ओव्यूलेशन पेन (ovulation pain) के लक्षण, कारण और इलाज

Ovulation pain: symptoms, causes and treatment in hindi

ovulation pain in hindi


एक नज़र

  • ओव्यूलेशन पेन पेल्विक और निचले पेट में होने वाला दर्द है।
  • ओव्यूलेशन पेन, कुछ महिलाओं को ओव्यूलेशन के दौरान अनुभव होता है।
  • ओव्यूलेशन पेन को मिट्टेलस्मरज़ (mittelschmerz) के नाम से भी जाना जाता है।
triangle

Introduction

ovulation symptoms in hindi

महिलाओं को अपनी ज़िंदगी में कई तरह के शारीरिक दर्द से गुज़रना पड़ता है। कुछ महिलाओं को पीरियड के दौरान बहुत अधिक दर्द का सामना करना पड़ता है तो पीरियड से कुछ दिनों बाद होने वाले ओव्यूलेशन के दौरान भी कुछ महिलाओं को ओव्यूलेशन के समय के आसपास हल्के ऐंठन या दर्द का अनुभव होता है। ओव्यूलेशन तब होता है, जब अंडा परिपक्व हो जाता है, तो आपका शरीर अंडे के रिलीज को ट्रिगर करते हुए ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन (एलएच) को रिलीज़ करता है। जिसके बाद 28 से 36 घंटों में ओव्यूलेशन हो सकता है।[1]

ओव्यूलेशन के दौरान होने वाले दर्द को आम भाषा ओव्यूलेशन पेन (ovulation pain) कहा जाता है लेकिन इस दर्द को चिकित्सीय रूप से मिट्टेलस्मरज़ (mittelschmerz) के नाम से जाना जाता है। ये एक जर्मन शब्द है जिसका अर्थ है "मध्य दर्द" यानि दो पीरियड के बीच में होने वाला दर्द। हालांकि, ये जानना ज़रूरी है कि हर महिला को ओवुलेशन के दौरान दर्द नहीं होता। यहां तक कि अगर आप नियमित रूप से ओवुलेशन के साथ दर्द का अनुभव करती हैं, तो जरूरी नहीं कि आप हर महीने यह दर्द महसूस करें।

लेकिन, अगर बार-बार आप इस दर्द का अनुभव करती हैं तो इस ओर ध्यान देने की आवश्यकता है। इसलिए, आज इस लेख में आपको ओव्यूलेशन पेन के बारे में विस्तार से जानकरी देंगे और साथ ही ओव्यूलेशन पेन के लक्षण, कारण और इलाज के बारे में भी बताएंगे।

loading image

इस लेख़ में

 

ओव्यूलेशन पेन क्या है

What is ovulation pain in hindi

ovulation pain kya hai

मिट्टेलस्मरज़ या ओव्यूलेशन पेन, आज लगभग हर किसी को पता है। एक प्रीओवुलेटरी लोअर एब्डॉमिनल दर्द है, जो महिलाओं में मिडसाइकिल (7 से 24 दिन के बीच) होता है। Mittelschmerz प्रजनन आयु की 40% से अधिक महिलाओं को प्रभावित कर सकता है, और यह इन रोगियों में लगभग हर महीने होता है। यह आम तौर पर मासिक धर्म के बाद कुछ वर्षों तक शुरू नहीं होता है, जब तक कि ओव्यूलेशन साइकिल अच्छे से स्थापित नहीं जाते हैं। ओव्यूलेशन पेन में दर्द हल्के से गंभीर होता है और आमतौर पर अंडाशय के पास उसी तरफ महसूस किया जाता है, जहां पर विकासशील कूप (developing follicle) होता है।[2]

आम भाषा में कहें तो जब एक अंडाशय आपके मासिक धर्म चक्र के बीच में एक अंडा जारी करता है, तो आपको निचले पेट या पेल्विस के एक तरफ ओव्यूलेशन दर्द का अनुभव हो सकता है। इसी दर्द को ओव्यूलेशन पेन कहा जाता है।

और पढ़ें:अजवायन से पाएं पीरियड्स के दर्द से छुटकारा
 

ओव्यूलेशन पेन के लक्षण

Ovulation pain symptom in hindi

ovulation pain kya hai

ओव्यूलेशन पेन के दौरान दर्द या ऐंठन का एहसास हल्के असुविधा से लेकर तीव्र दर्द तक हो सकता है। दर्द के कारण की पहचान करना मुश्किल हो सकता है, खासकर अगर ओव्यूलेशन पेन हर महीने नहीं होता है। ओव्यूलेशन पेन का शुरुआती लक्षण पेट के एक तरफ में दर्द से अनुभव करना शुरू होता, जो आमतौर पर 3-12 घंटे तक रहता है। हालांकि, अगर किसी महिला की ओवरी की सर्जरी हुई है तो उसे इस दर्द का अनुभव पीरियड तक हो सकता है। आइए,ओव्यूलेशन पेन के लक्षण को समझते हैं।

ओव्यूलेशन पेन के लक्षण :-

  • दर्द का ऐठन का अनुभव सिर्फ पेट के एक तरफ होता है
  • दर्द या ऐंठन, जो मासिक धर्म चक्र के बीच से शुरू होता है
  • दर्द या ऐठन जो हर महीने अलग-अलग साइड होता है
  • दर्द, जो तेज़ से गंभीर हो सकता है
loading image
 

ओव्यूलेशन पेन के कारण

causes of ovulation pain in hindi

ovulation ke bad pet me dard in hindi jane

ओव्यूलेशन तब होता है, जब ओवेरियन फोल्लिकल (ovarian follicle) से एक मेच्युर अंडा (mature egg) रिलीज होता है। ये आमतौर पर एक महिला के मासिक धर्म चक्र के मध्यम से होता है। यदि आपका मासिक धर्म चक्र 28 दिनों का है, तो ओव्यूलेशन 14वें दिन होगा (यानि कि पीरियड्स के पहले दिन से 14वें दिन)। इसलिए इसे मिट्टेलस्मरज़ भी कहा जाता है क्योंकि ये मासिक धर्म चक्र के बीच में होता है।

ओवुलेशन पेन का सटीक कारण पूरी तरह से ज्ञात नहीं है, लेकिन यह विभिन्न कारणों से हो सकता है, जिनमें शामिल हैं :-

  • ओवेरियन फोल्लिकल का तेजी से विकास और विस्तार - इस स्ट्रेचिंग (stretching) से दर्द हो सकता है।
  • ओव्यूलेशन के समय होने वाली रक्त, तरल पदार्थ और अन्य रसायनों की क्रिया जिसके फलस्वरूप पेट की परत और पेल्विस (Pelvis) में जलन होने लगती है। यह जलन भी ओवुलेशन दर्द का कारण बन सकती है।

हालांकि, इसके अलावा कुछ अन्य मेडिकल कंडीशन जैसे एंडोमेट्रियोसिस, यूटेरिन फ़िब्रोइड और ओवेरियन सिस्ट के कारण भी आपको पीरियड के मिडसाइकिल में दर्द का अनुभव हो सकता है। इन स्थितियों में से अधिकांश महिला हार्मोन एस्ट्रोजेन से प्रभावित होती है, जो ओव्यूलेशन के दौरान बढ़ जाती है।

और पढ़ें:अनियमित माहवारी का इलाज
 

ओव्यूलेशन पेन और अन्य दर्द के बीच अंतर

Difference between ovulation cramps and other pains in hindi

ovulation pain kya hota hai

ओव्यूलेशन पेन और अन्य प्रकार के दर्द के बीच अंतर बताना मुश्किल हो सकता है, खासकर तब जब आप अपने मासिक धर्म चक्र को ट्रैक नहीं करती हैं या आप नहीं जानती हैं कि ओव्यूलेशन कब हो रहा है।

ओव्यूलेशन पेन के कुछ लक्षणों में शामिल हैं:-

  • अचानक दर्द, ऐसा दर्द जो समय के साथ तीव्र नहीं होता
  • दर्द जो दो मासिक धर्म चक्रों के बीच में अचानक से प्रकट होता है
  • शरीर के केवल एक तरफ दर्द

ओव्यूलेशन पेन, तेज़ या सुस्त हो सकता है। यह एक सनसनी या ऐंठन की तरह लग सकता है। ओव्यूलेशन पेन, आमतौर पर गंभीर नहीं होता। यह आमतौर पर अपने आप होता है, यदि यह अन्य लक्षणों के साथ होता है, तो संभवतः इसके कारण और हैं।

नीचे दिये गए संकेत बताते हैं कि ये दर्द ओव्यूलेशन के कारण नहीं, बल्कि अन्य कारण से हैं:

  • शरीर के दोनों तरफ दर्द
  • दर्द जो लगातार बदतर हो जाता है
  • दर्द जो कई दिनों तक रहता है
  • योनि से खून बह रहा है
  • चोट लगने के बाद होने वाला दर्द
  • सूजन
  • उल्टी या दस्त
  • मूत्र त्याग करने में दर्द
loading image
 

ओव्यूलेशन पेन का उपचार

Treatment of ovulation pain in hindi

ovulation pain symptoms jane

आमतौर ओव्यूलेशन पेन हल्का होता है और उपचार की आवश्यकता नहीं होती है। जिन महिलाओं को बहुत तीव्र दर्द होता है, उन्हें इसके इलाज की आवश्यकता हो सकती है। ऐसे में जानते हैं कि ओव्यूलेशन पेन का इलाज कैसे किया जाता है।

ओव्यूलेशन पेन का इलाज :-

  • नॉन-स्टेरायडल - एक नॉन-स्टेरायडल एंटी-इंफ़्लेम्मटरी दवा(Non-Steroidal Anti-inflammatory Drug - NSAID), लेना जैसे कि इबुप्रोफेन (Ibuprofen)। जो महिलाएं अपने माहवारी चक्रों का चार्ट बनाती हैं, वे ओवुलेशन के दिन की भविष्यवाणी करने में सक्षम हो सकती हैं और दर्द शुरू होने से पहले एनएसएआईडी (NSAID) लेने पर विचार कर सकती हैं।
  • स्ट्रेचिंग (Stretching) - मांसपेशियों में तनाव को दूर कर दर्द को कम करने में मदद कर सकता है।
  • हॉट पैक (Hot pack) - दर्द वाली जगह पर 20 मिनट के लिए हॉट पैक लें।

ये हल्के उपचार उन लोगों के लिए सही हैं जिन्हें कोई स्वास्थ्य संबंधी समस्या नहीं है। यदि आपको शक है की आपका दर्द मिट्टेल्सर्माज़ के कारण नहीं है, तो आपको डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

और पढ़ें:अनियमित माहवारी या अनियमित पीरियड
 

निष्कर्ष

Conclusion in hindi

ovulation pain in hindi

ओव्यूलेशन पेन आम है और किसी विशेष समस्या का संकेत नहीं है। कई महिलाओं को अपने ओव्यूलेशन का समय नहीं मालूम होता, जिससे अन्य प्रकार के दर्द के साथ मित्तेल्शर्ज़ दर्द का कन्फ़्युशन (confusion) पैदा हो जाता है। अगर आपका दर्द गंभीर है या भारी रक्तस्राव, बुखार या मतली के साथ है तो एक डॉक्टर से बात करें। एक डॉक्टर की सलाह दर्द का निदान करने में मदद कर सकती है, और आपको किसी भी गंभीर समस्या की चिंता से मुक्त कर सकती है।

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

references

संदर्भ की सूचीछिपाएँ

1 .

Kerin J.”Ovulation detection in the human”. Clin Reprod Fertil. PMID: 6821195.

2 .

Brott NR, Le JK. “Mittelschmerz.”StatPearls Publishing. PMID: 31747229.

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 22 Sep 2020

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

अनियमित पीरियड्स के लिए गुलाब की चाय के फायदे

अनियमित पीरियड्स के लिए गुलाब की चाय के फायदे

अनियमित माहवारी या अनियमित पीरियड

अनियमित माहवारी या अनियमित पीरियड

डिसमेनोरिया क्या है

डिसमेनोरिया क्या है

इन 6 टिप्स से जानें पीरियड साइकिल नियमित है या नहीं

इन 6 टिप्स से जानें पीरियड साइकिल नियमित है या नहीं

ओवुलेशन का पता लगाने के लिए बीबीटी

ओवुलेशन का पता लगाने के लिए बीबीटी
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad