मेनोपॉज़ के दौरान क्या खाएं और क्या न खाएं

What to eat and what to avoid during menopause in hindi

Menopause ke dauran kya khaye or kya na khaye in hindi


एक नज़र

  • मेनोपॉज़ के दौरान संतुलित आहार लें।
  • डेयरी प्रोडक्ट का सेवन ज़रुर करें।
  • अपने खाने में फल और सब्जियों को शामिल करें।
  • धूम्रपान करने से बचें।
triangle

Introduction

Menopause_ke_dauran_kya_khaye_or_kya_na_khaye_in_hindi

पीरियड्स बंद होने की स्थिति को मेनोपॉज या रजोनिवृत्ति कहते हैं।

इस अवस्था में कई सारे शारीरिक और मानसिक परिवर्तन होते हैं।

जैसे की मूड पर काफी असर पड़ता है, हार्मोन में भी बदलाव आते हैं और थकावट भी बढ़ जाती है।

बढ़ती उम्र और मेनोपॉज के कारण सेहत पर भी असर पड़ने लगता है।

ऐसे में मेनोपॉज़ डाइट या मेनोपॉज़ के समय अच्छा और पौष्टिक तत्वों से युक्त भोजन खाना चाहिए।

इस आर्टिकल के माध्यम से आपको बताने जा रहे हैं कि मेनोपॉज़ के दौरान आपको अपने खाने में किन-किन चीज़ों को शामिल करना चाहिए और किन खाद्य-पदार्थों से दूरी बनानी चाहिए।

loading image

इस लेख़ में

 

मेनोपॉज़ के दौरान किन खाद्य-पदार्थों का सेवन करना चाहिए

Foods to eat during menopause in hindi

Menopause ke dauran kin khadya-padarthon ka sewan karna chahiye in hindi

loading image

मेनोपॉज़ के दौरान महिलाओं को बहुत असहजता महसूस होती है और इसके अलावा उन्हें कई शारीरिक समस्याएं भी होने लगती है।

ऐसे में पोषक तत्व वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करना बहुत फ़ायदेमंद होता है।

आइये आपको बताते हैं किन चीज़ों को आपको अपने डाइट में शामिल करना चाहिए।

  • डेयरी प्रोडक्ट (Dairy products) :

    मेनोपॉज़ के दौरान एस्ट्रोजन के लेवल में गिरावट से महिलाओं में फ्रैक्चर का ख़तरा बढ़ सकता है।

    ऐसे में डेयरी उत्पाद, जैसे दूध, दही और पनीर में कैल्शियम, फास्फोरस, पोटेशियम, मैग्नीशियम और विटामिन डी और के होते हैं - ये सभी हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक हैं।

    इसके अलावा डेयरी प्रोडक्ट का सेवन करने से मेनोपॉज़ के दौरान नींद बेहतर होती है।

  • हेल्दी फैट्स (Healthy fats) :

    स्वस्थ वसा, जैसे ओमेगा -3 फैटी एसिड (Omega-3 fatty acid), मेनोपॉज़ से गुज़र रही महिलाओं को फ़ायदा पहुंचा सकती है।

    ओमेगा -3 का सेवन करने से मेनोपॉज़ से संबंधित परेशानियों में सुधार होता है।

    महिलाओं में मेनोपॉज़ के वक़्त ऊर्जा और स्वस्थ वसा प्रदान करने के लिए ओमेगा - 3 फैट्स भी बहुत सहायक होते हैं और वे एलडीएल (LDL) यानि खराब कोलेस्ट्रॉल और हार्ट से जुड़ी बीमारियों के ख़तरे को कम करने में मदद करते हैं।

  • फल और सब्ज़ियां (Fruits and vegetables) :

    फलों और सब्जियों में विटामिन मिनरल्स, फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट (Anti - oxidant) की भरपूर मात्रा होती है।

    जिसके सेवन से मेनोपौज़ के दौरान हॉट फ्लेशेज़ की समस्या में भी कमी आती है।

    स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, अधिकांश वयस्क (adults) महिलाओं को हर दिन लगभग 21 ग्राम फाइबर का सेवन ज़रूर करना चाहिए।

    कम से कम दो कप सब्ज़ी और एक-डेढ़ कप फल प्रति दिन अपने खाने में शामिल करें।

  • खाना ना छोड़े (Don’t skip meals) :

    दर्द होने पर खाना-खाना बंद न करें।

    कई बार वज़न बढ़ने की समस्‍या आती है, ऐसे में महिलाएं खाना नहीं खाती है, उन्हें लगता है ज़्यादा खाने से उनका वज़न बढ़ रहा है बल्कि उसके पीछे वजह दूसरी होती है।

    इसलिए, सही समय पर उचित खुराक लें।

  • खूब पानी पिएं (Drink plenty of water) :

    रजोनिवृत्ति के दौरान एस्ट्रोजेन में कमी के कारण महिलाओं की स्किन ड्राई हो जाती है साथ ही योनि में भी सूखेपन का एहसास होने लगता है।

    ऐसे में नियमित रूप से आठ से बारह ग्लास पानी पीने से आपकी त्वचा की नमी बरकरार रहेगी और सूखापन भी दूर हो जायेगा।

    भरपूर मात्रा में पानी पीने से हार्मोनल परिवर्तन के साथ होने वाली सूजन (bloating) भी कम हो जाती है।

और पढ़ें:अजवायन से पाएं पीरियड्स के दर्द से छुटकारा
 

मेनोपॉज़ के दौरान किन खाद्य-पदार्थों का सेवन से बचना चाहिए

Foods to avoid during menopause in hindi

Menopause ke dauran kin khadya-padarthon ka sewan karne se bachna chahiye in hindi

loading image

मेनोपॉज़ के दौरान हमारे खान-पान का बहुत गहरा प्रभाव पड़ता है।

ऐसे में जानते हैं उन खाद्य-पदार्थों बारे में जिनका सेवन आपको नहीं करना चाहिए :

  • एल्कोहॉल (Alcohol) :

    मेनोपॉज़ के वक़्त तमाम तरह के लक्षणों का सामना करते-करते तनाव बढ़ने लगता है जिससे निजात पाने के लिए महिलाएं अल्कोहल का सेवन करने लगती हैं।

    हालांकि ऐसा करना सही नहीं होता क्योंकि अल्कोहल के सेवन से नींद ख़राब होती है और इससे महिलाएं और परेशान हो सकती हैं।

  • मसालेदार खाना (Spicy foods) :

    मेनोपौज़ के दौरान महिलाओं को मसालेदार खाना खाने से दूर रहना चाहिए।

    दरअसल स्पाइसी फूड्स के सेवन से शरीर का तापमान (temmperature) बढ़ जाता है, जिस कारण पसीना आने लगता है और इससे आपकी हॉट फ्लेशेज़ की समस्या और बिगड़ सकती है।

  • बहुत ज़्यादा नमक या मीठा (Too much salt and sugar) :

    मेनोपॉज़ के समय एस्ट्रोजन (estrogen) और प्रोजेस्टेरोन (progesterone) के गिरते स्तर के कारण महिलाओं में चीनी खाने की उत्सुकता बढ़ जाती है।

    डोनट्स, केक, और कुकीज़ जैसे हाई कार्बोहाइड्रेट वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करने लगती हैं, जिससे वज़न बढ़ने के साथ-साथ हृदय रोग का भी ख़तरा बढ़ जाता है।

    इसलिए महिलाओं को चीनी युक्त पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए।

    वहीं उन्हें अधिक मात्रा में नमक खाने से भी बचना चाहिए क्योंकि इसमें मौज़ूद सोडियम (Sodium) आपके रक्तचाप (blood pressure) को बढ़ा सकता है।

  • कॉफी (Coffee) :

    महिलाओं को मेनोपॉज़ के लक्षणों का अनुभव होने पर हॉट फ्लेशेज़ के साथ-साथ अच्छी तरह से सोने में भी परेशानी होती है।

    ऐसे में थकान को दूर करने के लिए अक्सर महिलाएं कॉफी का सेवन करने लगती हैं, जिससे स्थिति ठीक होने की बजाय और खराब हो सकती है।

    दरअसल कॉफी में मौजूद कैफीन आपको मूडी बना सकता और आपकी थकान को और बढ़ा सकता है।

    इसलिए मेनोपॉज़ के दौरान महिलाओं को कॉफी के सेवन से बचना चाहिए और इसकी जगह हर्बल चाय (herbal tea) का सेवन करना फ़ायदेमंद होता है।

  • धूम्रपान (Smoking) :

    धूम्रपान करने से महिलाओं में न सिर्फ मेनोपॉज़ जल्दी शुरू हो जाता है बल्कि ये मेनोपॉज़ के लक्षणों को खराब बना सकता है।

    इतना ही नहीं मेनोपॉज़ के दौरान धूम्रपान करने से ब्रेस्ट कैंसर (breast cancer) की भी संभावना बढ़ जाती है।

loading image
 

निष्कर्ष

Conclusion in hindi

Nishkarsh in hindi

अगर आप मेनोपॉज के समय कुछ मिनट व्यायाम करें तो इससे आपकी सेहत में सुधार होगा और आप कई सारी शारीरिक समस्याओं से भी बच सकते हैं।

नियमित रूप से व्यायाम आपको स्वस्थ वज़न बनाए रखने, तनाव दूर करने और जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने में मदद कर सकता है।

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 26 Jun 2019

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

पीरियड्स में हेवी ब्लीडिंग या मासिक धर्म का अधिक दिनों तक आना

पीरियड्स में हेवी ब्लीडिंग या मासिक धर्म का अधिक दिनों तक आना

अनियमित पीरियड्स के लिए गुलाब की चाय के फायदे

अनियमित पीरियड्स के लिए गुलाब की चाय के फायदे

अनियमित माहवारी या अनियमित पीरियड

अनियमित माहवारी या अनियमित पीरियड

डिसमेनोरिया क्या है

डिसमेनोरिया क्या है

इन 6 टिप्स से जानें पीरियड साइकिल नियमित है या नहीं

इन 6 टिप्स से जानें पीरियड साइकिल नियमित है या नहीं
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad