डिस्परेयूनिया और मेनोपॉज : क्या आपस में संबन्धित हैं

Painful Sex (Dyspareunia) and Menopause: What’s the Link? in hindi

dyspareunia and menopause : kya aapas me sambandhit hai


एक नज़र

  • मेनोपॉज यौन जीवन का अंत नहीं होता है।
  • जीवन के इस पड़ाव पर भी सेक्स की अनुभूति ली जा सकती है
  • डिस्परेयूनिया को उपायों के द्वारा दूर किया जा सकता है।
triangle

Introduction

dyspareunia_and_menopause___kya_aapas_me_sambandhit_hai

बहुत समय पहले तक यह मान्यता थी कि एक बार जब मासिक धर्म बंद हो जाता है तब महिला का पारिवारिक जीवन केवल उनकी भावी पीड़ी तक सीमित हो जाता है।

और शारीरिक व भावनात्मक कारणों से महिलाएं सेक्स में अपनी रुचि खो देती थी।

इसमें बहुत हद तक डिस्परेयूनिया अथार्थ सेक्स के समय होने वाला दर्द का भी बहुत बड़ा भाग माना जाता था।

आज भी अनेक महिलाएं इस प्रश्न का हल ढूंढ रहीं है कि डिस्परेयूनिया और मेनोपॉज : क्या आपस में संबन्धित हैं,आइये इस लेख के माध्यम से इस प्रश्न का उत्तर ढूंढते हैं:-

loading image

इस लेख़ में

 

क्या मेनोपॉज सेक्स जीवन को प्रभावित करता है

Is sex life affected by menopause in hindi

kya menopause, sex jiwan ko prabhavit karta hai

सरल शब्दों में कहा जाये तो मेनोपॉज या रजोनिवृत्ति किसी महिला के जीवन का वह पड़ाव है जहां उसके शरीर में हार्मोनल परिवर्तन होते हैं।

इन परिवर्तनों का प्रभाव उनके मुख्य रूप से जननांगों पर होता है।

सबसे बड़ा मेनोपॉज का लक्षण मासिक धर्म का बंद होना होता है। जबकि वास्तविकता इससे भिन्न होती है।

वास्तविक रूप में मेनोपॉज के कारण महिला की योनि में सूखापन आने लगता है और इस कारण कुछ महिलाओं की सेक्स में इच्छा भी कम होने लगती है।

इसलिए कुछ महिलायें मेनोपॉज को अपने सेक्स जीवन का अंत मान लेती हैं।

loading image
 

डिस्परेयूनिया के लिए मेनोपॉज कहाँ तक उत्तरदायी है

How is menopause responsible for dyspareunia in hindi

dyspareunia ke liye menopause kahan tak uttardayi hai

डिस्परेयूनिया का अर्थ है सेक्स के समय महिला के जननांगों में असहनीय दर्द का होना।

साधारण परिस्थितियों में इसके अनेक कारण होते हैं। इन्हें कारणों में से एक मेनोपॉज का होना भी हो सकता है।

मेनोपॉज की स्थिति में महिला के शरीर में एस्ट्रोजेन हार्मोन का बनना बंद हो जाता है।

इस कारण योनि की दीवार में जो नमी रहती है, वह कम होने लगती है और योनि में सूखापन बढ़ जाता है।

इस कारण जब सेक्स के समय लिंग का योनि में प्रवेश होता है तब महिला को योनि में दर्द का एहसास हो सकता है।

इसके अतिरिक्त योनि में ढीलापन और योनि में फैलाव आने के कारण भी डिस्परेयूनिया की शिकायत हो सकती है।

और पढ़ें:अजवाइन, प्याज़ एवं लहसुन बढ़ाते है यौन इच्छा
 

क्या डिस्परेयूनिया और मेनोपॉज में कोई संबंध है

Is there any relation between Dyspareunia and Menopause in hindi

kya dyspareunia aur menopause me koi sambandh hai

मेनोपॉज के बाद सेक्स में होने वाला दर्द या डिस्परेयूनिया को आपस में संबन्धित माना जा सकता है। इसका मुख्य कारण है की डिस्परेयूनिया के अधिकतम लक्षण मेनोपॉज के कारण होते हैं।

मेनोपॉज की स्थिति में महिला को निम्न प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ता है:-

  • हड्डियों की कमजोरी होना;

  • पेशाब करने की अधिक से अधिक इच्छा होना;

  • आँखों में कमजोरी की शिकायत होना;

  • मूड में अचानक बदलाव आना;

  • शारीरिक संभोग में असहनीय दर्द का महसूस होना;

  • योनि की दीवार का पतला हो जाना;

  • योनि में हर समय सूखेपन का एहसास होना;

  • अवसाद या डिप्रेशन का बढ़ जाना;

  • नींद न आने की समस्या हो जाना;

  • सिर के बालों का गिरना और सफ़ेद होना;

  • शरीर के अन्य भागों में बालों का बढ़ जाना

  • इन लक्षणों में देखा कि डिस्परेयूनिया केवल मेनोपॉज का एक लक्षण मात्र है।

    इसलिए इसे पूरी तरह से उसके होने का कारण माना नहीं जा सकता है।

    मेनोपॉज के बाद होने वाला दर्द सामान्य होता है और इसका उपचार संभव है।

loading image
 

डिस्परेयूनिया का उपचार

Dyspareunia treatment in hindi

dyspareunia ka upchar

कुछ महिलाओं के लिए मेनोपॉज वह समय होता है जब सेक्स खुशी की जगह दर्द देता है। इसलिए इस स्थिति में मेनोपॉज के कारण होने वाले डिस्परेयूनिया के उपचार के रूप में महिलाएं निम्न उपाय अपना सकती हैं:-

  • स्वस्थ जीवन शैली को अपना कर अपने हृदय और शरीर को स्वस्थ रखने का प्रयास करें।

  • खान-पान में परिवर्तन करके अधिक से अधिक वह भोजन लें जिससे पोषण मिले और शरीर पर चर्बी या वसा के जमने की संभावना कम हो जाये।

  • अपने साथी को अपनी मानसिक और भावनात्मक भावनाओं से अवगत करवाएँ और सेक्स सम्बन्धों को रुचिकर बनाने का प्रयास करें।

  • डिस्परेयूनिया से बचने के लिए सेक्स सम्बन्धों के लिए आरामदायक व सुविधाजनक सेक्स पोजीशन का इस्तेमाल करें।

और पढ़ें:ओरल सेक्स दे सकता है कई बिमारियों को न्योता
 

निष्कर्ष

Conclusion in hindi

nishkarsh

मेनोपॉज के बाद महिलाओं में डिस्परेयूनिया होना एक सामान्य घटना है।

इसे साधारण उपायों जैसे सेक्स के समय लुब्रिकेशन का इस्तेमाल, आरामदायक सेक्स पोजीशन का प्रयोग और केवल मुख संभोग के माध्यम से भी शारीरिक संबंध बनाए जा सकते हैं।

इस प्रकार डिस्परेयूनिया और मेनोपॉज के पारस्परिक संबंध को तोड़ने में कोई भी वह महिला सफल हो सकती है जो मेनोपॉज के पुल को पार कर चुकी हैं।

loading image

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 27 May 2019

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

कंडोम मिथक: कंडोम का प्रयोग असुविधाजनक और कठिन होता है

कंडोम मिथक: कंडोम का प्रयोग असुविधाजनक और कठिन होता है

महिलाओं के लिए चरम सुख के फायदे

महिलाओं के लिए चरम सुख के फायदे

कंडोम मिथक: अधिक सुरक्षा के लिए मेल और फ़ीमेल कंडोम एक-साथ इस्तेमाल करने चाहिए

कंडोम मिथक: अधिक सुरक्षा के लिए मेल और फ़ीमेल कंडोम एक-साथ इस्तेमाल करने चाहिए

क्या हर महिला का हाइमन अलग-अलग दिखता है

क्या हर महिला का हाइमन अलग-अलग दिखता है

सामान्य योनि स्राव और असामान्य योनि स्राव में क्या अंतर है

सामान्य योनि स्राव और असामान्य योनि स्राव में क्या अंतर है
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad