तनाव लेने से हो सकती है आपको ये बीमारियां

You may have these diseases due to stress in hindi

tanav lene se ho sakti hai aapko ye bimariyan


एक नज़र

  • थोड़ा तनाव भी बन सकता है, कई बड़ी बीमारियों की वज़ह।
  • अधिक समय तक तनाव में रहने से आप अवसाद (depression) में भी जा सकते हैं।
  • ह्रदय रोगों (heart disease) का मुख्य कारण अक्सर तनाव ही होता है।
  • तनाव की वजह से अस्थमा होने का भी बढ़ जाता है खतरा।
triangle

Introduction

tanav_lene_se_ho_sakti_hai_aapko_ye_bimariyan

तनाव को लेकर हम ज्यादा गंभीर नही रहते हैं लेकिन रिसर्च से साबित हुआ है कि कई बड़ी बीमारियों का मुख्य कारण तनाव ही होता है।

स्ट्रेस लेने की वज़ह से आपको ह्रदय रोग (Heart Disease), अस्थमा, मोटापा (obesity), मधुमेह (Diabetes), मायग्रेन (Migrain), डिप्रेशन (Depression) , अल्जाइमर (Alzheimer) जैसी गंभीर बीमारियां हो सकती हैं।

इस आर्टिकल के ज़रिये आपको बताते हैं कि तनाव के कारण कौन-कौन सी बीमारियां हो सकती हैं।

loading image

इस लेख़ में

 

तनाव ही है ह्रदय रोग की बड़ी वजह

Stress is the main cause of heart disease in hindi

stress ke karan kyon badh jata hai hridya rog ka khatra

तनाव से अचानक ही ब्लड प्रेशर और हार्ट बीट्स बढ़ जाती है, जो कभी-कभी हार्ट अटैक का कारण बनती हैं।

अक्सर कई बार देखा गया है कि किसी दुखद घटना या सदमे से हार्ट बीट्स अनियंत्रित होकर ह्रदयघात (heart attack) का कारण बनती है।

टेंशन लेने से ब्लड में कोलेस्ट्रोल (cholesterol) और ट्रायग्लिसराइड (triglycerides) की मात्रा भी बढ़ जाती है, जिससे ह्रदय धमनियां (heart arteries) ब्लॉक हो जाती है और हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है।

loading image
 

तनाव की वजह होती है गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याएं

Gastrointestinal problems due to stress in hindi

tanaw ki wajah se kyon hoti Gastrointestinal se judi samasya

तनावपूर्ण जीवनशैली से उपजने वाली अन्य गंभीर बीमारी गेस्ट्रो एसोफेगल रिफ्लक्स डिसीज (gastroesophageal reflux disease- GERD), पेट में छाले (ulcers), अपच (indigestion) और एसिडिटी (acidity) शामिल है।

स्ट्रेस का असर शरीर की हर सेल्स पर पड़ता है, इसलिए शरीर के हर हिस्से की बीमारी का कारण भी तनाव हो सकता है।

और पढ़ें:अकेलापन कैसे दूर करें
 

तनाव की वज़ह से होती है तेजी से एजिंग की समस्या

Accelerated aging due to stress in hindi

tanav ki wajah se kyon hoti hai ajing ki samasya

तनावपूर्ण जीवन से शरीर की कोशिकाए भी प्रभावित होती है और उनकी औसत उम्र कम हो जाती है।

जिससे व्यक्ति उसकी उम्र से पहले ही बुढा दिखाई देने लगता है।

महिलाओं पर की गई एक रिसर्च में पाया गया कि अधिक तनावग्रस्त महिलाओं के गुणसूत्रों (Chromosomes) में बदलाव पाया गया और वो अन्य महिलाओं से अधिक उम्र की दिखाई देने लगी।

loading image
 

तनाव की वज़ह से होती है अस्थमा की बीमारी

Asthma due to stress in hindi

kya tanav ke karan hoti hai asthma ki samasya

हालांकि तनाव का अस्थमा की बीमारी से सीधा संबंध नहीं है।

अस्थमा के मुख्य कारण एलर्जी, प्रदूषण और अनुवांशिक ही माने जाते हैं, मगर कई आधुनिक रिसर्च से यह साबित हुआ है कि तनाव अस्थमा को अधिक गंभीर बना देता है।

यहां तक कि तनावग्रस्त पेरेंट्स के बच्चों में भी अस्थमा होने की सम्भावना बहुत अधिक बढ़ जाती है।

इसलिए अगर किसी को अस्थमा (दमा) की बीमारी है, तो ये बहुत जरूरी है कि इसे तनाव की वज़ह से और अधिक नुकसानदायक ना होने दे।

और पढ़ें:अच्छी नींद और मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के लिए आहार
 

तनाव की वज़ह से होती है मोटापे की समस्या

Obesity due to stress in hindi

tanav kyon bnata hai obesity ka shikar

तनाव मुख्य रूप से शरीर में कोर्टिसोल (cortisol) हार्मोन की मात्रा को बढ़ा देता है, जो डाइजेशन (digetion) को नियंत्रित करने का काम करता है।

डाइजेशन के बिगड़ जाने से पेट के आसपास चर्बी (fat) की मात्रा अधिक बढ़ जाती है, जो मोटापे का कारण बनकर कई बीमारियों को आमंत्रण देती है।

टेंशन लेने से ब्लड में ट्रायग्लिसराइड (triglycerides) की मात्रा भी बढ़ जाती है, जो फैट बढाकर मोटापे की बीमारी देती है।

और पढ़ें:अच्छी नींद के लिए घरेलू उपाय
 

तनाव की वज़ह से होती है मधुमेह की बीमारी

Diabetes due to stress in hindi

tanav ki wajah se hoti hai madhumeh ki bimari

तनाव मधुमेह (diabetes) को दो तरीके से बढाता है।

पहला, तनाव में व्यक्ति अक्सर अनहेल्थी भोजन करता है।

दूसरा, ये कि तनाव में व्यक्ति अल्कोहल (alcohol) का भी सेवन करता है जो डायबिटीज को बढाता है।

वही तनाव टाइप-२ डायबिटीज वाले व्यक्ति में ग्लूकोज (glucose) का स्तर बढ़ा देता है।

और पढ़ें:अनिद्रा में क्या खाएं
 

तनाव की वज़ह से आप हो सकते अवसाद के शिकार

Depression due to stress in hindi

tanav ki wajah se aap ho sakte hain awsaad ke shikar

अधिक समय तक रहने वाला तनाव अवसाद को जन्म देता है।

जो गंभीर मानसिक स्थिति उत्पन्न करता है।

अवसाद से उबरना बहुत ही मुश्किल हो जाता है।

अवसाद ग्रस्त व्यक्ति आत्महत्या भी कर सकता है।

और पढ़ें:अनिद्रा: एक सपने देखने वाला दुःस्वप्न
 

निष्कर्ष

Conclusion in hindi

nishkarsh in hindi

इस प्रकार जीवन में उत्पन्न छोटा सा तनाव बड़ी बीमारियों को निमंत्रण देता है।

व्यक्ति को सीरियस होकर तनाव की वज़ह से होने वाली बीमारियों को ध्यान में रखकर तनाव से दूर रहने की कोशिश करनी चाहिए ।

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 22 May 2019

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

तनाव के कारण, लक्षण, प्रकार, बचाव और उपचार

तनाव के कारण, लक्षण, प्रकार, बचाव और उपचार

10 भारतीय मशहूर हस्तियां जो हुए थे एंग्जायटी या अवसाद के शिकार

10 भारतीय मशहूर हस्तियां जो हुए थे एंग्जायटी या अवसाद के शिकार

बेचैनी के कारण रात को नींद ना आए तो क्या करें

बेचैनी के कारण रात को नींद ना आए तो क्या करें

जानें पैरों की थकान दूर करने के उपाय

जानें पैरों की थकान दूर करने के उपाय

अचानक घबराहट होना - कारण, लक्षण और उपचार

अचानक घबराहट होना  -  कारण, लक्षण और उपचार
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad