आईवीएफ ऐरा (ईआरए) प्रक्रिया क्या है?

What is IVF ERA procedure ?in hindi

IVF ERA prakriya kya hai in hindi?


एक नज़र

  • भ्रूण के सफल आरोपण (implantation) की संभावनाओं को बढ़ा सकता है ईआरए।
  • आईवीएफ में बार-बार मिल रही विफलताओं के बाद ईआरए कराने की दी जाती है सलाह।
  • ईआरए (ERA) टेस्ट से भ्रूण के स्थानांतरण के सही समय का पता लगाया जाता है।
triangle

Introduction

IVF_ERA_procedure___Zealthy

दंपति जो स्वाभाविक रूप से गर्भ धारण करने में सक्षम नहीं हैं, वे बच्चे को पैदा करने के लिए सहायक प्रजनन तकनीकों (assistant reproductive techniques) का चयन करते हैं।

आईवीएफ अपनी उच्च सफलता दर के कारण सबसे सफल एआरटी (ART) है।

हालांकि कई मामलों में कई ऐसे कारक होते हैं जो आईवीएफ की सफलता दर को प्रभावित करते हैं।

आईवीएफ विफलता के सबसे सामान्य कारण हैं भ्रूण का कमज़ोर होना और अनरिसेप्टिव एंडोमेट्रियल लाइनिंग (unreceptive endometrial lining)।

हालांकि अब फर्टिलिटी उपचार के उन्नत तकनीकों में शामिल एंडोमेट्रियल रिसेप्टिविटी एनालिसिस (endometrial receptivity analysis) टेस्ट के माध्यम से इस समस्या को भी दूर किया जा सकता है।

आइए आपको इस लेख की मदद से एंडोमेट्रियल रिसेप्टिविटी एनालिसिस के प्रोसीजर, इसके फ़ायदे और नुकसान से रूबरू कराते हैं।

loading image

इस लेख़ में

 

एंडोमेट्रियल रेसेप्टिविटी एनालिसिस टेस्ट क्या है?

What is endometrial receptivity analysis test ?in hindi

Endometrial receptivity analysis kya hai?

एंडोमेट्रियल रिसेप्टिविटी एनालिसिस टेस्ट (endometrial receptivity analysis test) एक आनुवंशिक परीक्षण है, जो यह बताता है कि एंडोमेट्रियम रिसेप्टिव (receptive) है या नहीं।

जीन एक्सप्रेशन एंडोमेट्रियम रिसेप्टिव स्थिति का पता लगाने में मदद करता है।

इसके आधार पर आरोपण की खिड़की (implantation window) की गणना की जाती है।

इस टेस्ट में सफल आरोपण (implantation), गर्भावस्था को बढ़ावा देने, गर्भाशय में एक भ्रूण को रखने, इष्टतम (optimum) समय का आकलन करने और 236 जीन की अभिव्यक्ति के स्तर का विश्लेषण करने के लिए उपलब्ध नई वैज्ञानिक तकनीकों (latest scientific technology) का उपयोग किया जाता है।

इष्टतम (optimum) समय पर लगभग 80% महिलाओं की आरोपण की विंडो (implantation window) खुलने की उम्मीद होती है।

यह जांचने के लिए कि एंडोमेट्रियम कब ग्रहणशील है, एक महिला एंडोमेट्रियल बायोप्सी से गुजरती है।

यह बायोप्सी मासिक धर्म चक्र के एक विशेष दिन पर ली जाती है।

इस दौरान महिला के गर्भाशय से एंडोमेट्रियल टिश्यू सैंपल लिया जाता है।

इन सैंपल्स का फिर विश्लेषण किया जाता है और एक व्यक्तिगत एंडोमेट्रियल रिसेप्टिविटी ईआरए (era) तैयार की जाती है।

प्रोफाइल के अनुसार इन्हें "रिसेप्टिव" (receptive) या "नॉन-रिसेप्टिव"(non-receptive) के रूप में वर्गीकृत किया जाता है।

ईआरए परीक्षण (ERA test) से भ्रूण के ट्रांसफर (transfer) के समय में बदलाव की आवश्यकता हो सकती है।

किसी व्यक्ति के परिणामों के आधार पर व्यक्तिगत भ्रूण स्थानांतरण (PET) के समय की अनुमति दी जाती है।

ऐसा करने से भ्रूण के सफल इम्प्लांटेशन की संभावना बढ़ जाती है।

loading image
 

ईआरए टेस्ट क्यों चुनें?

Why choose the ERA test ?in hindi

ERA test kyon chune in hindi?

एंडोमेट्रियल रिसेप्टिविटी एनालिसिस टेस्ट की सिफारिश हर किसी के लिए नहीं की जाती है।

ईआरए टेस्ट को रिकरेंट इम्प्लांटेशन विफलता वाली महिलाओं के लिए अनुशंसित (recommend) किया जाता है।

इन महिलाओं को दो या अधिक असफल भ्रूण स्थानांतरण वाली महिलाओं के रूप में परिभाषित किया गया है।

डॉक्टर आमतौर पर उन मरीज़ो के लिए ईआरए की सलाह देते हैं, जिनका आईवीएफ दो से अधिक बार विफल हो चुका हो या फिर जिन महिलाओं की उम्र 37 वर्ष से अधिक हैं।

जिन रोगियों के आईवीएफ चक्र (IVF cycle) अच्छे भ्रूण के साथ विफल हो गए हैं, उन्हें भी ईआरए परीक्षण की सलाह दी जाती है।

ईआरए परीक्षण एक अतिरिक्त शुल्क पर आता है और बाद के आईवीएफ चक्रों के लिए एंडोमेट्रियल रिसेप्टिविटी को निर्धारित करने में मदद करता है।

यह एंडोमेट्रियम की जीन अभिव्यक्ति (gene expression) का विश्लेषण करके किया जाता है।

आमतौर पर ईआरए परीक्षण के परिणाम आने में लगभग 3 हफ्ते लगते हैं।

अगर एक डॉक्टर को संदेह है कि आईवीएफ चक्र खराब रिसेप्टिविटी या गर्भाशय की नॉन-रेसेप्टिविटी के कारण विफल हो रहा है, तो वे आईवीएफ ट्रांसफर से पहले चक्र में ईआरए की सिफारिश कर सकते हैं।

एक और असफल आरोपण के साथ एक महीने के अंत तक भ्रूण के हस्तांतरण में देरी करना बेहतर है।

और पढ़ें:अंतर्गर्भाशयी गर्भाधान की सफलता को प्रभावित करने वाले मुख्य कारक
 

एंडोमेट्रियल रिसेप्टिविटी एनालिसिस के लाभ

Advantages of endometrial receptivity analysis in hindi

Endometrial receptivity analysis ke labh in hindi

एंडोमेट्रियल रिसेप्टिविटी एनालिसिस ने आईवीएफ उद्योग को काफ़ी लाभ दिया है।

ईआरए परीक्षण विंडो इम्प्लांटेशन (window implantation) का निर्धारण करने में पहले इस्तेमाल की गई अन्य सभी विधियों की तुलना में बहुत सटीक पाया गया है।

चलिए आपको इस टेस्ट के लाभ के बारे में बताते हैं :-

  • समय का होता है बचाव (Time saving)
    पहले आईवीएफ साइकिल में असफलता मिलने पर और फिर दूसरी बार फिर साइकिल शुरू करने पर बहुत समय बर्बाद हो जाता है।
    ईआरए अगले साइकिल में बच्चा होने की संभावना में सुधार करता है।
    ऐसे में एंडोमेट्रियल रिसेप्टिविटी एनालिसिस की मदद से अब दम्पत्तियों को बच्चे की उम्मीद करने के लिए बहुत ज़्यादा इंतज़ार नहीं करना पड़ता है।
  • सफ़ल गर्भावस्था (Successful pregnancy)
    हर एक दंपत्ति आईवीएफ की मदद से सफल गर्भावस्था की उम्मीद करते हैं लेकिन जब यह प्रक्रिया विफल हो जाती है तो वो निराश हो जाते हैं।
    ऐसे में गर्भाशय अस्तर की ग्रहणशीलता का पता लगाने में सक्षम होने के कारण डॉक्टर सही समय पर भ्रूण को स्थानांतरित करने में सफल हो जाते हैं।
    इस टेस्ट की मदद से गर्भावस्था की संभावना बढ़ जाती है।
  • पैसा की होती है बचत (Less expensive)
    आईवीएफ उपचार सस्ता नहीं है।
    बार-बार मिली असफ़लतों के कारण दंपत्ति न सिर्फ मानसिक और भावनात्मक रूप से बल्कि आर्थिक रूप से भी कमज़ोर हो जाते हैं।
    ऐसे में एंडोमेट्रियल रिसेप्टिविटी एनालिसिस की मदद से सफल भ्रूण के स्थानांतरण की संभावना बढ़ने से आईवीएफ साइकिल में बार-बार होने वाला खर्च भी बच जाता है।
loading image
 

निष्कर्ष

Conclusionin hindi

Nishkarsh

लगातार आईवीएफ साइकिल में मिल रही विफलता के बाद एक ईआरए परीक्षण भविष्य की गर्भावस्था की संभावना को बढ़ा ज़रूर सकता है।

हालांकि कई मामलों में यह सफल गर्भावस्था की गारंटी नहीं दे सकता है क्योंकि अन्य कारक, जैसे कि खराब भ्रूण गुणवत्ता (poor embryo quality) या रक्त विकार (blood disorders), इम्प्लांटेशन के फेल होने का कारण बन सकते हैं।

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 28 May 2020

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

15 से अधिक सुपर फूड जो स्पर्म काउंट और स्पर्म मोटेलिटी बढ़ा सकते हैं

15 से अधिक सुपर फूड जो स्पर्म काउंट और स्पर्म मोटेलिटी बढ़ा सकते हैं

पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज - पीआईडी के लक्षण, कारण और इलाज़

पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज - पीआईडी के लक्षण, कारण और इलाज़

हिस्टेरोसलपिंगोग्राम - बेस्ट फैलोपियन ट्यूब टेस्ट - प्रक्रिया व जोख़िम

हिस्टेरोसलपिंगोग्राम - बेस्ट फैलोपियन ट्यूब टेस्ट - प्रक्रिया व जोख़िम

टेराटोज़ोस्पर्मिया - कारण, प्रकार व उपचार

टेराटोज़ोस्पर्मिया - कारण, प्रकार व उपचार

नक्स वोमिका से पुरुष बांझपन का इलाज़

नक्स वोमिका से पुरुष बांझपन का इलाज़
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad