अरंडी के तेल के 15 फ़ायदे, उपयोग, नुकसान

15 benefits of castor Oil in hindi

Kaise Istemaal kare castor oil in hindi


एक नज़र

  • अरंडी के तेल के कई औषधीय और औद्योगिक उपयोग हैं।
  • यह तेल घावों को सूखने में मदद करता है।
  • कब्ज के लिए यह बेहद असरदार है।
  • अरंडी का तेल त्वचा और बालों में नमी बनाए रखने में मददगार है।
triangle

Introduction

Benefits_and_uses_of_castor_oil___Zealthy

आपको जानकर अच्छा लगेगा कि सौंदर्य जगत में सबसे अधिक सर्च होने वाले तेल में से एक है अरंडी के तेल! अब अरंडी के तेल के फायदे ही इतने हैं कि सौंदर्य और स्वास्थ्य के लिए कई तरह से इस्तेमाल किया जाता है।

अरंडी का तेल (castor oil in hindi) कई गुणों से भरपूर है। यह एक बेहद फ़ायदेमंद वनस्पति तेल है जिसे लोगों ने हजारों सालों से इस्तेमाल किया है।

यह रिकिनस कम्युनिस्ट (ricinus communis) नामक पेड़ के बीजों का तेल निकालकर बनाया जाता है।

इन बीजों को कैस्टर बीन्स के रूप में भी जाना जाता है। कैस्टर बीन्स को ताप प्रक्रिया से गुजारा जाता है, जिससे उनमें मौजूद विषैले एंजाइम खत्म हो जाते हैं, जिससे तेल इस्तेमाल के लिए सुरक्षित व फ़ायदेमंद बन जाता है।

अरंडी के तेल के कई औषधीय और औद्योगिक उपयोग हैं। यह आमतौर पर खाद्य पदार्थों, दवाओं और त्वचा की देखभाल करने वाले उत्पादों में उपयोग किया जाता है।

आज, अरंडी का तेल कब्ज और त्वचा की बीमारियों जैसे सामान्य परिस्थितियों के लिए एक लोकप्रिय प्राकृतिक उपचार बना हुआ है और आमतौर पर प्राकृतिक सौंदर्य उत्पादों में उपयोग किया जाता है।

इसके अलावे भी अरंडी तेल के कई अन्य फायदे हैं, जिसके बारे में हमनें इस लेख में बताया है। आइये इस लेख के माध्यम से अरंडी के तेल के फ़ायदों के बारे में जानते हैं।

loading image

इस लेख़ में

  1. 1.अरंडी का तेल है कब्ज़ में फायदेमंद
  2. 2.अरंडी का तेल है एक प्राकृतिक मॉइस्चराइजर
  3. 3.अरंडी का तेल है घाव भरने में सहायक
  4. 4.अरंडी का तेल है प्रभावशाली एंटी-इंफ़्लेम्मटरी गुणों से भरपूर
  5. 5.अरंडी का तेल मुँहासे कम करता है
  6. 6.अरंडी का तेल मुंह के फंगस से लड़ता है
  7. 7.अरंडी का तेल रखता है आपके बालों और स्कैल्प का ख्याल
  8. 8.अरंडी का तेल में होते हैं एंटी-एजिंग गुण
  9. 9.अरंडी का तेल स्ट्रेच मार्क्स के लिए है फायदेमंद
  10. 10.अरंडी का तेल होठों की रंगत के लिए है फायदेमंद
  11. 11.अरंडी का तेल है हल्की आईब्रो बढ़ाने में मददगार
  12. 12.अरंडी का तेल है सफ़ेद बालों के लिए फायदेमंद
  13. 13.अरंडी का तेल है डैंड्रफ में सहायक
  14. 14.अरंडी का तेल है पीठ दर्द में सहायक
  15. 15.अरंडी का तेल से करें शिशु की देखभाल
  16. 16.अरंडी के तेल से सबंधित सावधानियां
  17. 17.निष्कर्ष
 

अरंडी का तेल है कब्ज़ में फायदेमंद

Kabz mein faydemand hai castor oil in hindi

A powerful laxative castor oil in hindi

अरंडी के तेल के सबसे प्रसिद्ध औषधीय गुणों में से एक है कि यह एक बेहद शक्तिशाली प्राकृतिक लेक्जेटिव है।

अरंडी के तेल आंतों के माध्यम से मल को धक्का देने वाली मांसपेशियों की गति को बढ़ाता है। इस प्रकार अरंडी का तेल कब्ज से छुटकारा दिलाने में मदद करता है।

बुजुर्गों के लिए अरंडी का तेल बेहद फ़ायदेमंद है। अरंडी के तेल के सेवन से बुजुर्गों में कब्ज के लक्षण कम होते हैं।

loading image
 

अरंडी का तेल है एक प्राकृतिक मॉइस्चराइजर

Prakritik moisturizer hai castor oil in hindi

A natural moisturizer castor oil in hindi

अरंडी के तेल रिकिनोइलिक एसिड (ricinoleic acid - एक मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड) से समृद्ध होता है जो त्वचा को मॉइस्चराइज करने के लिए उपयोग किया जाता है।

अरंडी का तेल एक बेहद प्रभावकारी मॉइस्चराइजर है। अक्सर इसका उपयोग लोशन और क्लीन्ज़र जैसे ब्यूटी प्रोडक्ट बनाने के लिए किया जाता है। यह आपकी त्वचा को नमी प्रदान करता है।

लेकिन, अरंडी के तेल को मॉइस्चराइजर की तरह इस्तेमाल करने के लिए आपको बाज़ार में मिलने वाले प्रोडक्ट का इस्तेमाल करने की जरुरत नहीं है।

आप प्लेन अरंडी का तेल भी मॉइस्चराइजर के रूप में इस्तेमाल कर सकती हैं। नहाने के बाद या जब भी आपको अपनी त्वचा रूखी लगे तब आप थोड़ा-सा अरंडी के तेल अपनी हथेलियों पर लेकर, दोनों हाथों के बीच हल्का-सा मल लें। इसके बाद इसे अपनी त्वचा पर अप्लाई करें।

हालाँकि, गाढ़ा होने के कारण, आपको इसे अप्लाई करने के बाद हल्की चिचिपाहट महसूस हो सकती है। ऐसे में बेहतर होगा कि आप कैस्टर तेल को अन्य तेल के साथ मिला लें।

आप इसे बादाम, जैतून और नारियल के तेल के साथ मिला कर मॉइस्चराइज़र की तरह इस्तेमाल कर सकती है।

और पढ़ें:5 पोषक तत्व, जो 15 से 65 वर्षीय महिलाओं के लिए ज़रूरी हैं
 

अरंडी का तेल है घाव भरने में सहायक

Ghav bharne mein sahayak hai castor oil in hindi

A Wound Healer castor oil in hindi

घाव भरने के लिए या हलके जख्म के घरेलु उपचार के रूप में आप अरंडी के तेल का उपयोग कर सकती हैं।

कई एंटीसेप्टिक क्रीम में अरंडी के तेल का इस्तेमाल किया जाता है। अपने मॉइस्चराइजींग गुणों के कारण, घावों पर लगाने से अरंडी का तेल त्वचा को नमी प्रदान करता है जो घावों को सूखने में मदद करता है।

अरंडी का तेल टिशू विकास में मदद कर, घाव और पर्यावरण के बीच एक अवरोध का गठन करता है, जिससे संक्रमण का ख़तरा कम हो जाता है।

यह सूखापन और मृत त्वचा कोशिकाओं (dead skin cells) के निर्माण को रोककर घाव भरने में सहायता करता है।

loading image
 

अरंडी का तेल है प्रभावशाली एंटी-इंफ़्लेम्मटरी गुणों से भरपूर

Prabhvshali anti-inflammatory gunon se bharpur hai castor oil in hindi

A Impressive Anti-Inflammatory product castor oil in hindi

अरंडी के तेल में पाए जाने वाले मुख्य फैटी एसिड, रिकिनोइलिक एसिड, में प्रभावशाली एंटी-इंफ़्लेम्मटरी गुण होते हैं।

अरंडी के तेल के दर्द कम करने और एंटी-इंफ़्लेम्मटरी गुण र्हिमोटोईड अर्थिरिटिस (rheumatoid arthritis) या सोरायसिस (psoriasis) जैसी बीमारी वाले लोगों के लिए विशेष रूप से सहायक हो सकते हैं।

सूजन को कम करने के अलावा, अपने मॉइस्चराइजिंग गुणों के कारण, अरंडी के तेल सोरायसिस के मरीज़ों को शुष्क त्वचा से राहत देने में भी मदद करता है।

और पढ़ें:अनाज क्या हैं, अनाज के प्रकार और फायदे क्या हैं?
 

अरंडी का तेल मुँहासे कम करता है

Muhase kam karta hai castor oil in hindi

A pimple reducer castor oil in hindi

अरंडी के तेल में मौजूद गुण मुँहासे और उनसे जुड़े लक्षणों को कम करने में काफी मददगार है।

सूजन (inflaamation) को मुँहासे के विकास का एक प्रमुख कारण माना जाता है, इसलिए त्वचा पर अरंडी का तेल लगाने से सूजन से संबंधित लक्षण कम होते हैं।

अरंडी के तेल में रोगाणुरोधी (anti-bacterial) गुण होते हैं जो बैक्टीरियल ग्रोथ से लड़ने में मदद कर सकते हैं।

चूकि, अरंडी का तेल एक प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र भी है, इस कारण यह मुंहासों वाले लोगों में सूजन और चिड़चिड़ी त्वचा को शांत करने में मदद करता है।

और पढ़ें:अरंडी के तेल के 15 फ़ायदे, उपयोग, नुकसान
 

अरंडी का तेल मुंह के फंगस से लड़ता है

Fungus se larta hai arandi ka telin hindi

A Fungus Fighter castor oil in hindi

कैंडिडा अल्बिकैंस (candida albicans) नामक फंगस, गम संक्रमण और रूट कैनाल संक्रमण जैसे दाँत और मुँह की समस्याओं का कारण बनता है।

अरंडी के तेल में एंटीफंगल गुण होते हैं और यह मुंह को स्वस्थ रखते हुए फंगस से लड़ने में मदद कर सकता है।

आप अरंडी के तेल की कुछ बूँदें लेकर, उँगलियों से दांत पर मसाज कर सकते हैं। इसके बाद अच्छी तरह कुल्ला कर लें।

नियमित इस्तेमाल से दांत से जुड़ी परेशानियों से राहत मिल सकती है। लेकिन अगर आपको मुंह से जुड़ी कोई परेशानी है तो इसके इस्तेमाल से पहले डॉक्टर से सलाह ज़रुर लें।

और पढ़ें:अलसी के तेल के फायदे व नुकसान
 

अरंडी का तेल रखता है आपके बालों और स्कैल्प का ख्याल

Aap Ke baalon aur scalp ka khayal rakhta hai castor oil in hindi

Hair and scalp protector castor oil in hindi

कैस्टर ऑयल एक बढ़िया प्राकृतिक हेयर कंडीशनर है। सूखे या क्षतिग्रस्त बालों के लिए अरंडी के तेल के मॉइस्चराइजींग गुण विशेष लाभकारी हैं।

नियमित रूप से बालों में अरंडी के तेल का उपयोग बालों को नरम-मुलायम और लचीला बनाता है।

यही नहीं अगर आप झड़ते बालों से परेशान हैं तो आपके लिए अरंडी के तेल काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। यह रूसी के लिए भी एक प्रभावी उपचार हो सकता है।

इसके साथ ही, अरंडी के तेल को स्कैल्प पर लगाने से शुष्क, चिड़चिड़ी त्वचा को मॉइस्चराइज करने में मदद मिलती है।

हलके गुनगुने अरंडी के तेल से बालों को अच्छी तरह मसाज करें और संभव हो तो मसाज के बाद गीले तौलिये को बालों में लपेट लें। इससे तेल बालों की जड़ तक पंहुचेगा।

आप चाहे तो अरंडी के तेल के साथ नारियल तेल, जोजोबा ऑयल, बादाम का तेल मिलाकर भी इस्तेमाल कर सकती हैं।

और पढ़ें:अलसी के फ़ायदे और जोखिम
 

अरंडी का तेल में होते हैं एंटी-एजिंग गुण

Anti-aging gunon se bharpur hai castor oil in hindi

A best anti-aging castor oil in hindi

उम्र के साथ चेहरे पर झुरियां, फाइन लाइंस आना स्वाभाविक है। इसके लिए कई महिलायें मार्केट में मिलने वाली एंटी-एजिंग क्रीम का इस्तेमाल करती हैं। लेकिन क्या आपको पता है, कई एंटी-एजिंग क्रीम में अरंडी के तेल का इस्तेमाल किया जाता है।

अरंडी के तेल में एंटी-एजिंग गुण मौजूद होते हैं, जो उम्र के साथ आने वाले त्वचा से जुड़े विकारों से लड़ने में और उनको बेअसर करने में माहिर होते हैं।

थोड़े-से कैस्टर ऑयल से दस-से-पंद्रह मिनट हलके हाथों से चेहरे की मसाज करें। फिर दस से पंद्रह मिनट चेहरे पर लगा रहने दें। इसके बाद चेहरा धो लें। इससे दो फायदे मिलते हैं - एक तो त्वचा में खून का संचार बढ़ता है और दूसरा अरंडी के तेल आपके चेहरे को नरिश (nourish) भी करता है।

ध्यान दें कि चेहरे पर तेल लगाकर धूप या प्रदूषण में न जाएँ, इससे गंदगी त्वचा से चिपक सकती है, जिससे स्किन एलर्जी या अन्य परेशानियाँ खड़ी हो सकती है।

और पढ़ें:ईसबगोल के फायदे और नुकसान
 

अरंडी का तेल स्ट्रेच मार्क्स के लिए है फायदेमंद

Stretch marks ke liye faydemand hai castor oil in hindi

A stretch mark reducer castor oil in hindi

गर्भावस्था के दौरान त्वचा में खिंचाव होता है, और प्रसव के बाद, त्वचा अचानक से सिकुड़ जाती है। इस कारण से प्रेगनेंसी में स्ट्रेच मार्क्स होते हैं।

लेकिन, इसका उपचार है अरंडी का तेल, जिसके इस्तेमाल से आप इन स्ट्रेच मार्क्स को कम कर सकती हैं। प्रभावित स्थान पर अरंडी के तेल से मसाज करने पर स्ट्रेच मार्क्स से राहत मिलती है।

बेहतर परिणाम के लिए आपको रोज़ाना अरंडी के तेल से प्रभावित स्थान की मालिश करनी चाहिए।

और पढ़ें:उच्च रक्त चाप के लिए आहार
 

अरंडी का तेल होठों की रंगत के लिए है फायदेमंद

Hothon ki rangat ke liye faydemand hai castor oil in hindi

A lip healer castor oil in hindi

होठों की रंगत सुधारने के लिए भी कई तरह के प्रोडक्ट्स बाज़ार में उपलब्ध हैं। लेकिन, कई प्रोडक्ट्स रसायन युक्त होते हैं और आपकी त्वचा पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकते हैं।

ध्यान रखें कि होठों की त्वचा, चेहरे की त्वचा से तीन गुणा पतली होती है। ऐसे में लिप्स पर नमी बरकरार रखने या होठों की रंगत सुधारने के लिए आप अरंडी के तेल का इस्तेमाल कर सकती हैं।

रात को सोने से पहले अरंडी के तेल को ऊँगली से अपने होठों पर लगायें। आप चाहे तो इसे लिप बाम की तरह भी नियमित रूप से इस्तेमाल कर सकती हैं।

और पढ़ें:एवोकैडो खाने के फ़ायदे और नुक्सान
 

अरंडी का तेल है हल्की आईब्रो बढ़ाने में मददगार

Halki eyebrow badhane mein sahayak hai castor oil in hindi

Eyebrows can grow with castor oil in hindi

कई लड़कियां या महिलायें हल्की आईब्रो से परेशान रहती हैं। घनी और सुन्दर आइब्रो आपके चेहरे पर चार-चाँद लगा सकती है।

ऐसे में अगर आपकी आईब्रो भी हल्की हैं या उनका ग्रोथ कम है तो घबराएं नहीं, इस स्थिति में आपके कम आ सकता है अरंडी का तेल !

रात को सोने से पहले रुई के छोटे टुकड़े को अरंडी के तेल में डुबोएं और हल्के हाथों से इससे आईब्रो की मसाज करें। अगली सुबह चेहरा धो लें।

अगर आप आईब्रो पेंसिल या आईब्रो आर्ट इस्तेमाल करती करती हैं तो आप इसमें भी अरंडी के तेल की कुछ बूंदें मिला सकती हैं। इससे आपकी आईब्रो अच्छी भी नज़र आएँगी और साथ-साथ इन्हीं कैस्टर ऑयल का पोषण भी मिलेगा।

ध्यान रखें, आईब्रो पर अधिक मात्रा में अरंडी के तेल का इस्तेमाल, बाहर निकलते वक़्त न करें, क्योंकि इससे आईब्रो पर गंदगी चिपक सकती है जिससे त्वचा से जुड़े विकार हो सकते हैं।

और पढ़ें:ओट्स के फ़ायदे और नुक्सान
 

अरंडी का तेल है सफ़ेद बालों के लिए फायदेमंद

Safed balon ke liye faydemand hai castor oil in hindi

Cure your white hair with castor oil in hindi

सफ़ेद बालों की समस्या का वास्ता अब उम्र से नहीं रह गया है। आज के दौर में सफ़ेद बाल कई लोगों की परेशानी है। यह कई कारणों से हो सकती है जैसे - जेनेटिक, गलत खान-पान और किसी दवा का साइड-इफेक्ट।

पौष्टिक आहार लेने के अलावा अरंडी के तेल का इस्तेमाल आपके सफ़ेद बालों की समस्या को कम करने में मदद कर सकता है।

इसके लिए एक चमच्च अरंडी के तेल के साथ दो चम्मच सरसों तेल लें और इसे अच्छी तरह मिला लें। अब इसे अपने सिर में हल्के हाथों से लगायें। दस से पंद्रह मिनट मालिश करें।

तक़रीबन एक घंटे बाद बाल धो लें, आप चाहे तो इसे रात-भर बालों में छोड़कर अगली सुबह शैंपू भी कर सकती हैं।

और पढ़ें:ओट्स कैंसर से बचाव करने में सहायक
 

अरंडी का तेल है डैंड्रफ में सहायक

Dandruff mein sahayak hai castor oil in hindi

Constipation can be treated with castor oil in hindi

अरंडी का तेल बालों से जुड़ी कई समस्याओं का समाधान करने वाला तेल है। इन्हीं में से एक समस्या है रूसी! जी हाँ, अगर आप बालों की रूसी से निजात पाना चाहती हैं तो इसमें अरंडी के तेल आपके काम आ सकता है।

इसके लिए आप जब भी बाल धोने वाली हो, उससे आधे-एक घंटे पहले बालों में अरंडी के तेल से दस-पंद्रह मिनट की मसाज करें।

तेल को बालों में कम से कम आधे घंटे लगा रहने दें, इसके बाद बाल धो लें। नियमित ऐसा करने से आपको बालों के जिद्दी डैंड्रफ से छुटकारा मिलेगा।

और पढ़ें:कच्चे केले के फ़ायदे और हेल्दी स्वादिष्ट रेसिपी
 

अरंडी का तेल है पीठ दर्द में सहायक

peeth dard mein sahayak hai castor oil in hindi

Back pain can be reduced by castor oil in hindi

पीठ दर्द के मामले में भी कैस्टर का तेल बेहद फायदेमंद है। पीठ दर्द होने पर अरंडी के तेल से अच्छी तरह पीठ पर मसाज करें, इसके बाद हीट पैड पीठ पर रख दें।

कैस्टर ऑयल पीठ दर्द से राहत देने में माहिर है। ध्यान रखें, अगर आपको अरंडी के तेल से मालिश करने के बाद किसी भी तरह की एलर्जी या जलन हो रही हो तो सादे पानी से तुरंत से संपर्क करें।

और पढ़ें:कलौंजी का तेल
 

अरंडी का तेल से करें शिशु की देखभाल

Shishu ki dekh bhaal mein madadgar hai castor oil in hindi

Cure your baby with castor oil in hindi

कैस्टर ऑयल न सिर्फ बड़े-बुजुर्गों के लिए बल्कि बच्चों के लिए भी काफी लाभकारी है। आप कैस्टर तेल की कुछ बूंदों से बच्चे की मालिश कर सकते हैं। शिशु की त्वचा के लिए अरंडी के तेल लाभकारी होता है।

इसके अलावा आप अरंडी के तेल की कुछ बूँदें शिशु के सिर पर लगाकर मसाज कर सकती हैं। इससे शिशु के सिर के बालों का विकास होता है।

नोट - ध्यान रखें, अरंडी के तेल का इस्तेमाल करते वक़्त यह शिशु के आँखों, मुंह, नाक और गुप्तांग के संपर्क में आये। किसी भी तरह की परेशानी होने पर तुरंत डॉक्टर से मिलें।

और पढ़ें:क्या हैं सोयाबीन तेल के फ़ायदे और नुकसान
 

अरंडी के तेल से सबंधित सावधानियां

Castor oil se sambandhit savdhaniya in hindi

Precautions of castor oil in hindi

हालांकि अरंडी का तेल आमतौर पर सुरक्षित माना जाता है, यह कुछ लोगों में प्रतिकूल प्रतिक्रिया और दुष्प्रभाव पैदा कर सकता है।

अरंडी के तेल के इस्तेमाल के दौरान बरती जाने वाली सावधानियाँ :

  • गर्भवती महिलाओं को अरंडी के तेल का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • अरंडी का तेल कब्ज को कम करने का एक प्रभावी तरीका है, लेकिन अगर आप इसे बहुत अधिक लेते हैं तो आपको दस्त हो सकता है। दस्त से डीहायड्रेशन और इलेक्ट्रोलाइट का असंतुलन पैदा हो सकता है।
  • इसे त्वचा पर लगाने से कुछ लोगों में एलर्जी की प्रतिक्रिया हो सकती है। पहले यह देखने के लिए कि आपके शरीर की प्रतिक्रिया कैसी है, अरंडी के तेल को त्वचा के एक छोटे हिस्से पर थोड़ी-सी मात्रा में लगाकर देखें।
  • इसे लगाने के बाद किसी भी तरह की एलर्जी हो तो तुरंत डॉक्टर से मिलें।
और पढ़ें:क्या होते हैं चिया बीज के फ़ायदे और नुकसान
 

निष्कर्ष

Conclusionin hindi

Nishkarsh of castor oil in hindi</strong>

हजारों वर्षों से अरंडी के तेल का प्रयोग एक प्राकृतिक और घरेलू उपचार के रूप में होता आया है।

यह कब्ज से राहत देने, घाव भरने और मॉइस्चराइजर के रूप में विशेष रूप से लाभदायक है।

एक सस्ते, बहु उद्देश्यीय तेल के रूप में अरंडी का तेल काफी उपयोगी है, हालांकि इसके कुछ छोटे-मोटे साइड-एफफ़ेक्ट्स भी हैं, जैसे कि यह दस्त और एल्लर्जी का कारण बन सकता है। इसलिए, इसका प्रयोग सावधानीपूर्वक करें।

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 19 Jun 2020

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

विटामिन A क्या है - स्रोत, कमी के लक्षण, रोग, फायदे और नुकसान

विटामिन A क्या है - स्रोत&amp;#44; कमी के लक्षण&amp;#44; रोग&amp;#44; फायदे और नुकसान

योग के लाभ, आसन और प्रकार

योग के लाभ&#44; आसन और प्रकार

अलसी के तेल के फायदे व नुकसान

अलसी के तेल के फायदे व नुकसान

ईसबगोल के फायदे और नुकसान

ईसबगोल के फायदे और नुकसान

तनाव, चिंता और आलस्य दूर करने के लिए योग

तनाव&#44; चिंता और आलस्य दूर करने के लिए योग
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad