क्या पीरियड मिस होने का मतलब है कि आप प्रेग्नेंट हैं

Is missed period a sign of pregnancy in hindi

Kya hai periods miss (mahwari na hona) hone ka matlab


एक नज़र

  • पीरियड्स लेट होने के कारण को हमेशा गर्भावस्था का संकेत समझना सही नहीं होता है।
  • पीरियड्स लेट होने के शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक बदलाव से जुड़े कई दूसरे कारण हैं।
  • गर्भावस्था सुनिश्चित करने का सबसे बेहतर उपाय प्रेग्नेंसी टेस्ट ही है।
triangle

Introduction

Kya_periods_miss_hone_ka_matlb_hai_ki_aap_pregnant_hai

आमतौर पर पीरियड मिस होना गर्भावस्था का संकेत समझा जाता है। मगर हर बार पीरियड्स मिस होने का मतलब यह नहीं होता कि आप गर्भवती हैं। ऐसे बहुत सारे कारण हैं जिनकी वजह से एक महिला पीरियड्स मिस कर सकती है। हर महीने आने वाला पीरियड्स अगर कभी गलती से मिस हो जाये तो एक महिला पीरियड मिस (माहवारी न होना) होने का मतलब प्रेगनेंसी के शुरुआती और सटीक लक्षण समझ सकती है। मगर पीरियड्स में देर होना ,जल्दी होना ,नहीं होना या फिर रुक जाना इन सब के कई दूसरे कारण भी होते हैं। यही नहीं बल्कि कई महिलाएं पीरियड में किसी भी तरह के बदलाव के लिए दवाओं का इस्तेमाल करने लगती हैं। कुछ महिलाएं इस बात का तनाव लेकर पीरियड नियमित आने के लिए कुछ घरेलू नुस्खों का भी इस्तेमाल करती हैं। मगर जरूरी नहीं की हर बार मिस्ड पीरियड्स का मतलब यही है कि आप गर्भ धारण के बारे में सोचकर आढे-टेढ़े उपाय करती रहें। पीरियड्स मिस होने के और भी बहुत सारे कारण हैं। जैसे महिला नियमित रूप से ओव्यूलेट नहीं करती हैं या उनका वजन बहुत कम या बहुत ज्यादा है या वो किसी तनाव से पीड़ित है आदि. । इस आर्टिकल में हम आपको बताएँगे कि गर्भावस्था को छोड़कर पीरियड्स मिस होने के और क्या-क्या कारण हैं।

loading image

इस लेख़ में

  1. 1.विलम्बित पीरियड चक्र के कारण पीरियड मिस होने को गर्भावस्था का संकेत समझना
  2. 2.डायटिंग के कारण पीरियड मिस होने को गर्भावस्था का संकेत समझना
  3. 3.वजन के कारण पीरियड्स मिस होने को प्रेगनेंसी का संकेत समझना
  4. 4.ज्यादा व्यायाम के कारण पीरियड मिस होने को प्रेगनेंसी का संकेत समझना
  5. 5.दिनचर्या में बदलाव के कारण पीरियड मिस होने को प्रेगनेंसी का संकेत समझना
  6. 6.पीसीओएस के कारण पीरियड मिस होने को प्रेगनेंसी का संकेत समझना
  7. 7.कुछ ख़ास बीमारियों के कारण पीरियड मिस होने को गर्भावस्था का संकेत समझना
  8. 8.खून में प्रोलेक्टिन बढ़ने के कारण पीरियड मिस होने को प्रेगनेंसी का संकेत समझना
  9. 9.स्ट्रेस के कारण पीरियड मिस होने को प्रेगनेंसी का संकेत समझना
  10. 10.मेनोपॉज़ के कारण पीरियड मिस होने को गर्भावस्था का संकेत समझना
  11. 11.निष्कर्ष
 

विलम्बित पीरियड चक्र के कारण पीरियड मिस होने को गर्भावस्था का संकेत समझना

Understanding missed period due to delayed period cycle as a sign of pregnancy in hindi

vilambit Periods chakr ke karan period miss hone ko garbhavastha ka sanket samjhana

आमतौर पर 13 से 15 वर्ष की उम्र में एक लड़की के पीरियड्स होने शुरू होते हैं। यूं तो किताबों में पीरियड्स चक्र को 28 दिनों का बताया जाता है, मगर पीरियड्स का चक्र 21 से लेकर 35 दिनों के बीच का भी हो सकता है। कई बार जानकारी के अभाव में लड़कियां पीरियड्स के मिस होने पर घबराने लगती हैं। इसके अलावा भी अगर आपके पीरियड्स अभी शुरू हुए हैं और महीने भर या उससे ज्यादा दिनों से रुक गए हैं तो घबराएँ नहीं। शुरुआती 6 महीने में आपके पीरियड्स का लेट होना सामान्य है। यह वक़्त के साथ ठीक हो जाएगा।

loading image
 

डायटिंग के कारण पीरियड मिस होने को गर्भावस्था का संकेत समझना

Understanding missed period due to dieting as a sign of pregnancy in hindi

Dieting ke karan period miss hone ko garbhavastha ka sanket samjhana

फ़िगर मेंटेन करने के कारण कई महिलाएं डाइटिंग करती हैं। डाइटिंग के नाम पर ठीक से खाना-पीना छोड़ देती हैं। जिससे उनके शरीर को पोषक तत्व नहीं मिल पाते। शरीर अंदर से कमजोर होने लगता है। इसे ‘इटिंग डिसोर्डर’ (eating disorder) भी कहा जाता है। जिसके कारण लेट पीरियड्स की समस्या आ सकती है। इससे बचने के लिए पौष्टिक आहार लें और सबसे जरूरी खाना वक़्त पर खाएं।

और पढ़ें:30 की उम्र के बाद गर्भावस्था के जोखिम क्या हैं ?
 

वजन के कारण पीरियड्स मिस होने को प्रेगनेंसी का संकेत समझना

Understanding miss period due to weight as a sign of pregnancy in hindi

Wazan ke karan periods miss hone ko pregnancy ka sanket samjhana

कुछ महिलाओं या लड़कियों का वजन सामान्य से कम होता है। शरीर ज्यादा पतला होने के कारण एस्ट्रोजेन हार्मोन (estrogen hormone) ठीक से शरीर में नहीं बन पाता, जिस कारण लेट पीरियड्स हो सकते हैं। सही मात्रा में पौष्टिक आहार लेकर शारीरिक वजन को सामान्य रखना इससे बचने का उपाय है। वजन को लेकर आप डॉक्टर से भी मिल सकते हैं। वहीं दूसरी ओर बढ़ता वजन भी शारीरिक हार्मोन्स को ठीक से काम करने में बाधा डालता है जिसके कारण पीरियड्स न आने या देर से आने की समस्या आ सकती है। इससे बचने के लिए शरीर को स्वस्थ रखना चाहिए और ज्यादा वजन बढ़ने शरीर को बचाना चाहिए।

loading image
 

ज्यादा व्यायाम के कारण पीरियड मिस होने को प्रेगनेंसी का संकेत समझना

Understanding missed period due to over exercising as a sign of pregnancy in hindi

Jyada vyayam ke karan period miss hone ko garbhavastha ka sanket samjhana

एक्सर्साइज़ के अंतर्गत सिर्फ एक्सर्साइज़ ही नहीं आता बल्कि ज्यादा डांस ,ज्यादा दौड़ना, अत्यधिक वजन उठाना जैसे काम भी इसके अंतर्गत आते हैं। फिट शरीर पाने के लिए ज्यादा व्यायाम या एक्सर्साइज़ करने के कारण कुछ लड़कियों के पीरियड्स साल भर तक भी बंद रह सकते हैं। वहीं कुछ महिला खिलाड़ी और डांसर्स अत्यधिक प्रैक्टिस करती हैं जिसके कारण उनके शरीर में एस्ट्रोजेन हार्मोन पर बुरा प्रभाव पड़ता है जो लेट पीरियड्स का कारण बन सकता है।

और पढ़ें:अल्फा-फेटोप्रोटीन टेस्ट क्या है और क्यों पड़ती है इसकी ज़रूरत
 

दिनचर्या में बदलाव के कारण पीरियड मिस होने को प्रेगनेंसी का संकेत समझना

Understanding missed period due to change in daily routine as a sign of pregnancy in hindi

Dincharya me badlav ke karan period miss hone ko pregnancy ka sanket samjhana

पीरियड्स पूरी तरह से महिला के हार्मोनेस से जुड़ा होता है। यही कारण है कि दिनचर्या में आया अचानक कोई बदलाव हमारे हार्मोन्स को भी प्रभावित करता है और हमारे पीरियड्स को भी। अचानक कहीं सफर हो, लेट नाइट काम हो जाए या ज्यादा काम करने से भी पीरियड्स प्रभावित हो सकते हैं।

loading image
 

पीसीओएस के कारण पीरियड मिस होने को प्रेगनेंसी का संकेत समझना

Understanding missed period due to PCOS as a sign of pregnancy in hindi

PCOS ke karan period miss hone ko pregnancy ka sanket samjhana

PCOS (polistic ovarian syndrome) यानि महिलाओं में पुरुषों के सेक्स हार्मोन का अधिक उत्पादन होना, ओवरी का ठीक से काम नहीं करना, ओवरी में गांठ या छोटी-छोटी सिस्ट होना। यह सब ना सिर्फ़ पीरियड्स को प्रभावित करता है बल्कि प्रेग्नेंसी में भी इससे बेहद परेशानी आती है। ऐसी समस्या होने पर किसी अच्छे डॉक्टर से मिलकर सलाह लेना ज्यादा सही रहेगा।

और पढ़ें:कैसे करें गर्भावस्था किट का प्रयोग ?
 

कुछ ख़ास बीमारियों के कारण पीरियड मिस होने को गर्भावस्था का संकेत समझना

Understanding missed period due to particular disease as sign of pregnancy in hindi

Kuch khas bimariyon ke karan period miss hone ko garbhavastha ka sanket samjhana

जिन महिलाओं को थाइराइड की समस्या होती है जैसे ओवरएक्टिव थायराइड (हाइपरथायरायडिज्म) या अंडरएक्टिव थायराइड (हाइपोथायरायडिज्म) (Overactive thyroid (hyperthyroidism) or underactive thyroid (hypothyroidism और शुगर की समस्या होती है उनके शुगर हार्मोन्स और थाइराइड हार्मोन्स भी पीरियड्स को प्रभावित करते हैं। जिससे लेट पीरियड्स की समस्या हो सकती है।

और पढ़ें:कैसे सर्विकल म्यूकस को ट्रैक कर आप जल्दी गर्भवती हो सकती हैं?
 

खून में प्रोलेक्टिन बढ़ने के कारण पीरियड मिस होने को प्रेगनेंसी का संकेत समझना

Understanding missed period due to increased level of prolactin in blood as a sign of pregnancy in hindi

Khoon mein prolectin badhne ke karan period miss hone ko pregnancy ka sanket samjhana

प्रोलैक्टिन एक हार्मोन होता है जो मस्तिष्क में स्थित पिट्यूटरी ग्रंथि के द्वारा बनाया जाता है। बच्चे को स्तनपान कराते वक़्त महिलाओं के खून में प्रोलेक्टिन की मात्रा बढ़ने लगती है। यह कुछ दूसरे कारणों से भी बढ़ सकता है जैसे पिट्यूटरी ग्रंथि का ट्यूमर आदि.। इसके साथ खून में प्रोलेक्टीन की मात्रा का बढ़ना पीरियड्स को प्रभावित कर सकता है।

और पढ़ें:कोरियोनिक विली सैंपलिंग/सीवीएस टेस्ट की प्रक्रिया, लाभ व जोखिम
 

स्ट्रेस के कारण पीरियड मिस होने को प्रेगनेंसी का संकेत समझना

Understanding missed period due to stress as a sign of pregnancy in hindi

Stress ke karan period miss hone ko pregnancy ka sanket samjhana

कई बार ज्यादा तनाव लेने से या फिर ज्यादा दवा खाने से भी शरीर के हार्मोन्स पर असर पड़ता है तो यह असर पीरियड्स को प्रभावित भी करता है। ये असर भी लेट पीरियड्स का कारण होते हैं।

और पढ़ें:क्या अधिक वजन होने से गर्भधारण होने में परेशानी हो सकती है?
 

मेनोपॉज़ के कारण पीरियड मिस होने को गर्भावस्था का संकेत समझना

Understanding missed period due to menopause as a sign of pregnancy in hindi

Menopause ke karan period miss hone ko garbhavastha ka sanket samjhana

यह महिला के पीरियड्स ख़त्म (menopause) होने का वक़्त होता है। यह 40-50 वर्ष की आयु के बाद ही होता है। इस वक़्त शरीर के हार्मोन्स काफ़ी बदलते रहते हैं। जिसके कारण पीरियड्स लंबे समय तक रुकने के बाद फ़िर शुरू हो सकता है।

और पढ़ें:क्या गर्भावस्था के लक्षण आ कर जा सकते हैं?
 

निष्कर्ष

Conclusionin hindi

Nishkarsh

पीरियड्स देर से होने के कई और कारण होते हैं। हमेशा लेट पीरियड्स का मतलब गर्भावस्था का संकेत ही नहीं होता। पीरियड्स लेट होने के कारण तनाव, कोई बीमारी, अधिक व्यायाम , ज्यादा दवा, दिनचर्या में बदलाव, पीसीओएस या एस्ट्रोजेन का बढ़ा स्तर भी हो सकते हैं। हर बार मिस्ड पीरियड गर्भावस्था का संकेत नहीं होती। गर्भावस्था को सुनिश्चित करने के लिए आप डॉक्टर से मिल सकती हैं।

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 20 Jul 2020

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

क्या तनाव के कारण गर्भधारण करने में परेशानी आ सकती है?

क्या तनाव के कारण गर्भधारण करने में परेशानी आ सकती है?

प्रजनन क्षमता बेहतर बनाने के 10 तरीके

प्रजनन क्षमता बेहतर बनाने के 10 तरीके

लड़का कैसे पैदा होता है?

लड़का कैसे पैदा होता है?

प्रेग्नेंट कब और कैसे होती है ?

प्रेग्नेंट कब और कैसे होती है ?

सेक्स के कितने दिन बाद गर्भधारण होता है?

सेक्स के कितने दिन बाद गर्भधारण होता है?
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad