बालों की देखभाल के लिए नीलगिरी का तेल है लाभकारी

Eucalyptus oil is beneficial for hair carein hindi

balo ki dekhbhal ke liye nilgiri ka tel hai labhkari


एक नज़र

  • नीलगिरी का तेल पुराने समय से बालों की देखभाल के लिए प्रचलित है।
  • नीलगिरी का तेल बालों के रोमछिद्रों की खोलकर जड़ों से मजबूती देता है।
  • नीलगिरी का तेल सिर की ऊपरी त्वचा को संक्रमण से दूर रखने में सक्षम है।
  • नीलगिरी का तेल अन्य तेलों के साथ इस्तेमाल करने से बालों से जुड़े अनेक विकार जड़ से समाप्त होते हैं।
triangle

Introduction

balo_ki_dekhbhal_ke_liye_nilgiri_ka_tel_hai_labhkari

बालों की अच्छी सेहत के लिए बालों को तेल की मालिश नियमित समय पर देना अति आवश्यक होता है।

तेल का सही पोषण ना मिल पाने पर बाल जड़ से मजबूती खोने लगते हैं। बाल रूखे,दो मुंहें,जड़ से कमजोर और पतले हो जाते हैं।

इक्लिप्टस यानि कि नीलगिरी का तेल बालों की पुरानी से पुरानी समस्या को जड़ से मिटाने में कारगर है।

यह ना सिर्फ हेयर की केयर अच्छी तरह करता है बल्कि बालों से जुड़ी कई प्रोब्लेम्स से आपको निजात दिलाने में भी सक्षम है।

आइए जानते हैं किस तरह से नीलगिरी के तेल का इस्तेमाल आपको दे सकता है सुंदर, मुलायम, लंबे,घनें और चमकदार बाल।

loading image

इस लेख़ में

 

बालों की मजबूती के लिए कैसे करें नीलगिरी के तेल का इस्तेमाल

How to use eucalyptus oil for strong hair in hindi

balo ki mazbooti ke liye kaise kare nilgiri ke tel ka istemal

औषधियों गुणों से भरपूर नीलगिरी का तेल बालों को जड़ से मजबूती देता है।

लंबे समय से आयुर्वेद में भी नीलगिरी के तेल का इस्तेमाल होता आ रहा है।

यह तेल सिर के रोमछिद्रों को खोलकर अंदर तक बालों को पोषण देता है। जिससे बाल जड़ से मजबूत होते हैं।

जिसका परिणाम होता है कि बाहर से बाल घने और खूबसूरत लगते हैं।

बालों के जड़ से मजबूती के कारण इनका झड़ना भी बहुत कम हो जाता है। यूकेलिप्टस का तेल बेहद खुशबूदार होता है।

अगर तेज़ी से आपके बाल झड़ रहें हैं तो तुरंत ही नीलगिरी के तेल से बालों को मसाज करना शुरू कर दें।

यह बालों झड़ना तो रोकेगा ही साथ ही बालों की विकास में वृद्धि करके बालों को लंबा भी करेगा।

loading image
 

बालों में रूसी के लिए कैसे करें नीलगिरी के तेल का इस्तेमाल

How to use eucalyptus oil for dandruff in hair in hindi

balo me rusi ke liye kare nilgiri ke tel ka istemal

नीलगिरी के तेल में एंटीफंगल गुण होते हैं। जिसके कारण यह सिर की ऊपरी त्वचा को किसी भी तरह के संक्रमण से दूर रखता है।

साथ ही सिर में स्कैल्प की सफाई भी करता है। नीलगिरी के तेल को हल्का गर्म करके 15 से 20 मिनट की मालिश बालों की देखभाल में कारगर होती है।

यह बालों को लंबा, घना और मजबूत बनाती है। साथ ही संक्रमण से दूर रहने पर सिर में रूसी और खुजली नहीं होती।

कुछ ही दिनों में आपको डैंड्रफ से छुटकारा मिल जाएगा।

और पढ़ें:अंडे की जर्दी से बनाए बेजान और रूखे बालों को खूबसूरत
 

नीलगिरी के तेल को अन्य तेल में मिला कर करें बालों की देखभाल

Take care of hair by mixing Nilgiri oil with other oil in hindi

nilgiri ke tel Ko anaye tel mein mila kar kare balo ki dekhbhal

नीलगिरी का तेल काफ़ी गाढ़ा होता है। इसे आप दूसरे तेल में मिलाकर पतला कर सकते हैं।

इसके लिए आप जैतून तेल, बादाम तेल या नारियल तेल का इस्तेमाल कर सकती हैं।

तेल पतला हो जाने के बाद इसे हलका गर्म कर लें। फिर हल्के हाथों से बालों की मसाज इस तेल से करें।

loading image
 

नीलगिरी के तेल को अन्य तेल के साथ इस्तेमाल कैसे करे

How to use Nilgiri oil with others oils in hindi

Nilgiri ke tel ko dusre tel ke sath use karna

  • नीलगिरी का तेल और नींबू :

    इसके अलावा यूकेलिप्‍टस तेल को गर्म कर के उसमें नींबू का रस मिलाएं और उससे सिर की मसाज करें।

    इससे सिर में ब्‍लड सर्कुलेशन बढ़ता है।

    जिससे नए बाल उगते हैं और सिर की त्वचा साफ होती है।

    हफ्ते में एक बार इस तेल से 10-15 मिनट बालों की मसाज करें।

    रात को मसाज करने के बाद सुबह शैंपू कर लें।

  • नीलगिरी का तेल और बादाम तेल :

    बादाम के तेल को नीलगिरी तेल में मिला लें और हलका गर्म करें।

    इससे बालों की अच्छी तरह 10 से 15 मिनट मसाज करें।

    रात भर तेल को बाल में छोड़कर अगली सुबह शैंपू कर लें।

    बाल झड़ने बंद हो जाएंगे और साथ ही बाल पहले से ज्यादा मुलायम और शाइनी हो जाएंगे।

  • यूकेलिप्टस, मेहंदी पाउडर और कैस्टर ऑयल :

    आप मेंहदी, कैस्‍टर ऑयल और यूकेलिप्‍टस ऑयल को साथ में मिला कर गरम कर के बालों की मसाज कर सकती हैं।

    मसाज करने के बाद अपने बालों को गरम तौलिये से लपेट लें और 30 मिनट तक छोड़ दें।

    इसके बाद बालों को शैंपू कर लें। इससे बाल के सिरों से जड़ तक पोषण पहुंचता है।

  • गुड़हल और नीलगिरी का तेल:

    गुड़हल के फूलों को पानी में उबाल लें, छान कर पेस्‍ट बनाएं।

    पेस्‍ट में कुछ बूंद यूकेलिप्‍टस तेल की मिलाएं और बालों में लगाएं। इसे 30 मिनट बालों में छोड़ दें।

    इसके बाद उबले हुए गुड़हल के पानी से और शैंपू से बाल धोएं।

    गुड़हल बालों के लिये काफ़ी फायदेमंद होता है।

और पढ़ें:अनचाहे बालों पर इलेक्ट्रोलिसिस और लेजर उपचार के बीच अंतर क्या है
 

निष्कर्ष

Conclusionin hindi

नीलगिरी के पेड़ से निकलने वाला नीलगिरी का तेल बालों के लिए वरदान जैसा है।

बालों से जुड़ी पुरानी से पुरानी समस्या को यह चंद दिनों में मिटा सकने में सक्षम है।

एंटीबैक्टीरियल क्षमता के कारण यह बालों को किसी तरह संक्रमण से दूर रखता है।

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 03 Jun 2019

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

जानें फेस वैक्स के नुकसान

जानें फेस वैक्स के नुकसान

थायराइड रोग के कारण अचानक बाल झड़ सकते हैं

थायराइड रोग के कारण अचानक बाल झड़ सकते हैं

बॉडी वैक्सिंग क्या है

बॉडी वैक्सिंग क्या है

जानें विटामिन ई के फायदे बालों के लिए

जानें विटामिन ई के फायदे बालों के लिए

डैंड्रफ के उपचार के लिए नारियल तेल का कैसे करें इस्तेमाल

डैंड्रफ के उपचार के लिए नारियल तेल का कैसे करें इस्तेमाल
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad