किन नौकरियां में बढ़ जाता है तनाव

Jobs which have stress risk in hindi

naukriyan jinme hota hai tanav ka risk


एक नज़र

  • जॉब टाइप, व्यक्ति की मानसिक अवस्था को प्रभावित करता है।
  • जॉब प्रेशर ह्रदय रोग के रिस्क को २५ प्रतिशत तक बढ़ा देता है।
  • तनाव को सकारात्मक सोच से रोका जा सकता है।
  • नौकरीपेशा लोगों को भरपूर नींद लेनी चाहिए, इससे तनाव से राहत मिलती है।
triangle

Introduction

naukriyan_jinme_hota_hai_tanav_ka_risk

वर्कप्लेस पर अलग-अलग परिस्थितियों के कारण तनाव का सामना करना आम बात है।

अक्सर हम वर्कप्लेस पर छोटी-छोटी बातो को लेकर भी गंभीर हो जाते हैं।

कई प्रकार के जॉब प्रोफाइल में तनाव के अलग अलग रिस्क फेक्टर जुड़े होते हैं।

हमेशा कोशिश करे कि आप अपनी पर्सनलिटी से जुड़ा हुआ काम ही करें।

loading image

इस लेख़ में

 

फाइनेंस से जुडी नौकरियों में होता है तनाव का रिस्क

Finance related Jobs have stress risk in hindi

finance se judi naukri se aap ho sakte hai tanav ka shikar

आमतौर पर बैंकिंग सेक्टर वित्त जोखिम (financial risk) को लेकर चलने वाला क्षेत्र है, जिसमे मंथली टारगेट (monthly target), वित्त व्यवस्था (finance system), गबन (defalcation), नुकसान (loss), धोखाधड़ी (fraud), लूट (loot) जैसे अपराध भी जुड़े हुए होते हैं।

इस क्षेत्र में काम करने वाले लोग अक्सर न चाहते हुए भी तनाव का शिकार हो जाते हैं।

अक्सर ये स्ट्रेस लेवल मार्च महीने में अधिक पाया जाता है, जब वार्षिक टारगेट (annual target) पूरे करने होते हैं।

loading image
 

कस्टमर से जुडी नौकरियों में होता है तनाव का रिस्क

Customer based Jobs have stress risk in hindi

jane kaise customer se judi naukri se bhi badh jata hai tanav

अगर आप सर्विस प्रोवाइडर हैं, तो आपको अपने क्लाइंट (उपभोक्ता) की आशाओं पर खरा उतरना होता है।

आपको कम्पनी के उद्देश्य को ध्यान में रख हर काम करना होता है।

अगर आपकी सर्विस में कही कोई कमी पाई जाती है, तो आपका उपभोक्ता नाराज़ हो सकता है।

ऐसी स्थिति में डीलिंग असिस्टेंट को अक्सर कस्टमर से नाराजी का सामना करना पड़ता है।

कस्टमर, डीलिंग असिस्टेंट को ही हर कमी का जिम्मेदार मानकर बहुत कुछ सुना देता है।

जिसकी वज़ह से असिस्टेंट को बुरा तो लगता है लेकिन नियमों के अधीन होने के कारण कस्टमर की किसी भी बदतमीजी का जवाब दे नहीं पाता है।

जिस कारण उसके स्ट्रेस का लेवल बढ़ते जाता है।

और पढ़ें:अकेलापन कैसे दूर करें
 

टीचिंग की नौकरी में भी होता है तनाव का रिस्क

Teaching related Jobs have stress risk in hindi

teaching job se kaise badhta hai stress

हेल्थ एंड सेफ्टी एक्जीक्यूटीव (health and safety executive) की हालिया रिपोर्ट दर्शाती है कि टीचर और नर्स का काम करने वाली महिलाओं में तनाव का स्तर सर्वाधिक पाया जाता है।

वास्तव में वर्तमान समय में सरकारी शिक्षको को कई प्रकार के एक्स्ट्रा काम जैसे चुनाव में ड्यूटी, जन गणना का काम, पोलियों की दवा पिलाना आदि दे दिए जाते हैं।

जिससे वे न तो ढंग से शिक्षण कार्य कर पाते हैं और न ही ढंग से कोई अन्य काम।

जिस कारण उनके जीवन में काम करने का प्रेशर लगातार बढ़ता जाता है।

loading image
 

स्वास्थ्य सेवाओं से सम्बंधित जॉब्स में रहता है तनाव का रिस्क

Health related jobs have stress risk in hindi

swasthya sewaon se jude jobs mei rehta hai stress badhne ka risk

हर दिन अखबार में मरीज के परिजनों और हॉस्पिटल मैनेजमेंट के बीच लड़ाई और मारपीट की खबरें आती रहती हैं।

स्वास्थ्य एक अत्यधिक संवेदनशील और बेहद करीबी विषय होता है, इसलिए किसी भी इमरजेंसी के कारण होने वाले स्वास्थ्य जोखिम अक्सर डॉक्टर, नर्स और हेल्थ स्टाफ के तनाव को बढ़ा देते हैं।

और पढ़ें:अच्छी नींद और मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के लिए आहार
 

सुरक्षा से सम्बंधित जॉब्स में रहता है तनाव का रिस्क

Security related jobs have stress risk in hindi

security jobs ke employee kyon hote hain tanav ka shikar

सुरक्षा संस्थानों जैसे पुलिस विभाग (police department), सेना (army), निजी सुरक्षा दल (private security teams) आदि खतरे और जान की जोखिम वाली नौकरिया है।

जिनमे व्यक्ति को न चाहते हुए भी तनाव का सामना करना पड़ता है।

हालांकि इस क्षेत्र में तनाव से लड़ने की पूरी ट्रेनिंग दी जाती है लेकिन यहां पर रिस्क फेक्टर अधिक होने से तनाव के कारण उत्पन हो जाते हैं।

और पढ़ें:अच्छी नींद के लिए घरेलू उपाय
 

निष्कर्ष

Conclusion in hindi

nishkarsh in hindi

चाहे किसी भी प्रकार का जॉब प्रोफाइल हो, शांत दिमाग और अच्छी स्माइल से आने वाले तनाव को दूर किया जा सकता है।

नियमित तौर पर सुबह योग, प्राणायाम, वाक (walk) कर स्ट्रेस को दूर किया जा सकता है।

वर्कप्लेस की परेशानियों को वहीँ तक ही रखे उसे कभी घर तक न लेकर आये।

परिवार के साथ ज्यादा समय बिताये और वीकेंड में बाहर कही जाकर कुछ खुशियो के पल बिताएं।

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 28 May 2019

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

तनाव के कारण, लक्षण, प्रकार, बचाव और उपचार

तनाव के कारण, लक्षण, प्रकार, बचाव और उपचार

10 भारतीय मशहूर हस्तियां जो हुए थे एंग्जायटी या अवसाद के शिकार

10 भारतीय मशहूर हस्तियां जो हुए थे एंग्जायटी या अवसाद के शिकार

बेचैनी के कारण रात को नींद ना आए तो क्या करें

बेचैनी के कारण रात को नींद ना आए तो क्या करें

जानें पैरों की थकान दूर करने के उपाय

जानें पैरों की थकान दूर करने के उपाय

अचानक घबराहट होना - कारण, लक्षण और उपचार

अचानक घबराहट होना  -  कारण, लक्षण और उपचार
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad