Levocetirizine dawa

लेवोसेटिरिज़िन - डोज़, उपयोग फ़ायदे और दुष्प्रभाव

Levocetirizine - dose, use, benefits and side-effects in hindi

Levocetirizine ke dose, upyog, fayde aur side-effects in hindi

एक नज़र

  • दवा की अवधि यानि कितने लंबे समय तक दवा लेनी है यह आपकी स्थिति पर निर्भर करती है।
  • इस दवा को लेने से पहले दिए गए सभी निर्देशों को पढ़ें और अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट की सलाह का पालन करें।
  • यह दवा मुंह के द्वारा भोजन के साथ या इसके बिना ली जाती है।

लेवोसेटिरिज़िन एक प्रिस्क्रिप्शन मेडिसीन है जो ओरल सिरप के रूप में ज़ायज़ल (xyzal) के नाम से मिलती है। यह एक जेनेरिक दवा है जो एंटी-हिस्टामाइन (anti-histamine) के रूप में काम करती है। इसका उपयोग एलर्जी के लक्षणों जैसे - आंखों से पानी आना, नाक बहना, खुजली, नाक में खुजली, लगातार छींक आने आदि के लिए किया जाता है। इसका उपयोग खुजली और पित्त से राहत पाने के लिए भी किया जाता है। यह हिस्टामाइन के काम को रोककर शरीर को एलर्जी की प्रतिक्रिया से बचाती है।

यह मेडिसीन मौसम बदलाव के दौरान एलर्जी के लक्षणों के उपचार के लिए भी उपयोग की जाती है। लेवोसेटिरिज़िन (levocetirizine) एक एंटीहिस्टामाइन नामक दवाओं के एक वर्ग से संबंधित होती है। यह वो दवाएं होती हैं जो हमारे शरीर की कोशिकाओं में हिस्टामाइन रसायन के बहाव को रोककर इसके काम को अवरुद्ध करती है।

साथ ही यह एलर्जी के लक्षणों को दूर करने में भी मदद करती हैं, जैसे - छींक, बहती नाक को रोकने और लाल, पानी, खुजली वाली आंखें के इलाज में। लेवोसेटिरिज़िन एक गंभीर एलर्जी की प्रतिक्रिया जैसे - एनाफिलेक्सिस (anaphylaxis) के कारण होने वाली पित्त को रोकती है।

मुझे सही डॉक्टर के चुनाव में मदद चाहिए

हमारे मेडिकल एक्सपर्ट आपको अनुभवी व नज़दीकी डॉक्टर से अपॉइंटमेंट बुक कराने में मदद करेंगे

loading image

इस लेख़ में/\

  1. लेवोसेटिरिज़िन की खुराक क्या होनी चाहिए?
  2. लेवोसेटिरिज़िन टेबलेट की सलाह कब दी जा सकती है?
  3. लेवोसेटिरिज़िन के दुष्प्रभाव से कैसे बचें?
  4. लेवोसेटिरिज़िन के साइड-इफेक्ट्स क्या हैं ?
  5. पूछे गए प्रश्न
 

1.लेवोसेटिरिज़िन की खुराक क्या होनी चाहिए?

What should be the dose of Levocetirizine? in hindi

Levocetirizine Ki khurak kya honi chahiye in hindi

लेवोसेटिरिज़िन की खुराक डॉक्टर द्वारा निर्धारित की जाती है। आपकी खुराक, इसका रूप यानि सिरप और टेबलेट पर निर्भर करती है। इसके साथ ही दवा की अवधि यानि कितने लंबे समय तक दवा लेनी है यह आपकी स्थिति पर निर्भर करती है। आमतौर पर डॉक्टरों द्वारा इसकी खुराक उम्र देखकर निर्धारित की जाती है।

इसकी ख़ुराक निम्न रूप में निर्धारित की जाती है : -

  • वयस्क खुराक (उम्र 18-64 वर्ष) - इसकी खुराक एक दिन में 5 मिलीग्राम टेबलेट के रूप में दी जाती है।
  • बच्चों की खुराक (उम्र 12 महीने से 17 साल) - इसकी खुराक एक दिन में 5 मिलीग्राम टेबलेट के रूप में दी जाती है।
  • बच्चों की खुराक (उम्र 6-11 वर्ष) - इसकी खुराक 2.5 मिलीग्राम यानी आधा टेबलेट प्रति दिन दी जाती है।
  • बच्चे की खुराक (उम्र 5 वर्ष और उससे कम) - 6 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए लेवोसेटिरिज़िन टैबलेट नहीं दी जाती है। 6 महीने से 5 साल तक के बच्चों के लिए लिक्विड यानी सिरप फॉर्म में दवाई दी जाती है।
  • व्यस्कों की खुराक (उम्र 65 वर्ष और उससे अधिक) - बड़े लोगों के गुर्दे बढ़ती उम्र में सही से काम नहीं करते हैं, इसलिए उनके लिए इस दवा के दुष्प्रभावों का खतरा बढ़ जाता है। उनके लिए इस दवा का उपयोग मना किया जाता है।

कॉलबैक का अनुरोध करें और पाएँ मूल्य का उचित आकलन

 

2.लेवोसेटिरिज़िन टेबलेट की सलाह कब दी जा सकती है?

What are the situations in which Levocetirizine can be suggested? in hindi

Levocetirizine ka sevan kab kiya ja sakta hai in hindi

लेवोसेटिरिज़िन का उपयोग कई बीमारियों के उपचार के लिए किया जाता है। इसकी सलाह किसी अज्ञात कारण से लगातार पित्ती होने और एलर्जी के कारण नाक में सूजन होने की स्थिति में दी जाती है।

इसके अलावा लेवोसेटिरिज़िन की सलाह निम्न स्थितियों में की जाती है : -

  • एलर्जी (Allergy)

जब हमारे शरीर में एलर्जी होती है, तो हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली कमज़ोर हो जाती है और कुछ ऐसे रसायन पदार्थ बनाती है जो एक प्रकार से एंटीबॉडी (antibody) का काम करते हैं। ये एंटीबॉडीज (antibodies) बदले में हिस्टामाइन (histamine) जैसे रसायनों को छोड़ते हैं, जो एलर्जी के लक्षण पैदा करते हैं।

एलर्जी के कुछ कारण हो सकते हैं जैसे -

  1. जानवरों के फर या बाल जैसे - बिल्लियों, कुत्तों, घोड़ों या खरगोशों के बाल से एलर्जी
  2. धूल के कण से एलर्जी
  3. भोजन से एलर्जी जैसे - गाय का दूध, अंडे, मूंगफली, समुद्री भोजन, सोया, ट्री नट्स - बादाम, ब्राजील नट्स, काजू और गेहूं
  4. कीड़े के काटने से एलर्जी
  • अर्टिकरिया (Urticaria)

अर्टिकरिया त्वचा में होने वाले एक प्रकार के चकत्ते होते हैं, जिसके कारण त्वचा पर सुर्ख़ लाल रंग के उभरे हुए दाने हो जाते हैं, जिनमें लगातार खुजली होती रहती है। ये दाने नुकीली कील जैसे दिखते हैं। अर्टिकरिया के रोगियों को लेवोसेटिरिज़िन लेने के लिए कहा जाता है और ये एंटी एलर्जी का काम करती हैं।

  • एलर्जी राइनाइटिस (Allergic Rhinitis)

ये एक ऐसी एलर्जी होती है जिसमें बुख़ार होना, नाक के अंदर सूजन आना आम बात है। नाक में सूजन का कारण मौसम में बदलाव या हवा में एलर्जी के कण हो सकता है।

कभी-कभी किसी को मौसम या हवा के कारण भी एलर्जी हो सकती है जो एलर्जी राइनाइटिस (allergy rhinitis) का कारण बनती है। खरपतवार, घास, पेड़ से एलर्जी, धूल के कण, घर के अंदर की डस्ट, कॉकरोच, पालतू जानवरों से एलर्जी आदि से भी राइनाइटिस (rhinitis) होती है।

एलर्जिक राइनाइटिस (allergic rhinitis) के लक्षण हैं - छींक आना, नाक बंद होना, बहती हुई नाक, नाक, आंख या मुंह में खुजली, लाल आंखें होना, आंखों से पानी आना, बार -बार खांसी आना, बार-बार गला साफ करना, थकान या सुस्ती महसूस होना, आंखों के नीचे काले घेरे होना आदि। राइनाइटिस के रोगियों को लेवोसेटिरिज़िन लेने के लिए कहा जाता है और ये एंटी एलर्जी (anti allergy rhinitis) का काम करती है।

 

3.लेवोसेटिरिज़िन के दुष्प्रभाव से कैसे बचें?

How to avoid the side-effects of Levocetirizine? in hindi

Levocetirizine Ke dushprabhav se kaise bache in hindi

लेवोसेटिरिज़िन लेने से पहले निम्न बातों का रखें ध्यान : -

  • इस दवा को लेने से पहले दिए गए सभी निर्देशों को पढ़ें और अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट की सलाह का पालन करें।
  • डॉक्टर द्वारा निर्धारित खुराक और अवधि में ही इस दवा का सेवन करें।
  • यह दवा मुंह के द्वारा भोजन के साथ या इसके बिना ली जाती है। आमतौर पर इसका सेवन दिन में एक बार करते हैं।
  • यदि आप किसी 5 वर्ष से कम उम्र को ये दवा तरल के रूप में दे रहे हैं तो विशेष माप उपकरण या चम्मच का उपयोग करके सावधानी से खुराक दें।
  • इसकी खुराक आपकी उम्र, चिकित्सा स्थिति और उपचार की प्रतिक्रिया पर आधारित है, इसलिए अपनी खुराक में बिना डॉक्टर से पूछे बदलाव ना करें।
  • यदि आपकी स्थिति बेहतर नहीं होती है या अधिक समस्या हो जाती है तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।
  • यदि आपको लेवोसेटिरिज़िन या सेटीरिज़िन ज़िरटेक (cetirizine zirtec) से एलर्जी है तो आपको लेवोसेटिरिज़िन का उपयोग नहीं करना चाहिए।
  • यदि आपको गुर्दे की बीमारी है या आप डायलिसिस (dialysis) पर हैं, तो आपको लेवोसेटिरिज़िन नहीं लेना चाहिए। गुर्दे की बीमारी के साथ 12 वर्ष से कम उम्र के किसी भी बच्चे को लेवोसेटिरिज़िन नहीं लेना चाहिए।
  • इस दवाई का सेवन शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर को अपनी मेडिकल हिस्ट्री बता दें - गुर्दे की बीमारी, जिगर की बीमारी, पेशाब की समस्या, बढ़े हुए प्रोस्टेट या रीढ़ की हड्डी में घाव जैसी स्थितियों के बारे में जरूर बताएं।
  • इस दवाई से गर्भ में पल रहे बच्चे को नुकसान पहुंचने की आशंका नहीं होती है लेकिन अगर आप गर्भवती हैं तो अपने डॉक्टर को जरूर बताएं।
  • इस दवा का उपयोग करते समय आपको स्तनपान नहीं कराना चाहिए।
  • इसका उपयोग 6 महीने से कम उम्र के बच्चे के लिए नहीं है।
  • लेवोसेटिरिज़िन के सेवन के दौरान शराब का सेवन ना करें।
  • पहले से किसी दवा का सेवन कर रहे हैं तो लेवोसेटिरिज़िन लेने से पहले डॉक्टर को बताएं।

मैं कन्फ्युज हूँ, मुझे मदद चाहिए

हमारे मेडिकल एक्सपर्ट उपचार की योजना तैयार करने में आपकी सहायता करेंगे

loading image
 

4.लेवोसेटिरिज़िन के साइड-इफेक्ट्स क्या हैं ?

What are the side-effects of Levocetirizine? in hindi

Levocetirizine side-effects kya hai in hindi

जैसे हर दवा के फायदे और नुकसान होते हैं। वैसे ही लेवोसेटिरिज़िन के भी कुछ सामान्य दुष्प्रभाव हैं।

लेवोसेटिरिज़िन के आम दुष्प्रभाव में शामिल हैं : -

  • अधिक नींद आना
  • थकान
  • साइनस का दर्द
  • कान का संक्रमण
  • खांसी
  • बुखार
  • नकसीर
  • उल्टी
  • दस्त
  • कब्ज
  • शुष्क मुंह

12 वर्ष और उससे अधिक उम्र के बच्चों और व्यसकों में होने वाले सामान्य दुष्प्रभाव में शामिल हैं :

  • थकान
  • शुष्क मुंह
  • गले में खराश
  • आंखों में लालिमा
  • नाक और गले में सूजन

6-11 वर्ष की आयु के बच्चों के दुष्प्रभाव में शामिल हैं :

  • बुखार
  • खांसी
  • नाक से खून आना

1-5 वर्ष की आयु के बच्चों के दुष्प्रभाव में शामिल हैं :

  • बुखार
  • दस्त
  • उल्टी
  • कान का संक्रमण

6 महीने से 11 महीने की उम्र के बच्चों के दुष्प्रभाव में शामिल हैं :

  • दस्त
  • कब्ज

अगर ये सभी दुष्परिणाम या प्रभाव हल्के होते हैं तो ये कुछ दिनों के अंदर ठीक हो जाते हैं। लेकिन गंभीर दुष्परिणाम होने पर अपने डॉक्टर से बात करें।

गंभीर साइड इफेक्ट्स और उनके लक्षणों में निम्नलिखित शामिल हैं : -

  • एलर्जी के लक्षण जैसे त्वचा पर खुजली
  • होंठ, जीभ, चेहरे या गले में सूजन आना
  • गुर्दे से संबंधित समस्या होना
  • पेशाब करने में परेशानी या कम पेशाब आना
  • पेशाब में रक्त आना
  • धुंधली दृष्टि
  • पित्ती
  • सांस लेने मे तकलीफ़

कुछ दवाओं जैसे - नींद की गोली, मांसपेशियों को आराम देने वाली दवा, चिंता या मानसिक दौरे के लिए दवा आदि के साथ लेवोसेटिरिज़िन का उपयोग वर्जित होता है। विशेष रूप से रिटोनावीर (ritonavir) और थियोफाइलिइन (theophylline) के साथ इसका उपयोग वर्जित होता है।

इसके अलावा यह निम्न दवाओं के साथ लेना वर्जित होता है : -

  • अस्थमा या सीओपीडी दवा

थियोफिलाइन (theophylline) का उपयोग अस्थमा और पुरानी प्रतिरोधी फेफड़े के रोग (सीओपीडी) के लक्षणों के उपचार के लिए किया जाता है। इस दवा का उपयोग लेवोसेटिरिज़िन के साथ करने से आपके शरीर में लेवोसेटिरिज़िन की मात्रा बढ़ सकती है। इससे इस दवा के दुष्प्रभावों का खतरा बढ़ जाता है।

  • एचआईवी की दवा

रिटोनावीर (ritonavir) का उपयोग एच आई वी (HIV) के इलाज के लिए किया जाता है। इस दवा का उपयोग लेवोसेटिरिज़िन के साथ करने से आपके शरीर में लेवोसेटिरिज़िन की मात्रा बढ़ सकती है।

कुछ मेडिकल समस्याओं में लेवोसेटिरिज़िन का उपयोग वर्जित होता हैं, जैसे :

  • बढ़े हुए प्रोस्टेट या रीढ़ की हड्डी में घाव
  • गुर्दे की बीमारी

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि:: 24 Aug 2020

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

विशेषज्ञ सलाहASK AN EXPERT

अक्सर पूछे गए प्रश्न

लेवोसेटिरिज़िन का उपयोग कितने समय तक करना चाहिए?

आमतौर पर लेवोसेटिरिज़िन के इस्तेमाल की अवधि अलग होती है। डॉक्टर की सलाह लिए बिना इसका सेवन ना करें।

लेवोसेटिरिज़िन को एक दिन में कितनी बार ले सकते है?

लेवोसेटिरिज़िन का सेवन एक दिन में 1 बार करना चाहिए।

एलर्जी होने पर लेवोसेटिरिज़िन लेना उचित है क्या?

अगर आपको दवाई से एलर्जी हो तो लेवोसेटिरिज़िन का सेवन शुरू करने से पहले डॉक्टर को ये बात जरूर बता दें।

क्या लेवोसेटिरिज़िन के उपयोग से कोई साइड इफ़ेक्ट होते हैं?

डॉक्टर से पूछें बिना लेवोसेटिरिज़िन का सेवन ना करें। इसके सेवन से कुछ साइड-इफेक्ट्स भी होते हैं जैसे एलर्जी के लक्षण जैसे त्वचा पर खुजली, होंठ, जीभ, चेहरे या गले में सूजन आना, गुर्दे से संबंधित समस्या होना।


क्या लेवोसेटिरिज़िन का उपयोग गर्भवती महिला के लिए ठीक है?

हर महिला की स्थिति अलग होती है, इसलिए डॉक्टर से पूछें बिना लेवोसेटिरिज़िन का सेवन ना करें। हालांकि, किसी भी प्रेग्नेंट महिला के पेट में पल रहे बच्चे पर इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है।

क्या लेवोसेटिरिज़िन का उपयोग स्तनपान करने वाली महिलाओं के लिए ठीक है?

स्तनपान कराने वाली महिलाओं को लेवोसेटिरिज़िन खाने से कुछ विपरीत प्रभाव हो सकते है, इसलिए पहले डॉक्टर से सलाह लें। 6 महीने से कम उम्र के बच्चे के लिए इसका सेवन वर्जित है।

क्या मनोवैज्ञानिक विकार या मानसिक समस्याओं की स्थिति वाले रोगी को ये दवा लेनी चाहिए?

जिन लोगों को मानसिक समस्या या मनोवैज्ञानिक विकार की समस्या होती है और वो इसकी दवाई ले रहे होते हैं तो दोनों दवाइयों का एक साथ सेवन हानिकारक हो सकता है।

लेवोसेटिरिज़िन का उपयोग गुर्दे पर प्रभाव डालता है?

कभी-कभी लेवोसेटिरिज़िन का उपयोग किडनी को नुकसान पहुंच सकता है इसलिए इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह करें।

कॉल

व्हाट्सप्प

अपॉइंटमेंट बुक करें