Cefixime dawa

सेफीक्सीम - डोज़, उपयोग फ़ायदे और दुष्प्रभाव

Cefixime - Dose, use, benefits and side-effects in hindi

Cefixime ke dose, upyog, fayde aur side-effects in hindi

एक नज़र

  • सेफीक्सीम दवा का उपयोग बैक्टीरियल इन्फेक्शन या जीवाणु संक्रमण का इलाज करने के लिए प्रयोग किया जाता है।
  • इस दवा के कुछ साइड इफेक्ट्स भी हो सकते है जैसे इसके कुछ आम साइड इफेक्ट्स हैं - डायरिया, पेट दर्द, गैस, हार्टबर्न, जी मचलना और उल्टी।
  • सेफीक्सीमएक एंटीबायोटिक दवा है जो बैक्टीरिया इन्फेक्शन को रोकता है।

सेफीक्सीम (cefixime) सेफालोस्पोरिन (cephalosporin) की श्रेणी में आने वाली एक एंटीबायोटिक दवा होती है, जिसका उपयोग शरीर में बैक्टीरिया संक्रमण के उपचार के लिए किया जाता है।

सेफीक्सीम दवा का उपयोग बैक्टीरियल इन्फेक्शन (bacterial infections) या जीवाणु संक्रमण का इलाज करने के लिए प्रयोग किया जाता है जैसे ब्रोंकाइटिस, गोनोरिया, कान का इन्फेक्शन, गले का इन्फेक्शन, मूत्र पथ के संक्रमण और टॉन्सिल्स (tonsils) आदि।

लेकिन इन्फेक्शन वायरस और फंगल से हुआ है तो सेफीक्सीम टैबलेट उपयोगी नहीं होती है। सेफिक्सिम दवा का उपयोग फ्लू, सर्दी, या अन्य वायरल संक्रमण में नहीं होता है।

इस दवा के कुछ साइड इफेक्ट्स भी हो सकते है जैसे इसके कुछ आम साइड इफेक्ट्स हैं - डायरिया, पेट दर्द, गैस, हार्टबर्न, जी मचलना और उल्टी।

ये दुष्प्रभाव आमतौर पर कुछ समय के बाद सही हो जाते हैं लेकिन अगर ये लक्षण गंभीर हैं, तो हमें अपने डॉक्टर से सलाह करनी चाहिए।

इसके कुछ गंभीर साइड इफेक्ट्स होते हैं जैसे पित्ती, सांस लेने में कठिनाई, रैशेस, पेट में ऐंठन, खुजली, चेहरे पर सूजन, जीभ और गले में सूजन आदि।

मुझे सही डॉक्टर के चुनाव में मदद चाहिए

हमारे मेडिकल एक्सपर्ट आपको अनुभवी व नज़दीकी डॉक्टर से अपॉइंटमेंट बुक कराने में मदद करेंगे

loading image

इस लेख़ में/\

  1. सेफीक्सीम की खुराक क्या होनी चाहिए?
  2. सेफीक्सीम की सलाह कब दी जा सकती है?
  3. सेफीक्सीम कैसे काम करती है?
  4. सेफीक्सीम के साइड इफेक्ट्स क्या हैं?
  5. सेफीक्सीम के दुष्प्रभाव से कैसे बचें ?
  6. इन दवाओं के साथ सेफीक्सीम का सेवन हो सकता है खतरनाक
  7. पूछे गए प्रश्न
 

1.सेफीक्सीम की खुराक क्या होनी चाहिए?

What should be the dose of Cefixime in hindi

Cefixime ki khurak kya honi chahiye in hindi

इस दवा को अपने डॉक्टर द्वारा निर्देशित समय और डोज़ में लें। आप इसे भोजन के साथ या बिना ले सकते हैं।

बच्चों में, यह दवा दिन में दो बार दी जा सकती है। यदि आप चबाने वाली गोलियां ले रहे हैं, तो पहले उन्हें अच्छी तरह चबाएं और फिर निगल लें।

एक व्यक्ति की खुराक उसकी चिकित्सा स्थिति और उपचार की प्रतिक्रिया पर आधारित होती है, अपने आप इसकी खुराक कम या ज्यादा ना करें।

बच्चों में इसकी खुराक उनके वजन पर आधारित होती है। अच्छे परिणामों के लिए इस एंटीबायोटिक को हर दिन एक ही समय पर लें।

इस दवा की पूर्ण खुराक लेनी चाहिए, इसकी अधूरी खुराक लेने से बैक्टीरिया संक्रमण के लक्षण वापिस आ सकते हैं। अगर आपको इस दवा को लेने के बाद कुछ गंभीर लक्षण दिखाई दें तो तुरंत अपने डॉक्टर को संपर्क करें।

कैप्सूल -

400 मिलीग्राम

टैबलेट -

  • 100mg
  • 200 mg

ओरल सस्पेंशन -

  • 100mg / 5ml
  • 200 मिग्राम/ 5mL
  • 500 मिलीग्राम/ 5mL

मैं कन्फ्युज हूँ, मुझे मदद चाहिए

हमारे मेडिकल एक्सपर्ट उपचार की योजना तैयार करने में आपकी सहायता करेंगे

loading image
 

2.सेफीक्सीम की सलाह कब दी जा सकती है?

What are the situations in which Cefixime can be suggested in hindi

Cefixime ka sevan kab kiya ja sakta hai in hindi

निम्न स्थितियों में सेफीक्सीम लेने की सलाह दी जाती है : -

  • ब्रोंकाइटिस (Bronchitis)

ब्रोंकाइटिस एक ऐसी स्वास्थ्य स्थिति होती है जिसमें श्वसन पथ में वायरल संक्रमण होने के कारण ब्रोन्कियल ट्यूब (bronchial tube) में सूजन आ जाती हैं। इसके लक्षणों में शामिल हैं - बलगम का गाढ़ा होना, सांस की तकलीफ़ आदि।

  • मूत्र पथ के संक्रमण (Urinary tract infection)

इसका उपयोग मूत्र पथ में विभिन्न प्रकार के जीवाणु संक्रमणों के इलाज के लिए किया जाता है। इसके लक्षण होते हैं -पेशाब में दर्द, अधिक या कम मूत्र आना, मूत्र में खून आना, मूत्र करते समय दर्द होना।

  • गोनोकोकल संक्रमण (Gonococcal infection)

गोनोकोकल संक्रमण या गोनोरिया एक यौन संचारित इन्फेक्शन है जो नीसेरिया गोनोरिया बैक्टीरिया (neisseria gonorrhoeae bacteria) के कारण होता है। इसके लक्षणों में मूत्र करते समय दर्द होना शामिल हैं।

  • ओटिटिस मीडिया (Otitis Media)

आमतौर पर यह एक कान का इन्फेक्शन होता है जिसमें कान के पीछे या उसके आसपास के स्थान पर संक्रमण हो जाता हैं। इसके लक्षण कान में दर्द, बुखार, कान से पस या तरल पदार्थ आना आदि होते हैं।

  • स्किन इन्फेक्शन (Skin And Structure Infection)

इस दवा का उपयोग त्वचा संक्रमण होने पर भी दिया जाता हैं। त्वचा संक्रमण के लक्षणों में शामिल हैं - त्वचा पर फोड़ा होना, मस्से आना, सेल्युलाइटिस (cellulitis) आदि।

  • बैक्टीरियल मैनिंजाइटिस (Bacterial Meningitis)

बैक्टीरियल मैनिंजाइटिस का सबसे गंभीर प्रकार का रोग होता है जिसके कारण मृत्यु होना या स्थायी विकलांगता हो सकती है। मेनिनजाइटिस मेनिन्जेस (meninges) को प्रभावित करता है जो कि मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी के आस पास की एक झिल्ली होती है और साथ ही नर्वस सिस्टम की रक्षा करती हैं।

  • बैक्टीरियल सेप्टीसीमिया (Bacterial Septicemia)

बैक्टीरियल सेप्टीसीमियाएक एक गंभीर ब्लड स्ट्रीम इन्फेक्शन (stream infection) होता हैं जिसे रक्त विषाक्तता के नाम से भी जाना जाता है। यह रोग तब होता है जब शरीर के कुछ हिस्सों जैसे फेफड़े या त्वचा में एक बैक्टीरिया इन्फेक्शन हो जाता है जो ब्लड को विषाक्त कर देता हैं। यह रोग जानलेवा होता है।

  • निमोनिया (Pneumonia)

निमोनिया बैक्टीरिया, वायरस और फंगस से एक या दोनों फेफड़ों में होने वाला संक्रमण है। इस संक्रमण के कारण फेफड़ों की थैली में हवा भरने से सूजन आ जाती है, जिसे एल्वियोली (alvioli) कहा जाता है। जब एल्वियोली द्रव या मवाद से भर जाती है तो सांस लेना मुश्किल हो जाता है।

  • हड्डी और जोड़ों का संक्रमण (Bone And Joint Infections)

हड्डी के संक्रमण को ऑस्टियोमाइलाइटिस (osteomyelitis) कहा जाता है और जॉइंट संक्रमण को सेप्टिक अर्थराइटिस (septic arthritis) कहते है। हड्डी के संक्रमण और जॉइंट संक्रमण स्टैफिलोकोकस ऑरियस (staphylococcus aureus) नामक बैक्टीरिया के कारण होते हैं।

 

3.सेफीक्सीम कैसे काम करती है?

How Cefixime works in hindi

Cefixime kaise karti hai kaam in hindi

सेफीक्सीमएक एंटीबायोटिक दवा है जो बैक्टीरिया इन्फेक्शन को रोकता है। यह बैक्टीरिया की कोशिका को बनने से रोकता है जो उनके जीवित रहने के लिए आवश्यक है।

इसका उपयोग ब्रोंकाइटिस, गोनोरिया, कान के इन्फेक्शन, गले के इन्फेक्शन, टॉन्सिल और अन्य बैक्टीरियल इन्फेक्शन के उपचार में किया जाता है।

मैं कन्फ्युज हूँ, मुझे मदद चाहिए

हमारे मेडिकल एक्सपर्ट उपचार की योजना तैयार करने में आपकी सहायता करेंगे

loading image
 

4.सेफीक्सीम के साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

What are the side-effects of Cefixime in hindi

Cefixime ke side-effects kya hai in hindi

सेफीक्सीम के सेवन से नुक्सान के रूप में कुछ सामान्य दुष्प्रभाव हैं जैसे- अपच की समस्या, मतली आना, पेट दर्द और थकान। सेफीक्सीम का उपयोग करने से साइड इफ़ेक्ट भी हो सकते है।

सेफीक्सीम के कुछ दुष्प्रभाव होते है जैसे : -

  • तेज पेट दर्द होना या दस्त लगना जिसमें मल के साथ खून का आना
  • पीलिया जिसमें त्वचा या आंखों का पीला होना
  • मूत्र का रंग बदलना जैसे गहरे रंग का मूत्र आना
  • शरीर में कमजोरी महसूस होना
  • शरीर में ऐंठन
  • अधिक कमजोरी या बीमार महसूस करना
  • बुख़ार, ठंड लगना, फ्लू जैसे लक्षण
  • मसूड़ों में सूजन, मुंह के छाले
  • दिल की धड़कन का बढ़ना
  • असामान्य रक्तस्राव
  • बहुत कम या अधिक मूत्र आना
  • पैरों या टखनों में सूजन
  • चेहरे या जीभ में सूजन
  • आंखों में जलन
  • अपच
  • मतली उल्टी
  • योनि की खुजली या स्त्राव।
 

5.सेफीक्सीम के दुष्प्रभाव से कैसे बचें ?

How to avoid the side-effects of Cefixime in hindi

Cefixime ke dushprabhav se kaise bache in hindi

सेफीक्सीम के दुष्प्रभाव से बचने के तरीके : -

  • इस दवा को शराब के साथ न लें।
  • सभी दवाएं हर व्यक्ति पर अलग असर करती हैं इसलिए इस दवा को शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर के साथ सभी संभावित इंटरेक्शन के बारे में सलाह कर लें।
  • स्तनपान के दौरान इस टेबलेट का उपयोग न लें।
  • अधिक मात्रा में इस दवा का सेवन करने से कुछ दुष्प्रभाव हो सकते हैं।
  • इस दवा से मूत्र में ग्लूकोज (चीनी) के कुछ परीक्षण असामान्य परिणाम दिखा सकते हैं, इसलिए ऐसे किसी टेस्ट को करवाने से पहले अपने डॉक्टर को बताएं कि आप सेफ़िक्सम का उपयोग कर रहे हैं।
  • सेफीक्सीम को सामान्य तापमान में रखें और इसको गर्मी और धूप आदि से बचाकर रखें।
  • सेफीक्सीम की खुराक निश्चित समय पर लें।
  • सेफीक्सीम को निगलने से पहले चबाया जाना चाहिए।

अगर आपको इनमें से कोई भी समस्या या बीमारी है तो इस टेबलेट से सेवन से पहले अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लें : -

  • इस दवा का उपयोग गैस्ट्रोइंटेस्टिनल डिजीज (gastrointestinal diseases) के इतिहास वाले लोगों खासकर कोलाइटिस वाले रोगियों में अत्यधिक सावधानी के साथ किया जाना चाहिए। इस दवा के सेवन से कोलाइटिस के रोगी की हालत बिगड़ने का जोखिम रहता है। कोलाइटिस के मरीज़ द्वारा इस दवा के सेवन से दस्त, पेट दर्द और मल में आना आदि हो सकता हैं, ऐसा होने पर डॉक्टर को सूचित करें।
  • जब तक आवश्यक न हो, गर्भवती महिलाओं का इसका उपयोग नहीं करना चाहिए। इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर के साथ सभी जोखिमों और लाभ के बारे में चर्चा कर लें।
  • जब तक आवश्यक न हो स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इसका उपयोग नहीं करना चाहिए। इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर के साथ सभी जोखिमों और लाभ के बारे में चर्चा कर लें।
  • रक्तस्राव विकार वाले रोगियों को इस दवा का उपयोग सावधानी से करना चाहिए।
  • गुर्दे के रोग वाले लोगों को इसका सेवन सावधानी से करना चाहिए।
  • इस दवा का उपयोग 12 वर्ष से कम आयु के रोगियों के लिए अनुशंसित नहीं है।

मुझे सही डॉक्टर के चुनाव में मदद चाहिए

हमारे मेडिकल एक्सपर्ट आपको अनुभवी व नज़दीकी डॉक्टर से अपॉइंटमेंट बुक कराने में मदद करेंगे

loading image
 

6.इन दवाओं के साथ सेफीक्सीम का सेवन हो सकता है खतरनाक

Consumption of Cefixime can be dangerous with these drugs in hindi

in davaon ke sath Cefixime ka sevan ho sakta hai khatarnak in hindi

कुछ दवाओं का सेवन किसी अन्य दवा के साथ सेवन करने से दुष्प्रभाव हो सकते है जैसे

निम्नलिखित कुछ ऐसी दवाइयां हैं जिनके साथ इस टेबलेट का उपयोग करने से बचना चाहिए : -

  • कॉलरा वैक्सीन (Cholera Vaccine)
  • एथीनील ऐस्ट्राडिओल (Ethinyl Estradiol)
  • एमिकासिन (Amikacin)
  • साइक्लोस्पोरिन (Cyclosporine)

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि:: 24 Aug 2020

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

विशेषज्ञ सलाहASK AN EXPERT

अक्सर पूछे गए प्रश्न

इस दवा का प्रभाव असर कब शुरू होता है और कितनी अवधि तक रहता है?

सेफीक्सीम का असर शरीर में 3-4 घंटे के भीतर देखा जा सकता है और 3 -4 दिन तक रहता है।

सेफीक्सीम के साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

सेफीक्सीम के कुछ सामान्य दुष्प्रभाव होते हैं जैसे पेट दर्द, डायरिया, हाथ और पैर में सूजन आना, चेहरे, होंठ, पलकों पर सूजन, चक्कर आना आदि। इसके कुछ दुष्प्रभाव गंभीर भी हो सकते है जैसे पेट में ऐंठन, रैशेस, खुजली, पित्ती, सांस लेने में कठिनाई आदि।

क्या इस दवा का सेवन गर्भवती महिला के लिए सुरक्षित है?

गर्भावस्था की योजना कर रही महिलाओं या गर्भवती महिला को सेफीक्सीम का सेवन नहीं करना चाहिए। अगर जरूरी लगे तो डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

क्या इसकी आदत पड़ जाती है?

सेफीक्सीम ऐसी दवा नहीं जिसका आपको आदत लग जाए क्योंकि यह एक एंटी बायोटिक दवा हैं।

स्तनपान करवा रही महिलाओं को इसका सेवन करना चाहिए या नहीं?

स्तनपान कराने वाली महिलाओं को सेफीक्सीम का सेवन नहीं करना चाहिए। अगर किसी अवस्था में आपको इसकी जरूरत लगती है तो डॉक्टर के साथ परामर्श करना आवश्यक होता है।

इस दवा के साथ शराब का सेवन कर सकते है?

शराब और सेफीक्सीम का सेवन एक साथ करने से कई स्वास्थ्य समस्या हो सकती हैं, इसलिए ऐसा करने से बचें।

इसका उपयोग कर कार या कोई भी व्हीकल चलाना सुरक्षित है?

सेफीक्सीम से आपको थकान होना और नींद आना स्वाभाविक है। इसलिए इसका उपयोग कर कार या कोई भी व्हीकल चलाना सुरक्षित नहीं है।

कॉल

व्हाट्सप्प

अपॉइंटमेंट बुक करें