महिला कंडोम : एसटीडी से बचने का एक और कारगर उपाय

Female condom: Another effective way to avoid STD in hindi

mahila condom bachayega STD se in hindi


एक नज़र

  • महिला कंडोम एसटीडी से बचाव में लाभकारी है।
  • आसानी से उपलब्ध है और उपयोग करना भी ज्यादा कठिन नहीं है।
  • इससे इन्फेक्शन होने का खतरा भी कम रहता है।
triangle

Introduction

mahila_condom_bachayega_STD_se

एसटीडी यानी की यौन संचारित रोग असुरक्षित सेक्स से बढ़ता है।

फिर चाहे वो वजाइनल सेक्स हो या ओरल सेक्स या फिर सेक्स का कोई और प्रकार।

एसटीडी को फैलने से रोकने के लिए कंडोम का इस्तेमाल सबसे लाभकारी है।

फिर चाहे वो पुरुष कंडोम हो या महिला कंडोम।

कुछ विशेषज्ञ ऐसा मानते हैं की महिला कंडोम पुरुष कंडोम के मुकाबले कम लाभकारी होता है।

पर ये एक अलग बहस या रिसर्च का विषय है।

अगर महिलायें कंडोम पहनने में सुविधाजनक महसूस कर रही हैं, तो महिला कंडोम अनचाहे गर्भ और एसटीडी जैसे रोगों से आपकी रक्षा कर सकता है।

loading image

इस लेख़ में

 

महिला कंडोम क्या है

What is Female Condom in hindi

Mahila condom kya hai

कंडोम के उपयोग को लेकर महिलाएं हमेशा चिंतित होती हैं।

महिलाओं के लिए महिला कंडोम का उपयोग आसान है या नहीं ये सवाल उनके मन में हमेशा रहता है।

इससे क्या उन्हें कोई दिक्कत तो नहीं होगी? ऐसा कुछ नहीं है अगर सावधानी-पूर्वक इसका इस्तेमाल किया जाए तो ये एक अचूक उपाय है।

महिला कंडोम पोलियूथेन से बना होता है।

सेक्स के समय इसका उपयोग किया जाता है।महिला कंडोम अनचाहे गर्भ के साथ-साथ अनचाही बिमारियों से भी बचाता है।

loading image
 

महिला कंडोम के इस्तेमाल का तरीका

Method of use of female condom in hindi

mahila condom ka istemal kaise karen

महिला कंडोम के दोनों तरफ एक लचीला रिंग होता है।

जिस तरफ कंडोम बंद है उस तरफ की रिंग को योनि के अंदर डालें।

कंडोम के खुले हिस्से की रिंग योनि के बाहर यानि कि योनि द्वार पर रहेगी।

ध्यान रहे की कंडोम बिलकुल सीधा लगा हो।

वैसे तो महिला कंडोम में सिलिकॉन की चिकनाई होती है, लेकिन जरूरत पड़ने पर आप बेबी आयल का भी उपयोग कर सकती हैं।

और पढ़ें:अजवाइन, प्याज़ एवं लहसुन बढ़ाते है यौन इच्छा
 

महिला कंडोम की विशेषता

Feature of female condom in hindi

mahila condom ki visheshta kya hai

महिला कंडोम को सेक्स के दौरान लगाकर सेक्स के पहले भी आराम से लगा सकती हैं।

इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं होता।

पुरुषों के कंडोम लेटेक्स के बने होते हैं इसलिए इसमें एलर्जी के चान्सेस ज्यादा होते हैं ।

इसके मुकाबले महिलाओं के कंडोम पोलियूथेन के बने होते हैं जिसमे एलर्जी के चान्सेस बिल्कुल ना के बराबर होते हैं।

इसे कहाँ रखें, कैसे रखें इसके लिए भी आपको ज्यादा सोच-विचार करने की जरूरत नहीं है। इसको आप किसी भी तापमान में रख सकती हैं।

इसलिए,जो जगह आपको सही लगे आप इसे वहां रखें।

loading image
 

महिला कंडोम एसटीडी से करेगा बचाव

Female condoms will protect in against STD in hindi

mahila condom STD se bachav karega

महिला कंडोम यौन संचारित रोगों और जीवाणुओं को एक शरीर से दूसरे शरीर में संक्रमित होने से रोकता है।

और इसका उपयोग आपको कई बीमारयों से बचा सकता है।

अगर पुरुष साथी किसी वजह से कंडोम का इस्तेमाल ना कर सके तो महिलाएं कंडोम का इस्तेमाल कर दोनों को एसटीडी से बचा सकती हैं।

ये एसटीडी और अनचाहे गर्भ को रोकने में 95 % लाभकारी है।

और पढ़ें:ओरल सेक्स दे सकता है कई बिमारियों को न्योता
 

निष्कर्ष

Conclusionin hindi

महिला कंडोम भी आसानी से आपके नज़दीकी मेडिकल स्टोर्स या ऑनलाइन उपलब्ध है।

इसे खरीदते वक़्त एक्सपायरी डेट जरूर जांच लें।

पुरुषों के कंडोम की तरह ही इसका दोबारा उपयोग नहीं किया जा सकता।

उपयोग के बाद इसे सावधानीपूर्वक ऐसे निकालें जिससे वीर्य कंडोम में ही रहे।

शुरू - शुरू में इसके उपयोग में थोड़ी परेशानी हो सकती है पर आदत होने पर फिर ये आरामदायक लगने लगती है।

loading image

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 24 May 2019

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

कंडोम मिथक: कंडोम का प्रयोग असुविधाजनक और कठिन होता है

कंडोम मिथक: कंडोम का प्रयोग असुविधाजनक और कठिन होता है

महिलाओं के लिए चरम सुख के फायदे

महिलाओं के लिए चरम सुख के फायदे

कंडोम मिथक: अधिक सुरक्षा के लिए मेल और फ़ीमेल कंडोम एक-साथ इस्तेमाल करने चाहिए

कंडोम मिथक: अधिक सुरक्षा के लिए मेल और फ़ीमेल कंडोम एक-साथ इस्तेमाल करने चाहिए

क्या हर महिला का हाइमन अलग-अलग दिखता है

क्या हर महिला का हाइमन अलग-अलग दिखता है

सामान्य योनि स्राव और असामान्य योनि स्राव में क्या अंतर है

सामान्य योनि स्राव और असामान्य योनि स्राव में क्या अंतर है
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad