jaldi pregnant hone ke upay in hindi

जल्दी प्रेग्नेंट (गर्भवती) होने के उपाय: 10 आसान तरीके

Ways to get pregnant early - 10 easy tips in hindi

How to conceive baby in Hindi, Jaldi pregnant (garbhvati) hone ke das aasan upay in Hindi

एक नज़र

  • महिलाओं और पुरुषों की उम्र के अनुसार, बच्चे पैदा करने की उनकी क्षमता कम हो जाती है।
  • 30 के दशक की शुरुआत में महिलाओं में प्रजनन क्षमता कम होने लगती है और 40 की उम्र के बाद पूरी तरह से गिरावट देखी गई है।
  • पुरुष इंफर्टिलिटी (male infertility) का प्रमुख संकेत महिला को गर्भधारण करवाने में असमर्थता है।

गर्भवती होना किस्मत के खेल की तरह लग सकता है, लेकिन कुछ महिलाओं के लिए गर्भधारण करना या अपने मां बनने के सपने को पूरा करने में, उम्मीद से अधिक समय लग सकता है। वहीं कुछ महिलाओं के लिए जन्म नियंत्रण उपायों में की गई एक छोटी सी गलती गर्भधारण का कारण बन सकती है। गर्भधारण करने के प्रयासों के दौरान महिला को अपना ध्यान रखना सबसे अधिक जरूरी होता है। इसके लिए एक स्वस्थ जीवन-शैली अपनाएं और शराब, धूम्रपान से बचें। एक महिला जो गर्भवती होना चाहती है, उसके लिए सबसे महत्वपूर्ण सलाह यह है कि वह अपने शरीर, विशेष रूप से अपने मासिक धर्म के बारे में जाने उस पर ध्यान दे। शीघ्र गर्भवती होने के उपायों में आप को रोज़ाना विटामिन लेना भी शुरू करना पड़ सकता हैं। एक कपल के लिए गर्भावस्था का समय दूसरे कपल के समय से बहुत अलग हो सकता है। गर्भधारण आप कितनी जल्दी या देर से करेंगे यह बात कुछ कारकों पर बहुत अधिक निर्भर करती हैं, जैसे आपकी उम्र क्या है? आपका स्वास्थ्य कैसा है? आपको कोई गंभीर समस्या तो नहीं है? या फिर आपके परिवार में कोई बीमारी का इतिहास तो नहीं? आप एक दिन या एक सप्ताह में कितनी बार सेक्स करते हैं? ये सभी कारण गर्भधारण करने में अहम भूमिका निभाते हैं।

अधिकांश महिलाएं छह महीने से एक साल के भीतर गर्भवती होने में सक्षम होती हैं। यदि आप कोशिश करने के पूरे एक साल के बाद भी प्रेग्नेंट नहीं हो पाती हैं तो आपको सकारात्मक सोच के साथ स्त्री रोग विशेषज्ञ या फर्टिलिटी एक्सपर्ट से सलाह-मशवरा करना चाहिए। इतना ही नहीं, यदि आपके गर्भधान के प्रयास लंबे समय से असफल हो रहे हैं या फिर गर्भधारण करने की आपकी योजनाएं असफल हो रही हैं तो आपको कुछ अहम प्रेग्नेंट होने के उपायों को अपनाना चाहिए। आज हम आपको बताएंगे कि कैसे आप शीघ्र गर्भवती होने के टिप्स क्या हो सकते है जिससे आप जल्दी बेबी कंसीव (Conceive) सकती है। इस आर्टिकल में हम शीघ्र गर्भवती या प्रेग्नेंट होने के १० उपाय बताने जा रहे है। आइये देखते है शीघ्र गर्भवती (pregnant)होने के उपाय।

loading image

माँ बनने की तरफ उठाएं पहले कदम! IVF के बारे में अधिक जानकारी के लिए कॉल करें!

बुक करें

इस लेख़ में/\

  1. शीघ्र गर्भवती (प्रेग्नेंट) होने के लिए गर्भनिरोधक का उपयोग बंद करे
  2. प्रेग्नेंट होने के लिए मासिक धर्म को ट्रैक करे
  3. शीघ्र गर्भवती होने के लिए फर्टाइल दिनों को ट्रैक करे
  4. जल्दी प्रेग्नेंट होने के लिए प्रजनन (ओवुलेशन) दिनों के दौरान हर दूसरे दिन संबंध बनाये
  5. शीघ्र गर्भवती होने के लिए स्वस्थ जीवन शैली अपनाये और वजन को कण्ट्रोल में रखे
  6. शीघ्र गर्भवती होने के लिए पौष्टिक आहार और प्रीनेटल विटामिन्स का सेवन करे
  7. जल्दी प्रेग्नेंट होने के लिए दैनिक जीवन के स्ट्रेस को कम करे
  8. शीघ्र गर्भवती होने के लिए धूम्रपान और शराब का इस्तेमाल बंद करे
  9. जल्दी प्रेग्नेंट होने के लिए वैजिनल लुब्रीकेंट का इस्तेमाल ना करे
  10. प्रेगनेंसी टेस्ट कर गर्भावस्था कन्फर्म करे
  11. निष्कर्ष
 

1.शीघ्र गर्भवती (प्रेग्नेंट) होने के लिए गर्भनिरोधक का उपयोग बंद करे

Stop using contraception to get pregnant early in hindi

shighra garbhavati (pregnant) hone ke liye garbh nirodhak ka upyog band kare in hindi

आमतौर पर प्रयोग किए जाने वाले गर्भनिरोधक तब तक ही असरकारक होते हैं जब तक उनका प्रयोग किया जाता है। लेकिन कुछ ऐसे भी होते हैं जिनका असर उनके उपयोग के बंद कर देने के बाद भी बना रहता है। आमतौर पर प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन (progesterone hormone) के इंजेक्शन जैसे इंजेक्टेबल जन्म नियंत्रण (डेपो-प्रोवेरा) (Injectable birth control - Depo-Provera) जो गर्भनिरोधक के रूप में प्रयोग किए जाते हैं, अपना असर काफी लंबे समय तक छोड़ते हैं। [1] इसे लेना छोड़ने के बाद आपको फिर से ओवुलेट करने में 10 महीने या उससे अधिक समय लग सकता है। कुछ महिलाओं के लिए, पीरियड्स को फिर से शुरू होने में 18 महीने तक का समय लग सकता है। यही कारण है कि विशेषज्ञ उन महिलाओं के लिए इस गर्भनिरोधक पद्धति का उपयोग करने की सलाह नहीं देते है, जो जन्म नियंत्रण का उपयोग करने के एक वर्ष के भीतर बच्चे होने की उम्मीद करती हैं। अगर महिला ने इनका प्रयोग किया है तब भी गर्भधारण में समय लग सकता है। यदि आप एक बैरियर मेथड (Barrier Method) का उपयोग कर रहे हैं, जैसे कि कंडोम (condom) या एक डायाफ्राम (Diaphragm), तो जैसे ही आप इसका उपयोग किये बिना सेक्स करते हैं, आप शीघ्र गर्भवती होना संभव है। शीघ्र गर्भवती (प्रेग्नेंट) होने के उपयोंमे गर्भनिरोधक का उपयोग बंद करना शामिल है।

loading image

माँ बनने की तरफ उठाएं पहले कदम! IVF के बारे में अधिक जानकारी के लिए कॉल करें!

बुक करें

 

2.प्रेग्नेंट होने के लिए मासिक धर्म को ट्रैक करे

Track menstruation to get pregnant early in hindi

Jaldi garbhwati hone ke liye masik dharm ko track kare in Hindi

शीघ्र गर्भवती होना यह सही समय पर निर्भर करता है। शीघ्र प्रेग्नेंट होने के लिए यह सुनिश्चित करना जरुरी होता है की अंडे और शुक्राणु के मिलने के लिए सभी परिस्थितियां सही हो। महिलाओं मे मासिक धर्म चक्र इस बारे में सुराग दे सकता है कि आपका शरीर इस प्रक्रिया शुरू करने के लिए कब तैयार है। इस प्रक्रिया का पहला चरण उन दिनों को जानना और सीखना है जब आप सबसे अधिक फर्टाइल (fertile) होते हैं। ज्यादातर महिलाओं में 28 दिनों का मासिक धर्म होता है। इसका मतलब है कि आपके पास हर महीने लगभग 6 दिन हैं जब महिला फर्टाइल होती है और शीघ्र गर्भवती हो सकती हैं। [2] इसमें वह दिन भी शामिल है, जिसमें आपका अंडाशय (Ovaries) एक एग जारी करता है, जिसे ओव्यूलेशन कहा जाता है।
आप बिना ओवुलेशन के गर्भवती नहीं हो सकती हैं, और आपके पीरियड्स के समय पर नज़र रखना आपके शरीर की प्रजनन क्षमता से परिचित होने का एक तरीका है।

इसका पता लगाने के लिए, आपको अपने मासिक धर्म चक्र को चार्ट करना होगा और रिकॉर्ड करना होगा कि यह कितने समय तक रहता है। दिन 1 आपकी अवधि का पहला दिन है। चूंकि आपके चक्र की लंबाई महीने-महीने से थोड़ी भिन्न हो सकती है, इसलिए कुछ महीनों तक ट्रैक रखना सबसे अच्छा है। लेकिन कुछ महिलाओं में माहवारी हर महीने में अलग दिनों पर आती है, इस स्थिति में आपके मासिक चक्र का औसत मासिक धर्म चक्र की अवधि माना जाता है। उदाहरण के तौर पर यदि पहले महीने में आपका मासिक धर्म (यानि दो माहवारी के बीच की अवधि) 28 दिन की, दूसरे महीने में 33 दिन की और तीसरे महीने में 26 दिन की है तो आप तो निम्नलिखित तरीके से आपने औसत मासिक चक्र को माप सकते हैं।
अपने तीनों महीने के मासिक के मासिक चक्र का जोड़ करें यानि 28+33+26 यानि 87 दिन
अब इस जोड़ को 3 से गुणा कर औसत निकाले, यानि 87/3 = 29 दिन
यह औसत आंकड़ा आपके मासिक धर्म चक्र की अवधि माना जाता है, यानि आपके मासिक धर्म चक्र की अवधि 29 दिन है, मासिक धर्म चक्र की अवधि के अनुसार और अपने शारीरिक लक्षणों को ट्रैक कर आप अपने ओवुलेशन के समय का पता लगा सकती हैं। इस तरह प्रेग्नेंट होने के उपयोंमे मासिक धर्म को ट्रैक करना शामिल है।

 

3.शीघ्र गर्भवती होने के लिए फर्टाइल दिनों को ट्रैक करे

Track fertile days to get pregnant early in hindi

shighra garbhwati hone ke liye Fertile dino ko track kare in Hindi

आमतौर पर महिलाओं में मासिक चक्र 28 से 35 दिन का माना जाता है। औसतन अगर आपका मासिक चक्र 28 दिन का है तो पीरियड्स के 14वें दिन आप ओवुलेट करती है और 11वे से 14वे दिन आपकी प्रेग्नंट होने की संभावना सबसे अधिक होती है। यदि आपके पीरियड्स लंबी अवधि के हैं, ओवुलेशन और आपके फर्टाइल दिन देर से शुरू होते है।[3] उसी तरह यदि आपके पीरियड्स की अवधि छोटी है, तो ओवुलेशन और फर्टिलिटी के दिन ऊपर दिए गए दिनों से अलग हो सकते है। अपने सबसे फर्टाइल दिनों की जानकारी के लिए, मासिक चक्र की अवधि का पता होना बहुत आवश्यक है। इसके साथ ही आप अपने बेसल बॉडी टेम्परेचर (BBT) और सर्वाइकल म्यूकस में बदलाव (Cervical mucus) की जाँच करें।

  • बेसल बॉडी टेम्परेचर (BBT) यह उन संकेतों में से एक है जब आपका शरीर ओव्यूलेट करने के लिए तैयार होता हैं। यदि आप पहले से ही अपने बेसल बॉडी टेम्परेचर को ट्रैक कर रहे हैं, तो आप जानते हैं कि यह आमतौर पर ओव्यूलेशन के समय के आसपास बढ़ता है क्योंकि प्रोजेस्टेरोन का स्तर बढ़ता है। अगर पीरियड्स की तारीख आने तक यह बढ़ा ही रहता है तो यह प्रेगनेंसी के लक्षणों में से एक हो सकता है। जब आपका पीरियड्स आता है तो यह ड्रॉप हो जाता है। बेसलमबॉडी टेम्परेचर ट्रैक करने के लिए मार्किट में बेसलबॉडी थर्मामीटर ( basal body thermometer) भी उपलब्ध है। बेसल थर्मोमीटर की मदद से महिलाओं को सुबह उठते ही अपना तापमान लेना चाहिए। ओवुलेशन के समय तापमान में मामूली सी (0.5 डिग्री सेंटीग्रेड से 1 डिग्री सेंटीग्रेड) बढ़ोतरी देखी जाती है।
  • सर्वाइकल म्यूकस में बदलाव (Cervical mucus) सर्वाइकल म्यूकस एक फ्लूइड है जो सर्विक्स के पास मौजूद ग्लैंड द्वारा स्रावित होता है, जो कि वेजाइनल टनल (Vaginal tunnel) के ऊपर होता है। ओव्यूलेशन से ठीक पहले और उसके दौरान, इसकी मात्रा, रंग और बनावट बदल जाती है जिससे आपको गर्भवती होने में आसानी होती है। जैसे ही आपके अंडाशय एक अंडा जारी करने की तैयारी करते हैं, आपका गर्भाशय ग्रीवा अधिक म्यूकस (mucus) बनाता है। ओव्यूलेशन से कुछ दिन पहले, यह चिपचिपा या सफेद हो सकता है। यह चरण आमतौर पर 3 या 4 दिनों तक रहता है, जब आप गर्भवती होने की सबसे अधिक संभावना होती है। [4] इस तरह एक मासिक धर्म चक्र में कुल छह दिन ऐसे होते हैं जब महिला फर्टाइल होती है और गर्भवती हो सकती हैं। इसतरह प्रेग्नेंट होने के उपयोंमे फर्टाइल दिनों को ट्रैक करना शामिल किया गया है।
loading image

अस्सिटेड रिप्रोडक्टिव तकनीक से मातृत्व का अनुभव करें| हम कर सकते हैं आपकी मदद!

बुक करें

 

4.जल्दी प्रेग्नेंट होने के लिए प्रजनन (ओवुलेशन) दिनों के दौरान हर दूसरे दिन संबंध बनाये

Make Relations every other day during ovulation days in hindi

Prajnan (Ovulation) dino ke douran har dusre din sambandh banaye in Hindi

प्रेग्नेंट होने के लिए महिला और पुरूषों ने नियमित रूप से सेक्स करना जरुरी है। नियमित रूप से सेक्स करने का मतलब है महीने भर में हर 2 से 3 दिन में सेक्स करना। जल्दी प्रेग्नेंट होने के लिए यह ज़रूरी है कि महिला व पुरुष में बिना गर्भनिरोध का उपयोग किए, सही समय पर सेक्स संबंध बनाना जरूरी होता है। प्रेग्नेंट होने के लिए महिला को अपने ओव्यूलेशन समय को ध्यान में रखते हुए, इसके एक दिन पहले से लेकर ओव्यूलेशन के बाद के चार दिन तक सेक्स करना चाहिए। इस समय महिला के अंडाणु और पुरुष के शुक्राणु अगर फैलोपिन ट्यूब (Fallopian tube) में मिल जाते हैं तब गर्भधारण की पूर्ण संभावना हो जाती है। जो महिलायें अपने ओव्यूलेशन का ठीक समय नहीं जान पाती हैं उन्हें अपने मासिकधर्म साइकल के बीच के दस दिनों में याने पीरियड्स के शुरुवाती ७ दिन बाद और पीरियड्स आने के ७ दिन पहले के बिच के दिनों में नियमित रूप से सेक्स कर सकती हैं तो उन महिलाओं को इन दिनों में प्रेगनेंसी के लिए सेक्स करना चाहिए।

यदि आप सबसे अधिक फर्टाइल होने के साथ ओव्यूलेशन के आसपास के दिनों में सेक्स करते हैं तो आपकी गर्भवती होने की सबसे अधिक संभावना है। एक अंडा रिलीज होने के बाद लगभग 12-24 घंटे तक रहता है। गर्भवती होने के लिए इस समय के दौरान अंडे को एक शुक्राणु द्वारा निषेचित किया जाना चाहिए। गर्भ धारण करने की कोशिश करने वाली स्वस्थ महिलाओं में, छह दिन ऐसे होते हैं जब महिला फर्टाइल होती है और गर्भवती हो सकती हैं. इन दिनों में बेबी कंसीव (Conceive) जल्दी होता है। [5]

और पढ़ें:How to conceive a baby boy - A Scientific Approach

 

5.शीघ्र गर्भवती होने के लिए स्वस्थ जीवन शैली अपनाये और वजन को कण्ट्रोल में रखे

To get pregnant quickly, adopt healthy lifestyle and keep the weight in control in hindi

Shighra garbhwati hone ke liye Swasth jeevan shaili apnaye aur vajan ko control rakhe in Hindi

आप इस बात से अवगत हैं कि गर्भावस्था के दौरान स्वस्थ जीवन शैली को अपनाना महत्वपूर्ण है। लेकिन आप इस बात से परिचित नहीं होगी की महिलाओं मे प्रजनन क्षमता में सुधार के लिए स्वस्थ जीवन शैली उतनी ही आवश्यक होती है। इन स्वस्थ आदतों को अपनाने से आपके गर्भवती होने की संभावना बढ़ सकती है और आपको स्वस्थ गर्भावस्था पाने में मदद मिल सकती है:

  • स्वस्थ वजन बनाए रखें (Maintain a healthy weight) मोटापा आपके स्वास्थ्य को कई तरह से नुकसान पहुंचा सकता है, जिसमें आपके ओव्यूलेशन (ovulation) प्रक्रिया में हस्तक्षेप करना भी शामिल है। लेकिन जो महिलाएं गंभीर रूप से कम वजन की होती हैं उन्हें भी ओवुलेशन की समस्या होने का खतरा बढ़ जाता है। शरीर के वजन और प्रजनन क्षमता के बीच के सम्बन्ध को समझना जरुरी होता है। इसलिए सामान्य ओवुलेशन बनाए रखने में मदद करने के लिए स्वस्थ बॉडी मास इंडेक्स (BMI-Body Mass Index) बनाये रखने का लक्ष्य रखें। इसके साथ जिनका वजन बहुत ज्यादा है ही हैल्थी डाइट का सेवन करे और प्रेगनेंसी के लिए कोशिश करने से ३-६ महीने पहले व्यायाम करना शुरू करे। [6]
  • कैफीन का सेवन सीमित करें (Limit caffeine intake) वैज्ञानिकों ने यह बताया है की महिलाओं मे और पुरुषों में बांझपन निर्माण होने का कारण कैफीन का "बहुत अधिक" सेवन होता है। एक अध्ययन से यह साबित हुआ है की कैफीन का सेवन पुरुषों के वीर्य पर असर करता है और यह इनफर्टिलिटी का कारण होता है. [7]

आपको कैफीन को पूरी तरह से बंद करने की आवश्यकता नहीं है, लेकिन दिन मे कैफीन का सेवन को प्रति दिन 200 मिलीग्राम तक सीमित करने की कोशिश करें, खासकर जब आप गर्भ धारण करने की कोशिश कर रहे हों। यह प्रति दिन लगभग दो, आठ-औंस कप कॉफी के बराबर है।

और पढ़ें:Uterine Fibroids and its treatment

 

6.शीघ्र गर्भवती होने के लिए पौष्टिक आहार और प्रीनेटल विटामिन्स का सेवन करे

Eat nutritious diet and prenatal vitamins to get pregnant quickly in hindi

Shighra garbhwati Poshtik aahar aur prenatal vitamins ka sevan kare in Hindi

प्रजनन क्षमता को बेहतर बनाने के लिए सबसे अच्छी जीवनशैली में बदलाव के लिए एक स्वस्थ आहार को अपनाना शामिल है। गर्भाधान की कोशिश करने वाली महिलाओं को विटामिन, आयरन, कैल्शियम और प्रोटीन जैसे खाद्य पदार्थों को अपनी दिनचर्या में शामिल करना चाहिए। स्वस्थ खाद्य पदार्थ पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं जो कि महिलाओं को जल्दी गर्भधारण करने में मदद कर सकते हैं। यदि आप जल्दी गर्भवती होना चाहिए हैं तो आपको विटामिन, प्रोटीन और आयरन से भरपूर फल-सब्जियां, प्रोटीन युक्त डेयरी उत्पाद, स्वस्थ वसा के खाद्य पदार्थ और अनाज सहित हेल्थी खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए
पौष्टिक आहार उसे कहते है जो शरीर को नुकसान ना करे जैसे -

  • सही वसा का सेवन करे (Eat the Right Fats) ट्रांस फैट(Trans-Fat), जैसे कि बेक्ड किये हुए बेकरी के पदार्थ, तले हुए खाद्य पदार्थ, मार्जरीन और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों (processed foods) में पाए जाने वाले प्रजनन क्षमता पर नकारात्मक प्रभाव डालते है। शीघ्र प्रेगनेट होने के लिए इसतरह के खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए जिनमें ये वसा होते हैं।
  • कार्बोहाइड्रेट युक्त डाइट सेवन कम करे (Reduce carbohydrate diet intake) लेकिन, शरीर को ठीक से काम करने के लिए अच्छे कार्ब्स की आवश्यकता होती है इसका मतलब है। लेकिन इसका उपयोग भी सिमित करना चाहिए ये आपको जल्दी प्रेग्नेंट होने में मदत करेगा। एक अध्ययन में पाया गया कि जैसे-जैसे आहार में कार्बोहाइड्रेट का सेवन बढ़ा, बांझपन का खतरा भी बढ़ा। [8] अध्ययन में, जिन महिलाओं ने अधिक कार्ब्स खाए, उनमें कम कार्ब आहार (16Trusted Source) का अनुसरण करने वालों की तुलना में डिंबग्रंथि बांझपन का 78% अधिक जोखिम था।

कार्बोहाइड्रेट से भरपूर खाद्य पदार्थ और पेयों में शामिल है -
प्रसंस्कृत अनाज (Processed grain), सुगन्धित पेय, सफेट ब्रेड, पास्ता और पोलिश किये गए चावल, प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ (processed foods) और डेसर्ट ( desserts) में एक उच्च ग्लाइसेमिक इंडेक्स (high glycemic index) होता है, जो रक्त शर्करा और इंसुलिन के स्तर को बहुत ज्यादा बढ़ता है। आहार में फलों और सब्जियों, आलू और साबुत अनाज कम कार्बोहाइड्रेट वाले पदार्थ का सेवन करे। जिससे महिलाओं को शीघ्र गर्भाधारण करने में आसानी होगी।

  • विटामिन का सेवन करे (Take Vitamins) यदि आप गर्भवती होने की कोशिश कर रहे हैं, तो रोज प्रसव पूर्व विटामिन (prenatal vitamin) लेना फायदेमंद हो सकता है क्योंकि यह आपके शरीर के फोलिक एसिड के स्तर को बढ़ाता है, जिसे जन्म दोषों को रोकने के लिए जाना जाता है। प्रसव पूर्व विटामिन में फोलेट, विटामिन ए और डी(vit-A & D), लोहा (iron), विटामिन बी 6 (vit-b6) और विटामिन बी 12 (vit-b12) होते हैं। ये पोषक तत्व एक स्वस्थ गर्भावस्था के निर्माण के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। अगर आप शीघ्र गर्भवती होना चाहती है तो आपने डॉक्टर से मिले और उनसे इन विटामिन के बारे में परामर्श ले।

और पढ़ें:अनियमित माहवारी के साथ कैसे हो सकती हैं जल्द गर्भवती

 

7.जल्दी प्रेग्नेंट होने के लिए दैनिक जीवन के स्ट्रेस को कम करे

Reduce the stress of daily life to become pregnant early in hindi

jaldi pregnant hone ke liye Dainik jeevan ke stress ko kam kare

हाल के कई अध्ययनों में महिलाओं के दिन-प्रतिदिन के तनाव के स्तर और गर्भावस्था की संभावना कम होने के बीच संबंध पाए गए हैं। उदाहरण के लिए, जिन महिलाओं की लार (Saliva) में अल्फा-एमाइलेज़ (alpha-amylase) का उच्च स्तर होता है, जो एक एंजाइम है जो तनाव को चिह्नित करता है, जो महिला ये कम स्ट्रेस लेती है उनकी तुलना में जो ज्यादा स्ट्रेस लेती है उन महिलाओं मे गर्भवती होने के लिए 29% अधिक समय लगता है। स्ट्रेस के कारण महिलाओं मे इनफर्टिलिटी भी आ सकती है। [9] वैद्यानिक यह कहते है, अगर आप तनाव से गुजर रही वो काम का हो किसी ओर वजह का आपको अपने साथी से इसबारे में बात करनी चाहिए और एकदूसरे को समझना चाहिए। इससे आपका स्ट्रेस लेवल कम होनेमें मदत होगी आप इससे छुटकारा पाने के लिए अपने डॉक्टर से भी बात कर सकते है। इसलिए जल्दी प्रेग्नेंट होने के लिए स्वस्थ आहार ले, नियमित व्यायाम या मेडिटेशन करे और वजन पे ध्यान दे।

और पढ़ें:अल्फा-फेटोप्रोटीन टेस्ट क्या है और क्यों पड़ती है इसकी ज़रूरत

 

8.शीघ्र गर्भवती होने के लिए धूम्रपान और शराब का इस्तेमाल बंद करे

Stop the use smoking and alcoholin hindi

Dhumrapan aur sharab ka istemal band kare

धूम्रपान और शराब का सेवन करने से महिलाओं और पुरुषों दोनों में प्रजनन समस्याएं हो सकती हैं।

  • धूम्रपान करना बंद करे (Stop smoking) सिगरेट के धुएं में पाए जाने वाले रसायन, जैसे निकोटीन और कार्बन मोनोऑक्साइड, एक महिला के अंडों के नुकसान की दर को तेज करते हैं। कुछ अध्ययनों में यह साबित हुआ है कि धूम्रपान महिला के अंडाशय (ovary) की उम्र को कम करता और अंडे निकलने की क्षमता कम हो जाती है। यह आपके गर्भाशय ग्रीवा और फैलोपियन ट्यूब को भी नुकसान पहुँचाता है और अस्थानिक गर्भावस्था (Ectopic Pregnancy) और गर्भपात (Miscarriage) के जोखिम को बढ़ाता है। धूम्रपान पुरुषोंमें भी उनके स्पर्म काउंट और स्पर्म की हेल्थ पर असर करता है जिससे पुरुषोंमें बच्चा पैदा करने में परेशानी हो सकती है और इनफर्टिलिटी आ सकती है।
  • शराब का सेवन कम करें (Reduce alcohol intake) यह सामान्य ज्ञान है कि गर्भवती होने पर महिलाओं को शराब नहीं पीनी चाहिए। लेकिन आप इस बात से अवगत नहीं होंगे कि गर्भावस्था से पहले बार-बार शराब पीना ओवुलेशन डिसऑर्डर से जुड़ा हुआ है। यदि आप गर्भवती होने की कोशिश कर रहे हैं, तो शराब से पूरी तरह से बचने की कोशिश करें। एक से दो पेय या रोज़ाना दो से अधिक पेय शराब पीना एक महिला के लिए गर्भवती होना मुश्किल बना सकता है। धूम्रपान और शराब का सेवन बंद करना चाहिए जल्दी प्रेग्नेंट होने के लिए।

इसतरह शराब का सेवन और सिगरेट या धूम्रपान प्रजनन क्षमता पर नकारात्मक प्रभाव डालने वाले सबसे प्रमुख जीवन शैली कारणों में गिने जाते हैं। [10]

और पढ़ें:एचसीजी गर्भावस्था परीक्षण - आमतौर से पूछे जाने वाले प्रश्नों के उत्तर

 

9.जल्दी प्रेग्नेंट होने के लिए वैजिनल लुब्रीकेंट का इस्तेमाल ना करे

Do not use vaginal lubricant for early pregnancy in hindi

jaldi pregnant hone ke liye Vaginal Lubrication ka istemal na kare in Hindi

लुब्रिकेशन दो प्रकार के होते है - वाटर -बेस्ड या सिलिकॉन-बेस्ड। अगर आप लुब्रिेकेंट (lubricant) का इस्‍तेमाल करती हैं तो अगली बार इसका इस्तेमाल ज़रा सोंचे के करे । क्‍या आप जानती हैं कि बाजार में मिलने वाले लुब्रिकेंट स्‍पर्म के गती पर काफी बुरा असर डालते हैं। इससे स्‍पर्म को अंडे के पास तक पहुंचने में दिक्‍कर आती है।

और पढ़ें:कहीं माँ न बन पाने का कारण मानसिक तनाव तो नहीं

 

10.प्रेगनेंसी टेस्ट कर गर्भावस्था कन्फर्म करे

Confirm pregnancy by doing pregnancy test in hindi

Pregnancy test kar garbhavastha confirm kare in Hindi

अगर आप जल्दी प्रेग्नेंट होने की तैयारी कर रही है और यह पता लगाना चाहती है की आपकी प्रेगनेंसी (गर्भावस्था) ठहरी या नहीं तो आप मार्किट में उपलब्ध घर पे किये जाने वाले प्रेगनेंसी टेस्ट किट का प्रयोग कर सकती है। होम प्रेगनेंसी टेस्ट किट की सहायता से महिलाएँ घर बैठे अपने गर्भवती होने की पुष्टि कर सकती हैं। ( और पढ़े : बाजार में कई प्रकार की गर्भावस्था जाँच किट उपलब्ध हैं। ) प्रेग्नेंट होने पर महिला के शरीर में एचसीजी हॉर्मोन का उत्पादन शुरू हो जाता है और प्रेगनेंसी टेस्ट के दौरान ब्लड या मूत्र में इसी ह्यूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन (human chorionic gonadotropin - hCG) की जांच की जाती है। [11] यहाँ यह बात ध्यान रखने वाली है कि घर पर किये जाने वाले होम प्रेगनेंसी किट महिलाओं के मूत्र में एचसीजी हॉर्मोन (hCG hormone) की मात्रा का पता लगा, प्रेग्नेंट होने की पुष्टि करती हैं। लेकिन प्रेगनेंसी टेस्ट किट खरीदने से पहले इसकी एक्सपायरी डेट देख लेना बहुत आवश्यक है ताकि गलत परिणाम आने की सम्भावना कम हो।

और पढ़ें:कैसे करें गर्भावस्था किट का प्रयोग ?

 

11.निष्कर्ष

Conclusionin hindi

Nishkarsh</strong>

कई महिलाओं को अधिक उम्र में गर्भधारण करने में परेशानी होती है। ऐसी स्थिति में महिलाओं को अपनी जीवनशैली में बदलाव करना चाहिए। समय रहते स्त्री रोग विशेषज्ञ से जांच करवानी चाहिए और डॉक्टर की सलाह पर ही कोई भी कार्य करना चाहिए। ध्यान रहें, खराब लाइफस्टाइल और बीमारियां प्रेग्नेंट होने के प्रयास को लंबे समय तक असफल कर सकती हैं।

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि:: 30 Jun 2020

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

संदर्भ/\

  1. Kent A. “Pregnancy rates after oral contraceptive use”. Rev Obstet Gynecol.2009;2(4):246. PMID: 20111662.

  2. Mayoclinic. “Getting pregnant”. Mayoclinic, 16 August 2019.

  3. MedlinePlus.”Pregnancy - identifying fertile days”. MedlinePlus, 4 February 2020.

  4. Bigelow JL, Dunson DB, et al. “Mucus Observations in the Fertile Window: A Better Predictor of Conception Than Timing of Intercourse”.HumReprod.2004;19(4):889-892.PMID: 14990542

  5. Wilcox AJ, Weinberg CR. et al.“Timing of sexual intercourse in relation to ovulation. Effects on the probability of conception, survival of the pregnancy, and sex of the baby”. N Engl J Med. 1995;333(23):1517-1521. PMID: 7477165.

  6. Meldrum DR.“Introduction: Obesity and Reproduction”. Fertil Steril. 2017;107(4):831-832.PMID: 28366410.

  7. Ricci E, Viganò P, Cipriani S, et al.“Coffee and Caffeine Intake and Male Infertility: A Systematic Review”. Nutr J. 2017;16(1):37. Published 2017 Jun 24. PMID: 28646871.

  8. Chavarro JE, Rich-Edwards JW, et al. “A Prospective Study of Dietary Carbohydrate Quantity and Quality in Relation to Risk of Ovulatory Infertility”.Eur J Clin Nutr. 2009;63(1):78-86.PMID: 17882137.

  9. Palomba S, Daolio J, Romeo S,et al. “Lifestyle and Fertility: The Influence of Stress and Quality of Life on Female Fertility”.Reprod Biol Endocrinol. 2018;16(1):113. Published 2018 Dec 2.PMID: 30501641.

  10. Aboulmaouahib S, Madkour A, Kaarouch I, et al. Impact of alcohol and cigarette smoking consumption in male fertility potential: Looks at lipid peroxidation, enzymatic antioxidant activities and sperm DNA damage”. Andrologia. 2018;50(3):10.1111/and.12926. PMID: 29164649.

  11. Gnoth, C, and S Johnson.”Strips of Hope: Accuracy of Home Pregnancy Tests and New Developments”.Geburtshilfe und Frauenheilkunde vol. 74,7 (2014): 661-669. PMID:25100881

कॉल

व्हाट्सप्प

अपॉइंटमेंट बुक करें