बालों की कडीशनिंग

बालों की कंडीशनिंग

Hair conditioning in hindi

balo ki conditioning se dekh bhaal in hindi

 

बालों की कडीशनिंग क्या है? बालों की कंडीशनिंग का मतलब है बालों में नमी बरकरार रखना, बालों को मुलायम और चिकना रखना।

चिकने, मुलायम और चमकदार बाल स्वस्थ बालों की निशानी है। बालों की कंडीशनिंग के लिए मार्केट में कई तरह के कंडीशनर मिलते हैं।

इसके साथ ही होममेड कंडीशनर (homemade conditiner) की भी मदद से कंडीशनर तैयार किया जा सकता है।

 

प्रारंभिक लक्षण जो बताता है कि आपके बालों को कंडीशनिंग की जरूरत है

Initial symptoms which tells that your hair needs conditioning in hindi

kaise pata kare ki aap ke balo ko conditioning ki jarurat hai in hindi

प्रारंभिक लक्षण  बालों को कंडीशनिंग

लगातार सफ़र, धूल, प्रदूषण, गर्मी, सूरज की हानिकारक किरणों और शैंपू के कारण बालों की नमी गायब हो जाती है।

बालों की कंडीशनिंग बालों को सुरक्षा कवच प्रदान करती है।

अब सवाल उठता है कि कैसे पता करें कि आपके बालों को कंडीशनिंग की जरूरत है :

  1. रूखे और बेजान बाल (Dry and Damaged hair)

    किसी भी कारण से अगर आपके बाल बेहद रूखे या बेजान हो गए हैं तो इसका मतलब है कि आपके बालों को कंडीशनिंग की सख्त जरूरत है।

  2. बालों का उलझना (Tangled hair)

    अगर आपके बाल बेहद उलझते हों, तो इसका मतलब है आपके बालों की क्वालिटी (quality) खराब हो चुकी है। ऐसी स्थिति में आपके बालों को कंडीशनिंग की जरूरत है।

  3. बालों में रूसी (Dandruff)

    अगर आपके बालों में काफी रूसी हो गई हो तो इसका मतलब है आपके बालों को पोषण नहीं मिल रहा। ऐसी अवस्था में आपके बालों को कंडीशन करने का वक़्त है।

  4. दो मुंहें बाल की ग्रोथ रुकना (Split ends)

    दो मुंहें बालों की वजह से बालों का विकास रुक जाता है। ऐसे में बालों में कंडीशनर का इस्तेमाल जरूरी हो जाता है।

  5. बालों की चमक खो जाना (Loss of hair shine)

    अगर आपके बालों की प्राकृतिक चमक खोने लगी है तो इसका मतलब है आपके बालों को कंडीशनिंग की जरूरत है।

 

बालों की कंडीशनिंग के फायदे

Benefits of hair conditioning is in hindi

balo mein conditioning karne ke fayde in hindi

बालों की कंडीशनिंग के फायदे

बालों से जुड़ी प्रॉब्लम्स का निदान है कंडीशनिंग। बालों को कंडीशन करना ना सिर्फ आपके हेयर की केयर करता है बल्कि आपके बालों का उपचार भी करता है।

कैसे है कंडीशनर बालों के लिए फायदेमंद :

  1. बालों को चमकदार बनाये

    कंडीशनर का सबसे प्राथमिक काम है बालों को चमकदार बनाना। अगर आपके बालों की प्राकृतिक चमक खो गई हो और आपके बाल सुस्त और बेजान हो गए हों तो कंडीशनर आपके बालों की चमक वापस लाने में सहायक है।

  2. रूखे बालों से छुटकारा

    प्रदूषण और पोषण की कमी के कारण बालों का रूखा होना लाज़मी है। इसके साथ शैंपू भी आपके बालों की नमी चुरा कर आपके बालों को रूखा बनाते हैं।

    रूखे बालों को वापस मुलायम और चिकना बनाने में कंडीशनर आपकी मदद कर सकता है।

  3. उलझते बालों का इलाज

    बालों के उलझने का सबसे बड़ा कारण है बालों का दो मुंहा (split ends) हो जाना। दो मुंहें बालों के कारण बालों की ग्रोथ पर भी असर पड़ता है। साथ ही बाल काफ़ी उलझने लगते हैं।

    ऐसे में कंडीशनर के इस्तेमाल से बाल दो मुंहें नहीं होते, जिनसे बालों का उलझना भी रुकता है और बालों की ग्रोथ भी बेहतर होती है।

  4. बालों का विकास  

    बालों की क्वालिटी खराब होने के कारण, बाल दो मुंहें होने के कारण या लगातार टूटने के कारण, इनके विकास पर काफी असर पड़ता है।

    कंडीशनर बालों की समस्याओं का उपचार करके इनके बढ़ने में सहायक होते हैं।

 

कब और कैसे करें कंडीशनर का इस्तेमाल

When and how to use hair conditioner in hindi

kab aur kaise kare conditioner ka istemal in hindi

कब और कैसे करें कंडीशनर का इस्तेमाल

कंडीशनर का इस्तेमाल दो तरीकों से किया जा सकता है।

आप मार्केट से किसी अच्छी कंपनी का कंडीशनर खरीद सकती हैं या फिर आप घर पर ही कंडीशनर तैयार कर सकती हैं।

  1. होममेड कंडीशनर (Homemade conditioner)

    एलोवेरा, दही, तेल, दूध, मुल्तानी मिट्टी या मेहंदी के इस्तेमाल से आप होममेड कंडीशनर बना सकती हैं। हफ्ते में दो बार इसका इस्तेमाल आपके बालों के लिए लाभकारी होता है।

    इन्हें आप अपने बालों में जड़ों से सिरों तक लगा सकते हैं।

    ये आपके बालों को जड़ों तक पोषण देते हैं। इन्हें आप अपने बालों पर मास्क की तरह भी लगा सकती हैं।

    15 मिनट से आधे घंटे तक इन्हें बालों पर लगाकर छोड़ दें, उसके बाद सादे पानी से धो लें।

  2. मार्केट में मिलने वाले कंडीशनर (Marketed conditioners)

    मार्केट में मिलने वाले कंडीशनर ज्यादातर रासायन (chemicals) युक्त होते हैं।

    इनके चुनाव में खासी सावधानी बरतें। इनका इस्तेमाल आप स्कैल्प पर नहीं कर सकतीं, ऐसा करना बालों को क्षति पहुंचा सकता है।

    इन्हें हलके हाथों से जड़ों को छोड़कर बालों पर लगाएं। तीन से चार मिनट के बाद सादे पानी से धो लें।

 

सारांश

Summary in hindi

saransh in hindi

बालों में कंडीशनर की जरूरत तब होती है जब आपके बाल दो मुंहें हो गए हों, झड़ रहें हों, रूखे या बेजान हो गए हों।

कंडीशनर का इस्तेमाल आपके बालों को हील करने में मदद करता है।

होममेड कंडीशनर, मार्केट में मिलने वाले कंडीशनर के मुकाबले कम रासायन युक्त और लाभकारी होते हैं। हफ्ते में दो बार कंडीशनर का इस्तेमाल करना उचित है।