विटामिन-सी की सहायता से पीरियड्स को नियमित करें

How can Vitamin-C help to reduce irregular periods in hindi

vitamin c kaise aniyamit mahwari ko niyamit kar sakta hai in hindi


एक नज़र

  • विटामिन-सी का उपयोग, मासिक धर्म कि शुरुआत करने के लिए भी किया जा सकता हैं।
  • माहवारी को नियमित करने के लिए आप विटामिन सी विभिन्न रूपों में ले सकती हैं।
  • विटामिन सी के अधिक सेवन से कुछ दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं।
triangle

Introduction

Vitamin_C_sources_and_benefits_in_hindi

विटामिन-सी एक ऐसा विटामिन है जो आमतौर पर हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली (immune system) को मजबूत बनाने और बीमारियों से शरीर का बचाव करने के लिए जाना जाता है।

लेकिन क्या आप जानती हैं कि विटामिन-सी हमारे स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में कई अन्य तरीकों से भी मदद करता है, जिसमें हमारे मासिक धर्म चक्र को नियमित करना भी शामिल है।

यदि आप भी अनियमित माहवारी से परेशान हैं, तो आपको पता होना चाहिए कि विटामिन सी का उपयोग करके मासिक चक्र को बदलना सबसे प्रभावी तरीकों में से एक है।

यह तरीका असरदार होने के साथ-साथ आसान और काफी हद तक सुरक्षित भी है।

loading image

इस लेख़ में

 

विटामिन-सी महवारी की शुरुआत करने में मदद करता है

Vitamin-C helps in getting periods in hindi

vitamin c periods ke lane main madad karta hai

विटामिन-सी का उपयोग, मासिक धर्म कि शुरुआत करने के लिए भी किया जा सकता है।

विटामिन-सी की ऊंची मात्रा, गर्भाशय में प्रोजेसटेरोन की मात्रा को कम कर सकती है और एस्ट्रोजन के स्तर को बढ़ा सकती है।

यह गर्भाशय को सिकुड़ने का कारण बनता है। इससे गर्भाशय का अस्तर टूट जाता है और एंडोमेट्रियल लाइनिंग (endometrial lining) को शरीर से बाहर निकालने में मदद मिलती है जिससे पीरियड्स की शुरुआत होती है।

आप डॉक्टर के सलाह से अपने माहवारी चक्र को नियमित करने के लिए विटामिन सी का उपयोग कर सकती हैं।

और पढ़ें:अजवायन से पाएं पीरियड्स के दर्द से छुटकारा
 

विटामिन-सी आयरन के अवशोषण (absorption) में मदद करता है

Vitamin C helps in absorption of iron in hindi

vitamin c iron ke absorption mein bhi madad karta hai

मासिक धर्म के दौरान खून के रूप में आयरन शरीर से बाहर निकाल जाता है।

प्रसव उम्र की महिलाओं में आयरन की कमी हो जाना आम बात है, जो थकान और कमजोरी का कारण बन सकती है।

आयरन की कमी से एनीमिया भी हो सकता है।

विटामिन सी आयरन के अवशोषण में मदद करता है, इसलिए विटामिन सी से भरपूर फल खाना या सप्लिमेंट्स लेना माहवारी में स्वास्थ्य के लिए सहायक हो सकता है।

loading image
 

विटामिन-सी ब्लड वेसल्स को मजबूत बनाता है

Vitamin C strengthens the blood vessels in hindi

vitamin c blood vessels ko majboot banata hai

विटामिन सी का एक अन्य लाभ यह है कि यह ब्लड वेसल्स को मजबूत बनाता है।

विटामिन-सी यूट्रीन सिस्टम (uterine system) में मौजूद ब्लड वेसल्स और केपिल्लरी दीवारों को मजबूत करता है, जिससे समूची प्रजनन प्रणाली (reproductive system) को मजबूती मिलती है।

ससे न केवल पीरियड्स को नियमित करने में सहायता मिलती है, बल्कि क्रेम्प्स जैसी समस्याओं से भी छुटकारा मिलता है।

और पढ़ें:अनियमित माहवारी का इलाज
 

विटामिन सी के मुख्य स्रोत कौन-कौन से हैं

What are the main sources of vitamin C in hindi

vitamin c kin kin khane ki cheezon mein paya jata hai

माहवारी को नियमित करने के लिए आप विटामिन सी विभिन्न रूपों में ले सकती हैं।

अजमोद (Parsley) की चाय, क्रैनबेरी जूस, अमरूद, खट्टे फल और जानवरों के लीवर में विटामिन सी की उच्च मात्रा होती है।

जामुन, ब्रोकली, पपीता, पालक, लाल और हरी शिमला मिर्च, और टमाटर भी विटामिन सी के अच्छे स्रोत हैं।

अजमोद को पीरियड को नियमित करने के लिए सबसे प्रभावी तरीका माना जाता है, और आप इसे दिन में दो से तीन बार चाय के रूप में पी सकती हैं।

आप अपने दैनिक आहार में इन खाद्य पदार्थों को शामिल कर सकती हैं ताकि आपकी माहवारी पर कुछ नियंत्रण हो सके।यदि आप इसे प्राकृतिक रूप से नहीं ले पा रही हैं तो अपने आहार में विटामिन-सी की मात्रा बढ़ाने के लिए आप विटामिन-सी की खुराक सप्लिमेंट्स के रूप में भी ले सकती हैं।

लेकिन सप्लिमेंट्स हमेशा डॉक्टर की सलाह और निगरानी में ही लें।

loading image
 

विटामिन सी लेते समय सावधानियाँ

Precautions to be taken while taking Vitamin C in hindi

vitamin c lene se pehle kin savdhaniya ko baratna chahiye

विटामिन सी के अधिक सेवन से कुछ दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं।

विटामिन सी की उच्च खुराक गंभीर दस्त और गुर्दे की पथरी (kidney stones) के साथ-साथ थकान और मतली (vomitting) का कारण बन सकती है।

बहुत सारे पानी और शुद्ध क्रैनबेरी रस पीने से इन दुष्प्रभावों को रोकने में मदद मिल सकती है।

इसलिए विटामिन सी की बड़ी खुराक लेने से पहले, अपने चिकित्सक से जांच करवा लेना महत्वपूर्ण है।

और पढ़ें:अनियमित माहवारी या अनियमित पीरियड
 

निष्कर्ष

Conclusion in hindi

तो, अगली बार जब आपकी माहवारी में देरी हो रही है, तो चिंता न करें।

अगर आप अनियमित मासिक चक्र से पीड़ित हैं, तो विटामिन सी की मात्रा अपने आहार में बढ़ाकर अपने पीरियड्स को नियमित करने की कोशिश करें और देखें कि विटामिन सी पीरियड्स को नियमित करने में कैसे मदद करता है।

विटामिन सी की खुराक बढ़ाने के अलावा और भी कई ऐसे आसान घरेलू नुस्खे हैं जिनकी मदद से आप अपनी माहवारी को नियमित कर सकती हैं।

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 19 May 2019

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

पीरियड्स में हेवी ब्लीडिंग या मासिक धर्म का अधिक दिनों तक आना

पीरियड्स में हेवी ब्लीडिंग या मासिक धर्म का अधिक दिनों तक आना

अनियमित पीरियड्स के लिए गुलाब की चाय के फायदे

अनियमित पीरियड्स के लिए गुलाब की चाय के फायदे

अनियमित माहवारी या अनियमित पीरियड

अनियमित माहवारी या अनियमित पीरियड

डिसमेनोरिया क्या है

डिसमेनोरिया क्या है

इन 6 टिप्स से जानें पीरियड साइकिल नियमित है या नहीं

इन 6 टिप्स से जानें पीरियड साइकिल नियमित है या नहीं
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad