कंडोम विफलता के लिए संभावित कारण

Possible reasons for condom failure in hindi

Condom vifalta ke karan in hindi


एक नज़र

  • गर्भनिरोध उपायों में कंडोम एक प्रचलित उपाय है।
  • कभी-कभी कंडोम असफल भी हो सकता है।
  • कंडोम के फेल होने को नियंत्रित किया जा सकता है।
  • कंडोम के प्रयोग से पहले सावधानी बरतनी जरूरी है।
triangle

Introduction

Reason for condom failure in hindi

गर्भनिरोधक उपायों में कंडोम का उपयोग सबसे अधिक प्रचलित उपाय के रूप में किया जाता है।

सेक्स प्रक्रिया से पहले पुरुष अनचाहे गर्भ से बचाव के उपाय के रूप में करते हैं।

इसके साथ ही एसटीडी से बचाव के उपाय के रूप में भी पुरुष कंडोम का अधिकतम प्रयोग किया जाता है।

लेकिन कभी-कभी कंडोम प्रयोग करने का उद्देश्य अधूरा रह जाता है और कंडोम विफल भी हो जाते हैं।

ऐसे में इन्हें प्रयोग करने वाले कंडोम विफलता के लिए संभावित कारण ढूँढने का प्रयास करते हैं।

इस लेख में आपको उन कारणों की जानकारी देने का प्रयास किया जा रहा है जो कंडोम के असफल होने के लिए उत्तरदाई हो सकते हैं।

loading image

इस लेख़ में

 

कंडोम की एक्सपायरी डेट चेक करें

Check the Expiry date of Condom in hindi

Condom ki expiry date check kare in hindi

loading image

दवाइयों की भांति कंडोम की भी एक एक्स्पायरी डेट (Expiry Date) होती है जो उसके पैकेट के ऊपर लिखी होती है।

इसलिए जब आप इसे मार्किट से लें तब कंडोम निर्माण तिथि (Manufacturing Date) और एक्स्पायरी डेट की अच्छी तरह से जांच कर लेनी चाहिए।

इस तिथि को देने का उद्देश्य आपको निर्माता की ओर से यह सूचना देना है कि इस डेट के बाद कंडोम कि क्वालिटी में अंतर आ सकता है।

इसलिए आप जिन उद्देश्यों की पूर्ति के लिए इसका उपयोग कर रहे हैं, उनके पूरे होने में संदेह हो सकता है।

हो सकता है कि यह उपयोग करते समय फट जाये या फिर कंडोम में छेद हो जाये।

इसलिए कंडोम की सफलता और असफलता इसकी एक्स्पायरी डेट पर भी निर्भर करती है।

loading image
 

सही लुब्रिकेशन का इस्तेमाल करना

Use Proper and correct Lubrication in hindi

Sahi lubrication ka istemal karna in hindi

loading image

कभी-कभी सेक्स करते समय उत्तेजना अधिक होने पर लिंग में योनि की प्राकृतिक चिकनाई कम महसूस होती है।

इस कारण कंडोम के फटने का भय रहता है।

इसलिए कुछ पुरुष इस बात को ध्यान में रखते हुए यौन संबंध में लुब्रिकेशन (Lubrication in intercourse) के लिए अतिरिक्त लुब्रिकेशन का इस्तेमाल करते हैं।

लेकिन अगर इस लुब्रिकेशन के लिए सही प्रोडक्ट का चयन करना बहुत जरूरी है।

अगर तेल आधारित चिकनाई (Oil based lubrication) जैसे पेट्रोलियम जैली, कोल्ड क्रीम, हैंड लोशन या बेबी ऑयल जैसे चीजों का इस्तेमाल किया जाये तो यह कंडोम की परत को कमजोर कर देते हैं।

इससे कंडोम के जल्दी फटने का डर हो सकता है।

इसलिए यदि कंडोम का इस्तेमाल लुब्रिकेशन के साथ करना है तब पानी-आधारित लुब्रिकेशन (Water based lubrication) जैसे ग्लिसरीन या लुब्रिकेटिंग जैली का प्रयोग करना चाहिए।

यह प्रोडकट किसी भी नजदीक के कैमिस्ट के पास आसानी से मिल सकते हैं।

और पढ़ें:अजवाइन, प्याज़ एवं लहसुन बढ़ाते है यौन इच्छा
 

कंडोम को गर्म और एयर-टाइट जगह पर न रखें

Don’t keep condom in warm and airtight place in hindi

Condom ko garm aur air tight jagah par na rakhe in hindi

loading image

कंडोम को अगर ऐसी जगह रखा जाएं जहां हवा का आवागमन न हो तब वहाँ होने वाली गर्मी से कंडोम की स्किन को नुकसान हो सकता है।

अधिकतर लोग कंडोम को अपने पर्स में रखकर जेब में रख लेते हैं।

इससे उसे जरूरी हवा नहीं मिल पाती है और लेटेक्स (एक प्रकार का रबड़) का बना कंडोम खराब हो सकता है।

ऐसे कंडोम का इस्तेमाल नुकसान कर सकता है।

loading image
 

कंडोम को अंडरसाइज़ या ओवरसाइज़ न खरीदें

Don’t buy condom undersize or oversize in hindi

Condom ka undersize ya oversize na kharide in hindi

loading image

यह सही है कि सेक्स करते समय पुरुष लिंग के आकार से अंतर नहीं पड़ता है, लेकिन इसको ख़रीदते समय कंडोम का साइज़ लेते समय इसका ध्यान रखना चाहिए।

अगर सही आकार का कंडोम न लिया जाये तो छोटा होने या बड़ा होने पर उसके फटने या कंडोम में छिद्र होने अथवा पहले ही निकल जाने का डर रहता है।

और पढ़ें:ओरल सेक्स दे सकता है कई बिमारियों को न्योता
 

यौन सम्बन्धों में कोमलता जरूरी है

Mildness is essential in sexual relationships in hindi

Yon sambandhon mein komalta jaruri hai in hindi

कभी-कभी यौन संबंध बनाते समय उत्तेजना में पुरुष लिंग में रगड़ के कारण भी योनि में दर्द के साथ कंडोम के फटने का डर रहता है।

इसलिए यौन संबंध बनाते समय जल्दबाज़ी नहीं करनी चाहिए और सावधानी के रूप में योनि में चिकनाहट का भी ध्यान रखा जा सकता है।

loading image
 

योनि में नरमाहट कि कमी हो सकता है कंडोम की असफलता का कारक

Vaginal tightness can be a reason in hindi

Yoni mein narmahat ki kami ho sakta hai karan in hindi

कुछ महिलाओं की योनि की मांसपेशियाँ थोड़ी सख्त होने के कारण लिंग प्रवेश में कठिनाई हो सकती है।

इस स्थिति में भी पुरुष ने अगर कंडोम का प्रयोग किया है तब उसके फटने का डर होता है।

इसलिए योनि में अतिरिक्त नरमी और चिकनाई के लिए सही लुब्रिकेशन का होना जरूरी है।

loading image
 

निष्कर्ष

Conclusionin hindi

यौन संबंध में निश्चितता का बहुत महत्व होता है। इसके लिए सही कंडोम का होना और उस कंडोम का सही तरीके से प्रयोग होना बहुत जरूरी है।

कंडोम लेने के बाद सही स्थान पर रखें और सही समय पर प्रयोग करें तभी इसके सभी लाभ मिल सकते हैं।

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 30 Jul 2019

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

महिलाओं के लिए चरम सुख के फायदे

महिलाओं के लिए चरम सुख के फायदे

कंडोम मिथक: कंडोम का प्रयोग असुविधाजनक और कठिन होता है

कंडोम मिथक: कंडोम का प्रयोग असुविधाजनक और कठिन होता है

कंडोम मिथक: अधिक सुरक्षा के लिए मेल और फ़ीमेल कंडोम एक-साथ इस्तेमाल करने चाहिए

कंडोम मिथक: अधिक सुरक्षा के लिए मेल और फ़ीमेल कंडोम एक-साथ इस्तेमाल करने चाहिए

क्या हर महिला का हाइमन अलग-अलग दिखता है

क्या हर महिला का हाइमन अलग-अलग दिखता है

सामान्य योनि स्राव और असामान्य योनि स्राव में क्या अंतर है

सामान्य योनि स्राव और असामान्य योनि स्राव में क्या अंतर है
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad