blackheads in hindi

ब्लैक हेड्स

Blackheads in hindi

ब्लैकहेड्स त्वचा पर छोटे काले धब्बे होते हैं। ब्लैकहेड्स तब बनते हैं जब स्किन के पोरे (Pores) या फॉलिकल (follicles) जाम हो जाते है।

इसे ओपन कॉमेडोन (Open comedones) भी कहा जाता है।

ब्लैकहेड्स एक हल्के प्रकार के मुहांसे होते हैं जो आमतौर पर चेहरे पर होते हैं लेकिन छाती, पीठ, गर्दन और कंधे पर भी हो जाते हैं।

ब्लैकहेड्स की समस्या अधिकतर ऑयली स्किन वालों को होती है।

ब्लैकहेड्स तब बनते हैं जब आपकी त्वचा में रोम छिद्रों (Pores or follicle) के खुलने में एक क्लॉग (Clog) या प्लग (Plug) विकसित होता है।

प्रत्येक फॉलिकल में एक बाल और एक वसामय ग्रंथि (Sebaceous gland) होती है, जो तेल का उत्पादन करती है।

सीबम नामक ये तेल आपकी त्वचा को मुलायम रखने में मदद करता है।

डेड स्किन सेल्स (Dead skin cells) और ऑयल, स्किन फॉलिकल (Skin follicle) के खुले हिस्से में इकट्ठा होते हैं, जिस कारण वहां पर घाव हो जाता है जिसे कोमेडो (Comedo) कहा जाता है।

अगर इस घाव के ऊपर की त्वचा बंद रहती है, तो उस घाव को व्हाइटहेड कहा जाता है।

जब घाव के ऊपर की त्वचा खुल जाती है, तो हवा के संपर्क में आने से ये काली दिखाई देती है और ब्लैकहैड बन जाती है।

ब्लैकहेड्स के लक्षण

Symptoms of blackheads in hindi

Blackheads ke lakshan in hindi

loading image

आज के समय में ब्‍लैकहेड्स की प्रॉब्लम बहुत कॉमन है। जो खुले रोम छिद्रों में तेल या डेड स्किन सेल्स जमा होने के कारण होता है।

इस वजह से महिलाओं की सुंदरता प्रभावित होती है।

जानते हैं ब्लैकहेड्स के लक्षणों के बारें में:

  1. ब्लैकहेड्स में एक उभरी हुई बनावट होती है, लेकिन वे पिंपल्स की तुलना में छोटे होते हैं।

  2. नाक पर छोटे काले रंग के पोर का होना।

  3. ब्लैकहेड्स एक्ने का एक लक्षण है, लेकिन, खुले छिद्रों के कारण, वे अन्य एक्ने घावों से कुछ मायनों में भिन्न होते हैं।

  4. ब्लैकहेड्स नॉन-इंफ्लेमेटरी (Non-Inflammatory) होते हैं।

    इसका मतलब यह है कि वे संक्रमित नहीं हैं, और वे उसी तरह से दर्द और तकलीफ का कारण नहीं बनेंगे जैसे कि पिंपल्स और पिस्टल्स।

ब्लैकहेड्स के कारण

Causes of blackheads in hindi

Blackheads ke karan in hindi

loading image

कुछ कारक ब्लैकहेड्स के विकास की संभावना हो बढ़ा सकते हैं।

  1. हार्मोनल बदलाव

    ब्लैकहेड्स होने की एक मुख्य वजह है, हामोंस का असंतुलित होना जिससे तेल ग्रंथिया (oil glands) अधिक तेल रिलीज करने लगते है।

    जिसकी वजह से छिद्र बनने लग जाते हैं और इसी कारण ब्लैकहेड्स होता है।

  2. स्किन पर ध्यान न देना

    अक्सर स्किन की देखभाल पर ध्यान नहीं देने से या फिर सही तरीक़े से क्लींजिंग न होने से स्किन पर ऑयल जमा हो सकता है, जिससे रोमछिद्र बंद हो सकते हैं और ब्लैकहेड्स का कारण बन सकते हैं।

  3. ऑयली या कांबिनेशन स्किन

    ऑयली स्किन टाइप में रोमछिद्र बंद होने की संभावना दूसरे स्किन टाइप से ज़्यादा होती जिससे ब्लैकहेड्स हो जाते हैं।

    अगर आपकी तैलीय त्वचा है, तो आपकी त्वचा की सतह पर मौजूद अतिरिक्त तेल भी छिद्रों को अवरुद्ध कर सकते हैं और ब्लैकहेड्स का कारण बन सकते हैं।

    अगर आपकी कॉम्बिनेशन स्किन, तो आपके चेहरे के तेलीय क्षेत्रों में ब्लैकहेड्स-प्रोन स्किन हो सकती है - आमतौर पर माथे और नाक पर।

    कभी-कभी तो ऑयल बेस्ड प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने से भी स्किन पर ऑयल की अधिकता हो जाती है, जिस वजह से रोमछिद्र बंद हो जाते हैं और ब्लैकहेड्स हो जाता है।

  4. स्किन को बहुत ज़्यादा एक्सफोलिएट करना

    स्किन को एक्सफ़ोलीएट (Exfoliate) करने से पोर्स में जमी गंदगी निकल जाती है, जिससे एक्ने कम होते हैं।

    हालांकि अगर आप बहुत बार या हार्श (harsh) प्रोडक्ट से स्किन को एक्सफ़ोलीएट करते हैं, तो इसका विपरीत परिणाम भी हो सकता है

    बहुत अधिक एक्सफ़ोलिएशन एक्ने के बैक्टीरिया को फैला सकता है और आपके ऑयल ग्लैंड्स (Oil glands) को डैमेज करने के लिए उत्पादन (production) बढ़ा सकता है।

  5. मेकअप

    ब्लैकहेड्स होने की एक और एहम वजह है मेकअप।

    जी हां, ज़्यादातर देखा जाता है कि मेकअप करने और उसे सही तरह से रिमूव करने से भी ब्लैकहेड्स हो जाते हैं।

    दरअसल जब आप मेकअप करती हैं, तो वह स्किन में अब्सॉर्ब हो जाता है और खुले हुए पोर्स को बंद कर देता हैं, जो आगे चलकर ब्लैकहेड्स होने की वजह बन जाते हैं।

  6. एक तरफ सोने की आदत

    अगर माथे के सिर्फ एक साइड आपको ब्रेकआउट हैं, तो वे आपकी सोने के तरीके कारण हो सकते हैं।

    दरअसल अपने फेस के एक साइड सोने से उस साइड ब्रेकआउट हो सकता है, जो रात में आपके पिलो से रगड़ा सकता है।

    इस कारण ब्लैकहेड्स की समस्या हो सकती है।

  7. गर्भनिरोधक गोलियां लेना

    बर्थ कंट्रोल पिल्स जिनमें एण्ड्रोजन-आधारित प्रोजेस्टिन (progestin) होता है, वास्तव में एक्ने को बढ़ावा देने और ब्लैकहेड्स का कारण बनता है।

ब्लैकहेड्स को कैसे रोका जा सकता है

How blackheads can be prevented in hindi

Blackheads ko kaise roka ja sakta hai in hindi

loading image

आइये जानते है की ब्लैकहेड्स को कैसे रोका जा सकता है:

  1. नियमित रूप से चेहरा धोएं (Wash face regularly)

    ब्लैकहेड्स की समस्या ज़्यादा ऑयली स्किन टाइप लोगों को होती हैं।

    ऐसे में ऑयल को कण्ट्रोल करने का सबसे अच्छा और आज़माया हुआ तरीका है कि स्किन को हमेशा क्लीन करें और साफ़ रखें।

    सभी जमी हुई गंदगी और बहुत ज़्यादा ऑयल से छुटकारा पाने के लिए अपने चेहरे को एक या दो बार दैनिक रूप से साफ़ करना महत्वपूर्ण होता है

  2. आयल-फ्री प्रोडक्ट्स का उपयोग करें (Use oil free products)

    कोई भी उत्पाद जिसमें तेल होता है, ब्लैकहेड्स होने की वजह बन सकता है।

    अपनी समस्या को बदतर बनाने से बचने के लिए तेल मुक्त या नॉन-कमेडोजेनिक (Non-Comedogenic) मेकअप, लोशन और सनस्क्रीन चुनें।

  3. एक्सफ़ोलीएटिंग प्रोडक्ट का इस्तेमाल करें (Use exfoliated products)

    एक्सफोलिएटिंग स्क्रब और मास्क आपके चेहरे से मृत त्वचा कोशिकाओं (Dead skin cells) को हटाते हैं और ब्लैकहेड्स होने से आपकी स्किन का बचाव करते हैं।

    ऐसे उत्पादों की तलाश करें जो आपकी त्वचा को परेशान न करें।

  4. मेकअप रिमूव ज़रुर करें (Remove make-up before sleeping)

    मेकअप रिमूव किये बगैर बिस्तर पर जाने से आपके रोम छिद्र बंद हो सकते हैं।जिससे ब्लैकहेड्स होने की संभावना बहुत बढ़ जाती है। इसलिए हमेशा सोने से पहले मेकअप रिमूव ज़रूर कर लें।
  5. खान-पान पर दें ध्यान (Adopt health food habits)

    ऐसा पाया गया है कि संतुलित आहार आपकी त्वचा को प्रभावित कर सकता है। अन्हेल्थी (Unhealthy) और जंक फूड्स से बचने से ब्लैकहेड्स और अन्य प्रकार के एक्ने को रोकने में मदद मिल सकती है।

    विटामिन-ए (Vitamin-A) और बीटा-कैरोटीन (Beta-Carotine) से भरपूर खाद्य पदार्थ, जिनमें फल और सब्जियां जैसे रसभरी और गाजर शामिल हैं, हेल्थी स्किन के लिए ये नए सेल्स बनाने का काम करते हैं।

ब्लैकहेड्स का सीधा असर हमारी सुंदरता पर पड़ता है।

ऐसे में ज़रूरत इस बात कि है कि आप स्किन की देखभाल अच्‍छे तरीके से करें और इस बात पर ध्यान दें कि अगर है तो आयल-फ्री प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करें।

इसके अलावा बार-बार अपनी स्किन को टच करने से बचे।

सारांश

ब्लैकहेड्स और कुछ नहीं बल्कि आपके छिद्रों के बंद होने के कारण उत्पन्न होते हैं लेकिन एक महिला की खूबसूरती पर इसका असर ज़रूर पड़ जाता है।

ऐसे में इसके लक्षणों और कारणों पर ध्यान देकर इससे अपनी स्किन का बचाव किया जा सकता है।

zealthy contact

कॉल

zealthy whatsapp contact

व्हाट्सप्प

book appointment

अपॉइंटमेंट बुक करें