthy contact

कॉल

zealthy whatsapp contact

व्हाट्सप्प

book appointment

अपॉइंटमेंट बुक करें