आई.वी.एफ के माध्यम से सागर और प्रिया को मिली सफलता

सागर और प्रिया की कहानी

आप कितने वर्षों से गर्भ धारण करने का प्रयास कर रहे थे, और एक सफल गर्भवस्था से पूर्व आपने कौन-कौन से उपचार कराए?

हम 3 साल से लगातार कंसीव करने की कोशिश कर रहे थे। मगर मुझे दो बार मिसकैरेज का सामना करना पड़ा, मैंने पहले अपने थाइरॉइड को कंट्रोल में लाने का प्रयास किया, और फिर डॉक्टर की सलाह पर अपना आई.वी.एफ ट्रीटमेंट करवाया।

जिस दिन मेरे बेटे का जन्म हुआ, उस दिन हमें जिंदगी की सारी ख़ुशी मिल गयी, हमारे इतने दिनों की तपस्या रंग लायी, हम दोनों पति - पत्नी की ख़ुशी का ठिकाना नहीं था।

प्रिया

आपको किन-किन परिस्तिथियों का सामना करना पड़ा? अपनी प्रेरणा पूर्ण सफल यात्रा के बारे में हमें बताएँ।

हमारी शादी वर्ष 2015 में हुई थी, और शादी के एक साल के बाद ही हमनें फैमिली प्लानिंग शुरू कर दी, कंसीव करने में मुझे प्रॉब्लम तो आ रही थी, पर बड़ी मुश्किल से मैंने दो बार कंसीव किया, पर दोनों बार मेरा मिसकैरेज हो गया। मेरा वज़न भी तेज़ी से बढ़ रहा था, हर 3 महीने में मैं 1.5 से 2 किलो गेन कर ले रही थी।

हमें समझ नहीं आ रहा था कि क्या वजह हो सकती है, मेरे सफलतापूर्वक कंसीव न करने की। हमने फिर एक गायनेकोलॉजिस्ट से संपर्क किया, तो उन्होंने टेस्ट के बाद हमें बताया कि मुझे थाइरॉइड की प्रॉब्लम है, जिस कारण मेरा वजन भी बढ़ रहा और मिसकैरेज की समस्या भी हो रही है। इसलिए सबसे पहले मुझे अपने वजन को कम करना पड़ेगा और साथ ही थाइरॉइड को भी कंट्रोल करना होगा।

वजन को नार्मल करने में मुझे कम करने मुझे 8-9 महीने का समय लगा। इस बीच हम नॉर्मल तरीके से कंसीव करने का प्रयास करते रहे, और वजन कम करने के बाद भी हमनें अपनी कोशिश जारी रखी। हालांकि, इस बार मैं कंसीव ही नहीं कर पा रही थी।

लगभग एक से डेढ़ साल के बाद हमने सोचा कि हमें इंफर्टिलटी स्पेशलिस्ट के पास जाना चाहिए।

जब हम उनके पास गए तो, स्पेशलिस्ट ने मेरी सारी रिपोर्ट्स के रिजल्ट को देखते हुए कंसीव करने के लिए आई.वी.एफ करवाने को कहा। एक महीने के बाद हमने अपना आई.वी.एफ साइकिल शुरू करवाया। हमें उम्मीद थी कि हमारा साइकिल सफल हो जाएगा। हम पहले ही बहुत सारी परेशानियों का सामना कर चुके थे, और अब एक पॉजिटिव रिजल्ट के लिए उत्सुक थे।

कुछ दिनों में हमारे आई.वी.एफ की सारी पूरी हो गयी। एक दिन शाम में हम दोनों पति - पत्नी बैठे थे, तभी डॉक्टर का फ़ोन आया। मेरे पति से डॉक्टर की बात हुई, उन्होंने बताया कि हमारा आई.वी.एफ साइकिल फेल हो गया।

मुझे लगा कि मेरे सारे सपने टूट गए, मेरे पति ने मुझे बहुत संभाला और समझाया की घबराने की जरुरत नहीं है, हम दूसरा आई.वी.एफ साइकिल करवा सकते हैं। मैंने अपने डॉक्टर से इस बारे में बात कि अगर फिर से आई.वी.एफ साइकिल फेल हो गया तो हम क्या करेंगे, डॉक्टर ने समझाया कि हमें पहले से ही नकारात्मक नहीं सोचना चाहिए, और इस बार हम हम निश्चित रूप से सफल होंगे। लेकिन, इस बार हम बेहतर डॉक्टर से सलाह लेना चाहते थे।

वर्ष 2019 में मेरा दूसरा आई.वी.एफ साइकिल शुरू हुआ, इस बार हमने Zealthy के फर्टिलिटी स्पेशलिस्ट से अपना ट्रीटमेंट करवाया। मेरे ओवरी से 12 अंडे मिले और फिर उनमें से 5 अच्छे क्वालिटी अण्डों को स्पर्म के साथ फर्टिलाइज़ किया गया, जिसके बाद, हमें 4 स्वस्थ एम्ब्रियो मिले।

जिसमें से 1 एम्ब्रियो को मेरे गर्भ में ट्रांसफर किया। हमें मालूम था कि सफलता मिलना इतना आसान नहीं है, फिर भी हम दोनो ने उम्मीद नहीं छोड़ी थी, हम दोनों ने एक - दूसरे का बहुत ही अच्छे से साथ दिया, और 3 सप्ताह के बाद मेरा प्रेगनेंसी रिपोर्ट्स पॉजिटिव आया। हम दोनों पति - पत्नी खुश थे। मगर मेरे मन में डर बना हुआ था कि पहले की तरह मेरा मिसकैरेज ना हो जाए ।

मार्च 2020 में, मैंने नॉर्मल डिलीवरी के द्वारा एक बेटे को जन्म दिया। उस दिन हमें जिंदगी की सारी ख़ुशी मिल गयी, हमारे इतने दिनों की तपस्या रंग लायी, और अब हमारी ज़िन्दगी हमारे बेटे के इर्द-गिर्द ही घूमती है।

अपनी उम्मीद कभी ना छोड़े, एक - दूसरे को हिम्मत दें, जो लोग आपको संतान ना होने की वजह से ताने मारते हैं, उन लोगों की बातों पर ध्यान न दे, हमेशा सकारात्मक सोचे और सकारात्मक बने रहे।

प्रिया

किस प्रकार Zealthy के आई.वी.एफ फर्टिलिटी विशेषज्ञों और उनकी केयर टीम ने, आपकी यात्रा के दौरान मदद की?

शादी के बाद जब मेरा दो बार गर्भपात हो गया, साथ ही थाइरॉइड की प्रॉब्लम और एक आई.वी.एफ चक्र फेल होने से हम बहुत घबरा गए थे, समझ नहीं आ रहा था क्या करें, क्या न करे। फिर एक दिन मेरी फ्रेंड ने मुझे Zealthy के बारे में बताया कि Zealthy फर्टिलिटी स्पेशलिस्ट भारत के बेस्ट आई.वी.एफ ट्रीटमेंट के लिए जाने जाते हैं।

हमने Zealthy से कंसल्ट किया और Zealthy की टीम से बात किया कि हमें फर्टिलिटी ट्रीटमेंट करवानी है। उन्होंने बहुत ही अच्छे से हमारी बात को समझा और हमारे शहर के ही बेस्ट फर्टिलिटी स्पेशलिस्ट के साथ हमारा अपॉइंटमेंट करवाया और मुझे भरोसा दिलाया कि मेरे माँ बनने का सपना जरुर पूरा होगा ।

Zealthy की टीम ने हमें यह भी बताया कि फेल आई.वी.एफ ट्रीटमेंट से घबराएँ नहीं। उन्होंने हमें अपने बेस्ट क्लिनिक की जानकारी दी। मुझे आई.वी.एफ ट्रीटमेंट के समय क्या खाना चाहिए क्या नहीं खाना चाहिए यह भी बताया।

Zealthy के क्लिनिक में हमारा ट्रीटमेंट बहुत अच्छे से हुआ और हमारा ख़ास ध्यान भी रखा गया।

बांझपन की समस्या से जूझ रहे अन्य जोड़ों को आप क्या सलाह देना चाहेंगे? वह इस तनाव युक्त स्थिति का सामना किस प्रकार कर सकते है?

अपनी उम्मीद कभी ना छोड़े, एक - दूसरे को हिम्मत दे, जो लोग आपको संतान ना होने की वजह से ताने मारते हैं, उन लोगों की बातों पर ध्यान न दे, हमेशा सकारात्मक सोचे और सकारात्मक बने रहे, साथ ही सही डॉक्टर, क्लिनिक और सही ट्रीटमेंट का चुनाव करें, और संयम रखें।

इनफर्टिलिटी ट्रीटमेंट के वक़्त और किन - किन चीज़ो से आपको मदद मिली?

हमें बेस्ट फर्टिलिटी स्पेशलिस्ट और क्लिनिक की जानकारी zealthy के द्वारा मिली, प्रेगनेंट होने के बाद भी मैं Zealthy के टच में थी। कभी भी मुझे अपनी प्रेगनेंसी को लेकर कोई भी प्रॉब्लम होती थी, Zealthy की टीम मेरी मदद हमेशा करते थे और मुझे सही सुझाव देते थे ।

अगर आपको इस कहानी से मदद मिली, तो इससे अपवोट करें

पोस्टेड ऑन- 02 Jul 2020

सफल चिकित्सा की और कहानियाँ पढ़ें

अस्वीकरण: इस साइट पर दिखने वाले प्रशंसापत्र हैं व्यक्तिगत अनुभव, वास्तविक जीवन के अनुभवों को दर्शाते हैं उन लोगों के लिए जिन्होंने हमारे उत्पादों और / या सेवाओं का उपयोग किया है किसी तरह या अन्य। हालांकि, वे व्यक्तिगत परिणाम हैं और परिणाम भिन्न होते हैं। हम यह दावा नहीं करते कि वे विशिष्ट हैं परिणाम जो उपभोक्ता आम तौर पर हासिल करेंगे। प्रशंसापत्र जरूरी सभी के प्रतिनिधि नहीं हैं जो हमारे उत्पादों और / या सेवाओं का उपयोग करेंगे।