Samanya prasav ke liye tips in hindi

गर्भावस्था में नॉर्मल डिलीवरी के उपाय

Tips for normal delivery in pregnancy in hindi

Samanya prasav ke liye tips in hindi

एक नज़र

  • नार्मल डिलीवरी के लिए अच्छे डॉक्टर का चयन करें।
  • सामान्य प्रसव के लिए व्यायाम को दिनचर्या का हिस्सा ज़रूर बनाएं।
  • स्वस्थ और पोषक युक्त आहार लें।
  • मानसिक तनाव न लें और सकारात्मक बने रहें।
  • नार्मल डिलीवरी के लिए अच्छे डॉक्टर का चयन करें।

गर्भावस्था माँ के लिए एक अनोखा अनुभव होता है। गर्भावस्था के दौरान ख़ुशी और उत्सुकता समय के साथ बढ़ती जाती है।

यह एक महिला के जीवन का सबसे अच्छा चरण होने के साथ-साथ, कठिन चरण भी होता है क्योंकि इसमें गंभीर दर्द और असुविधा भी शामिल होती है।

गर्भावस्था के दौरान होने वाली अनगिनत परेशानियों, जटिलताओं, असुविधा और प्रसव पीड़ा से बचने के लिए कई महिलाएं अब प्रसव के वैकल्पिक तरीकों की तरफ रूख कर रहीं हैं।

सामान्य डिलीवरी में भले ही कई तरह की परेशानियों और प्रसव पीड़ा से गुजरना पड़ता है मगर बच्चे की डिलीवरी के लिए सामान्य डिलीवरी से बेहतर कोई विकल्प नहीं माना जाता।

सामान्य प्रसव न सिर्फ माँ के लिए बल्कि बच्चे के स्वास्थ के लिए भी लाभप्रद होता है। महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान अपने आप को सामान्य प्रसव के लिए तैयार करना चाहिए और नॉर्मल डिलीवरी के उपायों को भी अपनाना चाहिए।

कॉलबैक का अनुरोध करें और पाएँ मूल्य का उचित आकलन

इस लेख़ में/\

  1. नॉर्मल डिलीवरी के उपाय क्या हैं?
  2. निष्कर्ष
 

1.नॉर्मल डिलीवरी के उपाय क्या हैं?

What are the tips for normal delivery? in hindi

Samanya prasav ke liye tips in hindi

इस बात में दो राय नहीं है कि सामान्य प्रसव माँ के लिए बच्चे को जन्म देने का सबसे अच्छा तरीका है।

यह माँ के साथ-साथ बच्चे के स्वास्थ के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है।

बच्चे के प्राकृतिक जन्म के लिए निम्न उपाय हो सकते हैं कारगर :

1. इच्छा ज़ाहिर करें पर तनाव न लें (Convey your desire but do not stress)

अगर आप सामान्य प्रसव चाहती हैं तो आपको अपने डॉक्टर को इसके बारे में सूचित करना चाहिए।

लेकिन, आपको अपनी इच्छा के बारे में सूचित करते हुए पर्याप्त रूप से दृढ़ रहना चाहिए।

यह आपकी गर्भावस्था की शुरुआत से ही आपके और आपके डॉक्टर के बीच पारदर्शिता रखने में मदद करेगा।

इससे आपको अपने ऊपर किसी प्रकार का दबाव नहीं लेना पड़ेगा।

इस दौरान अपने फैसले का सम्मान करें और मज़बूत बनी रहें।

इसके साथ ही सी-सेक्शन की स्थितियों के बारे में सोचकर परेशान ना रहें।

अपने फैसले को लेकर सकारात्मक रहें।

2. नियमित रूप से व्यायाम करें (Exercising regularly)

नियमित रूप से व्यायाम करना हर व्यक्ति के लिए महत्वपूर्ण होता है और विशेष रूप से गर्भवती महिला के लिए।

अगर आपने पहले से ही सामान्य प्रसव की योजना बनाई है तो व्यायाम और अधिक महत्वपूर्ण हो जाता है।

यह आपके शरीर को प्रसव पीड़ा को सहने के लिए ताकत देने के साथ-साथ प्रसव के समय कम दर्द का अनुभव होने की संभावना को बढ़ाने में मदद करेगा।

प्रसव के समय दर्द से आराम के लिए आप नियमित रूप से व्यायाम के विभिन्न रूप जैसे योग, हल्के एरोबिक्स और मेडिटेशन कर सकती हैं।

आपको समय-समय पर विभिन्न ब्रीथिंग एक्सरसाइज़ भी करने चाहिए।

किगल व्यायाम (Kegel exercises) गर्भवती महिला के लिए बहुत लाभकारी होता है।

केगेल व्यायाम पेल्विक फ्लोर के साथ-साथ आंतरिक जांघों (inner thighs) को मज़बूत करने में भी मदद करता है।

किसी भी व्यायाम को शुरू करने से पहले आपको अपने स्त्री रोग विशेषज्ञ (gynecologist) से जानकारी लेनी चाहिए।

3. पौष्टिक आहार खाएं (Take nutritious diet)

पौष्टिक आहार सामान्य प्रसव के लिए सबसे महत्वपूर्ण घटकों (components) में से एक है।

गर्भावस्था के दौरान पौष्टिक आहार माँ को स्वस्थ रखने के साथ-साथ बच्चे के स्वास्थ को भी बेहतर बनाए रखता है।

इसके साथ ही पौष्टिक आहार आपको कई तरह की बिमारियों से लड़ने की शक्ति भी प्रदान करता है।

इसके अलावा, मात्र आपका आहार, सामान्य प्रसव की सफलता दर को काफी हद तक तय कर सकता है।

इस वजह से हमेशा यह अनुशंसा (recommend) की जाती है कि आप पौष्टिक आहार का सेवन करें, जिसमें फाइबर, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट के साथ-साथ स्वस्थ वसा (healthy fats) जैसे विभिन्न घटक शामिल हों।

आपको इन बुनियादी घटकों से समझौता नहीं करना चाहिए और सुनिश्चित करना चाहिए कि आप सभी आवश्यक पोषक तत्वों से भरे आहार का सेवन करें।

4. नकारात्मकता से दूर रहें (Stay away from negativity)

प्रेगनेंसी के दौरान नकारात्मक वातावरण से खुद को मानसिक रूप से दूर रखें।

हर तरह की डरावनी कहानियों से दूर रहें, खासकर डिलीवरी से संबंधित डरावनी कहानियां।

ये ज़रूरी नहीं है कि अगर आपकी पड़ोसी या संबंधी में किसी को डिलीवरी में बहुत ज़्यादा परेशानी हुई थी तो आपको भी होगी।

नकारात्मक वातावरण से दूर रहते हुए सकारात्मक मानसिकता बरकरार रखें और किसी भी तरह की अफ़वाहों या कहानियों के बारे में न तो सुनें और न सोचें।

5. अपनों के करीब रहें (Live with your close ones)

अपने साथी, मां और क़रीबी दोस्तों के आसपास रहें ताकि वे आपका आत्मविश्वास बढ़ाएं और सामान्य प्रसव को लेकर आपके डर और दुविधा को दूर करें।

इस बात को सुनिश्चित करें कि डिलीवरी के विकल्प को लेकर, आप और आपके साथी एक ही विकल्प का समर्थन कर रहे हो।

अगर गर्भवस्था को लेकर आपके मन में कोई अलग विचार या शंका है तो इसे अपने परिवार के साथ साझा करें।

परिवार और दोस्तों का सपोर्ट होने से तनाव और अकेलापन महसूस नहीं होता।

6. नियमित पेरिनियल मालिश लें (Take regular perineal massage)

नियमित पेरिनियल मालिश आपकी नॉर्मल वेजाइनल डिलीवरी को आसान बनाने और प्रसव के दिन को अधिक आरामदायक बनाने के लिए काफी आधुनिक तकनीकों में से एक है।

पेरिनेल मालिश में योनि के आसपास के क्षेत्रों की मालिश की जाती है।

आप इसे स्वयं बहुत आसानी से कर सकती हैं।

गर्भावस्था के सातवें महीने से पेरिनेल मालिश शुरू करने की सिफारिश की जाती है।

इससे आपको यह जानने में मदद मिलेगी कि सामान्य डिलीवरी के समय आपका शरीर किस तरह से प्रतिक्रिया कर सकता है।

आप पेरिनेल मालिश के सर्वोत्तम तरीकों के लिए अपने स्त्री रोग विशेषज्ञ से परामर्श ले सकते हैं।

7. अच्छी नींद लें (Sleep well)

गर्भावस्था एक महिला के शरीर में कई बदलाव लाती है।

इससे नियमित रूप से थकान महसूस होती है।

यह सिफारिश की जाती है कि एक गर्भवती महिला को कम से कम 8-10 घंटे सोना चाहिए ताकि शरीर को नियमित रूप से आराम मिलें।

अच्छी नींद न सिर्फ आपके शरीर के आराम के लिए आवश्यक है बल्कि यह गर्भावस्था के नौ महीनों के दौरान आपके बच्चे के विकास को भी बढ़ावा देती है।

8. अधिक वज़न न बढ़ाएं (Try not to put on excess weight)

गर्भावस्था के दौरान हल्का वज़न बढ़ना महत्वपूर्ण होता है, लेकिन आपको बहुत ज़्यादा वज़न बढ़ाने की आवश्यकता नहीं है।

अधिक वज़न वाली महिलाओं को प्रसव के दौरान समस्या हो सकती है।

अधिक वज़न सी-सेक्शन का कारण भी बन सकता है।

दरअसल, मोटापा प्रसव के दौरान बच्चे को मॉनिटर करने में मुश्किल पैदा कर सकता है, जिससे सामान्य प्रसव मुश्किल हो जाता है।

9. हाइड्रेटेड रहें (Stay hydrated)

आपके स्वास्थ्य के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीना बेहद महत्वपूर्ण है।

गर्भधारण के दौरान इसकी महत्ता और बढ़ जाती है।

लेबर शरीर के लिए कठिन है और आपको हाइड्रेटेड रहने के लिए अतिरिक्त पानी की आवश्यकता होगी।

आपके शरीर को पानी से बहुत अधिक सहनशक्ति और ऊर्जा मिलती है और आपको इंट्रावेनस तरल पदार्थों की आवश्यकता कम होती है।

खुद को नियमित रूप से हाइड्रेटेड रखने के लिए आप पानी के अलावा ताज़ा जूस या हेल्दी एनर्जी ड्रिंक्स भी पी सकती हैं।

ये एक सामान्य प्रसव के लिए सबसे अच्छे सुझावों में से एक है।

10. सामान्य प्रसव में विशेषज्ञ से परामर्श लें (Consult a doctor who is an expert in normal deliveries)

अगर आप चाहती हैं आपकी नॉर्मल डिलीवरी हो, तो ये आवश्यक है कि आप स्त्री रोग विशेषज्ञ की तलाश करें जो सामान्य प्रसव में विशेषज्ञ हों।

ये महत्वपूर्ण चरणों में से एक है।

इस क्षेत्र के विशेषज्ञ आपका बेहतर मार्गदर्शन करेंगे और आपको प्रसव के दिन की तैयारी में भी मदद करेंगे।

और पढ़ें:उच्च जोखिम वाली गर्भावस्था क्या है?

कॉलबैक का अनुरोध करें और पाएँ मूल्य का उचित आकलन

 

2.निष्कर्ष

Conclusionin hindi

Nishkarsh

माँ बनना हर महिला की सबसे बड़ी ख़ुशियों में से एक है।

अपने आप को खुश रखें, तनाव न लें, उचित आहार लें और सामान्य प्रसव की अपनी इच्छा को बरकरार रखें।

साथ ही सकारात्मक रहें और अपना और अपने नए जीवन का ख्याल रखें।

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि:: 02 Jun 2020

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

कॉल

व्हाट्सप्प

अपॉइंटमेंट बुक करें