क्या योनि से सफेद पानी का डिस्चार्ज (सफ़ेद स्त्राव) होना सामान्य है?

Is white discharge from vagina common in hindi

yoni se white pani aana in hindi, सफ़ेद पानी क्यूँ आता है aur yoni se pani girne ka matlab kya hain


एक नज़र

  • लड़कियों में योनि से सफेद पानी का निकलना प्यूबर्टी के बाद सामान्य क्रिया है।
  • ओव्यूलेशन (ovulation) के दौरान, पीरियड्स के पहले और बाद में सफेद पानी का स्राव ज्यादा होता है।
  • पीले या हरे रंग के डिस्चार्ज को तुरंत चिकित्सीय सलाह से ठीक कराना ज़रूरी है।
  • सफेद चिपचिपे पानी के स्त्राव के साथ बदबू बीमारी के संकेत हैं।
triangle

Introduction

Yoni_se_safed_pani__white_discharge__ke_karan_kya_hain

लड़कियों की वेजाइना से सफ़ेद पानी का निकलना प्रायः स्वभाविक और प्राकृतिक होता है। योनि से निकलने वाले इस डिस्चार्ज को ल्यूकोरिया (leucorrhoea) कहते हैं।

प्यूबर्टी के साथ ही लड़कियों में श्वेत प्रदर (leucorrhoea) का स्त्राव होने लगता है। वेजाइना (vagina) के अंदर मौजूद ग्लैंड्स (glands) इस तरल पदार्थ को रिलीज़ करते हैं, जिसके साथ डेड सेल्स (dead cells) और बैक्टीरिया (bacteria) भी शरीर से बाहर निकल जाते हैं।

इस तरह का पतला और सफ़ेद स्त्राव पूरी तरह से सामान्य है। लेकिन कभी-कभी किन्हीं कारणों से स्त्राव के रंग या बनावट में बदलाव आ सकता है जो आपके शरीर में बीमारी का लक्षण हो सकती है।

loading image

इस लेख़ में

 

क्यों होता है योनि से सफेद पानी का स्त्राव (वेजाइनल डिस्चार्ज)

Why is leucorrhoea (white discharge) released? in hindi

Yoni se safed paani kyun aata hain, लड़कियों के सफ़ेद पानी क्यूँ आता हैं, वाइट पानी क्यूँ आता है </strong>

योनि से सफेद पानी के डिस्चार्ज को अंग्रेज़ी में ल्यूकोरिया (leucorrhoea) और हिंदी में श्वेत प्रदर के नाम से भी जाना जाता है।

हर महिला का शरीर वैसे तो अलग तरीके से काम करता है मगर सफेद पानी का निकलना सभी में एक जैसा ही होता है।

यह सफ़ेद स्त्राव आपके योनि को साफ़ रखने में मदद करता है, लेकिन कभी-कभी यह स्त्राव बदबूदार और गाढ़ा भी हो सकता है। बदबूदार और गाढ़ा सफ़ेद स्त्राव योनि में इन्फेक्शन का संकेत हो सकता है।

कभी-कभी योनि क्षेत्र में सफाई न रखने के कारण और इन्फेक्शन हो जाने के कारण भी योनि से स्त्राव होता है, इस अवस्था में स्त्राव थोड़ा गाढ़ा और चिपचिपा हो सकता है।

इन्फेक्शन होने पर स्त्राव के रंग में भी बदलाव होता है जैसे हल्का हरा और पीला।

खासतौर पर यह जानकारी उन लड़कियों के लिये उपयोगी है जिन्होंने हाल-फिलहाल में प्यूबर्टी हासिल की है और व्हाइट डिस्चार्ज (white discharge) के बारे में उन्हें कम जानकारी है।

यहाँ यह बात ध्यान देने वाली हैं की आपके मासिक धर्म से पहले और बाद में योनि से हल्का सफ़ेद पानी आना एक सामान्य प्रक्रिया है।

और पढ़ें:अजवायन से पाएं पीरियड्स के दर्द से छुटकारा
 

वेजाइनल डिस्चार्ज के प्रकार क्या है ?

Types of vaginal discharge? in hindi

yoni se white pani aana in hindi, yoni se safed pani kyun aata hain, white discharge in hindi, safed pani aana, ovulation ke baad white discharge hona </strong>

योनि से सफ़ेद पानी का आना, शरीर की एक नॉर्मल प्रक्रिया है। मगर कभी-कभी स्त्राव का रंग और गंध सामान्य से अलग भी हो सकता है। ऐसी अवस्था में यह शरीर की बीमारी के लक्षण हो सकते हैं।

वेजाइनल डिस्चार्ज को रंग और संगति के आधार पर कई भागों में बांटा गया है, इनमें से कुछ स्त्राव सामान्य होते हैं और कुछ असामान्य।

योनि स्त्राव के प्रकार निम्न हैं :

योनि से साफ़ पानी युक्त डिस्चार्ज (Clear watery vaginal discharge)

योनि से साफ़ पानी जैसा डिस्चार्ज एक सामान्य प्रक्रिया है। अगर स्त्राव पानी की तरह साफ दिखे तो पता चलता है कि आपकी शरीर ने थोड़ी ज्यादा एक्टिविटी (activity) कर ली है, जिसके कारण स्त्राव थोड़ा ज्यादा भी होता है।

योनि से सफ़ेद रंग का डिस्चार्ज (White vaginal discharge)

खासतौर पर माहवारी से पहले और बाद में योनि से कम मात्रा में सफ़ेद पानी का निकलना सामान्य प्रक्रिया है।

लेकिन, अगर स्त्राव के साथ खुजली भी महसूस हो रही है या स्त्राव पनीर जैसे रंग का और गाढ़ा है तो यह यीस्ट इन्फेक्शन (yeast infection) का संकेत हो सकता है।

अगर डिस्चार्ज साफ और लचीला हो तो समझें कि आप इस वक्त ओवुलेट (ovulate) कर रही हैं और यह गर्भधारण के लिए सही समय है। इसी कारण से, इस समय को फर्टाइल विंडो (fertile window) भी कहा जाता है।

ओवुलेशन (ovulation) हर महीने आने वाले पीरियड के बीच का वक्त, यानि 12-14 दिनों के अंतराल पर होता है।

इसमें सफ़ेद पानी का सामान्य से थोड़ा ज्यादा स्त्राव होता है, मगर एक सीमा तक ही यह सामान्य होता है।

योनि से भूरा या रक्त युक्त डिस्चार्ज (Brown and bloody vaginal discharge)

योनि से भूरा या रक्त युक्त डिस्चार्ज, ज्यादातर माहवारी के आख़िरी दिनों में देखा जाता है और यह बिलकुल सामान्य है।

कई बार आपको माहवारी के अलावा भी ब्लड स्पॉटिंग (blood spotting) हो सकती है।

यदि आपको पीरियड्स के समय हल्की स्पॉटिंग होती है और आपने हाल ही में बिना कंट्रासेप्टिव या कंडोम (contraceptive) के सेक्स किया है तो यह आपकी प्रेगनेंसी के लक्षण भी हो सकते हैं।

अगर आप गर्भवती हैं और गर्भावस्था के प्रारंभिक महीनों में आपको हल्की ब्लीडिंग या स्पॉटिंग होती है तो यह गर्भपात (miscarriage) का संकेत भी हो सकता है। ऐसी स्थिति में आपको गायनेकोलोजिस्ट (gynecologist) से तुरंत मिलना चाहिए।

कभी-कभी भूरा और रक्त-युक्त डिस्चार्ज एंडोमेट्रियल (endometrial) या सर्वाइकल कैंसर (cervical cancer) का भी संकेत हो सकता है।

ऐसी अवस्था में स्त्री रोग विशेषज्ञ पैप स्मियर (pap smear) और पेल्विक एग्जाम (pelvic exam) के दौरान सर्विक्स (cervix) से जुड़ी बीमारियों का पता लगाते हैं।

योनि से हरा या पीला डिस्चार्ज (Green and yellow vaginal discharge)

पीला या हरे रंग का डिस्चार्ज अगर वेजाइना से होने लगे तो यह किसी इंफेक्शन (infection) की चेतावनी हो सकती है। खासतौर पर अगर यह गाढ़ा है या इससे बदबू आ रही हो तो तुरंत डॉक्टर से मिलें।

अगर योनि का स्त्राव अत्यधिक मात्रा में हो रहा है, योनि स्त्राव में बदबू आ रही है या स्त्राव के साथ आपको योनी में खुजली, दर्द या बुख़ार भी है तो आपको अपने डॉक्टर से तुरंत मिलना चाहिये।है तो आपको अपने डॉक्टर से तुरंत मिलना चाहिये।

loading image
 

असामान्य सफेद पानी का डिस्चार्ज कब होता है?

When does abnormal vaginal discharge happen? in hindi

yoni se asamnya safed pani ka discharge kya hain yoni se pani kab aata hai aur safed pani aane ka reason</strong>

योनि से सफ़ेद पानी का आना शरीर की एक सामान्य प्रक्रिया है, जैसे माहवारी या संभोग से पहले या ओवुलेशन के बाद। योनि से निकलने वाला यह पानी डेड सेल और बैक्टीरिया को बाहर निकालकर योनि के स्वास्थ्य को बनाए रखता है।

लेकिन कुछ स्थितियों में यह डिस्चार्ज, असामान्य और बीमारी का संकेत भी हो सकता है। आइये जानते हैं कि योनी से सफ़ेद पानी कब निकलता है और किन-किन अवस्थाओं में यह सफ़ेद पानी आना नार्मल नहीं है और चिंता का विषय बन सकता है।

असामान्य सफेद पानी का डिस्चार्ज निम्न स्थितियों में होता है :

  • पीरियड्स के पहले और बाद में अधिक सफेद डिस्चार्ज (Before and after periods more discharge of water)

आपकी महावारी शुरू होने के पहले और बाद में भी अधिक श्वेत प्रदर का बहाव होता है। महावारी शुरू होने के पहले और बाद में, एस्ट्रोजेन (estrogen) हॉर्मोन की मात्रा शरीर में बढ़ जाती है, फिर योनि में मौजूद ग्लैंड्स (glands) इसे ज्यादा मात्रा में रिलीज़ करते हैं।

  • नवजात बच्ची को भी होता है श्वेत प्रदर (White discharge in newborn baby girls)

नवजात बच्ची में मां के एस्ट्रोजन लेवल के बदलाव से भी श्वेत प्रदर का स्त्राव होता है।बच्ची तक ये हॉर्मोन मां के दूध का सेवन करने से पहुंचते हैं। हालांकि, बच्ची पर इसके कोई भी दुष्परिणाम नहीं होता है। [5]

  • ज्यादा दवाओं के सेवन से होता है ज्यादा सफेद पानी का बहाव (Using more medicines may lead to increased release of leucorrhoea)

योनि से पानी के डिस्चार्ज का रंग एंटीबॉयोटिक्स (antibiotics)और स्टेरॉयड (steroids) के इस्तेमाल से बदल जाता है। यहां तक कि ज्यादा पानी निकलने से आप असहज महसूस कर सकती हैं, आपके कपड़े गीले रह सकते हैं और बार-बार इन्हें बदलने की ज़रूरत पड़ सकती है।

  • यीस्ट इंफेक्शन से श्वेत प्रदर पर पड़ता है प्रभाव (Yeast infection also causes more white discharge)

योनि के आस-पास अगर यीस्ट (yeast) जमा हो जाने से संक्रमण फैलने लगता है। अगर यह संक्रमण आपके युटेरस तक पहुँच जाता है जिससे कारण भी महिलाओं को अनियमित स्त्राव का सामना करना पड़ता सकता है।

यह संक्रमण ग्लैंड्स (glands) पर भी असर करता है, जिससे ज्यादा फ्लूइड (Fluid) निकलने की समस्या उत्पन्न होती है। यीस्ट आपकी योनि में प्राकृतिक रूप से मौजूद होते हैं पर कई कारणों से इनकी संख्या योनि अधिक रूप से बढ़ जाती है, जैसे -बर्थ कंट्रोल पिल का इस्तेमाल, प्रेगनेंसी, डायबिटीज़, एंटीबायोटिक्स का अत्यधिक इस्तेमाल।

  • बैक्टीरियल वेजिनोसिस में श्वेत प्रदर (Vaginal discharge during bacterial vaginosis)

बैक्टीरियल वेजिनोसिस (bacterial vaginosis) 15 साल से 44 साल की महिलाओं में होने वाला सबसे सामान्य वेजाइनल इन्फेक्शन है। इस संक्रमण में वेजाइना में बैक्टीरिया की मात्रा बढ़ जाती है। [6]

हर साल भारत में लगभग 10 लाख महिलाओं को यह संक्रमण होता है। इस संक्रमण में योनि से ग्रे रंग के पानी जैसा स्त्राव होता है। योनि स्त्राव से मछली जैसी गंध आती है (fishy smelling vaginal discharge) और खुजली (itching) भी होती है।

डॉक्टर इस अवस्था में एंटीबायोटिक्स (antibiotics) दे सकते हैं। अगर आप गर्भवती हैं तो आपको ऐसी अवस्था में अपने गायनेकोलोजिस्ट से जल्दी से जल्दी मिलना चाहिए। याद रहे आप ओवर-द-काउंटर और बिना प्रिस्क्रिप्शन से फार्मेसी से मिलने वाली एंटीबायोटिक्स ले कर अपना इलाज स्वयं न करें।

  • गोनोरिया और कलमाइडिया इन्फेक्शन में योनि स्त्राव (Vaginal discharge in Gonorrhea and chlamydia)

कुछ सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज (sexually transmitted diseases) जैसे गोनोरिया (gonorrhea) या कलमाईडिया (chlamydia) में योनि से हरा या पीला रंग का स्त्राव हो सकता है।

  • ट्राईकोमोनियसिस में योनि स्त्राव (Vaginal discharge in trichomoniasis)

ट्राईकोमोनियसिस (Trichomoniasis) भी एक तरह का एसटीडी इन्फेक्शन है। ज्यादातर महिलाओं को इस इन्फेक्शन के कोई लक्षण नहीं दिखाई देते पर कुछ महिलाओं में हरे, पीले, ग्रे रंग का बदबूदार स्त्राव हो सकता है। इसके साथ-साथ योनि में जलन, खुजली, स्पॉटिंग और सूजन की भी शिकायत रहती है। [7]

  • पेल्विक इन्फ्लेमेट्री डिजीज (PID) में योनि स्त्राव (Vaginal discharge in pelvic inflammatory disease)

पेल्विक इन्फ्लामेट्री डिजीज तब होता है जब बैक्टीरियल इन्फेक्शन योनि से होते हुए महिला के अन्य प्रजनन अंगों में जैसे - सर्विक्स, फैलोपियन ट्यूब, ओवरी बढ़ जाती है। [8] इस अवस्था में योनि स्त्राव अत्यधिक मात्रा में बढ़ जाता है और उसमें बहुत तेज़ गंध भी आती है।

पेल्विक इन्फ्लामेट्री डिजीज के अन्य लक्षण निम्न हैं :
  • सेक्स के समय असहनीय दर्द
  • पेट के निचले हिस्से में लगातार या बार-बार उठने वाला दर्द
  • बुख़ार और थकान होना
  • पेशाब के समय दर्द होना
  • सर्विकल कैंसर में योनि स्त्राव (Vaginal discharge in cervical cancer)

ह्यूमन पप्पिलोमावायरस (human pappilomavirus) यौन से संचारित होता है और सर्विकल कैंसर का कारण भी बन सकता है। ऐसी अवस्था में वेजाइनल डिस्चार्ज भूरा और रक्तयुक्त और गंध भरा होता है। सालाना पैप स्मियर (pap smear) और एचपीवी (HPV testing) से सर्विकल कैंसर की जांच की जा सकती है।

अगर आपको योनि स्त्राव के साथ-साथ बुख़ार, पेट के निचले हिस्से में दर्द, एकदम से वजन गिरना, अत्यधिक थकान और अत्यधिक पेशाब की शिकायत है तो आपको जल्द अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

और पढ़ें:अनियमित माहवारी का इलाज
 

निष्कर्ष

Conclusionin hindi

Nishkarsh

शरीर की प्राकृतिक क्रिया सुचारू रूप से चले इसके लिये हमारा स्वच्छता पर ध्यान देना भी ज़रूरी है। यीस्ट संक्रमण से बचने के लिये गुप्तांगों के बालों की सफाई हमेशा करते रहें।

ब्रांड के कॉटन अंडरगार्मेंट पहनें, जो गीलेपन को पूरी तरह से सोख लें। अंतःवस्त्रों को अच्छी तरह धोकर सुखाने के बाद ही दोबारा प्रयोग में लाएँ।

loading image

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

अक्सर पूछे गए प्रश्न

सभी प्रश्न बंद करें

योनि स्राव का क्या अर्थ है?

योनि निकलने वाले तरल पदार्थ होता और ग्रीवा बलगम के मिश्रण को योनि स्त्राव कहते हैं।

उत्पादित योनि स्राव की मात्रा हर महिला में भिन्न होती है। महिलाओं में अक्सर योनि स्त्राव को सामान्य माना जाता है।

महिलाओं में वेजाइनल डिस्चार्ज क्यों होता है?

वेजाइना से निकलने वाले डिस्चार्ज को ल्यूकोरिया (leucorrhoea) कहा जाता है। लड़कियों में प्यूबर्टी के बाद ऐसा होना स्वाभाविक होता है।

इससे शरीर में मौजूद बैक्टीरिया और डेड स्किन सेल्स बाहर निकल जाते हैं। एक तरह से कहा जाए तो वेजाइनल डिस्चार्ज महिला के रिप्रोडक्टिव पार्ट को साफ रखता है और संक्रमण से बचाव करता है।

क्या प्रतिदिन बहुत सारा डिस्चार्ज होना सामान्य है?

आमतौर पर देखा जाए तो ऐसा होना सामान्य ही माना जाता है। दरअसल, यौन उत्तेजना और ओव्यूलेशन के साथ डिस्चार्ज बढ़ना सामान्य होता है।

वहीं व्यायाम, जन्म नियंत्रण की गोलियों का उपयोग और भावनात्मक तनाव के कारण भी डिस्चार्ज अधिक हो सकता है।

प्रतिदिन डिस्चार्ज की कितनी मात्रा सामान्य होती है?

अध्ययनों के अनुसार, 24 घंटे में महिलाओं में 1 से 4 मिलीलीटर तक योनि स्राव होना सामान्य माना जाता है।

हालांकि, दिन-प्रतिदिन के आधार पर यह स्तर भिन्न हो सकता है। अक्सर ओव्यूलेशन और जन्म नियंत्रण जैसे कारक योनि स्त्राव की मात्रा को प्रभावित करते हैं।

गाढ़ा या बदबूदार योनि स्राव का क्या मतलब होता है?

गाढ़ा, सफ़ेद या बदबूदार डिस्चार्ज वेजाइना में इन्फेक्शन का संकेत हो सकता है। दरअसल, योनि के आस-पास के क्षेत्र की सफाई पर ध्यान न देने की वजह से इन्फेक्शन हो सकता है। इस स्थिति में डिस्चार्ज थोड़ा बदबूदार, गाढ़ा और चिपचिपा हो सकता है।

क्लीयर और स्ट्रेची डिस्चार्ज का मतलब क्या है?

जब डिस्चार्ज साफ़ या क्लियर होता है लेकिन लचीला (stretchy) और म्यूकस (mucus) जैसा होता है, तो ये ओवुलेशन को इंगित करता है। इस तरह का डिस्चार्ज भी सामान्य होता है।

क्या पीले रंग का स्राव होना सामान्य होता है?

पीले या हरे रंग का डिस्चार्ज, खासकर जब यह मोटी और अप्रिय गंध के साथ हो तो, सामान्य नहीं होता है।

इस प्रकार का डिस्चार्ज इन्फेक्शन जैसे ट्राइकोमोनिएसिस (trichomoniasis) का संकेत हो सकता है। यह आमतौर पर संभोग के माध्यम से फैलता है।

योनि से भूरा या रक्त युक्त डिस्चार्ज का क्या मतलब है?

आमतौर पर वेजाइना से भूरे रंग या रक्त युक्त डिस्चार्ज पीरियड के आख़िरी दिनों में होता है, जो बिल्कुल सामान्य होता है।

हालांकि, कुछ मामलों में भूरा और रक्त-युक्त डिस्चार्ज सर्वाइकल कैंसर (cervical cancer) या फिर एंडोमेट्रियल (endometrial) का भी संकेत हो सकता है।

क्या योनि से रक्त-युक्त डिस्चार्ज गर्भावस्था का भी संकेत हो सकता है?

अगर आपको माहवारी के वक़्त हल्की स्पॉटिंग होती है और आपने हाल में ही असुरक्षित सेक्स किया है तो ये गर्भावस्था का प्रारंभिक लक्षण हो सकता है।

क्या सफ़ेद वेजाइनल डिस्चार्ज होना सामान्य है या यह संक्रमण का संकेत हो सकता है?

पीरियड की शुरुआत या अंत में थोड़ा सा वाइट डिस्चार्ज होना सामान्य होता है। हालांकि, यदि डिस्चार्ज बहुत गाढ़ा या मोटा हो तो ये सामान्य नहीं है।

इस प्रकार का डिस्चार्ज ईस्ट इन्फेक्शन (yeast infection) का संकेत हो सकता है। ऐसे में डॉक्टर से ज़रुर मिलें।

मैं अत्यधिक और बदबूदार डिस्चार्ज को कैसे कम कर सकती हूं?

ऐसा करने के लिए आपको योनि को साफ़ रखने की आवश्यकता है। योनि को साफ़ रखने के लिए हल्के साबुन और गुनगुने पानी का नियमित रूप से इस्तेमाल करें। इसके अलावा 100% सूती जांघिया पहनें और अत्यधिक टाइट कपड़े पहनने से बचें।

मुझे योनि स्राव के बारे में कब चिंतित होना चाहिए?

अगर योनि स्राव सामान्य से अधिक होने लगे, डिस्चार्ज से बदबू भी आने लगे, यूरिन पास करने के दौरान जलन हो या फिर सेक्स के दौरान दर्द हो तो आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए। ये लक्षण योनि से जुड़े संक्रमण या फिर किसी और मेडिकल स्थिति का संकेत हो सकते हैं।

references

संदर्भ की सूचीछिपाएँ

1 .

WebMD. "Your Newborn Girl's Genitals and Bleeding". WebMD, 25 June 2019.

2 .

Mayo Clinic. "Bacterial vaginosis". Mayo Clinic, 01 May 2019.

3 .

Center for Disease Control and Prevention. "Trichomoniasis - CDC Fact Sheet".cdc.gov. 31 January 2017.

4 .

Lindsey K. Jennings."Pelvic Inflammatory Disease (PID)". Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2020 Jan, PMID: 29763134.

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 12 May 2020

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

पीरियड्स में हेवी ब्लीडिंग या मासिक धर्म का अधिक दिनों तक आना

पीरियड्स में हेवी ब्लीडिंग या मासिक धर्म का अधिक दिनों तक आना

अनियमित पीरियड्स के लिए गुलाब की चाय के फायदे

अनियमित पीरियड्स के लिए गुलाब की चाय के फायदे

अनियमित माहवारी या अनियमित पीरियड

अनियमित माहवारी या अनियमित पीरियड

डिसमेनोरिया क्या है

डिसमेनोरिया क्या है

इन 6 टिप्स से जानें पीरियड साइकिल नियमित है या नहीं

इन 6 टिप्स से जानें पीरियड साइकिल नियमित है या नहीं
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad