Erectile Dysfunction ke gharelu ilaj kya hain in hindi

इरेक्टाइल डिसफंक्शन के उपचार के लिए 6 बेहतरीन उपाय

6 best natural erectile dysfunction treatments in hindi

Erectile Dysfunction ke gharelu ilaj kya hain in hindi

Quick Bites

  • सेक्स प्रक्रिया में उत्तेजित न हो पाना एक आम समस्या है।
  • उत्तेजित न होने के मानसिक कारण अधिक होते हैं।
  • जीवनशैली में परिवर्तन से इरेक्टाइल डिसफंक्शन ठीक हो सकता है।
  • कोई भी दवा बिना चिकित्सक की सलाह के बिना नहीं लेनी चाहिए।

महिला-पुरुष के मध्य स्थापित होने वाला शारीरिक संबंध परस्पर विश्वास और प्रेम की डोर को मजबूत करता है।

लेकिन कभी-कभी पुरुष द्वारा चाह कर भी यह संबंध इच्छित रूप में स्थापित नहीं हो पाता है और इसके लिए वह स्वयं को दोषी मान लेता है।

देखा यह गया है कि इसके लिए कभी-कभी कारण वास्तविक होते हैं तो कभी यह काल्पनिक भी हो सकते हैं।

कारण चाहे कोई भी हो, लेकिन सेक्स के समय पुरुष जब पूरी तरह से उत्तेजित नहीं हो पाता है तब यह स्थिति इरेक्टाइल डिसफंक्शन या स्तंभन दोष की कहलाती है।

इस लेख में इरेक्टाइल डिसफंक्शन के उपचार के लिए सर्वश्रेष्ठ उपाय बताए गए हैं जिनके अपनाने से कोई भी पुरुष सरल रूप में अपनी समस्या का हल कर सकता है।

I’m confused, I need help

Our medical experts team will support and assist you in planning your treatment

loading image

In this article/\

  1. इरेक्टाइल डिसफंक्शन क्या होता है?
  2. इरेक्टाइल डिसफंक्शन के उपचार के प्राकृतिक उपाय
  3. निष्कर्ष
 

1.इरेक्टाइल डिसफंक्शन क्या होता है?

What is erectile dysfunction? in hindi

Erectile Dysfunction kya hota hai in hindi

अधिकतर यह देखा गया है कि जब पुरुष सेक्स के समय अपनी महिला साथी को संतुष्ट नहीं कर पाते हैं तो वे इसे पुरुष बांझपन मानकर परेशान हो जाते हैं।

जबकि वास्तविकता यह है कि यदि सेक्स के समय पुरुष का लिंग पूरी तरह से या तो उत्तेजित नहीं हो पाता है या फिर अधिक समय तक उत्तेजित नहीं रह पाता है तो यह स्थिति इरेक्टाइल डिसफंक्शन की कहलाती है।

यह स्थिति शारीरिक या मानसिक कारणों की वजह से भी हो सकती है।

अत्यधिक तनाव, मानसिक उत्तेजना, संबंधों में अनबन आदि जैसे मानसिक कारणों के अलावा कोई शारीरिक तकलीफ़ भी इरेक्टाइल डिस्फ़ंक्शन का कारण बन सकती है।

Read more:10 Best IVF doctors in Dehradun with High Success Rate

I need guidance in choosing best doctor

Our medical experts will help you in booking appointment with highly experienced doctors near you

loading image
 

2.इरेक्टाइल डिसफंक्शन के उपचार के प्राकृतिक उपाय

Best natural treatments for erectile dysfunction in hindi

Erectile Dysfunction ke natural treatment upay in hindi

इरेक्टाइल डिसफंक्शन का अगर समय पर इनका इलाज न किया जाये तब यह पुरुष बांझपन के लक्षण में बदल भी सकते हैं।

दरअसल इस परेशानी के कारण अधिकतर जीवनशैली और मानसिक अवस्था से संबंधित होते हैं।

इसलिए इनका घर पर रहते हुए प्राकृतिक तरीके से उपाय सरलता से किया जा सकता है :-

  • हेल्दी और पोषक डाइट (Healthy and balanced diet)

    विभिन्न प्रकार की शोधों से यह स्पष्ट हो गया है कि अपने दैनिक आहार को हेल्दी और संतुलित रखने से इरेक्टाइल डिसफंक्शन जैसी समस्या का हल बड़ी सरलता से हो जाता है।

    इसके लिए उन्हें अपने भोजन में हर प्रकार के प्राकृतिक भोजन जैसे फल-सब्जी, साबुत अनाज और मांसाहार में मछ्ली का सेवन संतुलित रूप से करना चाहिए।

    इसके अतिरिक्त विटामिन-ई का सेवन भी पुरुष बांझपन उपचार के रूप में अच्छा माना जाता है।

    इसके लिए हरी पत्तेदार सब्ज़ियाँ और साबुत अनाज के सेवन से लिंग में रक्त का प्रवाह अच्छा हो जाता है।

    शरीर में टेस्टोस्टेओरोन नाम के हार्मोन की कमी से भी इस समस्या का हल निकल सकता है और इसके लिए पपीते, चिया और सूरजमुखी के बीज के साथ पालक बहुत फ़ायदा कर सकता है।

  • नियमित व्यायाम (Regular exercise)

    शरीर में सही रूप से रक्त प्रवाह के लिए प्रतिदिन व्यायाम किया जाना बहुत आवश्यक है।

    इससे मांसपेशियों की तंदुरुस्ती के साथ ही हार्मोन भी संतुलित रहते हैं। मेल इनफर्टिलिटी ट्रीटमेंट के रूप में शारीरिक व्यायाम को एक सर्वश्रेष्ठ घरेलू उपाय माना जाता है।

    लिंग में समुचित रक्त प्रवाह के लिए कीगल व्यायाम (kegel exercise) और एयरोबिक एक्सर्साइज़ (aerobic exercise) सबसे अच्छे व्यायाम माने जाते हैं।

    इसके अतिरिक्त कुछ योगासन जैसे शवासन, गरुड़ासन, अर्धमतसयासन आदि भी किए जा सकते हैं।

  • तनाव से दूरी (Keep away from stress)

    प्राचीन काल में कहा जाता था कि चिंता, चिता समान होती है।

    यही चिंता आधुनिक समय में तनाव के रूप में जानी जाती है।

    पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन का सबसे बड़ा कारण यही तनाव का होना माना गया है।

    इसके कारण पुरुष प्रजनन प्रणाली (productive System) और सेक्स प्रक्रिया को प्रभावित करने वाले हार्मोन का निर्माण प्रभावित हो जाता है और उनमें असंतुलन उत्पन्न हो जाता है।

    इसलिए जहां तक संभव हो तनाव को अपने जीवन में हावी न होने दें और इसके लिए बहुत जरूरी है कि नियमित रूप से ध्यान (meditation) का अभ्यास किया जाये।

    इसके करने से सेक्स प्रक्रिया में स्खलन और इरेक्शन दोनों में आसानी हो सकती है।

    इसके अलावा स्वयं को प्रसन्न रखने के लिए इंडोर और आउटडोर खेल, संगीत, नृत्य और हर वो काम करें जिससे आपके मन को प्रसन्नता मिलती है।

    इसके साथ ही यह भी ध्यान रखे कि शरीर को पूरा आराम देने के लिए पूरी नींद लेकर सोना भी बहुत जरूरी है।

  • सप्लिमेंट्स से दोस्ती (Supplements)

    यह तो सब जानते हैं कि पर्यावरण में प्रदूषण के कारण हम जो भी भोजन लेते हैं उससे हमारे शरीर की पोषण संबंधी सभी जरूरतें पूरी नहीं हो पाती हैं।

    पोषण संबंधी कमी को पूरा करने के लिए सपलीमेंट्स लेने भी जरूरी होते हैं।

    जब पुरुष को इरेक्टाइल डिसफंक्शन की शिकायत हो तब इसका कारण शरीर में विटामिन बी12 और विटामिन डी की भारी कमी को माना जाता है।

    इसलिए अपने दैनिक भोजन में मल्टीविटामिन (multi vitamin) और विटामिन वाले सपलीमेंट्स भी लिए जा सकते हैं जिससे इस समस्या का हल हो सकता है।

    इसके अतिरिक्त जिंसिंग भी एक प्रकार का सप्लिमेंट है जो इस बीमारी में बहुत लाभदायक सिद्ध हो सकता है।

    लेकिन इसको चिकित्सक की सलाह से ही लेना चाहिए।

  • स्वस्थ जीवनशैली (Healthy lifestyle)

    सुस्त जीवनशैली अन्य विभिन्न रोगों के साथ ही कभी-कभी सेक्स संबंधी विकारों को भी जन्म देती है।

    इसका मुख्य कारण शरीर के अधिक एक्टिव न रहने के कारण ब्लड सर्क्युलेशन में अंतर आ जाना जिसके कारण लिंग में प्रवाह में बाधा आ सकती है।

    परिणामस्वरूप प्रजनन हार्मोन के बनने पर भी विपरीत प्रभाव पड़ता है और इरेक्टाइल डिसफंक्शन जैसी परेशानी हो सकती है।

    इसलिए एक अच्छी जीवनशैली को अपनाते हुए अपने शारीरिक वजन को नियंत्रण में रखें, नियमित व्यायाम करें और हमेशा यथासंभव सकारात्मक भी रहें।

    मादक दवाइयों व शराब के सेवन के साथ ही धूम्रपान का बिलकुल त्याग करें। इन सबका मिला-जुला असर शरीर पर अच्छा ही दिखाई दे सकता है।

  • वैकल्पिक उपचार (Alternative treatments)

    आधुनिक चिकित्सा पद्धति के साथ ही वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति का भी इस्तेमाल इरेक्टाइल डिसफंक्शन को दूर करने के लिए किया जा सकता है।

    इसके लिए एक्यूपंचर (acupuncture) एक उत्तम तकनीक मानी जाती है।

    लेकिन इस तकनीक को अपनाने से पूर्व इस बात का ध्यान रखें कि इस तकनीक का प्र्योगकर्ता अपने काम में दक्ष हो और प्रयोग में लायी जाने वाली सुई साफ और किटाणुरहित हो।

    इन उपायों के अतिरिक्त कुछ लोग एसेन्शाइयल ऑयल (essential oil) जैसे चंदन, गुलाब आदि के तेल की मालिश को भी इस परेशानी को दूर करने में सहायक मानते हैं।

    इस मालिश से जहां एक ओर लिंग में रक्त संचार बढ़ सकता है वहीं पुरुष में सेक्स के प्रति इच्छा भी बढ़ जाती है।

    इसी प्रकार कुछ लोग पोर्नोग्राफ़ी और मास्टरबेशन को भी लिंग को उत्तेजित करने के लिए अच्छा मानते हैं।

    तकनीकी रूप से इस पर कुछ कहा नहीं जा सकता है इसलिए इस तकनीक के प्रभावपूर्ण होने में संदेह होता है।

    फिर भी यदि इन उपायों के बाद भी इरेक्टाइल डिसफंक्शन की परेशानी में आराम न मिले और शुक्राणु की जांच के बाद भी परिणाम में कोई अंतर न आए तो तुरंत डॉक्टर से मिलना ही हितकारी हो सकता है।

Read more:10 Best IVF Doctors in Indore with High Success Rate

 

3.निष्कर्ष

Conclusionin hindi

Nishkarsh

सेक्स प्रक्रिया के समय पूरी तरह से उत्तेजित न हो पाने या लंबे समय तक लिंग के न उत्तेजित होने की अवस्था को इरेक्टाइल डिस्फ़ंक्शन कहा जाता है।

यह शारीरिक व मानसिक दोनों कारणों से हो सकता है।

प्राथमिक रूप से इस बीमारी का उपचार घरेलू तरीके से बड़ी सरलता से किया जा सकता है।

इसके लिए ज़िंक आधारित भोजन और सपलीमेंट्स के साथ अपनी जीवनशैली को एक्टिव रखना होगा।

तनाव से दूर रहते हुए कुछ लोग एक्यूपंचर से भी इस परेशानी को दूर करने का प्रयास करते हैं।

Last updated article label: 21 Aug 2019

Was this article helpful? Tap on heart to say yes

Ask an expertASK AN EXPERT

Call

Whatsapp

Book appointment