मेसा - प्रक्रिया, जोख़िम और फ़ायदे

MESA - procedure, risks and advantages in hindi

MESA kya hai, kab kiya jata hai, iske risks aur fayde kya hain in hindi


एक नज़र

  • मेसा शुक्राणु को प्राप्त करने के लिए की गयी सर्जरी की प्रक्रिया है।
  • पुरुष बांझपन की समस्याओं के इलाज़ के लिए मेसा का प्रयोग किया जाता है।
  • मेसा के माध्यम से शुक्राणु प्राप्ति की प्रक्रिया में केवल 30-45 मिनट लगते हैं।
  • मेसा प्रक्रिया के जहां बहुत सारे लाभ हैं वहीं कुछ जोखिम भी हैं।
triangle

Introduction

MESA male infertility | Zealthy

माइक्रो-एपिडीडिमल स्पर्म एस्पिरेशन (Micro Epididymal Sperm Aspiration) को शॉर्ट में मेसा (MESA) कहा जाता है।

पुरुष बांझपन (male infertility) की समस्याओं और प्रजनन रुकावट के इलाज के लिए शुक्राणु प्राप्त करने की सर्जिकल तकनीक है मेसा।

पुरुष नसबंदी सहित विभिन्न जननांग सर्जरी (genital surgeries) के कारण प्रजनन पथ (reproductive tract) अवरुद्ध हो सकता है।

इस प्रक्रिया के तहत, ऑपरेटिंग माइक्रोस्कोपी (operating microscopy) का उपयोग किया जाता है और पुरुष जननांग में सीधे एपिडीडिमिस (epididymis) अंग से शुक्राणु पुनर्प्राप्ति किया जाता है।

मेसा का उपयोग आमतौर पर असिस्टेड रिप्रोडक्टिव टेक्नोलॉजी (Assisted Reproductive Technology) जैसे आईवीएफ (IVF) के माध्यम से निःसंतान दंपतियों के लिए गर्भावस्था की सहायता के लिए किया जाता है।

इसमें अंडकोश को खोलने और शुक्राणु को पुनः प्राप्त करने के लिए सर्जरी शामिल है। यह मेसा प्रक्रिया कुछ दिनों के लिए दर्द का कारण बनती है।

loading image

इस लेख़ में

 

मेसा का उपयोग कब किया जाता है?

When is MESA used? in hindi

MESA kin rogon ke ilaj mein sahayak hai in hindi

इस तकनीक का उपयोग तब किया जाता है जब पिता के विभिन्न कारणों से शुक्राणु उत्पादन में समस्या होती है जैसे :

  • एज़ोस्पर्मिया (Azoospermia)
    जब शुक्राणु रिपोर्ट (sperm culture report ) में वीर्य में शून्य शुक्राणु, यानि स्पर्म पूरी तरह से गायब पाया जाता है तो मेसा का सुझाव दिया जा सकता है।
  • ओलिगोस्पर्मिया (Oligospermia)
    एक ऐसी अवस्था है जिसमें वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या काफी कम होती है।
    जब पुरुष ओलिगोस्पर्मिया से ग्रस्त हो तो मेसा का सुझाव तब दिया जाता है।
  • जननांग सर्जरी (Genital surgeries)
    यदि पुरुष की जननांग सर्जरी (genital surgeries), जैसे कि पुरुष नसबंदी (स्थायी गर्भनिरोधक के लिए पुरुष नसबंदी सर्जरी) और इंगुनाल हर्निया रिपेयर ( inguinal hernia repair), जो कि कमर में हर्निया को ठीक करने वाली सर्जरी है, हुई हो तो मेसा मददगार होता है।
  • सिस्टिक फाइब्रोसिस (Cystic fibrosis)
    सिस्टिक फाइब्रोसिस (cystic fibrosis) से पीड़ित पुरुषों को भी मेसा का सुझाव दिया जाता है।
    यह फेफड़ों को प्रभावित करने वाला एक आनुवंशिक विकार है, जो शुक्राणुओं को अंडकोष तक ले जाने वाले वास डेफेरेंस-ट्यूब (vas deferens-tube) के विकास को प्रभावित करके पुरुष बांझपन की समस्या पैदा करता है।

  • सिस्ट (Cysts)
    जब सिस्ट (cysts) के कारण पुरुष को सेमिनल टिश्यू (seminal tissues) या वास डेफेरेंस (vas deferens) के ब्लॉकेज की समस्या होती है तो मेसा की आवश्यकता होती है।
loading image
 

मेसा की प्रक्रिया क्या है?

What is MESA procedure? in hindi

MESA ka process kya hai in hindi

मेसा प्रक्रिया बहुत हल्की और कम आक्रामक (invasive) है।

मेसा के माध्यम से शुक्राणु पुनर्प्राप्ति की पूरी प्रक्रिया में केवल 30-45 मिनट लगते हैं।

विस्तृत मेसा प्रक्रिया इस प्रकार है :-

1. मरीज को बेहोश करने के लिए सामान्य या स्थानीय (general or local anesthesia) दिया जाता है।

2. अंडकोश की त्वचा (scrotal skin) को एंटीसेप्टिक के साथ स्टर्लाइज़ (sterilize) किया जाता है और सर्जरी के लिए तैयार किया जाता है।

3- सर्जन अंडकोष और एपिडीडिमिस (epididymis)को उजागर करने वाली अंडकोश की त्वचा में एक चीरा बनाता है।

4. सिंगल एपिडीडिमल ट्यूब्यूल (single epididymal tubule) का पता लगाने के लिए माइक्रोस्कोप का उपयोग किया जाता है।

5. शुक्राणु को एपिडीडिमिस से पुनर्प्राप्त किया जाता है और स्पर्म कल्चर या सामान्य वीर्य विश्लेषण परीक्षण (sperm culture or general semen analysis test) का उपयोग करके प्रयोगशाला में परीक्षण किया जाता है।

6. पुनः प्राप्त शुक्राणु का उपयोग आईवीएफ (इन-विट्रो फर्टिलाइजेशन) के लिए किया जा सकता है या भविष्य के आईवीएफ के लिए फ्रोजन (frozen) किया जा सकता है।

और पढ़ें:अंतर्गर्भाशयी गर्भाधान की सफलता को प्रभावित करने वाले मुख्य कारक
 

मेसा के लाभ क्या हैं?

What are the benefits of MESA? in hindi

MESA ke labh in hindi

मेसा के लाभ इस प्रकार हैं :-

  • मेसा फायदेमंद है क्योंकि यह आपको शुक्राणु की एक बड़ी मात्रा को प्राप्त करने की सुविधा देता है, जो भविष्य में आईवीएफ साइकल में भी उपयोग करने के लिए फ्रोजन हो सकता है।
  • मेसा उन जोड़ों को लाभ देता है जो डोनर स्पर्म नहीं चाहते हैं और अपने जैविक बच्चे चाहते हैं।
  • मेसा प्रक्रिया कम आक्रामक होती है और माइक्रोसर्जरी, यानि कि बहुत हल्की सर्जरी की जरूरत होती है।
  • मेसा शुक्राणु को पुनः प्राप्त करने का सबसे अच्छा तरीका है यदि टेसा (testicular sperm aspiration) विफल रहता है या जब टेसा के माध्यम से शुक्राणु पुनर्प्राप्ति संभव नहीं होती।
loading image
 

मेसा के जोखिम क्या हैं?

What are the risks of MESA? in hindi

MESA ke labh aur risks in hindi

मेसा जोखिम इस प्रकार हैं :-

  • मेसा के बाद हेमाटोमा (haematoma) का ख़तरा (अंडकोश की थैली में खून के साथ सूजन) रहता है।
  • मेसा के बाद 3 से 14 दिनों तक चलने वाला हल्का दर्द आम है।
  • मेसा के बाद कुछ रोगियों में अंडकोश की त्वचा के रंग में बदलाव के साथ अंडकोष की सूजन भी देखी जाती है।
  • चीरा के स्थान पर संक्रमण का ख़तरा (सूजन, लालिमा, दाने, खुजली) सर्जरी के एक सप्ताह बाद तक बनी रहती है।
  • मेसा के बाद यौन क्रिया और मसालेदार भोजन से बचना चाहिए क्योंकि ये क्रमशः रोगी के पेल्विक और आस-पास के क्षेत्र को जटिल बना सकते हैं।
और पढ़ें:आईएमएसआई आईवीएफ क्या है?
 

टेसा को मेसा पर कब पसंद किया जाता है?

When is TESA preferred over MESA? in hindi

TESA MESA se behtar kyon hai in hindi

यदि मेसा की प्रक्रिया के दौरान कोई शुक्राणु नहीं मिलते हैं, तो टेसा (TESA-Testicular Sperm Aspiration) करने की आवश्यकता है।

टेसा मेसा की तुलना में अधिक उन्नत तकनीक है जिसमें अपरिपक्व शुक्राणु भी अंडे फर्टिलाइज कर सकते हैं।

loading image
 

निष्कर्ष

Conclusionin hindi

Nishkarsh

मेसा एज़ोस्पर्मिया जैसे रोगों में काफी लाभदायक है और मेल इन्फर्टिलिटी (male infertiltiy) का एक कारगर इलाज़ है।

यह एक माइक्रो सर्जरी है और इसके जोखिम भी बहुत कम है, हालांकि टेसा मेसा से भी उन्नत तकनीक है और जहां शुक्राणु नहीं मिलते हैं, वहाँ टेसा का उपयोग किया जाता है।

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 03 Jun 2020

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

15 से अधिक सुपर फूड जो स्पर्म काउंट और स्पर्म मोटेलिटी बढ़ा सकते हैं

15 से अधिक सुपर फूड जो स्पर्म काउंट और स्पर्म मोटेलिटी बढ़ा सकते हैं

पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज - पीआईडी के लक्षण, कारण और इलाज़

पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज - पीआईडी के लक्षण, कारण और इलाज़

हिस्टेरोसलपिंगोग्राम - बेस्ट फैलोपियन ट्यूब टेस्ट - प्रक्रिया व जोख़िम

हिस्टेरोसलपिंगोग्राम - बेस्ट फैलोपियन ट्यूब टेस्ट - प्रक्रिया व जोख़िम

टेराटोज़ोस्पर्मिया - कारण, प्रकार व उपचार

टेराटोज़ोस्पर्मिया - कारण, प्रकार व उपचार

नक्स वोमिका से पुरुष बांझपन का इलाज़

नक्स वोमिका से पुरुष बांझपन का इलाज़
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad