ब्रेस्ट में गांठ का घरेलू उपचार के 5 सरल नुस्खे

5 Home Remedies for Breast Lump in hindi

stan ki ganth ka desi ilaj, stan me ganth ka gharelu upchar


एक नज़र

  • घरेलू नुस्खों का उपयोग करके स्तन गांठ में होने वाले दर्द और सूजन से राहत पा सकते हैं।
  • स्तनों की गांठ को दूर करने के लिए ब्रेस्ट मसाज बेहद अचूक उपचार है।
  • आयोडीन की कमी होने की वजह से स्तन में गांठ होने का डर रहता हैं।
triangle

Introduction

ब्रेस्ट_में_गांठ_का_इलाज

ब्रेस्ट में गांठ की स्थिति से कई महिला अपने जीवनकाल में गुजरती है। अधिकतर मामलों में ब्रेस्ट में गांठ हॉर्मोन के उतार-चढ़ाव के कारण होते हैं। युवावस्था से गुज़र रही महिलाओं में ब्रेस्ट में गांठ होना, प्रीमेंसट्रुअल सिंड्रोम (premenstrual syndrome) का संकेत हो सकता है। [1]

ऐसी अवस्था में चेस्ट में गांठ मासिक धर्म के कुछ दिनों पहले महसूस की जाती है जो मासिक धर्म के बाद स्वयं ही समाप्त हो जाती है।

स्तन में गांठ ब्रेस्ट कैंसर का संकेत हो सकता है लेकिन यहाँ यह बात ध्यान देने वाली है कि हर गांठ कैंसर नहीं होती और इससे घबराने की आवश्यकता नहीं है।

वैसे तो 20 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं में स्तन गांठ और स्तन कैंसर होने का खतरा होता है। लेकिन स्तन गांठ का खतरा 40 वर्ष की महिलाओं के लिए और भी अधिक बढ़ जाता है, इसलिए उनके लिए स्तनों की देखभाल करना बहुत जरुरी होता है। [2]

ब्रेस्ट कैंसर के सामान्य लक्षणों में ब्रेस्ट में गांठ भी शामिल है, हालाँकि इसके साथ अन्य लक्षण जैसे निप्पल से रिसाव या स्तन की बनावट में बदलाव भी देखा जाता है।

स्तन कैंसर होने के पीछे सबसे बड़ा कारण स्तन गांठ का होना होता है। हालाँकि, यह जरूरी नहीं कि हर स्तन गांठ कैंसर का रूप लें। हर महिला को 20 साल की उम्र के बाद हर 3 महीने में घर पर ही स्वयं ब्रेस्ट की जांच करनी चाहिए।

अगर ब्रेस्ट में गांठ कई दिनों तक महसूस हो और साथ ही साथ अन्य लक्षण जैसे - ब्रेस्ट की बनावट में बदलाव, घाव या तरल पदार्थ का रिसाव हो तो जल्द से जल्द डॉक्टर से मिलकर पूरी जाँच करवानी चाहिए।

अगर आपको घर पर खुद जांच करने के बाद यह महसूस होता है कि यह कोई गंभीर समस्या नहीं है तब आप कुछ घरेलू नुस्खों के उपायों से स्तन गांठ में राहत पा सकती हैं।

आज हम कुछ ऐसे ही घरेलू नुस्खों की चर्चा कर रहे हैं जिनसे आप स्तन गांठ में होने वाले दर्द और सूजन से राहत पा सकते हैं। इन उपायों को करने से पहले हम आपको यह भी बता दें कि आप इन्हें अवश्य आज़माए, लेकिन स्तन गांठ समस्या महसूस होने पर डॉक्टर से जाकर ज़रुर मिलें।

आइये जानते हैं ब्रेस्ट में गांठ का घरेलू उपचार क्या है और कैसे आप इन सरल उपायों से चेस्ट पेन से छुटकारा पा सकती हैं। इसके साथ ही जानें कि फाइब्रोएडीनोमा को स्वाभाविक रूप से दूर करने के लिए कैसे आप कुछ आसान घरेलु नुस्खे अपना सकती हैं।

loading image

इस लेख़ में

 

आयोडीन का सेवन है ब्रेस्ट में गांठ का घरेलू उपचार

Use of iodine for breast lump in hindi

stan me ganth ka gharelu upchar idone se, दूध की गांठ का इलाज

loading image

स्तन में गांठ को लेकर हुए कई शोधों में पाया गया है कि इसकी एक वजह आपके शरीर में आयोडीन की कमी है।

डॉक्टरों का भी मानना है कि आयोडीन की कमी होने की वजह से स्तन में गांठ होने का डर रहता है, इसलिए महिलाओं के लिए आवश्यक है कि वो आयोडीन युक्त नमक का सेवन करें।

आयोडीन की कमी को पूरा करने के लिए महिलाओं को ऐसे भोजन का सेवन करना चाहिए जिसमें आयोडीन प्रचूर मात्रा में उपलब्ध हो।

वो फ़ूड जिनमे आयोडीन प्रचूर मात्रा में उपलब्ध होता है : -

  • रोस्‍टेड आलू
  • दूध
  • मुनक्‍का
  • दही
  • ब्राउन राइस और
  • सी फूड
loading image
 

कैस्टर ऑयल से ब्रेस्ट में गांठ का इलाज करें

Breast massage with castor oil reduce breast swelling in hindi

stan ki malish castor oil se kar stan ki swelling kam kare, stan ganth ka gharelu upay

loading image

ब्रेस्ट में गांठ का इलाज का सबसे पुराना तरीका है मालिश। स्तन की मालिश करने से रक्त का प्रवाह बढ़ता है और ब्रेस्ट की गांठ को कम कर आराम देता है।

स्तनों की गांठ को दूर करने के लिए ब्रेस्ट मसाज बेहद अचूक उपचार है। महिलाओं को हल्के हाथ से कैस्टर ऑयल (castor oil) से नियमित तौर पर अपने स्तनों की मालिश करनी चाहिए।

मसाज करते वक्त यह ख्याल रखें कि हाथ सख्त न हो। बेहद नरम हाथों से ही मसाज करें अन्यथा दर्द बढ़ सकता है।

कैस्टर ऑयल (castor oil) से स्तनों की मालिश करने से लिम्फेटिक सिस्टम (lymphatic system) अच्छे से काम करना शुरू कर देता है और शरीर में जमे टॉक्सिन्स (toxins) और अतिरिक्त हार्मोन्स (hormones) को बाहर निकाल देता है।

और पढ़ें:एरोला और निप्पल से जुड़े तथ्य
 

स्तन गांठ का घरेलु उपाय है पत्तागोभी

Use of cabbage to cure breast lump in hindi

patta gobhi stan ganth ka gharelu upay, breast me ganth ke upchar

loading image

ब्रेस्ट में गांठ को दूर करने के लिए पत्तागोभी रामबाण इलाज माना जाता है। अगर आप अपने शिशु को स्तनपान कराने के दौरान दर्द का अनुभव करती हैं, तो आपको पत्तागोभी से अपने स्तनों के दर्द और स्तन गांठ का उपचार करना चाहिए। [3]

स्तन की गांठों से और उससे होने वाले दर्द से छुटकारा पाने के लिए रात को अपने स्तनों पर पत्तागोभी के ठंडे पत्तों को लगाकर सो जाएं और सुबह उसे निकाल दें। 15 दिनों तक इस प्रक्रिया को दोहराने से स्तन गाँठ से लाभ मिलता है।

loading image
 

ब्रेस्ट में गांठ का इलाज है कचनार की छाल

Use of bauhinia skin to cure breast lump in hindi

kachnar ki chal se breast lump ka ilaj

loading image

गुलाबी कचनार के कई पेड़ आप अपने आस-पास देखे होंगे। स्तनों की गांठ के उपचार के लिए इसकी छाल का प्रयोग किया जाता है।

पुराने जमाने में बूढ़े-बुजुर्ग इसी नुस्खे का प्रयोग करते थें। कचनार की छाल को अच्छी तरह से पीसकर इसका चुर्ण बना लें। अब इसमें सोंठ और चावल का मिक्सचर मिला लें।

इस मिक्सचर को पानी में मिलाकर इसका सेवन करें। इस मिश्रण को थोड़े से पानी में मिलाकर अपने स्तनों पर लेप की तरह भी लगा सकती हैं।

अगर आपको पास कचनार की छाल उपलब्ध न हो तो आप किसी पान शॉप से यह आसानी से ले सकती हैं।

और पढ़ें:क्यों मैमोग्राम की आवश्यकता 40 पर शुरू होती है
 

सोयाबीन के प्रयोग से चेस्ट में गांठ से आराम

Use of soybean for treatment of breast lump in hindi

soyabean ka upyog stan ganth ke liye

loading image

सोयाबीन में एक ऐसा तत्व होता है, जो स्तन कैंसर के रोगियों के लिए एक दवा की तरह काम करता है।

एक शोध के अनुसार, इसमें फाइटोएस्ट्रोजेन (phytoestrogens) और कई अन्य तत्व होते हैं जो कैंसर सेल्स (cells) को एस्ट्रोजेन (estrogen) का उपयोग करने से रोकते हैं।

इसमें शुरूआती चरण (initial stage) के स्तन कैंसर की रोकथाम के लिए आवश्यक आइसोफ्लेवोन्स (isoflavones) भी होते हैं। आप सोयाबीन को स्प्राउट्स (sprouts) या सब्जी के रूप में भी खा सकते हैं।

और पढ़ें:जाने स्तन मसाज करने के लाभ
 

ब्रेस्ट में गांठ का आयुर्वेदिक इलाज

Treatment of breast lump with ayurvedic medicine in hindi

ब्रेस्ट में गिल्टी, breast me ganth ka ayurvedic ilaj

आयुर्वेद में ब्रेस्ट की मालिश पर अत्यधिक जोर दिया जाता है। ब्रेस्ट से संबंधित मुख्य दोष कफ और वात को नियमित हल्की मालिश से कम किया जा सकता है।

इसके अलावा आयुर्वेद में दिए गए निम्न उपायों से ब्रेस्ट की गांठ का इलाज किया जा सकता है : -

  • विटामिन डी से भरपूर पौष्टिक आहार भोजन में शामिल करें। खाद्य पदार्थ जैसे - नारंगी का रस, अंडे, सालमन मछली और दूध के बने पदार्थ को भोजन में शामिल करें।
  • कड़वी लौकी के जूस का नियमित सेवन ब्रेस्ट की गांठ को कम करने में मदद करता है।
  • नियमित तौर पर शरीर के आंतरिक अंगों की सफाई के लिए त्रिफला चूर्ण का सेवन करें। रात को सोने से पहले आधा चम्मच त्रिफला का चूर्ण का सेवन पेट को साफ़ रखने में सहायक है।
  • पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं। यह शरीर से विषैले पदार्थ को बहार निकलने में सहायक होता है।
  • अश्वगंधा, तुलसी और जीरा जैसी आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का इस्तेमाल ब्रेस्ट की गांठ को कम करने में सहायक होती है।
और पढ़ें:जॉगर्स निप्पल के जोखिम और इससे बचाव
 

निष्कर्ष

Conclusionin hindi

Nishkarsh of breast lump

सिर्फ घरेलू उपचार करने से स्तन गांठ और स्तन कैंसर का इलाज पूरी तरह से संभव नहीं होता है। लेकिन आप घरेलू नुस्खों का उपयोग करके स्तन गांठ में होने वाले दर्द और सूजन से राहत पा सकते हैं।

क्या यह लेख सहायक था? हां कहने के लिए दिल पर क्लिक करें

references

संदर्भ की सूचीछिपाएँ

1 .

Irene Kwan, et al. "Premenstrual syndrome". BMJ Clin Evid. 2015; 2015: 0806.Published online 2015 Aug 25, PMID: 26303988.

2 .

Jessica A. Henderson, et al. "Breast Examination Techniques".Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2020 Jan-, PMID: 29083747.

3 .

A-Reum Lim, Ji-Ah Song, et al. "Cabbage compression early breast care on breast engorgement in primiparous women after cesarean birth: a controlled clinical trial". Int J Clin Exp Med. 2015; 8(11): 21335–21342. Published online 2015 Nov 15, PMID: 26885074.

आर्टिकल की आख़िरी अपडेट तिथि: : 02 Jul 2020

हमारे ब्लॉग के भीतर और अधिक अन्वेषण करें

लेटेस्ट

श्रेणियाँ

स्तन संक्रमण (मैस्टाइटिस) के घरेलू उपचार

स्तन संक्रमण (मैस्टाइटिस) के घरेलू उपचार

शुरुआत में स्तन कैंसर का पता लगाने के लिए 3डी मैमोग्राफी

शुरुआत में स्तन कैंसर का पता लगाने के लिए 3डी मैमोग्राफी

सीने में दर्द के लिए योग-7 सर्वश्रेष्ठ योगासन

सीने में दर्द के लिए योग-7 सर्वश्रेष्ठ योगासन

सीने पर खुजली का क्या कारण है और इससे कैसे बचें

सीने पर खुजली का क्या कारण है और इससे कैसे बचें

एरोला और निप्पल से जुड़े तथ्य

एरोला और निप्पल से जुड़े तथ्य
balance

सम्बंधित आर्टिकल्स

article lazy ad