योग के ज़रिये कम करें तनाव

Reduce stress with the help of yoga in hindi

yog ke zariye kam karein tanav


एक नज़र

  • भारतीय संस्कृति और जीवनशैली का अहम हिस्सा रहा है योग।
  • शांति और तनाव से बचने के लिए ले योग का सहारा।
  • योग दिमाग को शांत कर, तनाव करता है कम।
triangle

Introduction

yog ke zariye kam karein tanav

आज के समय में सुख समृद्धि के साधनों की चाहत में जीवन से सुख शांति दूर होती जा रही है।

उसके बदले में तरह तरह के तनाव, टेंशन ने लोगों को घेर लिया है।

ऐसे में तनाव से बचने के लिए और ज़िन्दगी में ख़ुशहाली लाने के लिए योग और प्राणायाम का सहारा लिया जा सकता है।

योग जहां एक ओर हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है, तो वहीं दूसरी ओर इसे करने से तनाव भी कम होता है।

विदेश से अक्सर लोग अपने रोजमर्रा के तनाव और अशांति दूर करने और योग सीखने भारत आते हैं।

योग का तनाव कम करने में बहुत बड़ा योगदान है इस बात को विज्ञान भी मानता है एवं डॉक्टर भी तनाव ग्रस्त लोगों को योग प्राणायाम इत्यादि करने की सलाह देते हैं।

loading image

इस लेख़ में

 

योग को क्यों करें अपनी दिनचर्या में शामिल - Why include yoga in daily routine in Hindi

योग का हमारी रोजमर्रा की जीवन में भी बहुत बड़ा योगदान है। रो

जाना योग करने से हमारे शरीर में लचीलापन (flexibility) आता है।

ब्लड सर्कुलेशन (blood criculation) अच्छा होता है, जिसकी वजह से कई तरह की बीमारियां ख़त्म हो जाती है।

रोजाना योग करने वाले व्यक्ति में अपने आप कई अच्छी आदतें आ जाती हैं और शरीर रोग मुक्त हो जाता है।

अगर कोई व्यक्ति खुश है, तंदुरुस्त है, रोगों से दूर है, तो तनाव तो उसका पीछा कर ही नहीं सकता वह अपने आप ही तनाव मुक्त रहेगा।

इसलिए योग को अपने जीवन में हमें शामिल करना चाहिए एवं प्रतिदिन योगासन और प्राणायाम करने चाहिए एवं दूसरों को भी यह तनाव मुक्ति मन्त्र देना चाहिए।

loading image
 

इन योग आसन को अपनाएं और तनाव को भगाएं - Do these yoga asana and remove stress quickly in Hindi

तनाव कम करने के लिए कई सारे योग आसन हैं, जो आप हम कहीं भी रहते हुए बहुत ही आराम से कर सकते हैं और अपनी जिंदगी से तनाव को कम कर सकते हैं।

अनुलोम विलोम :

आप कभी भी तनाव में हों और बेशक आप कहीं भी हों, चाहे आप ऑफिस में हों या घर में हों, टेंशन दूर करने के इस मंत्र को याद रखिये।

अपनी आंखें बंद करिए और 2 से 3 मिनट तक अनुलोम विलोम करें।

आपकी सांसों को शांत करेगा और आपके मन को शांत करेगा।

जिससे आपका मन स्थिर हो जाएगा और आपको तनाव से मुक्ति मिलेगी।

इस आसन को करने के लिए-

  • सबसे पहले, अपनी आंखें बंद करें और पद्मासन में बैठें जाएं।

  • अनामिका और छोटी उंगली से नाक के बाएं (left) नोस्ट्रिल्स (nostrils) को दबाये और दाएं (right) नोस्ट्रिल्स (nostrils) से धीरे-धीरे सांस ले। अब अपने अंगूठे से दाएं नोस्ट्रिल्स (nostrils) को बंद के, बाएं नोस्ट्रिल्स (nostrils) से सांस धीरे-धीरे बाहर छोड़े।

  • अब अंगूठे से दाएं नोस्ट्रिल्स (nostrils)को बंद कर, बाएं नोस्ट्रिल्स (nostrils) से धीरे-धीरे सांस ले। अब अनामिका और छोटी उंगली से बाएं नोस्ट्रिल्स (nostrils) बंद कर, दाएं नोस्ट्रिल्स (nostrils) से धीरे धीरे सांस को फिर बाहर छोड़ें।

  • इस तरह अनुलोम-विलोम का एक चक्र पूरा होता है। शुरुआत में इस आसन को 2 मिनट से अधिक न करें।

  • इस आसान को खाली पेट करना अच्छा होता है।

कपाल भाति :

जिस प्रकार अनुलोम विलोम आपको शांति प्रदान करेगा उसी प्रकार आप कपाल भाति प्राणायाम भी अपने ऑफिस चेयर पर या घर में कही भी बैठ कर आराम से कर सकते हैं और तनाव कम कर सकते हैं।

कपाल भाती प्राणायाम हमारे मन और दिमाग को शांत करता है, जिससे हमारा दिमाग तनाव को कम करने के लिये और अच्छे से काम कर पाता है।

इस आसन को करने के लिए-

  • सबसे पहले, पद्मासन,वज्रासन या सिद्धासन मुद्रा में बैठ जाएं

  • अब पेटढीला छोड़ दें और गहरी सांस अंदर लें और सांस को फिर बाहर छोड़ें।

  • सांस को बाहर छोड़ते समय अपने पेट को अंदर की ओर खींचे। शुरुआत में अधिक जोर ना लगाएं।

  • अब अपने पेट को ढीला छोड़े और आराम से लम्बी सांस अंदर ले। इससे सांस आपके फेफड़ो तक पहुचेगी।

  • शुरुआत में इस आसन को 10 बार से अधिक ना करें।

  • इस आसान को खाली पेट करें और करने के 30 मिनट के बाद ही कुछ।

भ्रामरी प्राणायाम :

यह प्राणायाम हमारे दिमाग एवं शरीर को ठंडा करने में काफी मददगार होता है।

जब भी हम काफी तनाव या भारी टेंशन में होते हैं तो हमारा सिर काफी गर्म हो जाता है जिस वजह से कई बार सिर दर्द भी होने लगता है।

भ्रामरी करने से यह शिकायत दूर हो जाती है और आराम मिलता है।

इस प्राणायाम को करने के लिए-

  • सबसे पहले आप पद्मासन या सिद्धासन या किसी भी आरामदायक अवस्था में बैठे जाएं।

  • अब आंखें बंद और मुंह बंद करके गहरी सांस लें।

  • इसके बाद धीर-धीर सांस छोड़ें।

  • इसके बाद दोनों कानों को अंगूठों से बंद कर लें और धीरे-धीरे सांस छोड़े।

  • इस तरह से आप 10 से 15 बार करें। और फिर धीरे धीरे इसको 10 से 15 मिनट तक करते रहें।

टेंशन दूर करने के लिए कई योगासन भी है जैसे कि:

  • ताड़ासन

  • सेतुबंधासन

  • मर्जरिआसन

  • शीर्षासन

  • शवासन

ये सारे आसन हमें तनाव से लड़ने में हमारी सहायता कर हैं एवं हमें शांति प्रदान करते हैं।

और पढ़ें:अकेलापन कैसे दूर करें
 

निष्कर्ष

Conclusion in hindi

nishkarsh in hindi

योग प्राचीन काल से हमारे तन एवं मन की शांति के लिए ऋषि मुनियों एवं विद्वानों द्वारा बताया गया एक महत्वपूर्ण साधन रहा है।

प्राचीन काल में इसे मुक्ति का साधन माना जाता था एवं ऋषि मुनि सालों योग करके तप करते थे।

आजकल की जिंदगी में जहां बच्चे से लेकर उम्रदराज़ भी किसी न किसी तनाव से ग्रसित हैं, उन्हें तनाव कम करने के लिए योग का ही सहारा लेना चाहिए।

loading image

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 22 May 2019

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

बेचैनी के कारण रात को नींद ना आए तो क्या करें

बेचैनी के कारण रात को नींद ना आए तो क्या करें

जानें पैरों की थकान दूर करने के उपाय

जानें पैरों की थकान दूर करने के उपाय

अचानक घबराहट होना - कारण, लक्षण और उपचार

अचानक घबराहट होना  -  कारण, लक्षण और उपचार

सुबह उठते ही घबराहट और बेचैनी क्यों होती है

सुबह उठते ही घबराहट और बेचैनी क्यों होती है

अकेलापन कैसे दूर करें

अकेलापन कैसे दूर करें
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad